Submit your post

Follow Us

राधिका आप्टे ने बताया उनके नाम से वायरल हुई न्यूड तस्वीरों और वीडियो का सच

राधिका आप्टे. परिचय कराने की ज़रूरत नहीं होनी चाहिए. नए दौर की काबिल अभिनेत्रियों में गिनती होती है. कुछ बरस पहले राधिका के नाम पर कुछ फेक न्यूड तस्वीरें वायरल हुई थीं. इंटरनेट पर किसी की न्यूड तस्वीरें लीक की गईं. इस दावे, इस कैप्शन के साथ कि ये राधिका आप्टे की तस्वीरें हैं. इन तस्वीरों को ‘राधिका आप्टे न्यूड्स’ बताकर धड़ल्ले से वायरल किया गया. ऐसे ही इंटरनेट पर राधिका की ‘पार्चड’, ‘क्लीन शेवन (मैडली)’ जैसी फ़िल्मों के न्यूड सीन्स की क्लिप को भी ख़ूब सर्कुलेट किया जाता है. इन वायरल क्लिप्स, फ़ोटोज़ के बारे में राधिका ने अब खुलकर अपनी बात रखी है. हाल ही में एक मैग्ज़ीन को दिए इंटरव्यू में राधिका ने कहा –

“मुझे उस वक्त ऐसे (पार्चड) ही किरदार की ज़रूरत थी. जब आप बॉलीवुड में होते हो तब आपको लगातार बताया जाता है कि आपको अपनी बॉडी के साथ क्या करना है. लेकिन मैंने शुरू में ही ये तय कर लिया था कि मैं अपनी बॉडी या चेहरे के साथ कुछ नहीं करूंगी.”

आगे बात करते हुए राधिका ने बताया कि इस तरह की क्लिप, भले ही वो किसी फिल्म की हों या फेक हों, इनके लीक होने पर किस तरह के अनुभवों से गुज़रना पड़ता है. उन्होंने कहा – 

“क्लीन शेवन की शूटिंग के दौरान मेरी एक न्यूड क्लिप लीक हुई थी. मुझे उस वक्त बुरी तरह ट्रोल किया गया था. जिसका मुझ पर गहरा असर भी पड़ा था. चार दिन तो मैं घर से ही नहीं निकली. इसलिए नहीं कि मीडिया मेरे बारे में क्या कह रहा था. बल्कि इसलिए क्योंकि मेरे ड्राइवर, चौकीदार, स्टाइलिस्ट सब मुझे उन तस्वीरों से पहचान रहे थे. (फेक फोटोज़ पर) वो नग्न अवस्था में खींची गई सेल्फी थीं. और कोई भी इंसान उन तस्वीरों को देख पहली नज़र में बता सकता था कि तस्वीर में मैं नहीं हूं. मुझे नहीं लगता यहां कोई कुछ कर सकता है या करना चाहिए. सिवाय नज़रअंदाज़ करने के. बाकी सब समय की बर्बादी है. तो जब मैंने ‘पार्चड’ के लिए बोल्ड सीन दिया मुझे एहसास हुआ कि अब मेरे पास छुपाने के लिए कुछ बचा ही नहीं है.

राधिका ने आगे कहा कि वे ख़ुद को भाग्यशाली मानती हैं कि उन्हें कुछ बेहतरीन प्रोजेक्ट्स मिले हैं. लेकिन लॉकडाउन के दौरान उन्हें ये एहसास भी हुआ है कि वे जिस तरह से काम करती आ रही हैं, उससे वे हर वक्त व्यस्त बनी रहती हैं और इससे वे खुश नहीं हैं.

राधिका आप्टे आखिरी बार हॉटस्टार की सीरीज़ ‘ओके कंप्यूटर’ में विजय वर्मा, जैकी श्रॉफ के साथ दिखी थीं. आखिरी फ़िल्म उनकी नवाज़ुद्दीन सिद्दकी के साथ ‘रात अकेली है’ आई थी. ये फ़िल्म नेटफ्लिक्स पर देखी जा सकती है. राधिका इस वक़्त भारत में लगे लॉकडाउन के कारण अपने पति के साथ लंदन में हैं.


ये स्टोरी दी लल्लनटॉप में इंटर्नशिप कर रहे शुभम ने लिखी है.


वीडियो:मनोज बाजपेयी की ‘द फैमिली मैन सीजन 2’ पर क्यों हो रही है बैन की मांग?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

चिपको आंदोलन के मशहूर पर्यावरणविद् सुंदरलाल बहुगुणा का कोरोना से निधन

चिपको आंदोलन के मशहूर पर्यावरणविद् सुंदरलाल बहुगुणा का कोरोना से निधन

94 वर्षीय सुंदरलाल बहुगुणा कोरोना संक्रमण के कारण 8 मई से एम्स ऋषिकेश में भर्ती थे.

विदेश जाने वाले भारतीय लोग क्यों Covishield की वैक्सीन लगवाना चाहते हैं?

विदेश जाने वाले भारतीय लोग क्यों Covishield की वैक्सीन लगवाना चाहते हैं?

विदेशों में काम करने और पढ़ने के लिए जाने वालों की टेंशन समझिए?

अजय, सलमान, अमिताभ बच्चन जैसे सितारों के घर, दफ्तर, सेट आए ताउ’ते की चपेट में

अजय, सलमान, अमिताभ बच्चन जैसे सितारों के घर, दफ्तर, सेट आए ताउ’ते की चपेट में

अजय देवगन के 'मैदान' का सेट एकदम तहस-नहस हो गया.

यूपीः पंचायत चुनाव ड्यूटी में लगे शिक्षकों की मौत- हकीकत और सरकारी दावे की पड़ताल

यूपीः पंचायत चुनाव ड्यूटी में लगे शिक्षकों की मौत- हकीकत और सरकारी दावे की पड़ताल

शिक्षकों की मौत के आंकड़े क्या बता रहे हैं?

अगर कोरोना हुआ है तो ठीक होने के 3 महीने बाद ही लगवा सकेंगे वैक्सीन

अगर कोरोना हुआ है तो ठीक होने के 3 महीने बाद ही लगवा सकेंगे वैक्सीन

जानिए वैक्सीनेशन से जुड़े अहम सवालों के जवाब.

पीएम मोदी ने मध्य प्रदेश के जिस कोरोना मॉडल की तारीफ़ की उसकी सच्चाई क्या है?

पीएम मोदी ने मध्य प्रदेश के जिस कोरोना मॉडल की तारीफ़ की उसकी सच्चाई क्या है?

डेटा के साथ खिलवाड़ कर रही शिवराज सरकार?

UP: चुनावी ड्यूटी में लगे 1621 टीचरों की मौत का दावा, लेकिन सरकार 3 मौतें ही मान रही

UP: चुनावी ड्यूटी में लगे 1621 टीचरों की मौत का दावा, लेकिन सरकार 3 मौतें ही मान रही

जानिए सरकारी आंकड़े पर शिक्षक संगठन ने क्या जवाब दिया है.

यूपी के बीजेपी विधायक बोले- हम ज्यादा बोलेंगे तो राजद्रोह लग जाएगा

यूपी के बीजेपी विधायक बोले- हम ज्यादा बोलेंगे तो राजद्रोह लग जाएगा

'जब बीमारी थाली बजाने से भाग रही, तो आप अपनी सुरक्षा थाली बजाकर नहीं कर सकते.'

लखनऊ: अप्रैल में कोविड से 672 की मौत, 2327 डेथ सर्टिफिकेट उठा रहे दावों पर सवाल

लखनऊ: अप्रैल में कोविड से 672 की मौत, 2327 डेथ सर्टिफिकेट उठा रहे दावों पर सवाल

वाराणसी और देवरिया के आंकड़े क्या कहते हैं.

अपने पैतृक गांव में कोरोना से 30 मौतों की खबर पर क्यों भड़क गए केंद्रीय मंत्री वीके सिंह?

अपने पैतृक गांव में कोरोना से 30 मौतों की खबर पर क्यों भड़क गए केंद्रीय मंत्री वीके सिंह?

बीते दो हफ्ते में 30 लोगों की मौत से गांव में दहशत का माहौल है.