Submit your post

Follow Us

तालिबान अफगानिस्तान में सरकार बनाने की कोशिश में लगा, इस पड़ोसी ने तगड़ा झटका दे दिया

अफगानिस्तान पर कब्जे के बाद से तालिबान सरकार बनाने की कवायद कर रहा है. उसकी कोशिश है कि दुनिया के अन्य देश उसकी सरकार को मान्यता दें. लेकिन पड़ोसी देश ताजिकिस्तान से उसके तगड़ा झटका मिला है. ताजिकिस्तान ने साफ कहा है कि अफगानिस्तान में उत्पीड़न से बनी किसी भी सरकार को वो मान्यता नहीं देगा. ताजिकिस्तान के राष्ट्रपति इमोमली रहमन (Emmomali Rahmon) ने इस बाबत बुधवार, 25 अगस्त को पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी से मीटिंग की. कहा कि उनका देश तालिबान को अफगानिस्तान की वैध सरकार के रूप में मान्यता नहीं देगा.

दोनों नेताओं की बैठक के बाद जारी बयान में ताजिकिस्तान की ओर से कहा गया है,

इसके साफ सबूत हैं कि तालिबान देश में अन्य राजनीतिक ताकतों की व्यापक भागीदारी के साथ एक अंतरिम सरकार बनाने के अपने पिछले वादों से पीछे हट रहा है. वो एक इस्लामी अमीरात स्थापित करने की तैयारी कर रहा है. ताजिकिस्तान अफगान लोगों, विशेष रूप से ताजिक, उज्बेक और अन्य अल्पसंख्यकों के उत्पीड़न की कड़ी निंदा करता है.

ताजिकिस्तान के अधिकारियों ने जोर देकर कहा कि अफगानिस्तान को थोपे गए युद्धों के भंवर में वापस नहीं घसीटा जाना चाहिए. बयान में कहा गया है कि एक करीबी पड़ोसी के रूप में ताजिकिस्तान ने हमेशा अफगानिस्तान में स्थायी शांति और स्थिरता की बहाली का समर्थन किया है. पड़ोसी देश की राजनीतिक और सुरक्षा समस्याओं का तत्काल समाधान करने के लिए सभी राष्ट्रीय अल्पसंख्यकों की भागीदारी के साथ एक समावेशी सरकार स्थापित करना जरूरी है, जिनकी संख्या अफगानिस्तान की कुल आबादी के 46 प्रतिशत से भी ज्यादा है. बयान में कहा गया है कि सरकार बनाने में अफगानिस्तान के ताजिकों की भागीदारी विशेष रूप से आवश्यक है.

Tajikistan
पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ताजिकिस्तान के दौरे पर हैं.

ताजिकिस्तान ने कहा है कि पड़ोसी देश में राज्य संरचना का निर्धारण जनमत संग्रह और देश के सभी नागरिकों की स्थिति को ध्यान में रखकर किया जाना चाहिए. इस संबंध में बयान में कहा गया है,

ताजिकिस्तान ऐसी किसी भी सरकार को मान्यता नहीं देगा जो उत्पीड़न के माध्यम से बनी है, जिसे सभी अफगान लोगों की स्थिति को ध्यान में रखे बिना और विशेष रूप से सभी अल्पसंख्यकों को ध्यान में रखे बिना बनाया गया हो. अफगानिस्तान की भावी सरकार में ताजिकों का एक योग्य स्थान है.

इसके साथ ही ताजिकिस्तान के राष्ट्रपति ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अफगानिस्तान में शांति बहाल करने के लिए तत्काल उपाय करने और जल्द से जल्द बातचीत के माध्यम से राजनीतिक और सुरक्षा स्थिति को स्थिर करने का आह्वान किया है.

राष्ट्रपति रहमन के हवाले से बयान में कहा गया है,

अफगानिस्तान में मौजूदा स्थिति के प्रति अंतरराष्ट्रीय समुदाय की उदासीनता लंबे समय तक गृह युद्ध का कारण बन सकती है. ताजिकिस्तान जल्द से जल्द पड़ोसी अफगानिस्तान में शांति, स्थिरता और सुरक्षा की बहाली के लिए प्रतिबद्ध है और मानता है कि संयुक्त राष्ट्र को इस प्रक्रिया को आगे बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभानी चाहिए.

Taliban, Tajikistan
काबुल पर कब्जे के बाद अफगान राष्ट्रपति के महल में तालिबानी लड़ाके (बाएं) और ताजिकिस्तान के राष्ट्रपति इमोमली रहमन (दाएं). (तस्वीरें- पीटीआई)

बयान के मुताबिक, ताजिकिस्तान के गृह युद्ध, शांति और राष्ट्रीय एकता के अनुभव के आधार पर राष्ट्रपति रहमन ने अफगानिस्तान की शांति, स्थिरता और आगे सतत विकास सुनिश्चित करने के लिए पाकिस्तानी पक्ष को कई तरीके प्रस्तावित किए हैं.

बता दें कि ताजिकिस्तान अफगानिस्तान के साथ करीब 1300 किलोमीटर की सीमा साझा करता है.


दी लल्लनटॉप शो: तालिबान से दोस्ती कर अफगानिस्तान में चीन क्या बड़ा फायदा उठाने की फिराक में है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने पीएम मोदी के लिए क्या कहा?

आज आए चुनाव नतीजे में ममता, कांग्रेस और BJP को कहां-कहां जीत हार का सामना करना पड़ा?

आज आए चुनाव नतीजे में ममता, कांग्रेस और BJP को कहां-कहां जीत हार का सामना करना पड़ा?

उपचुनाव के नतीजे एक जगह पर.

जेल से बाहर आए शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान, मन्नत के लिए रवाना

जेल से बाहर आए शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान, मन्नत के लिए रवाना

3 अक्टूबर को आर्यन खान को गिरफ्तार किया गया था.

वरुण गांधी ने कहा- UP में किसानों का फसल जलाना सरकार के लिए शर्म की बात, जेल कराऊंगा

वरुण गांधी ने कहा- UP में किसानों का फसल जलाना सरकार के लिए शर्म की बात, जेल कराऊंगा

किसानों के बहाने फिर बीजेपी पर निशाना साध रहे वरुण गांधी?

कन्नड़ सुपरस्टार पुनीत राजकुमार की सिर्फ 46 की उम्र में डेथ!

कन्नड़ सुपरस्टार पुनीत राजकुमार की सिर्फ 46 की उम्र में डेथ!

ट्विटर पर फिल्म इंडस्ट्री ने पुनीत को किया भारी मन से याद.

Facebook का नाम बदलने के बाद क्या अब आपका अकाउंट Meta पर खुलेगा?

Facebook का नाम बदलने के बाद क्या अब आपका अकाउंट Meta पर खुलेगा?

इससे फेसबुक पर क्या कुछ फर्क पड़ने वाला है?

क्या मोदी सरकार ने अग्नि-5 मिसाइल की क्षमता घटा दी है?

क्या मोदी सरकार ने अग्नि-5 मिसाइल की क्षमता घटा दी है?

कांग्रेस सेवा दल के दावे पर लोग मजे क्यों लेने लगे?

एयर इंडिया को खरीदने वाले टाटा ग्रुप को अब भारत सरकार 302 करोड़ रुपए क्यों देगी?

एयर इंडिया को खरीदने वाले टाटा ग्रुप को अब भारत सरकार 302 करोड़ रुपए क्यों देगी?

एयर इंडिया ने मंत्रालयों और विभागों को उधार टिकट देना भी बंद कर दिया है.

पेगासस मामले पर SC ने बिठाई कमेटी, जानिए किस किस पहलू से होगी जासूसी की जांच

पेगासस मामले पर SC ने बिठाई कमेटी, जानिए किस किस पहलू से होगी जासूसी की जांच

केंद्र के जवाब से असहमत कोर्ट ने कहा, लोगों की विवेकहीन जासूसी मंजूर नहीं.

आर्यन खान केस: किरण गोसावी के बॉडीगार्ड का दावा, 18 करोड़ में डील होने की बात सुनी थी

आर्यन खान केस: किरण गोसावी के बॉडीगार्ड का दावा, 18 करोड़ में डील होने की बात सुनी थी

गवाह प्रभाकर सेल का दावा-8 करोड़ समीर वानखेड़े को देने की बात हुई थी.