Submit your post

Follow Us

78 साल के इस एथलीट को पता नहीं था कि गोल्ड मेडल जीतने के बाद ऐसा होगा

5
शेयर्स

स्पोर्ट स्पिरिट. ये साथ रहती है खिलाड़ी के . ज़िंदगी के साथ भी, और शायद ज़िंदगी के बाद भी. इसके लिए एक खिलाड़ी सब कुछ कर सकता है. संगरूर से एक ऐसी ख़बर आई है कि सुनकर खेल और खिलाड़ी दोनों के लिए गर्व पहले से ज़्यादा बढ़ जाता है. खबर 78 साल के एक एथलीट की है. उन्होंने 1500 मीटर की रेस जीती, जिसके बाद उनकी मौत हो गई.

# क्या है पूरा मामला

पंजाब मास्टर एथलेटिक एसोसिएशन ने बुजुर्गों के लिए एक एथलेटिक मीट करवाई थी. होशियारपुर के जलोवाल के रहने वाले बुज़ुर्ग एथलीट बख्शीश सिंह ने भी इसमें हिस्सा लिया. वो 800 मीटर रेस में तीसरे नंबर पर रहे. इसके बाद हुई 1500 मीटर की रेस. इसमें वो पहले नंबर पर रहे. 1500 मीटर की रेस पूरी करने के बाद बख्शीश सिंह को हार्ट अटैक आया और उनकी मौत हो गई. स्थानीय अखबारों में छपी ख़बरों के मुताबिक़, रेस जीतने के बाद वह बहुत ख़ुश थे. लोग बधाई दे रहे थे. बख्शीश रिलैक्स कर ही रहे थे कि उन्हें दिल का दौरा पड़ा और उनकी मौत हो गई.

# फ़ौज से रिटायर थे बख्शीश सिंह

बख्शीश फौज के रिटायर्ड जवान थे. रिटायर होने के बाद वह टीचर भी रहे. दौड़ने के शौक़ीन थे. 1982 से उन्होंने खेलों में हिस्सा लेना शुरू किया. होशियारपुर की टीम को लीड करते थे. कई स्टेट में खेले. 200 से ज़्यादा मेडल जीत चुके थे. उनके दोस्त बताते हैं कि वो हमेशा कहते थे कि अस्पताल में मरने से अच्छा है मैदान में दौड़ते हुए मरो.

किसे पता था कि एक दिन बख्शीश की इच्छा ऐसे पूरी होगी.

बख्शीश सिंह शायद 78 साल की उम्र में भी इसलिए दौड़ते होंगे कि आने वाली पीढ़ी खेल को सिर्फ़ खेल न समझे. अब बख्शीश हमारे बीच नहीं हैं. मैराथन में मौत बाज़ी मार चुकी है. ज़िंदगी अपनी रफ़्तार से चल रही है.


ये भी देखें:

अमित शाह ने राज्यसभा में किए जम्मू-कश्मीर, NRC और नागरिकता संशोधन बिल पर बड़े दावे

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कोर्ट के आदेश के बाद वो 3 मौके, जब योगी सरकार ने 'दंगाइयों' से जुर्माना नहीं वसूला

और सवाल उठ रहे कि इस बार ही क्यों?

मोदी के जिस ड्रीम प्रोजेक्ट पर सरकार ने करोड़ों खर्च किये वो फ्लॉप हो गया

इसके प्रचार के लिए सरकार ने जगह-जगह बड़े-बड़े होर्डिंग्स लगवाए थे.

नए साल की पहली खुशखबरी आ गई, रेलवे का किराया बढ़ गया

सेकंड क्लास, स्लीपर, फ़र्स्ट क्लास, एसी सबका किराया बढ़ा है रे फैज़ल...

CAA Protest : यूपी पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठाने वालों को पुलिस ने क्यों ब्लॉक किया?

यूपी पुलिस की इस कार्रवाई का क्या मतलब है?

जिस अधिकारी पर प्रियंका गांधी ने गला दबाने का आरोप लगाया उसने क्या कहा है

भाई की मौत की खबर मिलने के बाद भी ड्यूटी पर तैनात थीं अफसर.

प्रियंका गांधी का UP पुलिस पर बड़ा आरोप, 'मुझे घेरा और मेरा गला दबाया'

लखनऊ दौरे पर हैं प्रियंका गांधी.

एक महीने में 77 बच्चों की मौत पर राजस्थान के CM बोले- इसमें कोई नई बात नहीं है

अस्पताल में इसी साल अब तक 940 बच्चों की मौत हो गई है.

क्या आर्मी चीफ बिपिन रावत ने अपने ताज़ा बयान से लाइन क्रॉस की है?

CAA प्रोटेस्ट का नाम लिए बग़ैर अपने 'विचार' रखे. फिर सेना के अफसरों से लेकर नेताओं तक ने प्रतिक्रिया दी.

100 लोगों से भरे प्लेन ने उड़ान भरी और तुरंत बाद एक बिल्डिंग से टकराकर क्रैश हो गया

अभी कुछ मौतों की पुष्टि हुई है, आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है.

क्या मुखर्जी नगर में रहने वाले स्टूडेंट्स को जबरन छुट्टी पर भेज रही है दिल्ली पुलिस?

लोग इसे CAA प्रोटेस्ट से जोड़कर देख रहे हैं.