Submit your post

Follow Us

तस्वीरों में: महाराष्ट्र में भारी बारिश से बाढ़ के हालात, पानी बसों की छत तक पहुंचा

महाराष्ट्र में भारी बारिश के चलते बाढ़ के हालात पैदा हो गए हैं. ठाणे, रत्नागिरी, यवतमाल, कोंकण समेत कई इलाकों में स्थिति बदतर होती दिख रही है. मुंबई से 320 किलोमीटर दूर रत्नगिरी ज़िले के चिपलून शहर की तस्वीरें सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बनी हुई हैं. यहां बारिश का पानी बसों की छतों तक पहुंच गया है. कोंकण में भी बाढ़ (Floods) के चलते भारी संपत्ति का नुकसान हुआ है. रत्नागिरी और रायगढ़ में प्रमुख नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं. राज्य के दूसरे इलाकों से भी जल जमाव वाली सड़कों, पानी में डूबी कारों और परेशान लोगों की तस्वीरें सामने आ रही हैं. इस सबके बचाव अभियान जारी है.

Flood
भारी बारिश से बदहाल है चिपलून. बसों की हाइट तक भर गया है पानी. (तस्वीर- पीटीआई)

बाढ़ के कारण कोंकण रेलवे रूट पर लंबी दूरी की कई ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है या उनके समय में बदलाव किया गया है. रेल अधिकारियों के अनुसार, कोंकण रेलवे मार्ग पर विभिन्न स्टेशनों पर विनियमित ट्रेनों में लगभग 6,000 यात्री फंसे हुए हैं.

Chiplun
पानी में डूबी कई गाड़ियां, चिपलून, रत्नगिरी ज़िला, महाराष्ट्र (तस्वीर- सोशल मीडिया)

वाशिष्ठी नदी पर बना एक बांध बुधवार की रात बह गया. इससे पहले से बारिश से परेशान लोगों की समस्या और बढ़ गई. कई इलाकों के नजारे लगभग एक जैसे हैं. गाड़ियां ऊपर तक डूबी हुई हैं. केवल उनकी छत दिखाई दे रही है. चिपलून की फिर बात करें तो यहां स्थानीय बाजार, बस स्टेशन और रेलवे स्टेशन सभी डूबे हुए हैं.

तटरक्षक बल ने कोंकण इलाक़े, विशेष रूप से चिपलून और रत्नागिरी में बाढ़ प्रभावित लोगों की हर संभव मदद करने के लिए अपना हाथ आगे बढ़ाया है. उनके कार्यालय ने बचाव और राहत कार्यों की तस्वीरें जारी की हैं.

Floods
कोंकण इलाक़े में भारतीय कोस्ट गॉर्ड द्वारा किया जा रहा राहत कार्य. (फ़ोटो- राज्य सभा सांसद विनय शहस्त्रबुद्द्हे के ट्विटर हैंडल से)

तटरक्षक बल ने प्रत्येक प्रभावित क्षेत्र में आपदा राहत दल तैनात किया है. 35 अधिकारियों की एक टीम रेस्क्यू ऑपरेशन में लगी हुई है.

Chiplun Floods
चिपलून की तस्वीर. (फ़ोटो- महाराष्ट्र टाइम्स के एडिटर पराग करानडिकर के ट्विटर हैंडल से)

राहत कार्य में लगे राष्ट्रीय आपदा मोचन बल यानी एनडीआरएफ ने नौ बचाव दल तैनात किए हैं. इनमें से चार मुंबई में और एक-एक बचाल दल ठाणे और पालघर में तैनात किया गया है. एक टीम चिपलून में और दो टीमों को कोल्हापुर भी भेजा गया है.

Chiplun Floods
चिपलून के बाज़ार की तस्वीर. फ़ोटो साभार- ट्विटर यूज़र लखोबा लोखंडे

वहीं, यवतमाल में तीन दिन से हो रही भारी बारिश के बाद सहराकुंड जलप्रपात का जलस्तर भी लगातार बढ़ रहा है. ठाणे के भिवाड़ी में भी पिछले कुछ दिनों में भारी बारिश के बाद भीषण जल जमाव देखा गया है.

Thane Floods
मुंबई से लगा हुआ ठाणे ज़िले की तस्वीर. (तस्वीर- पीटीआई)

इस बीच, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार 22 जुलाई को महाराष्ट्र में बाढ़ की स्थिति को लेकर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से भारी चर्चा की. उन्होंने ट्वीट कर बताया कि स्थिति को सामान्य करने के लिए केंद्र की तरफ़ से राज्य सरकार को हर संभव सहायता का आश्वासन दिया गया है.


वीडियो- दुनियादारी: चीन में सदी की सबसे भीषण बारिश से बह चली कारें, दर्जनों की मौत

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

मध्य प्रदेश: शिवराज सरकार क्यों दिग्विजय सरकार की फरलो योजना को लागू करना चाह रही है?

क्या है मध्य प्रदेश की फरलो स्कीम?

दिल्ली BJP अध्यक्ष का बड़ा आरोप- अरविंद केजरीवाल ने गुंडे भेजे, घर पर हमला कराया

AAP का अभी तक इस पर कोई जवाब नहीं आया है.

क्या गिरफ्तारी से बचने के लिए राज कुंद्रा ने क्राइम ब्रांच को 25 लाख की रिश्वत दी थी?

कहा जा रहा है कि इन पैसों ने ही अब तक बचाया है, वरना गिरफ्तारी मार्च में ही हो जाती.

नवजोत सिंह सिद्धू ने CM अमरिंदर सिंह को न्योता भेजा, लेकिन क्या माफी मांगी?

सिद्धू 23 जुलाई को पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष पद की शपथ लेंगे.

पढ़िए लड़कियों से पॉर्न वीडियो शूट करवाने वाले एग्रीमेंट में क्या लिखवाते हैं राज कुंद्रा जैसे लोग

जो लड़कियां वीडियो शूट करने से मना करतीं, उनके साथ क्या करते थे ये लोग?

डॉक्टरों को अगवा करके वसूलता था फिरौती, पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया

एक लाख के इनामी बदन सिंह के गैंग का नेटवर्क महाराष्ट्र तक फैला था.

वो तो पुलिस ने पकड़ लिया वरना बड़ा कांड करने जा रहे थे राज कुंद्रा!

उनका प्लान हॉटशॉट्स ऐप से सारे सबूत मिटा देने का था.

सुरेश रैना ने ऐसा क्या बोला कि भड़क गए चेन्नई के फ़ैन्स?

वायरल हुई रैना की TNPL कॉमेंट्री.

दैनिक भास्कर ग्रुप पर इनकम टैक्स का छापा, सरकार और विपक्ष के नेताओं ने क्या कहा?

भास्कर ने खबर लिखकर बताया अंदर का हाल.

BJP ने किसानों को 'मवाली' बता दिया, राकेश टिकैत ने दिया ये जवाब

BJP की नेता और केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी ने ये बयान दिया है.