Submit your post

Follow Us

दिल्ली हिंसा पर संसद में अमित शाह ने सोनिया का नाम लिए बगैर साधा निशाना

फरवरी में हुई हिंसा पर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने बुधवार 11 मार्च को संसद में विपक्ष के सवालों के जवाब दिए. अमित शाह ने कहा कि इस हिंसा को राजनीतिक रंग देने का प्रयास किया गया. शाह ने कहा कि 25 फरवरी की रात के बाद दिल्ली में हिंसा की एक भी घटना नहीं हुई. होली पर माहौल शांतिपूर्ण बना रहे, इसलिए होली के बाद सदन में चर्चा की बात कही थी.

और क्या-क्या कहा शाह ने?

शाह ने कहा कि दिल्ली में हुए दंगों को देश और दुनिया के सामने अलग रंग देने का प्रयास किया जा रहा है. दिल्ली पुलिस पर सवाल उठ रहे हैं. विपक्ष पूछ रहा है कि पुलिस क्या कर रही थी. मैं बताना चाहूंगा कि पुलिस मुस्तैदी से अपना काम कर रही थी. 20 लाख लोगों की आबादी के बीच हो रहे दंगों को बाकी दिल्ली तक न फैलने देना दिल्ली पुलिस की कामयाबी रही. इस हादसे को दिल्ली की 13 प्रतिशत आबादी तक सीमित रखने का काम दिल्ली पुलिस ने किया.

अमित शाह ने बताया कि दिल्ली पुलिस ने 36 घंटों के भीतर ही हिंसा पर काबू पा लिया. यहां मैं साफ कर दूं कि मैं इन 36 घंटों के दौरान जो भी हुआ उसको अंडरमाइन करने की कोशिश नहीं कर रहा हूं.

ताजमहल देखने नहीं गया

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि मैं डोनाल्ड ट्रंप के कार्यक्रमों में बैठा था. मेरा जाना भी पहले से तय था. मैं जिस दिन गया उस दिन कोई घटना नहीं हुई. गृह मंत्री अमित शाह ने कहा मैं दिल्ली शाम को 6:30 बजे वापस आ गया था. मैं ताजमहल देखने नहीं गया था. मैं सीधा दिल्ली आया. उसके बाद दूसरे दिन राष्ट्रपति भवन में ट्रंप की अगवानी हुई. मैं वहां नहीं गया. दोपहर को लंच हुआ मैं वहां नहीं गया. रात को डिनर हुआ मैं डिनर में भी गया नहीं गया. पूरा समय मैं दिल्ली पुलिस के साथ बैठकर इस पूरे मामले की समीक्षा कर रहा था. मैंने ही अजीत डोभाल से विनती की थी कि आप जाइए और पुलिस का मनोबल बढ़ाइए. मैं इसलिए नहीं गया कि मेरे जाने से पुलिस मेरे पीछे लगती और पुलिस दंगे रोकने में अपने बल को नहीं लगा पाती.

‘हिंसा साजिश थी’

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि दिल्ली का उत्तर-पूर्व इलाका उत्तर प्रदेश के बॉर्डर से जुड़ा हुआ है. मैं इतना कहना चाहता हूं कि सीआरपीएफ भेजनी चाहिए, सदस्य इसके लिए सुझाव दे सकते हैं, लेकिन मैं उनको यह बता दूं कि सीआरपीएफ, 22 और 23 तारीख को कुल 30 कंपनी, 24 तारीख को 40 कंपनियां, 25 तारीख को और 50 कंपनियां भेजी गई थीं. 26, 27, 28 और 29 तारीख को 80 से ज्यादा कंपनियां तैनात की गई हैं जो अभी वहां पर तैनात की गई हैं. गुनहगारों को पकड़ने के लिए पूरी व्यवस्था शुरू कर दी गई है. 27 तारीख से आज तक 700 से ज्यादा एफआईआर दर्ज की गई है. दिल्ली में हिंसा फैलाने के लिए 300 से ज्यादा लोग यूपी से आए थे. यह गहरी साजिश थी. दोषियों को पकड़ने के लिए पुलिस की 40 टीमें बनाई गईं. हिंसा के दौरान इस्तेमाल होने करीब 50 हथियारों को भी जब्त किया गया है.

गृह मंत्री अमित शाह के जवाब के दौरान विपक्ष के सांसदों ने लोकसभा में हंगामा किया. कांग्रेस ने वॉक आउट कर दिया.

हालांकि गृहमंत्री अमित शाह ने फिर से बोलना शुरू किया. कहा कि मैं दिल्ली हिंसा पर बात करते हुए इसकी पृष्ठभूमि में जानना चाहूंगा. इस हिंसा के पीछे दिल्ली में चल रहे सीएए विरोधी प्रदर्शनों की भी भूमिका रही है.

शाह ने कहा,

अमित शाह ने कहा, 14 फरवरी को सीएए के खिलाफ रामलीला मैदान में एक पार्टी की बड़ी रैली की गई. पार्टी की अध्यक्ष ने अपने भाषण में कहा- घर से बाहर निकलो. यह आर-पार की लड़ाई का वक्त है.

इसके बाद 16 दिसंबर को शाहीन बाग का धरना शुरू हो गया. एक स्पीच होती है 17 फरवरी को. 24 फरवरी को ट्रंप जब भारत आएंगे तो हम बताएंगे कि भारत की सरकार क्या कर रही है. इसके बाद हिंसा की शुरुआत होती है. वारिस पठान 19 फरवरी को कहते हैं कि जो चीज मांगने से नहीं मिलती उसे छीननी पड़ती है. इसके बाद 24 फरवरी को दंगे होते हैं.

हिंसा में 52 भारितीयों की मौत

शाह ने बताया कि दिल्ली हिंसा में 52 भारतीयों की मौत हुई है. 526 भारतीय इस हिंसा में घायल हुए हैं. 300 से ज्यादा भारतीयों के घर जलाए गए.

शाह ने कहा कि मैं दंगों में हुए नुकसान का आंकड़ा तो दे सकता हूं लेकिन उसमें हिन्दू-मुसलमान नहीं कर सकता. आपको भी ऐसा नहीं करना चाहिए. यह क्या तरीका है कि बताइए हिंसा में कितने मुसलमानों का नुकसान हुआ, कितने हिंदुओं का नुकसान हुआ दंगों में जिनका नुकसान हुआ वे सभी भारतीय हैं.

शाह ने कहा कि देश में दंगों के दौरान मारे गए लोगों में से 76 प्रतिशत लोग कांग्रेस के शासन के दौरान मारे गए. आपको कोई हक नहीं है कि आप दंगों पर इस तरह की बात करें. आप लोग तो कहते हैं कि जब बड़ा पेड़ गिरता है तो धरती हिलती है.

मैं दिल्ली के दंगों में मारे गए लोगों और उनके परिजनों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं. मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि ऐसा करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा चाहे वह किसी धर्म के हों या फिर किसी जाति के हों.


ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बीजेपी जॉइन करने के बाद किया दो तारीखों का जिक्र

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

प्रशांत भूषण ने कही ये बात, तो कोर्ट बोला- हजार अच्छे काम से गुनाह करने का लाइसेंस नहीं मिल जाता

बचाव में उतरे केंद्र की अपील, सजा न देने पर विचार करें, सुप्रीम कोर्ट ने दिया दो-तीन दिन का वक्त

सुशांत पर सुप्रीम कोर्ट ने CBI जांच का आदेश दिया, महाराष्ट्र के वकील को आपत्ति

कोर्ट ने कहा, सारे काग़ज़ CBI को दे दीजिए.

बिहार : महीनों से बिना सैलरी के पढ़ा रहे हैं गेस्ट टीचर, मांगकर खाने की आ गई नौबत!

इस पर अधिकारियों ने क्या जवाब दिया?

सलमान खान की रेकी करने वाला शार्प शूटर पकड़ा गया

जनवरी में रची गई थी सलमान खान की हत्या की साजिश!

रोहित शर्मा और इन तीन खिलाड़ियों को मिलेगा इस साल का खेल रत्न!

इसमें यंग टेबल टेनिस सेंसेशन का भी नाम शामिल है.

प्रसिद्ध शास्त्रीय गायक पंडित जसराज नहीं रहे

पिछले कुछ समय से अमेरिका में रह रहे थे.

प. बंगाल: विश्व भारती यूनिवर्सिटी में जबरदस्त हंगामा, उपद्रवियों ने ऐतिहासिक ढांचे भी ढहाए

एक फेमस मेले ग्राउंड के चारों तरफ दीवार खड़ी की जा रही थी.

धोनी के 16 साल के क्रिकेट करियर की 16 अनसुनी बातें

धोनी ने रिटायरमेंट का ऐलान कर दिया है.

धोनी के तुरंत बाद सुरेश रैना ने भी इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कहा

इंस्टाग्राम पोस्ट के ज़रिए रिटायरमेंट की बात बताई.

धोनी क्रिकेट से रिटायर, फैंस ने बताया, एक जनरेशन में एक बार आने वाला खिलाड़ी

एक इंस्टाग्राम पोस्ट करके विदा ले ली धोनी ने.