Submit your post

Follow Us

डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ के कोरोना पॉज़िटिव आने के बाद इस राज्य में छह अस्पताल बंद किये गए

पश्चिम बंगाल में चार अस्पतालों और दो नर्सिंग होम को बंद कर दिया गया है. यहां पर मरीज और डॉक्टर कोरोना वायरस पॉजीटिव पाए गए हैं. इन अस्पतालों और नर्सिंग होम्स से जुड़े करीब 300 लोगों को निगरानी में रखा गया है. ये अस्पताल कोलकाता और हावड़ा में हैं. राज्य में 13 अप्रैल तक कोरोना के 110 मामले सामने आए हैं.

ये अस्पताल और नर्सिंग होम हुए हैं बंद

एसएस चटर्जी हार्ट क्लीनिक, चरनोक अस्पताल, हावड़ा जनरल अस्पताल, एनआरएस मेडिकल कॉलेज और अस्पताल, आरजी कर मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल और कोलकाता मेडिकल कॉलेज में कोरोना के मरीज मिले हैं.

देश में कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 10 हज़ार पार कर चुकी है, ऐसे में सरकार का मानना है कि आगरा मॉडल से रोकथाम में मदद मिलेगी.
देश में कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 10 हज़ार पार कर चुकी है, ऐसे में सरकार का मानना है कि आगरा मॉडल से रोकथाम में मदद मिलेगी.

महिला मरीज से डॉक्टरों को कोरोना

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, सबसे पहले हावड़ा जनरल अस्पताल में संक्रमण फैला. यहां पर मार्च के आखिरी सप्ताह में 48 साल की एक महिला की मौत हो गई. बाद में वह कोरोना पॉजीटिव पाई गईं. इस पर सरकार ने अस्पताल को बंद कर दिया. फिर अस्पताल के दो डॉक्टर, एक सुपरिटेंडेंट और एक स्वीपर कोरोना पॉजीटिव हो गए. ऐसे में 200 से ज्यादा लोगों को क्वारंटीन किया गया. कोलकाता के तीन अस्पतालों में भी ऐसे ही केस सामने आए.

डायलिसिस से चार मरीजों में फैला कोरोना वायरस

चरनोक अस्पताल के बारे में बताया गया है कि यहां पर दो सप्ताह पहले एक मरीज को डायलिसिस पर रखा गया था. बाद में उसकी मौत हो गई. उसे कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि भी हुई है. इस नर्सिंग होम के प्रबंधन को बाद में जानकारी मिली कि चार और मरीजों को भी उसी समय डायलिसिस पर रखा गया था. अब वे भी कोरोना पॉजीटिव पाए गए हैं. इसके बाद नर्सिंग होम को बंद कर दिया गया. इसके सभी कर्मचारियों को क्वारंटीन किया गया है.

कोरोना वायरस कुछ इस तरह का दिखता है. (फोटो: Twitter | padrebrendon)
लैब में माइक्रोस्कोप से कोरोना वायरस कुछ इस तरह का दिखता है. (फोटो: Twitter | padrebrendon)

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि अस्पतालों को कोरोना के संक्रमण से बचाने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं. एक अधिकारी ने इंडियन एक्सप्रेस से कहा कि वे चिंतित हैं. डॉक्टर. नर्स और अस्पतालों की पहले से ही कमी है. अगर हालात नहीं सुधरे तो कोरोना और गैर कोरोना वाले मरीजों का इलाज मुश्किल हो जाएगा.

राज्य सरकार के रवैये पर उठे सवाल

इस मामले में एसोसिएशन ऑफ हेल्थ सर्विस डॉक्टर्स के जनरल सेक्रेटरी मानस गुमटा ने राज्य सरकार पर लापरवाही का आरोप लगाया. उन्होंने इंडियन एक्सप्रेस से कहा कि राज्य सरकार ने कोरोना के संदिग्ध मरीजों को लेकर सही से गाइडलाइंस नहीं दीं. अस्पताल भी संदिग्ध मरीजों को अलग नहीं रख रहे हैं. यदि इतने डॉक्टर, नर्स और मरीज संक्रमित होंगे तो हालात खतरनाक हो जाएंगे. हमने कई बार सरकार से कहा लेकिन वे मान ही नहीं रहे हैं.

भारत में कोरोना वायरस के मामलों का स्टेटस


Video: COVID-19 से लड़ने के लिए बनाए गए PM Cares Fund के हिसाब-किताब की जांच होगी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कोरोना: मरीजों की खातिर बेड और लैब के लिए कितना तैयार है भारत, PM मोदी ने बताया

लॉकडाउन बढ़ाने के अलावा पीएम ने क्या-क्या कहा?

15 अप्रैल को लॉकडाउन-2 की जो गाइडलाइंस आनी हैं, उनमें क्या-क्या हो सकता है

पूरे देश में 3 मई तक लॉकडाउन बढ़ चुका है.

सुप्रीम कोर्ट ने बता दिया है कि किन लोगों का कोरोना वायरस टेस्ट फ्री में होगा

प्राइवेट लैब भी नहीं ले सकेंगे इनसे पैसा.

PM CARES Fund पर लगातार उठ रहे सवाल, अब हिसाब-किताब की होगी जांच

वकील ने PM Cares फंड को रद्द करने की मांग की है.

जापान के लोगों ने पीएम से क्यों कहा- आप खुद को समझते क्या हैं?

शिंजो आबे को खूब सुनना पड़ा है.

कोरोना में हॉट स्पॉट तो सुना पर ये कोल्ड स्पॉट क्या चीज है?

ध्यान रहे ठंड से इसका कोई लेना-देना नहीं है.

कोरोना वायरस: वैज्ञानिकों ने बताया, भारत को लॉकडाउन से फायदा हुआ या नहीं

25 मार्च से भारत में लॉकडाउन है.

कोरोना वायरस के 'हॉटस्पॉट' में रहते हैं? मोबाइल नंबर ‘पहुंच से बाहर’ हो सकता है!

जब आवन-जावन ही रुका है, तो सर्विस कैसे दुरुस्त हो?

पीएम को टैग कर मुंबई की महिला ने बच्चे के लिए ऊंटनी का दूध मांगा, राजस्थान से ऐसे पहुंचा

लॉकडाउन में 20 किलो दूध के लिए रेलवे ने जो किया वह पढ़कर दिल गार्डन गार्डन हो जाएगा.

कोरोना से लड़ाई में जान गंवाने वाले मेडिकल स्टाफ के परिवार का इस तरह ध्यान रखेगी योगी सरकार

मदद पहुंचाने का ज़िम्मा जिलाधिकारी पर होगा.