Submit your post

Follow Us

केरल में चुनाव हारने के बाद भाजपा अब एक और नई मुश्किल में फंसती दिख रही है!

केरल में वायनाड जिले की एक अदालत ने पुलिस को निर्देश दिए हैं कि राज्य के भाजपा अध्यक्ष के. सुरेंद्रन के ख़िलाफ़ केस दर्ज किया जाए. सुरेंद्रन के अलावा जनाधिपत्य राष्ट्रीय सभा (JRS) पार्टी की नेता सी.के. जानू के ख़िलाफ़ भी केस दर्ज होगा. दोनों पर चुनाव के दौरान भ्रष्टाचार में शामिल होने के गंभीर आरोप हैं.

केरल में इसी बरस विधानसभा चुनाव हुए हैं. 6 अप्रैल को मतदान हुआ था. 2 मई को नतीजे आए. राज्य में लगातार दूसरी बार LDF की सरकार बनी है. पिनारायी विजयन इतिहास रचते हुए एक बार फिर मुख्यमंत्री बने हैं. सुरेंद्रन पर आरोप है कि उन्होंने चुनाव के दौरान सी.के. जानू को 10 लाख रुपये की रिश्वत दी थी, और NDA से उम्मीदवार बनने की पेशकश की थी. सुरेंद्रन पर ये आरोप लगाए मुस्लिम स्टूडेंट्स फेडरेशन के प्रदेश अध्यक्ष पी.के. नवास ने. मुस्लिम स्टूडेंट्स फेडरेशन, इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग (IUML) का अंग है. पी.के. नवास ने वायनाड की मजिस्ट्रेट कोर्ट में इस संबंध में शिकायत दर्ज कराई थी. उसी पर अब कोर्ट ने IPC की धारा 171 (B), 171 (E), 171 (F) के तहत केस दर्ज करने के निर्देश दिए हैं. क्या हैं ये धाराएं-

171 (B) –  किसी व्यक्ति को लालच देकर उसके निर्वाचन अधिकार का इस्तेमाल कराना.

171 (E) – रिश्वतखोरी.

171 (F) – चुनावों पर ग़लत असर डालने की कोशिश करना.

जानू ने चुनाव लड़ा, पर जीत नहीं मिली

इंडियन एक्सप्रेस की ख़बर के मुताबिक, पी.के. नवास अपनी शिकायत लेकर पहले पुलिस के पास गए. वहां शिकायत दर्ज नहीं हुई तो कोर्ट पहुंचे. नवास के अलावा JRS पार्टी की राज्य कोषाध्यक्ष प्रसीता अझिकोड ने भी आरोप लगाया है कि जानू ने NDA में वापस आने के लिए सुरेंद्रन से 10 करोड़ रुपये की मांग की थी. तमाम ना-नुकुर के बाद 10 लाख पर बात बनी. इसके बाद जानू ने केरल विधानसभा चुनाव में NDA की तरफ से सुल्तान बथेरी सीट से चुनाव लड़ा. हालांकि वो हार गईं.

हालांकि के. सुरेंद्रन और जानू लगातार इन आरोपों को नकार रहे हैं. उनका कहना है कि सत्ता में वापसी के बाद अब LDF और पिनारायी विजयन बदले की भावना से काम कर रहे हैं. विपक्षी नेताओं को निशाना बना रहे हैं. इसी संबंध में 9 जून को भाजपा नेता के. राजशेखरन ने केरल के राज्यपाल से भी मुलाकात की थी. उन्होंने शिकायत की थी कि LDF सरकार पुलिसिया तंत्र का दुरुपयोग कर रही है.

ब्लैक मनी लूट केस के बाद दूसरा मामला

इससे पहले भाजपा पर केरल विधानसभा चुनाव में गड़बड़ी का बड़ा आरोप लगा था. 7 अप्रैल, यानी राज्य में मतदान के अगले दिन धर्मराजन नाम के एक शख्स ने केरल पुलिस में शिकायत दर्ज कराई कि बदमाशों ने उसकी कार से 25 लाख रुपये लूट लिए हैं. पुलिस ने जांच शुरू की तो पता चला कि लूटी गई रकम 3.5 करोड़ तक हो सकती है, और ये पैसा हवाला लेनदेन का था. विरोधी दलों ने आरोप लगाए कि बीजेपी इस पैसे का इस्तेमाल चुनाव में करने वाली थी. इस मामले में पुलिस अभी तक 19 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है. SIT ने प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष के. सुरेंद्रन के ड्राइवर और निजी सहयोगी से भी इस मामले में पूछताछ की है.


वीडियो: कोरोना से लड़ने वाली के.के शैलजा को CPI(M) ने क्यों कैबिनेट में नहीं रखा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

CBSE ने सुप्रीम कोर्ट में बताया, 12वीं के मार्क्स देने का 30:30:40 फॉर्मूला क्या है

31 जुलाई से पहले फाइनल रिजल्ट जारी करने की जानकारी भी दी है.

योगी सरकार के संपत्ति रजिस्ट्री को लेकर लगने वाले स्टाम्प शुल्क के नए नियम में क्या है?

नए नियम के बाद विवादों में कमी आएगी?

हरिद्वार कुंभ के दौरान बांटी गयी 1 लाख फ़र्ज़ी कोरोना रिपोर्ट? जानिए क्या है कहानी

अख़बार का दावा, सरकारी जांच में हुआ ख़ुलासा

दिल्ली दंगा : नताशा, देवांगना और आसिफ़ को ज़मानत देते हुए कोर्ट ने कहा, 'कब तक इंतज़ार करें?'

जानिए क्या है पूरा मामला?

सैन्य ऑपरेशन से जुड़े 25 साल से ज्यादा पुराने रिकॉर्ड सार्वजनिक होंगे

सेना के इतिहास से जुड़ी जानकारियां सार्वजनिक करने की पॉलिसी को मंजूरी

पंजाब चुनाव: अकाली दल और बसपा गठबंधन का ऐलान, कितनी सीटों पर लड़ेगी मायावती की पार्टी?

पंजाब के अलावा बाकी चुनाव भी साथ लड़ने की घोषणा.

TMC में घर वापसी करने वाले मुकुल रॉय ने 4 साल बाद बीजेपी छोड़ने का फैसला क्यों लिया?

मुकुल रॉय को बराबर में बिठाकर ममता बनर्जी किन गद्दारों पर भड़कीं?

लक्षद्वीप: किस एक बयान के बाद फिल्म निर्माता आयशा सुल्ताना पर राजद्रोह का केस हो गया?

पहले TV डिबेट में बोला, फिर फेसबुक पर पोस्ट लिखा.

कोरोना वैक्सीन लेने के बाद शरीर से सिक्के-चम्मच चिपकने के दावों में कितना सच?

क्या शरीर में वाकई चुंबकीय शक्ति पैदा हो जाती है?

पावर बैंक ऐप, जिसने 15 दिन में पैसे डबल करने का झांसा दे 4 महीने में 250 करोड़ उड़ा लिए

पैसा शेल कंपनियों में लगाते, फिर क्रिप्टोकरंसी बनाकर विदेश भेज देते थे.