Submit your post

Follow Us

लिव-इन पार्टनर की हत्या का पता न चले, इसलिए नौ और लोगों को मार डाला

तेलंगाना का वारंगल ज़िला. यहां गोरेकुंटा नाम का एक गांव हैं. गांव की एक जूट मिल के पास बने एक कुएं में 21 मई के दिन नौ लोगों के शव मिले. चार-पांच दिन तक पुलिस ने जमकर छानबीन की और आखिरकार उन्होंने केस सुलझा लिया. पुलिस ने बताया कि दो महीने पहले हुए एक मर्डर को छिपाने के लिए नौ लोगों को मारा गया था. आरोपी का नाम संजय कुमार है. 30 बरस का है, बिहार का रहने वाला है.

क्या है पूरा मामला?

‘इंडियन एक्सप्रेस’ की रिपोर्ट के मुताबिक, संजय मिल में मज़दूरी करता था. छह साल से गोरेकुंटा में ही रह रहा था. इसी मिल में मकसूद आलम नाम का आदमी भी मज़दूरी करता था. वो पश्चिम बंगाल का रहने वाला था. लेकिन 20 साल से अपने परिवार के साथ गोरेकुंटा में ही रह रहा था.

कुछ साल पहले मकसूद की रिश्तेदार रिहाना (बदला हुआ नाम) भी पश्चिम बंगाल से गोरेकुंटा आ गई. उसके तीन बच्चे थे. मकसूद ने उसे मिल में ही काम दिलवा दिया. रिहाना मज़दूरी करने लगी और संजय के लिए भी खाना बनाने का काम करने लगी. कुछ ही दिनों में संजय और रिहाना के बीच गहरी दोस्ती हो गई. फिर रिहाना अपने तीनों बच्चों के साथ संजय के पास रहने चली गई.

वारंगल पुलिस कमिश्नर डॉ वी रविंदर के मुताबिक, कुछ दिन पहले संजय ने रिहाना की नाबालिग बेटी के साथ दुर्व्यवहार करने की कोशिश की. रिहाना ने उसे डांट लगा दी और चेतावनी दे डाली. उसी वक्त संजय ने रिहाना को अपने रास्ते से हटाने की प्लानिंग की. संजय ने रिहाना से कहा कि वो उससे शादी करना चाहता है, लेकिन पहले वो उसके (रिहाना) घरवालों से बात करेगा. दोनों रिहाना के परिवार वालों से मिलने के लिए 7 मार्च को ट्रेन से पश्चिम बंगाल के लिए निकल पड़े. रास्ते में संजय ने छाछ में नींद की गोलियां मिलाकर रिहाना को दिया. रात करीब 3 बजे जब वो बेहोश हो गई, तो संजय ने गला घोंटकर उसे मार डाला. फिर आंध्र प्रदेश के वेस्ट गोदावरी ज़िले में उसके शव को फेंक दिया. फिर वारंगल वापस आ गया.

मकसूद को शक हुआ

घर आकर उसने रिहाना के बच्चों को बताया कि उनकी मां पश्चिम बंगाल में ही रुक गई है और बाद में लौटेगी. लेकिन मकसूद और उसकी पत्नी को संजय पर शक होने लगा. उन्होंने कई बार रिहाना के बारे में उससे पूछा. उन्होंने पश्चिम बंगाल में भी कॉल किया, पता चला कि रिहाना तो कभी घर आई ही नहीं. मकसूद ने संजय से कहा कि अगर वो सच नहीं बताएगा तो वो पुलिस में शिकायत कर देगा.

इसी दौरान लॉकडाउन लग गया. मकसूद से संजय की बातचीत बंद हो गई. 15 मई को दोबारा बातचीत हुई. तब भी मकसूद ने संजय से रिहाना के बारे में पूछा. फिर 20 मई की शाम संजय मकसूद के घर गया. देखा कि उसके परिवार के सभी छह लोग घर के बाहर बैठे हैं. साथ ही मिल में काम करने वाले तीन मज़दूर श्याम, श्रीराम और शकील भी उन्हीं के साथ बैठे थे. संजय पानी पीने के बहाने से अंदर गया और दाल में नींद की कई सारी गोलियां मिला दीं. फिर श्याम और श्रीराम के कमरे में जाकर उनके खाने में भी गोलियां मिला दीं.

फिर संजय वहीं पर रात रुक गया. शकील ने उस रात मकसूद के घर पर ही खाना खाया था. रात दो बजे के करीब सभी लोग बेहोश हो गए. इसके बाद एक-एक करके संजय ने सभी को पास के कुएं में फेंक दिया. ये सब करने में उसे सुबह के साढ़े पांच बज गए थे.

CCTV फुटेज बड़ा सबूत बने

अगली सुबह (21 मई) पुलिस को कुएं से मकसूद, उसकी पत्नी, बेटी, दो बेटे और तीन साल के पोते के शव मिले. श्याम, शकील, श्रीराम के शव भी मिले. पुलिस ने मकसूद के कॉल रिकॉर्ड चेक किए. सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले. जिसमें दिखा कि 20 मई की रात संजय साइकल से जूट मिल की तरफ आया था. फिर अगली सुबह 5:30 पर वो साइकल से अपने घर वापस गया था.

इस वक्त आरोपी पुलिस की गिरफ्त में है. रिहाना के बच्चों को जुवेनाइल वेलफेयर होम भेज दिया गया है. ये पता लगाया जा रहा है कि संजय के पास इतनी सारी नींद की गोलियां कैसे आई थीं.


वीडियो देखें: महाराष्ट्र के नांदेड़ में लिंगायत समुदाय के एक साधू की हत्या, तेलंगाना से आरोपी गिरफ्तार

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

दो महीने बाद शुरू हुई हवाई यात्रा, जानिए कैसा रहा पहले दिन का हाल?

दिल्ली में पहले दिन 80 से ज्यादा उड़ानें कैंसिल क्यों करनी पड़ी?

बलबीर सिंह सीनियर: तीन बार के हॉकी गोल्ड मेडलिस्ट, जिन्होंने 1948 में इंग्लैंड को घुटनों पर ला दिया था

हॉकी लेजेंड और भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और कोच बलबीर सिंह सीनियर का 96 साल की उम्र में निधन.

दूसरे राज्य इन शर्तों पर यूपी के मजदूरों को अपने यहां काम करने के लिए ले जा सकते हैं

प्रवासी मजदूरों को लेकर सीएम योगी ने बड़ा फैसला किया है.

ऑनलाइन क्लास में Noun समझाने के चक्कर में पाकिस्तान की तारीफ, टीचर सस्पेंड

टीचर शादाब खनम ने माफी भी मांगी, लेकिन पैरेंट्स ने शिकायत कर दी.

लद्दाख में तकरार बढ़ी, तीन जगह चीनी सेना ने मोर्चा लगाया, तंबू गाड़े

दोनों ओर के सैनिकों ने मोर्चा संभाला.

पाताल लोक वेब सीरीज में फोटो से छेड़छाड़ पर BJP विधायक ने की अनुष्का से माफी की मांग

प्रोड्यूसर अनुष्का शर्मा पर रासुका के तहत कार्रवाई की मांग की.

कानपुर स्टेशन पर ट्रेन रुकी और खाने को लेकर आपस में भिड़ गए प्रवासी मज़दूर

दो कोचों के मज़दूर आपस में झगड़ पड़े. कुछ को खाना मिला, बाकी जमीन पर गिर गया.

दुनिया का सबसे तेज़ इंटरनेट, एक सेकेंड में 1000 एचडी मूवी डाउनलोड का दावा

ऑस्ट्रेलिया की तीन यूनिवर्सिटी के टेक रिसर्चर्स ने मिलकर ये कनेक्शन तैयार किया है.

केंद्र से अक्सर लड़ने वाली ममता बनर्जी की पीएम मोदी ने किस बात पर तारीफ की?

पश्चिम बंगाल दौरे पर पीएम मोदी ने 'अमपन' को लेकर एक हज़ार करोड़ रुपए की मदद का ऐलान किया.

रिज़र्व बैंक ने एक बार फिर रेपो रेट घटाया, EMI से तीन महीने और छुटकारा

मार्च और अप्रैल महीने में रिज़र्व बैंक ने रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट घटाया था.