Submit your post

Follow Us

आर्यन खान के साथ सेल्फी में दिखे किरण गोसावी ने गिरफ्तारी से पहले किस पर आरोप लगाए?

शाहरुख खान (Shah rukh Khan) के बेटे आर्यन खान (Aryan Khan) के ड्रग्स केस में पकड़े जाने के बाद एक सेल्फी वायरल हुई. इसमें आर्यन खान के साथ एक मुस्कुराता हुआ शख्स नजर आया. पता चला कि इसका नाम किरण गोसावी (Kiran Gosavi) है. बवाल खड़ा हो गया कि छापे के दौरान ये कौन है, जो सेल्फी ले रहा है. बाद में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने उसे मामले में अपना गवाह बताया. अब पुणे पुलिस ने गोसावी को गिरफ्तार कर लिया है. गोसावी पर धोखाधड़ी के कई मामले दर्ज हैं. गिरफ्तारी से पहले गोसावी ने एक वीडियो जारी करके अपनी बात रखी.

पुराने केस में गिरफ्तारी

पुणे के फर्शखाना थाने में दर्ज धोखाधड़ी के केस में भी पुलिस को किरण गोसावी की तलाश थी. ये मामला साल 2018 का है. उसके खिलाफ फरारी का नोटिस भी जारी किया गया था. पुलिस के मुताबिक, गिरफ्तारी के लिए 2 टीमें बनाई गई थीं. इसके बाद 27-28 अक्टूबर की देर रात करीब 3 बजे गोसावी को हिरासत में लिया गया.

आजतक ने पुलिस के हवाले से बताया है कि 2018 में किरण गोसावी और शेरबानो कुरैशी पर आरोप है कि उसने पुणे के चिन्मय देशमुख नाम के युवक को मलेशिया में नौकरी दिलाने का झांसा दिया था और 3 लाख रुपये ठग लिए थे. पुणे पुलिस ने शेरबानो कुरैशी को मुंबई से पहले ही गिरफ्तार कर लिया है. अब गोसावी की भी गिरफ्तारी हो गई है.

पुणे के पुलिस कमिश्नर अमिताभ गुप्ता ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया कि,

“किरण गोसावी को धोखाधड़ी के एक केस में साल 2018 में गिरफ्तार किया गया था. उसके खिलाफ 2019 में चार्जशीट भी फाइल की गई थी. यदि हमें उसके खिलाफ और शिकायतें मिलती हैं तो उसके खिलाफ ताजा केस दर्ज करेंगे. अभी तक मुंबई पुलिस या किसी दूसरी एजेंसी की तरफ से उसे हैंड ओवर करने को लेकर कोई डिमांड नहीं आई है. किरण गोसावी अपने लिए सचिन पाटिल नाम का इस्तेमाल कर रहा था. हमारी नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो से अब तक कोई बात नहीं हुई है. ये मामला में किसी तरह की राजनीति नहीं है.”

आर्यन केस में गोसावी की भूमिका

आर्यन खान के साथ सेल्फी लेकर चर्चा में आए किरण गोसावी के बारे में पहले लोगों ने अनुमान लगाया था कि वह NCB का कोई ऑफिसर होगा. मगर NCB ने स्टेटमेंट जारी करके ये क्लियर किया कि वह NCB से जुड़ा हुआ नहीं है. बाद में, NCP नेताओं ने दावा किया कि किरण गोसावी एक प्राइवेट डिटेक्टिव है. इधर किरण गोसावी का बॉडीगार्ड होने का दावा कर रहे प्रभाकर सैल ने उन पर गंभीर आरोप लगाए. सैल का दावा है कि क्रूज शिप पर मारी गई रेड शाहरुख खान से 25 करोड़ रुपये वसूलने के प्लान का हिस्सा थी. इन 25 करोड़ में से 8 करोड़ रुपये समीर वानखेड़े को मिलने थे. इसे लेकर किरण गोसावी से डील भी हुई थी. इस मामले में एनसीबी ने समीर वानखेड़े से भी पूछताछ की है. अपनी गिरफ्तारी से पहले किरण गोसावी ने मराठी में एक वीडियो जारी कर प्रभाकर सैल पर आरोप लगाए. गोसावी ने कहा कि,

“सैम डिसूज़ा के साथ किसकी बात हुई, किसने कितने पैसे लिए, प्रभाकर सैल को पिछले पांच दिनों में कौन से ऑफर आए हैं, ये उसके मोबाइल से पता चल जाएगा. मैं मीडिया से अपील करता हूं कि प्रभाकर और उसके दोनों भाइयों की कॉल डिटेल्स और मोबाइल चैट निकालें. मेरे भी चैट निकालें और देखें कि मैंने कुछ बात की है क्या?

 

मेरा इम्पोर्ट-एक्सपोर्ट का बिजनेस है. आप दो तारीख के बाद की इसकी चैट्स देख लें. उसने जो चैट्स डिलीट की हैं, उन्हें भी निकालिए. मेरी इतनी ही विनती है. मुंबई पुलिस को सबसे पहले इसी पर कार्रवाई करनी चाहिए. जो भी मंत्री वगैरह इसके पीछे हैं, उन सबकी इन्फॉर्मेशन निकालिए.

 

मुझे इतना ही कहना है. मैं मराठी आदमी हूं. इसलिए मैं चाहता हूँ कि मेरे साथ कोई न कोई तो खड़ा हो. कोई अपोज़ीशन का नेता या सत्ताधारी मंत्री मेरा साथ दे. मुंबई पुलिस से कम से कम इतनी दरख्वास्त करे कि जो मैं कह रहा हूँ, वो चेक करें. ये (सैम डिसूज़ा) जो-जो इल्ज़ाम लगा रहा है, सब झूठ है. पैसे इन्हीं लोगों ने लिए हैं. इसमें सबसे मेन ये और इसके दोनों भाई हैं.”

 

गौरतलब है कि किरण गोसावी ने ही दावा किया था कि आर्यन खान ने ड्रग्स केस में हिरासत में लिए जाने के बाद सबसे पहले अपने पैरंट्स से नहीं, सैम डिसूजा से बात की थी. इस मामले में रोचक मोड़ तब आया, जब प्रभाकर सैल ने जिसे सैम डिसूजा बताया था, वो हैनिक बाफना निकला. बाफना ने दावा किया है कि सैम डिसूजा के नाम से फर्जी पहचान बनाने के लिए उनकी प्रोफाइल तस्वीर और डिटेल्स का दुरुपयोग किया गया. 


वीडियो – आर्यन केस के फ़रार गवाह केपी गोसावी ने फोन पर जो कहा वो आपको हैरान कर देगा!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

गोरखपुर कचहरी में युवक की हत्या करने वाले के बारे में पुलिस ने क्या बताया?

गोरखपुर कचहरी में युवक की हत्या करने वाले के बारे में पुलिस ने क्या बताया?

मृतक व्यक्ति पर नाबालिग से बलात्कार का आरोप था.

5जी नेटवर्क कैसे बन गया हवाई जहाज़ के लिए खतरा?

5जी नेटवर्क कैसे बन गया हवाई जहाज़ के लिए खतरा?

5G के रोल आउट को लेकर दिक्कतें चालू.

गाड़ी का इंश्योरेंस कराने वालों को दिल्ली हाई कोर्ट का ये आदेश जान लेना चाहिए

गाड़ी का इंश्योरेंस कराने वालों को दिल्ली हाई कोर्ट का ये आदेश जान लेना चाहिए

बीमा कंपनी गाड़ी चोरी या दुर्घटनाग्रस्त होने का बहाना बनाए तो ये आदेश दिखा देना.

राजस्थान पुलिस अलवर गैंगरेप की जांच सड़क हादसे के ऐंगल से क्यों कर रही है?

राजस्थान पुलिस अलवर गैंगरेप की जांच सड़क हादसे के ऐंगल से क्यों कर रही है?

दबी जुबान में क्या कह रही है पुलिस?

बजट में FD को लेकर बैंकों की ये बात मानी गई तो आप और सरकार दोनों की मौज आ जाएगी!

बजट में FD को लेकर बैंकों की ये बात मानी गई तो आप और सरकार दोनों की मौज आ जाएगी!

जानेंगे बैंक FD में क्यों घट रही है लोगों की दिलचस्पी.

कांग्रेस को मौलाना तौकीर रजा का समर्थन, BJP ने हिंदुओं को धमकाने वाला वीडियो शेयर कर दिया

कांग्रेस को मौलाना तौकीर रजा का समर्थन, BJP ने हिंदुओं को धमकाने वाला वीडियो शेयर कर दिया

तौकीर रजा कांग्रेस पर आरोप लगा चुके हैं कि उसने मुसलमानों पर आतंकी का टैग लगाया.

देवास-एंट्रिक्स डील क्या थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने 'जहरीला फ्रॉड' कहा और मोदी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़?

देवास-एंट्रिक्स डील क्या थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने 'जहरीला फ्रॉड' कहा और मोदी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़?

जानिए UPA के समय हुई इस डील ने कैसे देश को शर्मसार किया.

'तुझे यहीं पिटना है क्या', हेट स्पीच पर सवाल से पत्रकार पर बुरी तरह भड़के यति नरसिंहानंद

'तुझे यहीं पिटना है क्या', हेट स्पीच पर सवाल से पत्रकार पर बुरी तरह भड़के यति नरसिंहानंद

बीबीसी का आरोप, टीम के साथ नरसिंहानंद के समर्थकों ने गाली-गलौज और धक्का-मुक्की की.

इंदौर: महिला का दावा, पति ने दोस्तों के साथ मिल गैंगरेप किया, प्राइवेट पार्ट को सिगरेट से दागा

इंदौर: महिला का दावा, पति ने दोस्तों के साथ मिल गैंगरेप किया, प्राइवेट पार्ट को सिगरेट से दागा

मुख्य आरोपी के साथ उसके दोस्तों को पुलिस ने पकड़ लिया है.

BJP और उत्तराखंड सरकार ने हरक सिंह रावत को अचानक क्यों निकाल दिया?

BJP और उत्तराखंड सरकार ने हरक सिंह रावत को अचानक क्यों निकाल दिया?

पार्टी के इस कदम से आहत हरक सिंह रावत मीडिया के सामने भावुक हो गए.