Submit your post

Follow Us

शाहरुख़ खान ने फिल्मों में किस नहीं करने का नियम क्यों तोड़ दिया था?

बॉलीवुड के मशहूर डायरेक्टर यश चोपड़ा. आज उनका 87वां बर्थडे है. यश चोपड़ा की बतौर डायरेक्टर आखिरी फिल्म जब तक है जान थी. ये फिल्म 13 नवंबर 2012 को थियेटर्स में लगी थी. इस फिल्म के रिलीज से कुछ दिन पहले 21 अक्टूबर 2012 को यश चोपड़ा की मौत हो गई थी.

एक इंटरव्यू में शाहरुख खान ने इस फिल्म से जुड़ा एक दिलचस्प किस्सा सुनाया था. शाहरुख इंडस्ट्री के उन चुनिंदा स्टार्स में से हैं, जिन्होंने ऑनस्क्रीन कभी लिपलॉक या किस सीन नहीं दिया. लेकिन उन्होंने अपने करियर का पहला किस सीन यश चोपड़ा की फिल्म ‘जब तक है जान’ में था.

df
फिल्म में शाहरुख खान और कैटरीना कैफ के अलावा अनुष्का शर्मा भी थीं.

लेकिन फिल्मों को लेकर शाहरुख खान की कुछ शर्तों हैं. उनके बारे में वह कहते हैं,

‘फिल्म इंडस्ट्री में मेरे कुछ उसूल हैं. जैसे मैं किसी फिल्म में घुड़सवारी नहीं करूंगा और कभी किस सीन नहीं करूंगा. ये दोनों चीजें करने में मुझे दिक्कत होती है. और मुझे ये भी नहीं पता कि ये दोनों काम ऑनस्क्रीन कैसे करने हैं.’

फिर उन्होंने ‘जब तक है जान’ मैं कैटरीना कैफ को कैसे किस किया? शाहरुख ने बताते हैं कि यश चोपड़ा ने उनसे कहा कि उन्हें वह सीन करना चाहिए. ये (किस) इतनी बड़ी बात नहीं है. और फिल्म की कहानी के लिए वह सीन बेहद जरूरी है. तब भी शाहरुख मना करते रहे. जिसके बाद सभी लोग उनकी बात से कंविंस हो गए. लेकिन फिर कुछ ऐसा हुआ, जिसने उनका ये नियम तुड़वा दिया.

yash chopra

शाहरुख ने कहा,

‘वह (यश चोपड़ा) जानते थे कि जब मुझे बताया गया कि मुझे फिल्म कैटरीना कैफ को किस करना है, मैं काफी अजीब महसूस कर था. वह (यश चोपड़ा) मेरे पास आए और बोले तुम्हें ऐसा करने की जरूरत नहीं है. उन्होंने (आदित्य चोपड़ा और यश चोपड़ा)  ने मुझसे कहा कि वह मुझे जानते हैं. फिर कुछ देर बाद ही वो लोग (आदित्य, यश चोपड़ा और कैटरीना कैफ) एक हो गए. और मुझे वो सीन करने के लिया मजबूर करने लगे. और फिर मुझे उसके लिए अलग पैसा भी दिया. जैसे एक्ट्रेसेस कहती हैं कि उन्होंने कहानी की डिमांड पर बिकिनी पहनी. मानें या न मानें मैंने भी उसी तरह स्क्रिप्ट की डिमांड पर मजबूरी में फिल्म में पहला किस किया.’

यश चोपड़ा ने अपनी आखिरी चार फिल्में ‘जब तक है जान’, ‘वीर जारा’, ‘दिल तो पागल है’ और ‘डर’शाहरुख खान के साथ बनाई थीं.

शाहरुख का दूसरा ऑन स्क्रीन किस सीन भी कैटरीना कैफ के साथ था. फिल्म थी ‘जीरो’. फिल्म खास नहीं चली, लेकिन शाहरुख का ये सीन खूब खबरों में रहा. जब एक इंटरव्यू में कैटरीना कैफ से पूछा गया कि शाहरुख खान को किस करके क्या उन्हें लगी महसूस हो रहा है? इस पर कैटरीना ने बहुत मजेदार जबाव दिया. उन्होंने कहा, ‘कौन कहता है कि मैं लकी हूं? लकी तो शाहरुख हैं.’


देखें वीडियो- इंटरव्यू: जब पूछा गया कि मीम्स के लिए तैयार हैं तब ‘बार्ड ऑफ ब्लड’ की टीम ने क्या कहा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्रिकेट के किस्से

जब रवि शास्त्री ने जावेद मियांदाद को जूता लेकर दौड़ा लिया

जब रवि शास्त्री ने जावेद मियांदाद को जूता लेकर दौड़ा लिया

इमरान बीच में ना आते तो...

क़िस्से उस दिग्गज के, जिसकी एक लाइन ने 16 साल के सचिन को पाकिस्तान टूर करा दिया!

क़िस्से उस दिग्गज के, जिसकी एक लाइन ने 16 साल के सचिन को पाकिस्तान टूर करा दिया!

वासू परांजपे, जिन्होंने कहा था- ये लगने वाला प्लेयर नहीं, लगाने वाला प्लेयर है.

इंग्लिश कप्तान ने कहा, इनसे तो नाक रगड़वाउंगा, और फिर इतिहास लिखा गया

इंग्लिश कप्तान ने कहा, इनसे तो नाक रगड़वाउंगा, और फिर इतिहास लिखा गया

विवियन ने डिक्शनरी में 'ग्रॉवल' का मतलब खोजा और 829 रन ठोक दिए.

अंग्रेज़ों ने पास देने से इन्कार क्या किया राजीव गांधी का मंत्री वर्ल्डकप टूर्नामेंट छीन लाया!

अंग्रेज़ों ने पास देने से इन्कार क्या किया राजीव गांधी का मंत्री वर्ल्डकप टूर्नामेंट छीन लाया!

इसमें धीरूभाई अंबानी ने भी मदद की थी.

जब क्रिकेट मैदान के बाद पोस्टर्स में भी जयसूर्या से पिछड़े सचिन-गांगुली!

जब क्रिकेट मैदान के बाद पोस्टर्स में भी जयसूर्या से पिछड़े सचिन-गांगुली!

अमिताभ को भी था जयसूर्या पर ज्यादा भरोसा.

ब्रिटिश अखबारों से खौराकर कैसे वर्ल्ड कप जीत गई टीम इंडिया?

ब्रिटिश अखबारों से खौराकर कैसे वर्ल्ड कप जीत गई टीम इंडिया?

क़िस्सा 1983 वर्ल्ड कप का.

धक्के, गाली और डंडे खाकर किसे खेलते देखने जाते थे कपिल देव?

धक्के, गाली और डंडे खाकर किसे खेलते देखने जाते थे कपिल देव?

कौन थे 1983 वर्ल्ड कप विनर के हीरो?

जब किरमानी ने कपिल से कहा- कप्तान, हमको मार के मरना है!

जब किरमानी ने कपिल से कहा- कप्तान, हमको मार के मरना है!

क़िस्सा वर्ल्ड कप की सबसे 'महान' पारी का.

83 वर्ल्ड कप में किसी टीम से ज्यादा कपिल की अंग्रेजी से डरती थी टीम इंडिया!

83 वर्ल्ड कप में किसी टीम से ज्यादा कपिल की अंग्रेजी से डरती थी टीम इंडिया!

सोचो कुछ, कहो कुछ, समझो कुछ.

1983 वर्ल्ड कप फाइनल में फारुख इंजिनियर की भविष्यवाणी, जो इंदिरा ने सच कर दी

1983 वर्ल्ड कप फाइनल में फारुख इंजिनियर की भविष्यवाणी, जो इंदिरा ने सच कर दी

जानें क्या थी वो भविष्यवाणी.