Submit your post

Follow Us

क्या 1971 के 'वॉर ब्रोचर' से इंदिरा गांधी की तस्वीरों को कटवा दिया गया?

1971 में पाकिस्तान के खिलाफ युद्ध में भारत की जीत के 50 साल पूरा होने पर अक्टूबर 2021 में भारतीय वायुसेना ने ‘स्वर्णिम विजय वर्ष सम्मेलन’ आयोजित किया था. बेंगलुरु में आयोजित इस सम्मेलन में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, एयर चीफ मार्शल विवेक राम चौधरी और तत्कालीन CDS जनरल बिपिन रावत भी शामिल हुए थे. इसी सम्मेलन में आधिकारिक तौर पर 1971 का ‘वॉर ब्रोचर’ रिलीज किया गया था. अब इस ब्रोचर में शामिल किए गए कुछ फोटोज के साथ छेड़छाड़ के आरोप को लेकर मोदी सरकार पर सवाल उठाए जा रहे हैं.

जिन मां बाप ने एक बेटा पैदा किया वो मां बाप तो राक्षस हैं, (24)
बेंगलुरू में आयोजित सम्मेलन में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, एयर चीफ मार्शल विवेक राम चौधरी और पूर्व CDS जनरल बिपिन रावत शामिल हुए थे. (साभार-IAF)

Bharat Rakshak IAF नाम के ट्विटर यूजर ने ट्वीट कर मोदी सरकार पर आरोप लगाया है कि इस ब्रोचर में शामिल इतिहास से जुड़े फोटोज को जानबूछकर क्रॉप किया गया है, ताकि पिछली सरकारों का श्रेय न दिखाया जाए. ट्वीट में लिखा है,

मुझे 1971 का युद्ध विवरणिका (वॉर ब्रोचर) भेजी गई. इसमें शामिल एक तस्वीर ने मेरा ध्यान खींचा. ये स्पष्ट था कि तस्वीर को क्रॉप किया गया था. तीनों रक्षा प्रमुख किसी को देखकर मुस्कुरा रहे थे. मैंने तस्वीर को नेट पर खोजा तो ये स्पष्ट था कि इन्हें क्यों काटा गया था. हम समझते हैं कि आप पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को कोई श्रेय नहीं देना चाहते हैं, तो इसके लिए किसी और फोटो का इस्तेमाल कर लें. इतिहास से जुड़ी शख्सियतों की चुनिंदा क्रॉपिंग नई पीढ़ी को कोई फायदा नहीं पहुंचाती है. 

इस ट्वीट में ब्रोचर में शामिल एक फोटो को दिखाया गया है. ब्रोचर वाले फोटो में 1971 के युद्ध के समय के तीनों सेनाओं के प्रमुख दिखाई दे रहे हैं. ये हैं थल सेना अध्यक्ष जनरल सैम मानेकशॉ, एयर चीफ मार्शल प्रताप चंद्र लाल और एडमिरल सरदारी लाल मथुरादास नंदा, जो किसी को देखकर मुस्कुरा रहे हैं. लेकिन इस फोटो में इंदिरा गांधी नहीं दिखाई दे रहीं. जबकि तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज करने पर जो फोटो मिलेगा उसमें तीनों सेना प्रमुख इंदिरा गांधी से मिल रहे हैं. (ये फोटो आपको खबर में ऊपर ही मिल जाएगा.)

पूर्व रक्षा मंत्री बाबू जगजीवन राम का भी फोटो काटा

ब्रोचर में केवल पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी से जुड़ा फोटो ही पोस्ट नहीं किया गया है, बल्कि पूर्व रक्षा मंत्री बाबू जगजीवन राम को भी एक फोटो से क्रॉप किया गया है. ब्रोचर वाले फोटो को भारत रक्षक IAF ने ट्वीट करते हुए लिखा,

अगर आपको लगता है कि केवल एक फोटो को क्रॉप किया गया है तो ऐसा नहीं है. एक और फोटो है जिसमें तीनों रक्षा प्रमुख वास्तव में पूर्व रक्षा मंत्री बाबू जगजीवन राम के साथ बैठे हैं, लेकिन ब्रोचर वाले फोटो में से बाबू जगजीवन राम को काट दिया गया है. तो क्या पिछले रक्षा मंत्री भी तस्वीरों में बने रहने लायक नहीं हैं?

अब जो फोटो ब्रोचर में दिख रहा है उसमें तीनों सेना प्रमुख तो दिख रहे हैं, लेकिन पूर्व रक्षा मंत्री जगजीवन राम गायब हैं. जबकि इस फोटो को भी गूगल रिवर्स इमेज करने पर जो फोटो मिलेगा, उसमें तीनों पूर्व सेना प्रमुख पूर्व रक्षा मंत्री बाबू जगजीवन राम के साथ एक टेबल पर बैठे हैं.

जिन मां बाप ने एक बेटा पैदा किया वो मां बाप तो राक्षस हैं, (2)

लोगों ने मोदी सरकार की मंशा पर सवाल उठाए

ब्रोचर में शामिल फोटोज के साथ की गई छेड़छाड़ को लेकर ट्विटर यूजर्स ने सरकार पर गुस्सा निकाला. ब्रिटिश कोलंबिया यूनिवर्सिटी के पीएचडी स्कॉलर और पत्रकार मनिमुग्धा शर्मा ने ट्वीट किया,

1971 के युद्ध की ऐतिहासिक तस्वीरों से पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी और पूर्व रक्षा मंत्री बाबू जगजीवन राम को काटकर इतिहास को मिटाने का एक शर्मनाक प्रयास. ये दुर्भाग्यपूर्ण है कि अगर देश की रक्षा ताकतें भी इस तरह की कोशिशों का हिस्सा बनती हैं, जो केवल सत्ताधारी पार्टी की असुरक्षा को दिखाती हों.  

Tweet 2

द नमो नाम के पैरोडी ट्विटर अकांउट ने लिखा,

क्या स्टालिन उन शख्सियतों के फोटो को हटाने या उस पर अपने फोटो लगाने के लिए बदनाम नहीं था, जिन शख्सियतों को उसने जनता की स्मृति से मिटा दिया था या मिटाना चाहता था?

Tweet 7

विवेक ठाकुर नाम के ट्विटर यूजर ने तंज कसते हुए लिखा,

हमारे वर्तमान प्रधानमंत्री के बड़े-बड़े दावों के अनुसार वो एक समय यात्री (टाइम ट्रेवलर)  हैं. हमें शुक्रगुजार होना चाहिए कि उन्होंने इन तस्वीरों में अपनी तस्वीर को फोटोशॉप नहीं किया. 

Tweet 5

सौरभ नाम के यूजर ने भी फोटोशॉप को लेकर लिखा,

अगली बार वे मोदी जी को इतिहास में जगह देने के लिए उनका चेहरा किसी और के फोटो पर चिपका देंगे.

Tweet 6

गौतम विश्वास ने 1971 के युद्ध के इतिहास को याद करते हुए लिखा,

फोटो शॉप/क्रॉप से इतिहास नहीं बदला जा सकता. कोई ऐसा करके चंद लोगों को बेवकूफ बना सकता है. 1971 के युद्ध का इतिहास बांग्लादेश में भी दर्ज और संग्रहित है. कम आत्मसम्मान और हीन भावना भरा कदम. 

Tweet 4

एक और यूजर हर्ष ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की फोटो क्रॉप करने को लेकर ये ट्वीट किया,

तथ्य नहीं बदल सकते क्योंकि कुछ अदूरदर्शी, छोटी सोच वाले छद्म राष्ट्रवादी ऐसा चाहते हैं. इस तरह की मूर्खतापूर्ण हरकतों से इंदिरा गांधी की आभा पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा, जिन्होंने भारत को जीत की ओर अग्रसर किया था. 

Tweet 3

वहीं मनीष हिंदवी ने लिखा,

जिन लोगों का अपना इतिहास नहीं है वो दूसरों का इतिहास फोटोशॉप करके खत्म करना चाहते हैं. दया आती ऐसे लोगों पर और दुर्भाग्य हम लोगों का कि हमारे नेता हैं ये.

Tweet

ये तो थे सरकार के ऊपर लगे आरोप. लेकिन इस मामले को लेकर अभी तक सरकार का कोई आधिकारिक स्पष्टीकरण नहीं आया है. अगर आता है तो हम खबर में जरूर अपडेट करेंगे. फिलहाल इसे लेकर ट्विटर पर लोगों का लगातार प्रतिक्रिया देना जारी है.


IPL 2022: क्रिस गेल ने मेगा ऑक्शन में नाम नहीं दिया तो इंडियन ट्विटर क्या बोला?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

RBI की इस पहल से सभी एटीएम से बिना कार्ड कैश निकलेगा!

RBI की इस पहल से सभी एटीएम से बिना कार्ड कैश निकलेगा!

अभी ये सुविधा कुछ ही बैंको तक सीमित है.

'शराबी' खिलाड़ी की जानलेवा हरकत की वजह से मरते-मरते बचे थे युजवेंद्र चहल, अब किया खुलासा

'शराबी' खिलाड़ी की जानलेवा हरकत की वजह से मरते-मरते बचे थे युजवेंद्र चहल, अब किया खुलासा

2013 की बात है जब चहल मुंबई इंडियन्स की तरफ से खेलते थे.

आकार पटेल के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी करने वाली CBI अब उनसे माफी मांगेगी

आकार पटेल के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी करने वाली CBI अब उनसे माफी मांगेगी

कोर्ट ने आकार पटेल को बड़ी राहत दी है.

भारत में कोरोना के XE Variant का पहला केस मिलने के दावे पर सरकार ने क्या कहा?

भारत में कोरोना के XE Variant का पहला केस मिलने के दावे पर सरकार ने क्या कहा?

ये वेरिएंट कितना खतरनाक है, ये भी जान लें.

लल्लनटॉप अड्डा: 9 अप्रैल को मचने वाले धमाल का पूरा शेड्यूल पढ़ लो!

लल्लनटॉप अड्डा: 9 अप्रैल को मचने वाले धमाल का पूरा शेड्यूल पढ़ लो!

हंसी होगी, संगीत होगा और होंगे सौरभ द्विवेदी!

ED ने किन मामलों में सत्येंद्र जैन और संजय राउत के परिवारों की करोड़ों की संपत्ति कुर्क की है?

ED ने किन मामलों में सत्येंद्र जैन और संजय राउत के परिवारों की करोड़ों की संपत्ति कुर्क की है?

कार्रवाई पर संजय राउत भड़क गए हैं.

यूपी सरकार के लिए गोरखनाथ मंदिर हमला 'आतंकी घटना', हमलावर के पिता ने क्या बताया?

यूपी सरकार के लिए गोरखनाथ मंदिर हमला 'आतंकी घटना', हमलावर के पिता ने क्या बताया?

यूपी सरकार ने आरोपी के खिलाफ तगड़ी जांच के आदेश दे दिए हैं.

1 अप्रैल से E-Invoicing अनिवार्य, फर्जी बिल बनाने वालों की नींद उड़ी

1 अप्रैल से E-Invoicing अनिवार्य, फर्जी बिल बनाने वालों की नींद उड़ी

20 करोड़ सालाना बिक्री पर ई-इनवॉइसिंग जरूरी, टैक्स चोरी थमेगी.

रुचि सोया के FPO के 'चमत्कार' को नमस्कार करने के बजाय SEBI ने क्यों दिखाई सख्ती?

रुचि सोया के FPO के 'चमत्कार' को नमस्कार करने के बजाय SEBI ने क्यों दिखाई सख्ती?

वजह पतंजलि समूह का एक कथित संदेश बताया गया है?

योगी सरकार 2.0 में राज्यमंत्री बने नेताओं के बारे में ये बातें जानते हैं आप?

योगी सरकार 2.0 में राज्यमंत्री बने नेताओं के बारे में ये बातें जानते हैं आप?

कई पुराने तो कुछ नए चेहरों को मंत्रीमंडल में जगह मिली है.