Submit your post

Follow Us

तेलुगु सुपरस्टार महेश बाबू ने कोरोना में हेल्प करते हुए अपना स्टारडम दिखा दिया है

कोरोना वायरस से निपटने में सरकार की आर्थिक मदद के लिए कई साउथ इंडियन सुपरस्टार्स आगे आए हैं. रजनीकांत, पवन कल्याण और रामचरण के बाद तेलुगु फिल्मों के सुपस्टार महेश बाबू ने आंध्रप्रदेश और तेलंगाना के मुख्यमंत्री राहत कोष में एक करोड़ रुपये दान करने का ऐलान किया है. इसके बारे में उन्होंने ट्विटर पर बताया है.

महेश ने लिखा,

चलो एक राष्ट्र के रूप में COVID -19 से लड़ें! सभी से आग्रह करता हूं कि सरकार द्वारा तय किए गए नियमों का पालन करें. मैं पीएम इंडिया, तेलंगाना सीएम, आंध्रप्रदेश सीएम के प्रयासों को सराहता हूं. मानवता बढ़ेगी और हम इस युद्ध को जीतेंगे. अपने घरों पर रहें.

इसके साथ ही महेश बाबू ने लोगों से पैसे दान करने की अपील की है. उन्होंने अपने पोस्ट में लिखा,

एक जिम्मेदार नागरिक होने के नाते मैं लोगों से अपील करता हूं कि नियमों को माने और लॉकडाउन को सपोर्ट करें. इस बुरे समय में हमें एक दूसरे के साथ खड़ा रहना होगा और खुद को भी प्रोटेक्ट करना होगा.

महेश बाबू के अलावा सुपरस्टार रजनीकांत ने 50 लाख रुपये का दान किए हैं. उन्होंने फिल्म इम्प्लॉइज फेडरेशन ऑफ साउथ इंडिया (FEFSI) यूनियन वर्कर्स को ये अमाउंट दिया है. FEFSI के अंदर साउथ सिनेमा की फिल्में व टीवी इंडस्ट्री की कुल 23 संस्थाएं आती हैं और इसके सदस्यों की संख्या तकरीबन 30,000 है.

एक्टर पवन कल्याण ने कोरोना पॉजिटिव लोगों की मदद के लिए डेढ़ करोड़ रुपये दान करने का एलान किया है.

राम चरण ने कोरोना संक्रमित लोगों के इलाज के लिए तेलंगाना और आंध्रप्रदेश के राहतकोष में 70 लाख रुपये का दान किए हैं.

कमल हासन भी कोरोना से निपटने में सरकार की मदद करने के लिए आगे आए हैं. उन्होंने अपने घर को अस्थाई रूप से अस्पताल बनाने का ऑफर दिया है. उन्होंने ट्विटर लिखा कि वो अपने घर को कोरोनोवायरस रोगियों के इलाज के लिए अस्पताल में बदलने के लिए तैयार हैं. पहले कमल उसी घर में रहते थे. उन्होंने यह भी कहा कि सरकार द्वारा अनुमति मिलने के बाद वह ऐसा करने के लिए तैयार हैं.


Video : जनता कर्फ्यू पर एक ट्वीट कर ट्रोल हो गए अमिताभ बच्चन


लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पूरा देश लॉकडाउन है और हरियाणा के इस कॉलेज में लेक्चर पर लेक्चर हो रहे हैं

कॉलेज वाले कह रहे सरकार ने कोई ऑर्डर नहीं दिया!

सरकार ने दिया कोरोना पर राहत पैकेज, 80 करोड़ को मुफ्त अनाज और बहुत कुछ

वित्त मंत्री ने कहा, हर व्यक्ति के हाथ में अन्न और धन हमारी पहली प्राथमिकता.

कोरोना के बीच सरकार ने गठिया वाली दवा के एक्सपोर्ट पर रोक क्यों लगा दी?

इस दवा का कोरोना के इलाज में क्या रोल है?

रात को लॉकडाउन के कायदे बताने के बाद सुबह हुजूम के बीच कहां निकल गए सीएम योगी?

सीएम ने लोगों से कहा था, 'घर पर ही रहें, बाहर न निकलें.'

21 दिन के लॉकडाउन में आपको कौन-कौन सी छूट मिलेगी, यहां जान लीजिए

कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए पूरा देश 15 अप्रैल तक लॉकडाउन रहेगा.

आज आधी रात से पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन, पीएम बोले- एक तरह से ये कर्फ्यू ही है

कोरोना वायरस के खिलाफ सबसे बड़ा फैसला.

कोरोना वायरस: उत्तर प्रदेश के 17 नहीं, अब पूरे 75 जिलों को लॉकडाउन कर दिया गया है

देश में कोरोना वायरस इंफेक्शन के मामले 500 से ऊपर जा चुके हैं.

3 महीने तक ATM से पैसे निकलना फ्री, अब मिनिमम बैलेंस का भी झंझट नहीं

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में ऐलान किया.

कोरोना वायरस की वजह से अब जो काम रुका है, उसका असर 17 राज्यों पर पड़ेगा

क्या मतलब निकला इतनी उठा-पटक का?

चौथी बार MP के सीएम बने शिवराज, बोले- कोरोना से मुकाबला मेरी पहली प्राथमिकता

शिवराज सिंह चौहान ने शपथ लेते ही ये रिकॉर्ड भी बना दिया है.