Submit your post

Follow Us

32 साल पहले वसीम अकरम ने विव रिचर्ड्स के पैरों पर गिरकर माफी क्यों मांगी थी?

एक क्रिकेटर, जिसकी बैटिंग से दुनिया कांपती थी. जिसके छक्के मैदान से बाहर जाकर गिरने के लिए मशहूर थे. वेस्ट इंडीज़ की विश्वविजय का खास सैनिक. पूरे जीवन बिना हेलमेट खेलने वाला बल्लेबाज, जो 30 साल पहले वनडे में T20 जैसी बैटिंग करता था.

एक बोलर, जिसे स्विंग का सुल्तान कहा जाता है. इंटरनेशनल क्रिकेट में 900 से ज्यादा विकेट और विकेट्स से ज्यादा स्विंग का ख़ौफ. अपने डेब्यू से लेकर रिटायरमेंट तक दुनिया के बेस्ट बोलर्स में से एक.

विवियन रिचर्ड्स और वसीम अकरम. जब भी क्रिकेट के इन दो दिग्गजों का जिक्र होगा, तो एक-एक कर तमाम कहानियां सामने आएंगी. विव रिचर्ड्स खुद स्वीकार कर चुके हैं कि उन्हें सबसे ज्यादा परेशान वसीम ने ही किया था. ये किस्सा ऐसे ही एक मैच का है. जब वसीम ने रिचर्ड्स को बहुत परेशान किया.

साल 1988. पाकिस्तानी टीम वेस्ट इंडीज़ टूर पर थी. सीरीज के पहले दो टेस्ट के बाद पाकिस्तान 1-0 से आगे था. 1987 वर्ल्ड कप के बाद रिटायर हुए इमरान खान वापसी कर चुके थे. पाकिस्तानी टीम उन्हीं की कप्तानी में वेस्ट इंडीज़ पहुंची थी. 22 अप्रैल, 1988 को यह टेस्ट शुरू हुआ. विंडीज़ की टीम अब ढलान की ओर थी. पाकिस्तान उठ रहा था. लेकिन अब भी दोनों टीमों में काफी अंतर था.

# हरियाली का जाल

सीरीज में पीछे चल रही विंडीज़ ने तीसरे टेस्ट के लिए एकदम हरी पिच बनवाई. वर्ल्ड क्रिकेट पर अपनी बादशाहत खत्म होता देख गुस्साया विंडीज़ मैल्कम मार्शल, कर्टली एम्ब्रोस, कर्टनी वॉल्श का फायदा उठाना चाहता था. लेकिन शायद वह भूल गए थे कि यह पाकिस्तानी टीम थी. जहां नई बॉल से कप्तान इमरान का साथ वसीम अकरम देते थे.

इस टेस्ट तक आते-आते 19 साल के वसीम अकरम को समझ आ गया था कि उनके पास बल्लेबाजों को परेशान करने भर की स्पीड है. 25 टेस्ट खेल चुके अकरम ने ग्रीन टॉप पाते ही बाउंसर मारने शुरू कर दिए. उनकी बाउंसर्स काम भी आईं. विंडीज़ की पहली पारी में अकरम को तीन विकेट मिले. इसमें रिची रिचर्डसन, कार्ल हूपर और विव रिचर्ड्स शामिल थे.

ऐसे दिग्गजों को आउट कर वसीम का कॉन्फिडेंस अलग ही लेवल पर पहुंच गया. मैच के आखिरी दिन विंडीज़ अपनी दूसरी पारी खेल रहा था. कप्तान इमरान ने बॉल वसीम को दी. सामने थे रिचर्ड्स. इस बारे में वसीम ने कहा था,

‘मैं सिर्फ 19 साल का था जब मैंने 1988 का बारबडोस टेस्ट खेला. इसी टेस्ट मैच में मुझे एहसास हुआ कि मेरे पास बल्लेबाजों को डिस्टर्ब करने भर की स्पीड है. रिचर्ड्स बैटिंग कर रहे थे. कप्तान इमरान ने मुझे बॉल दी और अटैक करने को कहा. मैंने रिचर्ड्स को बाउंसर मारी और उससे बचने के चक्कर में रिचर्ड्स की टोपी गिर गई.

मैं उनके पास गया और अपनी टूटी-फूटी अंग्रेजी में कहा- बैटिंग करनी नहीं आती? उस वक्त मैं बेहद दुबला-पतला था. मेरी बॉडी देख रिचर्ड्स गुस्से में बोले- मैं तुझे जान से मार दूंगा. मैं डरा हुआ इमरान के पास गया और कहा कप्तान ये जान से मारने की बात कर रहा है. इमरान ने कहा तू डर मत, बाउंसर मारता रह. मैंने फिर बाउंसर मारी, फिर रिचर्ड्स की टोपी गिरी और मैंने फिर से उन्हें गालियां दी.

अगली बॉल पर मैंने रिचर्ड्स को बोल्ड कर दिया. बोल्ड करने के बाद फिर गालियां दी और वह गुस्से में ग्राउंड से बाहर चले गए. खेल खत्म हुआ. मैं ड्रेसिंग रूम में बैठा था कि अटेंडेंट आया और बोला कि बाहर कोई मेरा वेट कर रहा है. पहले तो मुझे लगा कि कोई फैन होगा, मैंने मिलने से मना कर दिया.

लेकिन उसने जोर देकर कहा तो मैं वैसे ही, एक पैर में जूते डाले बाहर निकल गया. मैंने देखा वहां विव रिचर्ड्स बिना शर्ट के पसीने से भीगे हुए हाथ में बल्ला लेकर मेरा वेट कर रहे थे. मैं बहुत डर गया, वापस अंदर भागा और इमरान भाई के पास गया. मैंने कहा कि कप्तान, वो बाहर खड़ा है, मुझे मार देगा. बचा लो. इमरान ने कहा- तुम्हारी लड़ाई है, तुम खुद जाकर लड़ो. मैं दौड़ते हुए बाहर गया और रिचर्ड्स के पैर पकड़ लिए. अपनी टूटी-फूटी अंग्रेजी में माफी मांगी और कहा कि अब दोबारा ऐसा नहीं होगा.’

अकरम ये किस्सा कई मौकों पर दोहरा चुके हैं. इस टेस्ट के नतीजे की बात करें तो विंडीज़ ने इसे दो विकेट से जीत लिया था. 207 पर आठ विकेट खोने वाले विंडीज़ के लिए जेफ डुजों और विंस्टन बेंजामिन ने कमाल किया. दोनों ने नवें विकेट के लिए 61 रन जोड़े और अपनी टीम को जीत दिलाकर ही लौटे. बताते हैं कि इस जीत के बाद रिचर्ड्स ड्रेसिंग रूम में रो पड़े थे. ये बात अलग है कि बाद में उन्होंने युवा वसीम को लगभग रुलाकर अपने आंसुओं का बदला लिया.

ट्रिविया

# इसी मैच में पाकिस्तानी स्पिनर अब्दुल कादिर ने एक फैन को मुक्का मारा था. जिसके बाद उन पर एक हजार अमेरिकी डॉलर का फाइन लगा था.

# जावेद मियांदाद ने सीरीज में दो सेंचुरी मारी. इससे पहले विदेशी टूर पर उनका प्रदर्शन बेहद खराब होता था.

# वनडे सीरीज में पाकिस्तान 5-0 से हारा था. इसलिए टेस्ट में उनके प्रदर्शन ने काफी तारीफ बटोरी.


उस सीरीज की कहानी जब इमरान खान संन्यास लेकर लौटे और वेस्टइंडीज टीम की हालत खराब कर दी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पॉलिटिकल किस्से

सुषमा स्वराज: दो मुख्यमंत्रियों की लड़ाई की वजह से मुख्यमंत्री बनने वाली नेता

कहानी दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री सुषमा स्वराज की.

साहिब सिंह वर्मा: वो मुख्यमंत्री, जिसने इस्तीफा दिया और सामान सहित सरकारी बस से घर गया

कहानी दिल्ली के दूसरे मुख्यमंत्री साहिब सिंह वर्मा की.

मदन लाल खुराना: जब दिल्ली के CM को एक डायरी में लिखे नाम के चलते इस्तीफा देना पड़ा

जब राष्ट्रपति ने दंगों के बीच सीएम मदन से मदद मांगी.

राहुल गांधी का मोबाइल नंबर

प्राइवेट मीटिंग्स में कैसे होते हैं राहुल गांधी?

भैरो सिंह शेखावत : राजस्थान का वो मुख्यमंत्री, जिसे वहां के लोग बाबोसा कहते हैं

जो पुलिस में था, नौकरी गई तो राजनीति में आया और फिर तीन बार बना मुख्यमंत्री. आज बड्डे है.

जब बाबरी मस्जिद गिरी और एक दिन के लिए तिहाड़ भेज दिए गए कल्याण सिंह

अब सीबीआई कल्याण सिंह से पूछताछ करना चाहती है

वो नेता जिसने पी चिदंबरम से कई साल पहले जेल में अंग्रेजी टॉयलेट की मांग की थी

हिंट: नेता गुजरात से थे और नाम था मोदी.

बिहार पॉलिटिक्स : बड़े भाई को बम लगा, तो छोटा भाई बम-बम हो गया

कैसे एक हत्याकांड ने बिहार मुख्यमंत्री का करियर ख़त्म कर दिया?

राज्यसभा जा रहे मनमोहन सिंह सिर्फ एक लोकसभा चुनाव लड़े, उसमें क्या हुआ था?

पूर्व प्रधानमंत्री के पहले और आखिरी चुनाव का किस्सा.

सोनिया गांधी ने ऐसा क्या किया जो सुषमा स्वराज बोलीं- मैं अपना सिर मुंडवा लूंगी?

सुषमा का 2004 का ये बयान सोनिया को हमेशा सताएगा.