Submit your post

Follow Us

"अबकी बार, ट्रंप सरकार" बोलकर मोदी ने अपने करीबी को धोख़ा दे दिया!

1
शेयर्स

नरेन्द्र मोदी. प्रधानमंत्री और अब अमरीका में. कल Howdy Modi! कार्यक्रम में हिस्सा ले रहे थे. और बात करते-करते बोल गए “अबकी बार, ट्रम्प सरकार”. और शायद नरेंद्र मोदी को ध्यान नहीं रहा कि ट्रंप सरकार के हिमायती रहते हुए उन्होंने खुद अपने किसी दोस्त को नाराज़ कर दिया है.

किसको? तुलसी गैबार्ड. कौन तुलसी गैबार्ड? डेमोक्रेट सांसद हैं. और इस बार राष्ट्रपति पद के लिए रेस में हैं. और खुले तौर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की हिमायती रही हैं. यानी डेमोक्रेट और संघ का एक अच्छाख़ासा समीकरण. जब भी तुलसी भारत आई हैं, हर बार प्रधानमंत्री मोदी से मुलाक़ात हुई है. मोदी जब भी अमरीका गए हैं, अक्सर मुलाक़ात हुई ही है.


अगले साल यानी 2020 में अमरीका में राष्ट्रपति चुनाव होने हैं. अब डोनाल्ड ट्रम्प फिलहाल अमरीका के राष्ट्रपति हैं. रिपब्लिकन हैं. डेमोक्रेटिक और रिपब्लिकन मतलब समझ लीजिए कि अमरीका के कांग्रेस और भाजपा. तो नरेंद्र मोदी ने “अबकी बार, ट्रम्प सरकार” कहते हुए तुलसी गैबार्ड का पत्ता साफ़ कर दिया. लोग सोशल मीडिया पर लिखने लगे हैं कि ट्रम्प की वक़ालत करके नरेंद्र मोदी ने तुलसी को नुकसान पहुंचाया है.

तुलसी गैबार्ड
तुलसी गैबार्ड

हमने कहा कि तुलसी गैबार्ड संघ से जुड़ी हुई हैं. कैसे? रिपोर्टें हैं कि उनके कई कार्यक्रमों में भीड़ जुटाने से लेकर पूरे मैनेजमेंट को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े लोग देखा करते हैं. उनसे जब भी पूछा गया कि संघ से अपने रिश्ते पर क्या कोई सफाई देना चाहेंगी? तुलसी ने कुछ नहीं कहा. जवाब देने से इंकार कर दिया. या गोलमोल जवाब दिया. पत्रकार पीटर फ्रेडरिक ने उनसे पूछा कि वे आरएसएस के इवेंट में तीन बार प्रमुझ वक्ता के तौर पर बोल चुकी हैं. और अपने ऑफिस में आरएसएस अधिकारियों से मिलती रही हैं. क्या वे कुछ कहना चाहूंगी?

तुलसी गैबार्ड ने कहा,

“मैंने इस देश को बचाने के लिए शपथ ली है. इस देश के लोगों को बचाने के लिए मैं हरसंभव कोशिश करूंगी. इस देश की पहचान इसकी विविधता है. मैं खुद का साथ देने के लिए सभी का शुक्रिया अदा करती हूं.”

‘दी कारवां’ में छपी इस रिपोर्ट में पीटर फ्रेडरिक ने लिखा है कि खुद पर और उनके आरएसएस से संबंधों पर उठने वाले सवालों पर उनका यही रवैया रहा है.

न्यूयॉर्क में नरेंद्र मोदी को माला पहनातीं तुलसी गैबार्ड (पीटीआई)
न्यूयॉर्क में नरेंद्र मोदी को माला पहनातीं तुलसी गैबार्ड (पीटीआई)

खोजी रिपोर्टिंग की वेबसाइट ‘दी इंटरसेप्ट” ने अपने एक लेख में तुलसी गैबार्ड के बारे में लिखा था,

“A rising progressive star, despite her support for Hindu nationalists”

मतलब हिन्दू राष्ट्रवादियों को समर्थन देने के बावजूद अमरीकी राजनीति में एक प्रगतिशील सितारा. इस लेख के बाद अपने एक लेख में तुलसी गैबार्ड ने लिखा था कि ये हिंदूविरोधी भावनाएं भड़काने का प्रयास है.

हालांकि नरेंद्र मोदी ने कहा था,

“पहले भी मेरे दोस्त प्रेसिडेंट ट्रम्प के शब्द अबकी बार, ट्रम्प सरकार ने बहुत जोर और साफ़ हल्ला मचा दिया था.”

ऐसा इसलिए क्योंकि 2016 के आम चुनाव में डोनाल्ड ट्रम्प ने भी 2014 में मोदी का कैम्पेन कॉपी किया था. खुद ही नारा दिया था – अबकी बार, ट्रम्प सरकार. कहा जाता है कि अमरीका में बसे हुए प्रवासी भारतीयों को साधने के लिए ट्रम्प ने ये नारा दिया था, जिसकी बड़ाई नरेंद्र मोदी ने अब जाकर की है.

अपने भाषण में “अबकी बार, ट्रम्प सरकार” बोलने के बाद नरेंद्र मोदी कुछ सेकंड के लिए चुप हो गए थे. चर्चा है कि ये बहुत कूटनीतिज्ञ चुप्पी थी, जिसमें नरेंद्र मोदी डोनाल्ड ट्रम्प के लिए अगले चुनाव के लिए भी मोर्चा खोल गए.

इसके बाद भारत में कांग्रेस पार्टी ने भी इस पर बवाल किया है. कहा है कि आप हमारे प्रधानमंत्री हैं. आपको इस तरह से दूसरे देश के राष्ट्रपति के लिए आपको कैम्पेन नहीं करना चाहिए. राज्यसभा सांसद आनंद शर्मा ने ट्वीट करके कहा है,


लल्लनटॉप वीडियो : मोदी सरकार में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने जीएसटी काउंसिल की बैठक में रेट कट का ऐलान किया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

नौकरी से निकाले जाने पर इतना गुस्सा आया कि बॉस की हत्या कर डाली

बहस चल रही थी, झगड़ा बढ़ गया और फिर...

जोमैटो से 100 रुपए वापस लेने के चक्कर में इंजीनियर के 77 हज़ार लुट गए

मिनटों में पूरा बैंक अकाउंट खाली हो गया.

इस अमरीकी सांसद ने तो मोदी के सामने 'मोदी के दुश्मन' की तारीफ़ कर दी

मोदी देखते रहे गए !

BSP वालों ने BSP वालों का सिर फोड़ा, BSP नेता भागे, BSP नेताओं ने इनकार किया

हरियाणा से लेकर जयपुर तक BSP के कार्यकर्ताओं का सिर सुरक्षित नहीं.

अंतागढ़ टेप कांडः BJP मंतूराम पवार का 29 साल पुराना केस क्यों खोद रही है?

'कांग्रेस को धोखा देने के लिए पूर्व मंत्री ने दिया था 7 करोड़ का लालच.'

पंकज त्रिपाठी ने बताया, किस तरह उनकी पत्नी उनके हॉस्टल में छिपकर रहा करती थीं

शादी के बारे में और कई बातें बताईं,

पटना: दनदनाते दामों के बीच एक गोदाम से 8 लाख रुपये के प्याज चोरी हो गए

सबकुछ छोड़ चोर प्याज चुरा रहे हैं.

सनी देओल के बेटे ने 'पल पल दिल के पास' की कमाई से सभी दिग्गजों को पछाड़ दिया है

संजय दत्त और सोनम कपूर की फिल्मों की कमाई जानेंगे, तो सिर पीट लेंगे.

बोनी कपूर के साथ वायरल वीडियो पर पांच महीने बाद उर्वशी रौतेला ने चुप्पी तोड़ी

वीडियो वायरल होने के बाद बोनी कपूर को काफी कुछ कहा गया था.

हैदराबाद: मेट्रो प्लैटफॉर्म की छत का पलस्तर टूटकर गिरा, लड़की की मौत

अथॉरिटी पैसे दे रही है, लापरवाही का जवाब नहीं दे रही.