Submit your post

Follow Us

78 साल के इस एथलीट को पता नहीं था कि गोल्ड मेडल जीतने के बाद ऐसा होगा

स्पोर्ट स्पिरिट. ये साथ रहती है खिलाड़ी के . ज़िंदगी के साथ भी, और शायद ज़िंदगी के बाद भी. इसके लिए एक खिलाड़ी सब कुछ कर सकता है. संगरूर से एक ऐसी ख़बर आई है कि सुनकर खेल और खिलाड़ी दोनों के लिए गर्व पहले से ज़्यादा बढ़ जाता है. खबर 78 साल के एक एथलीट की है. उन्होंने 1500 मीटर की रेस जीती, जिसके बाद उनकी मौत हो गई.

# क्या है पूरा मामला

पंजाब मास्टर एथलेटिक एसोसिएशन ने बुजुर्गों के लिए एक एथलेटिक मीट करवाई थी. होशियारपुर के जलोवाल के रहने वाले बुज़ुर्ग एथलीट बख्शीश सिंह ने भी इसमें हिस्सा लिया. वो 800 मीटर रेस में तीसरे नंबर पर रहे. इसके बाद हुई 1500 मीटर की रेस. इसमें वो पहले नंबर पर रहे. 1500 मीटर की रेस पूरी करने के बाद बख्शीश सिंह को हार्ट अटैक आया और उनकी मौत हो गई. स्थानीय अखबारों में छपी ख़बरों के मुताबिक़, रेस जीतने के बाद वह बहुत ख़ुश थे. लोग बधाई दे रहे थे. बख्शीश रिलैक्स कर ही रहे थे कि उन्हें दिल का दौरा पड़ा और उनकी मौत हो गई.

# फ़ौज से रिटायर थे बख्शीश सिंह

बख्शीश फौज के रिटायर्ड जवान थे. रिटायर होने के बाद वह टीचर भी रहे. दौड़ने के शौक़ीन थे. 1982 से उन्होंने खेलों में हिस्सा लेना शुरू किया. होशियारपुर की टीम को लीड करते थे. कई स्टेट में खेले. 200 से ज़्यादा मेडल जीत चुके थे. उनके दोस्त बताते हैं कि वो हमेशा कहते थे कि अस्पताल में मरने से अच्छा है मैदान में दौड़ते हुए मरो.

किसे पता था कि एक दिन बख्शीश की इच्छा ऐसे पूरी होगी.

बख्शीश सिंह शायद 78 साल की उम्र में भी इसलिए दौड़ते होंगे कि आने वाली पीढ़ी खेल को सिर्फ़ खेल न समझे. अब बख्शीश हमारे बीच नहीं हैं. मैराथन में मौत बाज़ी मार चुकी है. ज़िंदगी अपनी रफ़्तार से चल रही है.


ये भी देखें:

अमित शाह ने राज्यसभा में किए जम्मू-कश्मीर, NRC और नागरिकता संशोधन बिल पर बड़े दावे

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

एंटी-CAA प्रोटेस्ट को उकसाने के आरोप में कपल गिरफ्तार, पुलिस ने कहा- ISIS से लिंक हो सकता है

दिल्ली के शाहीन बाग में 15 दिसंबर से प्रोटेस्ट चल रहा है.

सबसे ज्यादा रणजी मैच और सबसे ज्यादा रन, इस खिलाड़ी ने 24 साल बाद लिया संन्यास

42 की उम्र तक खेलते रहे, अब बल्ला टांगा.

लखनऊ में CAA विरोधी प्रदर्शन के दौरान 'तोड़फोड़ करने वाले' 57 लोगों के होर्डिंग लगाए

होर्डिंग पर पूर्व IPS एसआर दारापुरी और कांग्रेस कार्यकर्ता सदफ ज़फर जैसे लोगों का नाम.

दिल्ली दंगे के 'हिन्दू पीड़ितों' की मदद के लिए कपिल मिश्रा ने जुटाये 71 लाख, खुद एक पईसा नहीं दिया

अब भी कह रहे हैं, 'आप धर्म को बचाइये, धर्म आपको बचायेगा'

कांग्रेस सांसद का आरोप : अमित शाह का इस्तीफा मांगा, तो संसद में मुझ पर हमला कर दिया गया

कांग्रेस सांसद ने कहा, 'मैं दलित महिला हूं, इसलिए?'

निर्भया केस: चार दोषियों की फांसी से एक दिन पहले कोर्ट ने क्या कहा?

राष्ट्रपति ने पवन गुप्ता की दया याचिका खारिज कर दी है.

कश्मीर : हथियारों के फर्जी लाइसेंस बनवाने वाला IAS अधिकारी कैसे धरा गया?

हर लाइसेंस पर 8-10 लाख रूपए लेता था!

गृहमंत्री अमित शाह की रैली में आई भीड़ ने लगाया देश के गद्दारों को गोली मारो... का नारा!

ये नारा डरावना है, उससे भी डरावना है इसका गृहमंत्री की रैली में लगाया जाना.

दिल्ली के बाद मेघालय में भी हिंसा भड़की, दो की मौत, कई जिलों में इंटरनेट बंद

मामला CAA प्रोटेस्ट से जुड़ा है.

एक्टिंग छोड़ बीजेपी जॉइन की थी, अब कपिल मिश्रा और अनुराग ठाकुर की वजह से पार्टी छोड़ दी

बीजेपी नेता ने अपनी पार्टी के नेताओं पर बड़ा बयान दिया है.