Submit your post

Follow Us

अमेरिका में भारत और वेस्ट इंडीज़ का मैच बीते जमाने में खींच लेगा

244
शेयर्स

अमेरिका में भारत और वेस्ट इंडीज़न्यूट्रल वेन्यू पर क्रिकेट खेलें इसका आपके बचपन से क्या लेना देना है ? लेना-देना है भिया. आज आपको वे दिन याद कराने का मौका है जब सौरव गांगुली टोरंटो में अकेले दम पाकिस्तान से सीरिज़ जीत लाए थे और सचिन ने शारजाह के स्टडियम में धूल भरी आंधियों के बीच अपनी 2 महानतम पारियां खेली थीं. ये सब न्यूट्रल वेन्यू पर हुआ था मित्रों !

आजकल के बच्चों को न्यूट्रल वेन्यू पर क्रिकेट कम ही देखने को मिलता है लेकिन मोहन-जोदड़ो के बाद के बच्चे यानी 80-90 के दशक की संतानों ने न्यूट्रल वेन्यू पर बहुत क्रिकेट देखा है.

‘दोस्ती कप’ वाले पुराने दिन

न्यूट्रल-वेन्यू-क्रिकेट-कथा की शुरूआत भारत-पाकिस्तान से. कनाडा में भारत-पाकिस्तान के लोग अच्छी खासी संख्या में रहते हैं. उन्हीं को ध्यान में रखकर सहारा दोस्ती कप होता था. 1996 से लेकर 1998 तक 5-5 मैचों की 3 सीरीज़ हुई और 1999 में कारगिल युद्ध छिड़ने पर सहारा कप बंद हो गया.

saurav

इन्हीं सहारा कपों में 1997 का सहारा कप था जिसमें सौरव गांगुली ने 5 मैचों की सीरिज़ में सबसे ज्यादा 222 रन बनाए थे और 15 विकेट लिए थे. सौरव 4 मैचों में मैन-ऑफ-द-मैच रहे थे और उस समय हम लोगों ने तो सौरव को दुनिया का श्रेष्ठ ऑलराउंडर मान लिया था.

न्यूट्रल वेन्यू बादशाह, शारजाह

लेकिन न्यूट्रल वेन्यू पर सबसे ज्यादा मैच शारजाह में हुए हैं. आपको तो याद ही होगा उन दिनों बातें उड़ा करती थीं कि शारजाह के सारे मैच बदमाश दाउद करवाता है. लेकिन हमारी दिलचस्पी तो खेल में रहती थी और वहीं हमने देखी थी सचिन की शायद 2 सबसे महान पारियां –ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ करो या मरो मैच में 143 रन और फिर फाइनल में 134 रन. साल था 1998 और मैच के दौरान धूल भरी आंधियां आती थीं.

थोड़ा सा और पीछे जाएं तो 1998 में सिंगापुर में सिंगर कप भी हुआ था. श्रीलंका की टीम नई-नई विश्व कप जीत के आई थी और भारत के कप्तान होते थे मोहम्मद अज़हरूद्दीन. इस सीरिज़ में भारत ने श्रीलंका और पाकिस्तान से 2 मैच खेले थे और दोनों में ही हार गया था.

1998 में ही भारत की 2 क्रिकेट टीमें एक साथ खेली थीं. हुआ ये था कि उस साल क्वालालम्पुर कॉमनवेल्थ खेलों में क्रिकेट को शामिल किया गया था. एक तरफ भारत की टीम कनाडा में पाकिस्तान से सहारा कप खेल रही थी और दूसरी तरफ एक टीम क्वालालाम्पुर में खेल रही थी. सहारा कप की टीम के कप्तान थे अज़हरूद्दीन और उप-कप्तान सचिन और कॉमनवेल्थ टीम की कमान अजय जडेजा और अनिल कुंबले के पास थी. कॉमनवेल्थ खेलों में हुए क्रिकेट मैचों को अंतरराष्ट्रीय नहीं बल्कि लिस्ट ए का दर्ज़ा मिला था.

इनको बोलिए थैंक्यू

शारजाह और आबूधाबी जैसे न्यूट्रल वेन्यू पर क्रिकेट करवाने का श्रेय यूएई के कारोबारी अब्दुल रहमान बुखातिर को दिया जाता है. 2002 में इन्होंने टेन स्पोर्ट्स चैनल शुरू ही किया था और अपने चैनल के लिए एक त्रिकोणीय श्रृंखला मोरक्को में भी करवा डाली, वो भी ऐसी-वैसी टीमों के बीच नहीं बल्कि श्रीलंका, दक्षिण अफ्रीका और पाकिस्तान के बीच.

और अब टी-20 का ज़माना. साल 2008 में कनाडा में पाकिस्तान, श्रीलंका, जिम्बावे और कनाडा के बीच एक टी-20 श्रृंखला हुई थी.

तो कुल मिलाकर न्यूट्रल वेन्यूज पर क्रिकेट का ये इतिहास रहा है. यूएई में पाकिस्तान वाले लगातार क्रिकेट खेलते हैं क्योंकि सुरक्षा कारणों से कोई भी पाकिस्तान में खेलने को तैयार नहीं है. वो इसे अपने होम ग्राउंड की तरह इस्तेमाल करते हैं, इसलिए हमने उन मैचों को न्यूट्रल वेन्यू पर हुए मैचों में नहीं गिना है.

क्या करें कि दुनिया क्रिकेट हो जाए

अमेरिका में 38 लाख भारतीय और अच्छी खासी संख्या में पाकिस्तान-श्रीलंका-बांग्लादेश के लोग रहते हैं जो क्रिकेट बड़े चाव से देखते हैं, उन्हीं को ध्यान में रखकर फ्लोरिडा में भारत-वेस्टइंडीज़ की टी20 सीरिज करवाई जा रही है. साथ ही अमेरिका, क्रिकेट से कुछ हद तक मिलते जुलते बेसबॉल का दीवाना देश है, शायद उनको क्रिकेट भी समझ आने लगे और एक बार अमेरिका को कुछ समझ आ जाए तो वो उसे ग्लोबल बनवा डालते हैं.

इस तरह की श्रृंखलाओं के साथ सबसे बड़ी दिक्कत है कि वहां के लोग और यहां के लोग कुछ समय बाद इन्हें भूला देते हैं. छिट-पुट श्रृंखलाओं और मैचों के अलावा क्रिकेट 10-12 देशों में ही सिमटा रहा है. वहीं फुटबॉल टीमों का बाकायदा न्यूट्रल वेन्यूज का कैलेंडर रहता है जो वे सीज़न के आखिर में खेलती हैं. अगर क्रिकेट को ग्लोबल बनना है तो न्यूट्रल वेन्यूज़ पर नियमित मैच कराने होंगे, सहारा कप जैसी श्रृंखलाओं को फिर आना होगा. और शायद फिर भारत सिर्फ 10-12 देशों में खेले जाने वाले क्रिकेट का दीवाना देश नहीं कहलाएगा, सारी दुनिया में खेले जाने वाले खेल का दीवाना देश कहलाएगा.


ये भी पढ़ें

वर्ल्ड कप में तो हरा नहीं पाए, इन 2 पलों में ही खुश हो रहे हैं पाकिस्तानी!

टेस्ट रैंकिंग में पाकिस्तान नंबर 6 से कैसे पहुंचा नंबर 1 पर

जब बैकवर्ड पॉइंट पर एक राक्षस फील्डिंग करता था!

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गंदी बात

'इस्मत आपा वाला हफ्ता' शुरू हो गया, पहली कहानी पढ़िए लिहाफ

उस अंधेरे में बेगम जान का लिहाफ ऐसे हिलता था, जैसे उसमें हाथी बंद हो.

PubG वाले हैं क्या?

जबसे वीडियो गेम्स आए हैं, तबसे ही वे पॉपुलर कल्चर का हिस्सा रहे हैं. ये सोचते हुए डर लगता है कि जो पीढ़ी आज बड़ी हो रही है, उसके नास्टैल्जिया का हिस्सा पबजी होगा.

बायां हाथ 'उल्टा' ही क्यों हैं, 'सीधा' क्यों नहीं?

मां-बाप और टीचर बच्चों को पीट-पीट दाहिने हाथ से काम लेने के लिए मजबूर करते हैं. क्यों?

फेसबुक पर हनीमून की तस्वीरें लगाने वाली लड़की और घर के नाम से पुकारने वाली आंटियां

और बिना बैकग्राउंड देखे सेल्फी खींचकर लगाने वाली अन्य औरतें.

'अगर लड़की शराब पी सकती है, तो किसी भी लड़के के साथ सो सकती है'

पढ़िए फिल्म 'पिंक' से दर्जन भर धांसू डायलॉग.

मुनासिर ने प्रीति को छह बार चाकू भोंककर क्यों मारा?

ऐसा क्या हुआ, कि सरे राह दौड़ा-दौड़ाकर उसकी हत्या की?

हिमा दास, आदि

खचाखच भरे स्टेडियम में भागने वाली लड़कियां जो जीवित हैं और जो मर गईं.

अलग हाव-भाव के चलते हिजड़ा कहते थे लोग, समलैंगिक लड़के ने फेसबुक पोस्ट लिखकर सुसाइड कर लिया

'मैं लड़का हूं. सब जानते हैं ये. बस मेरा चलना और सोचना, भावनाएं, मेरा बोलना, सब लड़कियों जैसा है.'

ब्लॉग: शराब पीकर 'टाइट' लड़कियां

यानी आउट ऑफ़ कंट्रोल, यौन शोषण के लिए आमंत्रित करते शरीर.

औरतों को बिना इजाज़त नग्न करती टेक्नोलॉजी

महिला पत्रकारों से मशहूर एक्ट्रेसेज तक, कोई इससे नहीं बचा.

सौरभ से सवाल

दिव्या भारती की मौत कैसे हुई?

खिड़की पर बैठी दिव्या ने लिविंग रूम की तरफ मुड़कर देखा. और अपना एक हाथ खिड़की की चौखट को मजबूती से पकड़ने के लिए बढ़ाया.

कहां है 'सिर्फ तुम' की हीरोइन प्रिया गिल, जिसने स्वेटर पर दीपक बनाकर संजय कपूर को भेजा था?

'सिर्फ तुम' के बाद क्या-क्या किया उन्होंने?

बॉलीवुड में सबसे बड़ा खान कौन है?

सबसे बड़े खान का नाम सुनकर आपका फिल्मी ज्ञान जमीन पर लोटने लगेगा. और जो झटका लगेगा तो हमेशा के लिए बुद्धि खुल जाएगी आपकी.

'कसौटी ज़िंदगी की' वाली प्रेरणा, जो अनुराग और मिस्टर बजाज से बार-बार शादी करती रही

कहां है टेलीविज़न का वो आइकॉनिक किरदार निभाने वाली ऐक्ट्रेस श्वेता तिवारी?

एक्ट्रेस मंदाकिनी आज की डेट में कहां हैं?

मंदाकिनी जिन्हें 99 फीसदी भारतीय सिर्फ दो वजहों से याद करते हैं

सर, मेरा सवाल है कि एक्ट्रेस मीनाक्षी शेषाद्री आजकल कहां हैं. काफी सालों से उनका कोई पता नहीं.

‘दामिनी’ के जरिए नई ऊंचाई तक पहुंचा मीनाक्षी का करियर . फिर घातक के बाद 1996 में उन्होंने मुंबई फिल्म इंडस्ट्री को बाय बोल दिया.

ये KRK कौन है. हमेशा सुर्खियों में क्यों रहता है?

केआरके इंटरनेट एज का ऐसा प्रॉडक्ट हैं, जो हर दिन कुछ ऐसा नया गंधाता करना रचना चाहता है.

एक्ट्रेस किमी काटकर अब कहां हैं?

एडवेंचर ऑफ टॉर्जन की हिरोइन किमी काटकर अब ऑस्ट्रेलिया में हैं. सीधी सादी लाइफ बिना किसी एडवेंचर के

चाय बनाने को 'जैसे पापात्माओं को नर्क में उबाला जा रहा हो' कौन सी कहानी में कहा है?

बहुत समय पहले से बहुत समय बाद की बात है. इलाहाबाद में थे. जेब में थे रुपये 20. खरीदी हंस...

सर आजकल मुझे अजीब सा फील होता है क्या करूं?

खुड्डी पर बैठा था. ऊपर से हेलिकॉप्टर निकला. मुझे लगा. बाबा ने बांस गहरे बोए होते तो ऊंचे उगते.