Submit your post

Follow Us

वीडियो

म्याऊं: क्या सच में लड़कियां लड़कों के मुकाबले 'बुरी' ड्राइविंग करती हैं?

जब बात ड्राइविंग की हो तो हम औरतों पर कम भरोसा करते देखे जाते हैं. मन में एक पूर्वाग्रह है कि पुरुष सधा हुआ होगा और औरत इमोशनल. भाई औरत के इमोशनल होने के तो इतने स्टीरियोटाइप हैं. दुनिया को लगता है कि औरतें सारे काम इमोशन से ही करती हैं. चाहे वो गाड़ी चला रही हों या चांद पर जा रही हों. खैर. हम भटके नहीं. हम इस तरह की सोच क्यों रखते हैं. इसके पीछे कोई एक वजह नहीं. बल्कि पूरी कल्चरल हिस्ट्री है. देखिए वीडियो.

म्याऊं: क्या सच में लड़कियां लड़कों के मुकाबले 'बुरी' ड्राइविंग करती हैं?

जब बात ड्राइविंग की हो तो हम औरतों पर कम भरोसा करते देखे जाते हैं. मन में एक पूर्वाग्रह है कि पुरुष सधा हुआ होगा और औरत इमोशनल. भाई औरत के इमोशनल होने के तो इतने स्टीरियोटाइप हैं. दुनिया को लगता है कि औरतें सारे काम इमोशन से ही करती हैं. चाहे वो गाड़ी चला रही हों या चांद पर जा रही हों. खैर. हम भटके नहीं. हम इस तरह की सोच क्यों रखते हैं. इसके पीछे कोई एक वजह नहीं. बल्कि पूरी कल्चरल हिस्ट्री है. देखिए वीडियो.

वीडियो

म्याऊं: सुशांत सिंह राजपूत के डिप्रेशन और मेंटल हेल्थ को हम क्यों नकार रहे हैं?

6 सितंबर को सुशांत सिंह राजपूत की बहन श्वेता सिंह कीर्ति ने एक ट्वीट किया. अपने भाई को याद करते हुए. बेहद मार्मिक बात लिखीं थीं. ये बात वो बहन ही महसूस कर सकती है जिसने अपना भाई खोया है. लेकिन जब बात न्याय की हो. तब केवल इमोशन से काम नहीं लिया जा सकता है. तब ज़रूरी होता है लॉजिक को देखना. और मेडिकल टेम्परामेंट मेंटेन रखना. मेडिकल टेम्परामेंट का अर्थ क्या है? ये कि सुनी-सुनाई चीजों पर भरोसा करने के बजाय मेडिकल साइंस पर भरोसा रखना. और दिमाग की बीमारियां और उनका इलाज भी मेडिकल साइंस का एक बड़ा हिस्सा है. लेकिन हम कभी इसपर ध्यान ही नहीं देते. देखिए वीडियो.

म्याऊं: सुशांत सिंह राजपूत के डिप्रेशन और मेंटल हेल्थ को हम क्यों नकार रहे हैं?

6 सितंबर को सुशांत सिंह राजपूत की बहन श्वेता सिंह कीर्ति ने एक ट्वीट किया. अपने भाई को याद करते हुए. बेहद मार्मिक बात लिखीं थीं. ये बात वो बहन ही महसूस कर सकती है जिसने अपना भाई खोया है. लेकिन जब बात न्याय की हो. तब केवल इमोशन से काम नहीं लिया जा सकता है. तब ज़रूरी होता है लॉजिक को देखना. और मेडिकल टेम्परामेंट मेंटेन रखना. मेडिकल टेम्परामेंट का अर्थ क्या है? ये कि सुनी-सुनाई चीजों पर भरोसा करने के बजाय मेडिकल साइंस पर भरोसा रखना. और दिमाग की बीमारियां और उनका इलाज भी मेडिकल साइंस का एक बड़ा हिस्सा है. लेकिन हम कभी इसपर ध्यान ही नहीं देते. देखिए वीडियो.

वीडियो

म्याऊं: 'लड़की जैसा' होने के लिए, बुलीइंग का शिकार हुए लड़कों की कहानी

इस एपीसोड में हम बात कर रहे हैं लड़कों की बुलीइंग की. जिसके बारे में कभी उस तरह से बात नहीं होती, जिस तरह से होनी चाहिए. कुछ लोगों को शायद प्रॉब्लम लड़कों से नहीं, उस सोच से है जो लड़कों और लड़कियों को बांटती है, उन्हें एक-दूसरे का विलोम बताती है. ये सोच जितना नुकसान लड़कियों को पहुंचाती है. उतना ही लड़कों को भी. किस तरह पहुंचाती है, इसी का एक उदाहरण है बुलीइंग. देखिए वीडियो.

 

म्याऊं: 'लड़की जैसा' होने के लिए, बुलीइंग का शिकार हुए लड़कों की कहानी

इस एपीसोड में हम बात कर रहे हैं लड़कों की बुलीइंग की. जिसके बारे में कभी उस तरह से बात नहीं होती, जिस तरह से होनी चाहिए. कुछ लोगों को शायद प्रॉब्लम लड़कों से नहीं, उस सोच से है जो लड़कों और लड़कियों को बांटती है, उन्हें एक-दूसरे का विलोम बताती है. ये सोच जितना नुकसान लड़कियों को पहुंचाती है. उतना ही लड़कों को भी. किस तरह पहुंचाती है, इसी का एक उदाहरण है बुलीइंग. देखिए वीडियो.

 
वीडियो

म्याऊं: क्या करीना कपूर के प्रेगनेंसी की तस्वीरें देखते हुए इस बात पर ध्यान दिया?

करीना कपूर खान एक बार फिर मां बनने वाली हैं. ये अबतक आपको पता ही चल गया होगा क्योंकि जिस दिन ये खबर आई थीइसने इंटरनेट तोड़ डाला था. तैमूर को बहन हो जाए तो परिवार पूरा हो जाए. ऐसा लोग इंटरनेट पर कह रहे थे. जैसे करीना का सेकंड बेबी वही अपनी गोद में लेकर खिलाने वाले हैं. कुछ इस बात पर भी दिमाग लगा रहे थे कि करीना के सेकंड बेबी को तैमूर जितना फुटेज मिलेगा या नहीं. खैरतैमूर पत्रकारिता तो अलग ही मसला है. आज हम बात कर रहे हैं अपने शरीर की. औरतों के शरीर की. मांओं के शरीर की. देखिए वीडियो.

म्याऊं: क्या करीना कपूर के प्रेगनेंसी की तस्वीरें देखते हुए इस बात पर ध्यान दिया?

करीना कपूर खान एक बार फिर मां बनने वाली हैं. ये अबतक आपको पता ही चल गया होगा क्योंकि जिस दिन ये खबर आई थीइसने इंटरनेट तोड़ डाला था. तैमूर को बहन हो जाए तो परिवार पूरा हो जाए. ऐसा लोग इंटरनेट पर कह रहे थे. जैसे करीना का सेकंड बेबी वही अपनी गोद में लेकर खिलाने वाले हैं. कुछ इस बात पर भी दिमाग लगा रहे थे कि करीना के सेकंड बेबी को तैमूर जितना फुटेज मिलेगा या नहीं. खैरतैमूर पत्रकारिता तो अलग ही मसला है. आज हम बात कर रहे हैं अपने शरीर की. औरतों के शरीर की. मांओं के शरीर की. देखिए वीडियो.

वीडियो

म्याऊं: लड़कियों की शादी की उम्र 18 से 21 क्यों करना चाहती है सरकार?

इस 15 अगस्त मोदी ने लड़कियों के लिए एक बहुत बड़ी बात कही. "उन्होंने कहा- हमने लड़कियों की शादी की उम्र पर विचार करने के लिए एक कमिटी बनाई है. उसपर रिपोर्ट आने के बाद केंद्र इस पर फैसला लेगा." अभी लड़कियों की शादी की मिनिमम उम्र 18 है. और लड़कों की 21. 18 ही वयस्क यानी एडल्ट कहलाने और लोकतंत्र में अपना नेता चुनने के लिए वोट करने की भी मिनिमम उम्र है. आज के इस ब्लॉग में समझिए इस तरह का फैसले लेने की ज़रूरत क्यों पड़ रही है. देखिए वीडियो.

म्याऊं: लड़कियों की शादी की उम्र 18 से 21 क्यों करना चाहती है सरकार?

इस 15 अगस्त मोदी ने लड़कियों के लिए एक बहुत बड़ी बात कही. "उन्होंने कहा- हमने लड़कियों की शादी की उम्र पर विचार करने के लिए एक कमिटी बनाई है. उसपर रिपोर्ट आने के बाद केंद्र इस पर फैसला लेगा." अभी लड़कियों की शादी की मिनिमम उम्र 18 है. और लड़कों की 21. 18 ही वयस्क यानी एडल्ट कहलाने और लोकतंत्र में अपना नेता चुनने के लिए वोट करने की भी मिनिमम उम्र है. आज के इस ब्लॉग में समझिए इस तरह का फैसले लेने की ज़रूरत क्यों पड़ रही है. देखिए वीडियो.

वीडियो

म्याऊं: बंगाली लड़कियों को जादू-टोना करने वाली 'गोल्ड डिगर' क्यों कहा जाता है?

एक ट्वीट आज सोशल मीडिया पर खूब वायरल है. क्यों? रिया चक्रवर्ती की वजह से. उनपर सुशांत के परिवार ने तमाम आरोप लगाए हैं. आरोप क्या हैं? बंगाली लड़कियां डॉमिनेटिंग होती हैं. उन्हें लड़कों को अपने वश में करना खूब आता है... ये ट्वीट किसने पोस्ट किया, ये जानना ज़रूरी नहीं. क्योंकि ये मानसिकता किसी एक व्यक्ति की नहीं है. बल्कि एक ऐसा स्टीरियोटाइप, ऐसा पूर्वाग्रह है जो हिंदी बेल्ट के लोगों में खूब दिखता है. यूपी, एमपी, बिहार. यहां तक कि पंजाब, हरियाणा और महाराष्ट्र में भी. देखिए वीडियो.

म्याऊं: बंगाली लड़कियों को जादू-टोना करने वाली 'गोल्ड डिगर' क्यों कहा जाता है?

एक ट्वीट आज सोशल मीडिया पर खूब वायरल है. क्यों? रिया चक्रवर्ती की वजह से. उनपर सुशांत के परिवार ने तमाम आरोप लगाए हैं. आरोप क्या हैं? बंगाली लड़कियां डॉमिनेटिंग होती हैं. उन्हें लड़कों को अपने वश में करना खूब आता है... ये ट्वीट किसने पोस्ट किया, ये जानना ज़रूरी नहीं. क्योंकि ये मानसिकता किसी एक व्यक्ति की नहीं है. बल्कि एक ऐसा स्टीरियोटाइप, ऐसा पूर्वाग्रह है जो हिंदी बेल्ट के लोगों में खूब दिखता है. यूपी, एमपी, बिहार. यहां तक कि पंजाब, हरियाणा और महाराष्ट्र में भी. देखिए वीडियो.

वीडियो

म्याऊं: शादी के लिए लड़के देखना कितना मुश्किल होता है?

नेटफ्लिक्स ने एक नया शो लॉन्च किया है. 'इंडियन मैचमेकिंग'. इस शो के कॉन्सेप्ट की अब खूब आलोचना हो रही है. लोग उसे सेक्सिस्ट और रेसिस्ट बता रहे हैं. अपने ब्लॉग म्याऊं में प्रतिक्षा उन महिलाओं के बारे में बात कर रही हैं, जो मैट्रिमोनियल साइट्स के जरिए मैचमेकिंग प्रक्रिया से गुजरी हैं. देखें वीडियो.  

म्याऊं: शादी के लिए लड़के देखना कितना मुश्किल होता है?

नेटफ्लिक्स ने एक नया शो लॉन्च किया है. 'इंडियन मैचमेकिंग'. इस शो के कॉन्सेप्ट की अब खूब आलोचना हो रही है. लोग उसे सेक्सिस्ट और रेसिस्ट बता रहे हैं. अपने ब्लॉग म्याऊं में प्रतिक्षा उन महिलाओं के बारे में बात कर रही हैं, जो मैट्रिमोनियल साइट्स के जरिए मैचमेकिंग प्रक्रिया से गुजरी हैं. देखें वीडियो.  
वीडियो

म्याऊं: फीमेल कॉमेडियन, शुभम मिश्रा जैसों से कैसे जीत पाती हैं?

छत्रपति शिवाजी की प्रतिमा पर एक पर एक महिला स्टैंड-अप कॉमिक का वीडियो वायरल हुआ. इसके बाद, उसे यौन हिंसा की धमकी दी गई. उसके ऊपर आरोप है कि उसने छत्रपति शिवाजी महाराज का मज़ाक उड़ाया. हलांकि लड़की ने माफ़ी मांग ली है, लेकिन फिर भी उसे लगातार ट्रोल किया जा रहा है और रेप थ्रेट दिए जा रहे हैं. ऐसे ही रेप थ्रेट के एक वीडियो के वायरल होने के बाद सोशल मीडिया पर लोग कार्रवाई की मांग कर रहे हैं. रेप थ्रेट देने वाले व्यक्ति शुभम मिश्रा को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. अपने वीडियो ब्लॉग म्याऊं में प्रतीक्षा बात कर रही हैं महिला कॉमिक आर्टिस्ट्स पर. ये महिला कॉमिक इन ट्रोल्स का सामना कैसे कर पाती हैं. देखें वीडियो.    

म्याऊं: फीमेल कॉमेडियन, शुभम मिश्रा जैसों से कैसे जीत पाती हैं?

छत्रपति शिवाजी की प्रतिमा पर एक पर एक महिला स्टैंड-अप कॉमिक का वीडियो वायरल हुआ. इसके बाद, उसे यौन हिंसा की धमकी दी गई. उसके ऊपर आरोप है कि उसने छत्रपति शिवाजी महाराज का मज़ाक उड़ाया. हलांकि लड़की ने माफ़ी मांग ली है, लेकिन फिर भी उसे लगातार ट्रोल किया जा रहा है और रेप थ्रेट दिए जा रहे हैं. ऐसे ही रेप थ्रेट के एक वीडियो के वायरल होने के बाद सोशल मीडिया पर लोग कार्रवाई की मांग कर रहे हैं. रेप थ्रेट देने वाले व्यक्ति शुभम मिश्रा को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. अपने वीडियो ब्लॉग म्याऊं में प्रतीक्षा बात कर रही हैं महिला कॉमिक आर्टिस्ट्स पर. ये महिला कॉमिक इन ट्रोल्स का सामना कैसे कर पाती हैं. देखें वीडियो.    
वीडियो

म्याऊं: लॉकडाउन में जब आप शौक पूरे कर रहे थे, आपकी मां क्या कर रही थीं?

लॉकडाउन के दौरान घरेलू कामों का बंटवारा एकदम से बदल गया था. लेकिन ऐसा कैसे होता है कि एक निश्चित जेंडर के लोग खाना पकाने या सफाई जैसे बुनियादी आवश्यक काम करने में महारत रखते हों और दूसरे जेंडर के लोग नहीं ?  क्या किसी खास जेंडर के लोग पहले से ही उस काम में महारत को हासिल कर लेते हैं? आज के वीडियो ब्लॉग Meow (म्याऊं ) में प्रतिक्षा यानी ​​पीपी ऐसे ही लोगों से उनके जीवन के अनुभवों और राय के साथ इस मुद्दे पर बात कर रहीं हैं. देखें वीडियो.    

म्याऊं: लॉकडाउन में जब आप शौक पूरे कर रहे थे, आपकी मां क्या कर रही थीं?

लॉकडाउन के दौरान घरेलू कामों का बंटवारा एकदम से बदल गया था. लेकिन ऐसा कैसे होता है कि एक निश्चित जेंडर के लोग खाना पकाने या सफाई जैसे बुनियादी आवश्यक काम करने में महारत रखते हों और दूसरे जेंडर के लोग नहीं ?  क्या किसी खास जेंडर के लोग पहले से ही उस काम में महारत को हासिल कर लेते हैं? आज के वीडियो ब्लॉग Meow (म्याऊं ) में प्रतिक्षा यानी ​​पीपी ऐसे ही लोगों से उनके जीवन के अनुभवों और राय के साथ इस मुद्दे पर बात कर रहीं हैं. देखें वीडियो.    
वीडियो

म्याऊं: 'फेयरनेस' क्रीम का नाम बदल गया, हमारी मानसिकता कब बदलेगी?

अपने वीडियो ब्लॉग म्याऊं के इस एपिसोड में प्रतिक्षा फेयर एंड लवली से जुड़ी नई खबर पर बात कर रही हैं. इस 'फेयरनेस क्रीम' को बनाने वाली कंपनी हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड ने घोषणा की है कि वह अपने उत्पाद 'फेयर एंड लवली' से 'फेयर' शब्द को हटा देगा. लोग इस बारे में चर्चा कर रहे हैं कि क्या यह कदम वास्तव में सांवली त्वचा और रेसिज़्म के प्रति लोगों के रवैये में कोई जमीनी स्तर पर बदलाव लाएगा?  देखें वीडियो.

म्याऊं: 'फेयरनेस' क्रीम का नाम बदल गया, हमारी मानसिकता कब बदलेगी?

अपने वीडियो ब्लॉग म्याऊं के इस एपिसोड में प्रतिक्षा फेयर एंड लवली से जुड़ी नई खबर पर बात कर रही हैं. इस 'फेयरनेस क्रीम' को बनाने वाली कंपनी हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड ने घोषणा की है कि वह अपने उत्पाद 'फेयर एंड लवली' से 'फेयर' शब्द को हटा देगा. लोग इस बारे में चर्चा कर रहे हैं कि क्या यह कदम वास्तव में सांवली त्वचा और रेसिज़्म के प्रति लोगों के रवैये में कोई जमीनी स्तर पर बदलाव लाएगा?  देखें वीडियो.