Submit your post

Follow Us

अफगानिस्तान के पूर्व उप-राष्ट्रपति के इस ट्वीट पर पाकिस्तानी यूज़र्स बमक क्यों गए हैं?

ये ट्वीट देखिए. फिर आगे की बात करते हैं.

ये ट्वीट किया है अफगानिस्तान के पूर्व उप-राष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह ने. ट्वीट में आप जो तस्वीर देख रहे हैं, ये तस्वीर है 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध के बाद की. जब पाकिस्तान की सेना, भारत की सेना के सामने आत्मसमर्पण के कागजों पर हस्ताक्षर कर रही थी. 1971 के इसी भारत-पाकिस्तान युद्ध में पाकिस्तानी जनरल अमीर अब्दुल्ला खां नियाज़ी को करीब 90 हज़ार सैनिकों के साथ सरेंडर करना पड़ा था. इसी युद्ध में हार के बाद ‘पूर्वी पाकिस्तान’ का हिस्सा पाकिस्तान से आज़ाद हो गया था और बांग्लादेश का जन्म हुआ था. तस्वीर में साथ में बैठे दिख रहे हैं भारतीय सेना के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल जगजीत सिंह अरोड़ा.

जाहिर सी बात है कि तस्वीर ऐतिहासिक है. तस्वीर के साथ सालेह ने लिखा –

“हमारे इतिहास में ऐसी तस्वीर न तो कभी हुई है, न कभी होगी. हां, कल मैं एक बार को हिल गया था क्योंकि एक रॉकेट मेरे ऊपर से उड़कर गया और कुछ मीटर की दूरी पर गिरा. लेकिन पाकिस्तान के प्यारे ट्विटर हमलावरों, इस तस्वीर से आपको जो ट्रॉमा मिला है, उसे तालिबान और आतंकवाद दुरुस्त नहीं कर सकते. कोई और तरीका खोजिये.”

दरअसल पिछले कुछ दिनों से पाकिस्तान और अफगानिस्तान के बीच तालिबान को लेकर ज़ुबानी जंग चल रही है. असल ज़मीन पर भी और सोशल मीडिया पर भी. अफगानिस्तान लगातार पाकिस्तान पर ये आरोप लगाता रहा है कि वो दबे पांव तालिबान का समर्थन कर रहा है और उन्हें प्रशिक्षण, हथियार मुहैया करा रहा है. ऐसे में सालेह ने ये फोटो ट्वीट करके पाकिस्तान की सोशल मीडिया जनता को एक तरह से चिढ़ाने का काम किया.

जाहिर सी बात है कि रिएक्शन भी आया. पाकिस्तान की TV सेलेब सेहर शिनवारी ने लिखा –

“हमारे पास भी इतिहास में ऐसी वीडियो क्लिप नहीं है, जिसमें धमाके की आवाज़ सुनकर एक बहादुर उप-राष्ट्रपति की पतलून गीली हो जाती है और वो बेशर्म तरीके से प्रार्थना करने में लगा रहता है.”

दरअसल सालेह का भी एक वीडियो हाल ही में बड़ा वायरल हुआ है. इसमें वो तमाम लोगों के साथ खड़े प्रार्थना कर रहे हैं, तभी रॉकेट की आवाज़ आती है, जिससे वो एक बार को डरकर झुक जाते हैं. फिर संभलकर वापस अपनी प्रार्थना में लग जाते हैं. इसी का पाकिस्तानी यूज़र्स ने मजाक बनाया. अब्दुल्ला नाम के एक ट्विटर यूज़र ने लिखा कि तालिबान, अफगानिस्तान के 60 फीसदी से ज़्यादा इलाके पर कब्जा कर चुका है और उनका उपराष्ट्रपति ट्विटर पर जंग लड़ रहा है.

वहीं कुछ लोग सालेह के पक्ष में भी बोले.

पाकिस्तान की पूर्व सांसद बुशरा गौहर ने लिखा कि- “धमाके की आवाज़ पर आपका रिएक्शन बिल्कुल नेचुरल था. जो इसका मज़ाक बना रहे हैं, उनका दिमाग़ ख़राब है. आतंकवाद और चरमपंथ के खिलाफ आपके मजबूत स्टैंड के लिए शुक्रिया.”


दुनियादारी: अफ़गानिस्तान में इंडिया के नुकसान के पीछे तालिबान या पाकिस्तान?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने पीएम मोदी के लिए क्या कहा?