Submit your post

Follow Us

तहखाना

ब्लॉग: शराब पीकर 'टाइट' लड़कियां

‘साइको सैयां’ गीत आज यानी 8 जुलाई को रिलीज हुआ है. गाने में प्रभाष और श्रद्धा कपूर हैं. गाने में स्वयं ‘बाहुबली’ हैं तो गाना तो हिट होना ही है. गाना आने के पहले उसका उसका चंद सेकेंड्स का ट्रेलर ही दो दिनों से यूट्यूब पर ट्रेंड कर रहा था. और अब यही हाल गाने … और पढ़ें drunk girls and misogyny

ब्लॉग: शराब पीकर 'टाइट' लड़कियां

‘साइको सैयां’ गीत आज यानी 8 जुलाई को रिलीज हुआ है. गाने में प्रभाष और श्रद्धा कपूर हैं. गाने में स्वयं ‘बाहुबली’ हैं तो गाना तो हिट होना ही है. गाना आने के पहले उसका उसका चंद सेकेंड्स का ट्रेलर ही दो दिनों से यूट्यूब पर ट्रेंड कर रहा था. और अब यही हाल गाने … और पढ़ें drunk girls and misogyny

तहखाना

औरतों को बिना इजाज़त नग्न करती टेक्नोलॉजी

एक महशूर भारतीय पत्रकार हैं. औरत हैं. ज़ाहिर सी बात है, ट्रोल होती रहती हैं. लोग गालियां देते हैं, रेप की धमकियां देते हैं. मगर बीते साल उनके साथ कुछ ऐसा हुआ था, जिसने उन्हें इतनी बुरी तरह तोड़ दिया, कि वो बेहोश होती रहीं, उल्टियां करती रहीं. अस्पताल में भर्ती होना पड़ा. उनका गुनाह … और पढ़ें deepfake the worst form of artificial intelligence promoting misogyny and sexism

औरतों को बिना इजाज़त नग्न करती टेक्नोलॉजी

एक महशूर भारतीय पत्रकार हैं. औरत हैं. ज़ाहिर सी बात है, ट्रोल होती रहती हैं. लोग गालियां देते हैं, रेप की धमकियां देते हैं. मगर बीते साल उनके साथ कुछ ऐसा हुआ था, जिसने उन्हें इतनी बुरी तरह तोड़ दिया, कि वो बेहोश होती रहीं, उल्टियां करती रहीं. अस्पताल में भर्ती होना पड़ा. उनका गुनाह … और पढ़ें deepfake the worst form of artificial intelligence promoting misogyny and sexism

तहखाना

हीरो की हिंसा और शोषण को सहने वाली बेवकूफ नायिकाएं

जबसे ‘कबीर सिंह’ (Kabir Singh) रिलीज हुई है, विवादों में है. ‘अर्जुन रेड्डी’ की इस रीमेक को खूब लताड़ा गया है. और सही लताड़ा गया है. फिल्म में कई सीन ऐसे हैं जो औरतों के प्रति हिंसा को बढ़ावा देते हैं. यहां तक एक सीन में तो अटेम्प्टेड रेप तक को बढ़ावा दिया गया है. … और पढ़ें from tere naam nirjara to kabir singh preeti characters whose consent is assumed

हीरो की हिंसा और शोषण को सहने वाली बेवकूफ नायिकाएं

जबसे ‘कबीर सिंह’ (Kabir Singh) रिलीज हुई है, विवादों में है. ‘अर्जुन रेड्डी’ की इस रीमेक को खूब लताड़ा गया है. और सही लताड़ा गया है. फिल्म में कई सीन ऐसे हैं जो औरतों के प्रति हिंसा को बढ़ावा देते हैं. यहां तक एक सीन में तो अटेम्प्टेड रेप तक को बढ़ावा दिया गया है. … और पढ़ें from tere naam nirjara to kabir singh preeti characters whose consent is assumed

तहखाना

नौकरानी, पत्नी और 'सेक्सी सेक्रेटरी' का 'सुख' एक साथ देने वाली रोबोट से मिलिए

‘कुर्सी की पेटी बांध लें.’ ‘यूजर अन्य कॉल पर व्यस्त है, कृपया कुछ देर में कॉल करें.’ ‘आगे से बांएं मुड़ें.’ ये कुछ संदेश हैं जो हम अक्सर सुनते हैं. 10 में से 9 बार ये संदेश महिला की आवाज में होते हैं. इन संदेशों की अगर हम पुरुष की भारी आवाज़ में कल्पना करें … और पढ़ें how artificial intelligence assistants siri alexa cortana and google assistant are misogynistic in their design

नौकरानी, पत्नी और 'सेक्सी सेक्रेटरी' का 'सुख' एक साथ देने वाली रोबोट से मिलिए

‘कुर्सी की पेटी बांध लें.’ ‘यूजर अन्य कॉल पर व्यस्त है, कृपया कुछ देर में कॉल करें.’ ‘आगे से बांएं मुड़ें.’ ये कुछ संदेश हैं जो हम अक्सर सुनते हैं. 10 में से 9 बार ये संदेश महिला की आवाज में होते हैं. इन संदेशों की अगर हम पुरुष की भारी आवाज़ में कल्पना करें … और पढ़ें how artificial intelligence assistants siri alexa cortana and google assistant are misogynistic in their design

तहखाना

हम रेप की कहानियां किस तरह सुनना चाहते हैं?

बीते दिनों अलीगढ़ में एक ढाई साल की बच्ची की हत्या हुई है. हत्या करने वाला अपनी ही नाबालिग बच्ची के रेप का आरोपी था. उसने बच्ची को मारकर फ्रिज में रखा ताकि दुर्गंध न आए. रिपोर्ट्स के मुताबिक़ बच्ची के बाएं पैर में फ्रैक्चर और आंखों पर चोट के निशान थे. सिर में चोट … और पढ़ें the masculine narrative of rapes and its treatment in media

हम रेप की कहानियां किस तरह सुनना चाहते हैं?

बीते दिनों अलीगढ़ में एक ढाई साल की बच्ची की हत्या हुई है. हत्या करने वाला अपनी ही नाबालिग बच्ची के रेप का आरोपी था. उसने बच्ची को मारकर फ्रिज में रखा ताकि दुर्गंध न आए. रिपोर्ट्स के मुताबिक़ बच्ची के बाएं पैर में फ्रैक्चर और आंखों पर चोट के निशान थे. सिर में चोट … और पढ़ें the masculine narrative of rapes and its treatment in media

तहखाना

साइकल, पौरुष और स्त्रीत्व

सिंतू 21 साल की हैं. मधुबनी में रहती हैं. इन चुनावों में पहली बार वोट डालेंगी. अंग्रेजी अखबार ‘द इकनॉमिक टाइम्स’ से बात करते हुए कहती है: साइकल से वोट डालने जाऊंगी. सिंतू की ‘रेंजर’ साइकल उसको नौंवीं क्लास में मिली थी. जब उसके पापा के अकाउंट में साइकल योजना के पैसे आए थे. वोट … और पढ़ें the gendered history of bicycle

साइकल, पौरुष और स्त्रीत्व

सिंतू 21 साल की हैं. मधुबनी में रहती हैं. इन चुनावों में पहली बार वोट डालेंगी. अंग्रेजी अखबार ‘द इकनॉमिक टाइम्स’ से बात करते हुए कहती है: साइकल से वोट डालने जाऊंगी. सिंतू की ‘रेंजर’ साइकल उसको नौंवीं क्लास में मिली थी. जब उसके पापा के अकाउंट में साइकल योजना के पैसे आए थे. वोट … और पढ़ें the gendered history of bicycle

तहखाना

महिलाओं का सम्मान न करने वाली पार्टियों में आखिर हम किसको चुनें?

चुनाव का खेला जितना इंटरेस्टिंग है, उतना ही घटिया भी. जबतक जूतम-लात न हो जाए, गाली-गलौज न हो, और 4-5 महिला कैंडिडेट्स पर हद दर्ज़े की नीच टिप्पणियां न हों. तब तक पता कैसे चलेगा कि हमारे यहां चुनाव हुए हैं. पर तमाम घटिया, नफरत फैलाने वाले बयानों के बीच एक ऐसा बयान सुनने में … और पढ़ें meow: how women are getting meagre representation in loksabha elections 2019 yet again

महिलाओं का सम्मान न करने वाली पार्टियों में आखिर हम किसको चुनें?

चुनाव का खेला जितना इंटरेस्टिंग है, उतना ही घटिया भी. जबतक जूतम-लात न हो जाए, गाली-गलौज न हो, और 4-5 महिला कैंडिडेट्स पर हद दर्ज़े की नीच टिप्पणियां न हों. तब तक पता कैसे चलेगा कि हमारे यहां चुनाव हुए हैं. पर तमाम घटिया, नफरत फैलाने वाले बयानों के बीच एक ऐसा बयान सुनने में … और पढ़ें meow: how women are getting meagre representation in loksabha elections 2019 yet again

तहखाना

लोकसभा चुनाव 2019: पॉलिटिक्स बाद में, पहले महिला नेताओं की 'इज्जत' का तमाशा बनाते हैं!

ठोंक डाला. मार डाला. उड़ा दिया. बम मार दिया भाईस्साब. युद्ध और हिंसा. इनसे जुड़ी उपमाओं का इस्तेमाल कर बड़ी फील आती है. क्रिकेट से लेकर इलेक्शन तक. पबजी वाले हैं न हम. इलेक्शन यानी सबसे बड़ा युद्ध. युद्ध में कोई जीतेगा. कोई हारेगा. पर हर युद्ध की तरह इसमें भी कुछ कैजुअल्टी होंगी. वो … और पढ़ें how each election in india is an occasion to repeatedly disgrace women by passing sexist and derogatory remarks

लोकसभा चुनाव 2019: पॉलिटिक्स बाद में, पहले महिला नेताओं की 'इज्जत' का तमाशा बनाते हैं!

ठोंक डाला. मार डाला. उड़ा दिया. बम मार दिया भाईस्साब. युद्ध और हिंसा. इनसे जुड़ी उपमाओं का इस्तेमाल कर बड़ी फील आती है. क्रिकेट से लेकर इलेक्शन तक. पबजी वाले हैं न हम. इलेक्शन यानी सबसे बड़ा युद्ध. युद्ध में कोई जीतेगा. कोई हारेगा. पर हर युद्ध की तरह इसमें भी कुछ कैजुअल्टी होंगी. वो … और पढ़ें how each election in india is an occasion to repeatedly disgrace women by passing sexist and derogatory remarks

तहखाना

तनुश्री-नाना मसले पर अमिताभ बच्चन ने ये बात कहकर अपना दोहरापन साबित कर दिया

‘मैं न नाना पाटेकर हूं न तनुश्री दत्ता. मैं कैसे कमेंट करूं.’ जब अमिताभ बच्चन से तनुश्री दत्ता से नाना पाटेकर के हाथों यौन शोषण के आरोप पर टिप्पणी मांगी गई, तो ये उनका जवाब था. इस जवाब ने उन सभी लड़कियों को चौंकाया है जिन्होंने अमिताभ बच्चन की बतौर एक्टर और बतौर शख्सियत इज्ज़त … और पढ़ें meow: amitabh bachchan keeps mum on tanushree dutta allegation of harassment over nana patekar

तनुश्री-नाना मसले पर अमिताभ बच्चन ने ये बात कहकर अपना दोहरापन साबित कर दिया

‘मैं न नाना पाटेकर हूं न तनुश्री दत्ता. मैं कैसे कमेंट करूं.’ जब अमिताभ बच्चन से तनुश्री दत्ता से नाना पाटेकर के हाथों यौन शोषण के आरोप पर टिप्पणी मांगी गई, तो ये उनका जवाब था. इस जवाब ने उन सभी लड़कियों को चौंकाया है जिन्होंने अमिताभ बच्चन की बतौर एक्टर और बतौर शख्सियत इज्ज़त … और पढ़ें meow: amitabh bachchan keeps mum on tanushree dutta allegation of harassment over nana patekar

वीडियो

लेस्बियन और रेप पॉर्न के दीवाने इस देश को समलैंगिकता अप्राकृतिक लगती है

भारत में लोगों का एक तबका जहां सेक्शन 377 के असंवैधानिक घोषित किए जाने से खुश है वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जिन्हें ये मजाक का विषय लग रहा है. सोशल मीडिया जैसी क्रूर जगह पर ही किसी की लैंगिकता को लेकर हंसा जा सकता है. वीडियो में ऐसे ही लोगों पर टिप्पणी की गई है जो ऐसे विषय को लेकर बेहद असंवेदनशील हैं.

लेस्बियन और रेप पॉर्न के दीवाने इस देश को समलैंगिकता अप्राकृतिक लगती है

भारत में लोगों का एक तबका जहां सेक्शन 377 के असंवैधानिक घोषित किए जाने से खुश है वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जिन्हें ये मजाक का विषय लग रहा है. सोशल मीडिया जैसी क्रूर जगह पर ही किसी की लैंगिकता को लेकर हंसा जा सकता है. वीडियो में ऐसे ही लोगों पर टिप्पणी की गई है जो ऐसे विषय को लेकर बेहद असंवेदनशील हैं.