Submit your post

Follow Us

फिल्म रिव्यू: जय भीम

05 नवंबर को ‘सूर्यवंशी’ रिलीज़ हो रही है. ‘सिंघम’ और ‘सिंबा’ के बाद रोहित शेट्टी कॉप यूनिवर्स की अगली फिल्म. पहले वाले पुलिसवालों की तरह सूर्यवंशी भी कानून अपने हाथ में लेगा. धाराएं तोड़ेगा. फिर चाहे उसे समाज की भलाई की शक्ल दे दी जाए. आप में से भी कई लोग फिल्म देखने जाएंगे. उसके कानून हाथ में लेने वाले सीन्स पर तालियां बजाएंगे. सीटी मारेंगे. लेकिन ऐसा करने से पहले एक तमिल फिल्म के बारे में सोचिएगा. ‘जय भीम’ के बारे में.

जहां पुलिस कुछ आदिवासी समुदाय के आदमियों को जबरन उठा ले जाती है. उन्हें टॉर्चर करती है. इस ढंग से कि आप गुस्से से दांत चबाने लगे. उन्हें ऐसा जुर्म कुबूल करने को कहती है जो उन्होंने किया ही नहीं. उन आदिवासियों में से एक होता है राजाकानू. जिसकी बीवी अपने पति को बचाने के लिए चंद्रु नाम के वकील की मदद लेती है. चंद्रु ह्यूमन राइट्स के केसेज़ को खास तवज्जोह देता है. लेकिन इस केस की तह तक पहुंचने में उसके सामने कैसा घिनौना सच आता है, यही फिल्म की कहानी है. ऐसा सच, जो सदियों से हमारे बीच है. बस हमने सहूलियत से उसकी तरफ से आंखें फेर ली हैं.

Police
पुलिस ब्रूटैलिटी पर बनी ‘विसारनाई’ भी एक असरदार फिल्म है.

सिर्फ पुलिस ब्रूटैलिटी ‘जय भीम’ की थीम नहीं. ये उस मानसिकता में उतरने की कोशिश करती है, जिससे पुलिस ब्रूटैलिटी जैसी हिंसा ने जन्म लिया. उन पूर्वाग्रहों को सामने लाती है, जो एक को दूसरे से ऊपर समझने का हक देते हैं. ऐसे भेदभाव को विमर्श बनाकर पहले भी सिनेमा बन चुका है. जहां इस थीम को सटल रखा गया. ताकि ऑडियंस खुद उस फर्क को महसूस कर सके. लेकिन ‘जय भीम’ ऐसा नहीं करती. ये ऊंच-नीच वाले भेद को सटल न रखते हुए क्लियर कट सामने रखती है. जैसे राजकानू सांप पकड़ने का काम करता है. एक बार गांव के किसी प्रभावशाली आदमी का नौकर उसे बुलाने आता है. अपनी मोपेड़ पे बैठने को कहता है. बैठते वक्त राजा सहारा लेने के लिए उसके कंधे पर हाथ रख देता है. तभी वो तिरछी नज़र से पीछे पलटता है. राजा अपनी भूल सुधारते हुए हाथ हटा लेता है.

मेरे लिए पुलिस टॉर्चर वाले सीन्स सबसे डिस्टर्बिंग थे. अगर आप उन सीन्स को बतौर दर्शक देख रहे हैं, तो आपको एक गिल्ट अंदर से खाएगी. कि आप भी चुप रहकर अत्याचारी के साथ हैं. और अगर आप उन सीन्स में उतरेंगे, तो उन आदिवासियों की वेदना महसूस किए बिना नहीं रह पाएंगे. जो किसी को भी विचलित करने के लिए काफी है. यहां फिल्म की सिनेमैटोग्राफी को भी क्रेडिट दिया जाना चाहिए. वो माहौल क्रिएट करने के लिए.

राजाकानू 2
जिसका दिल सही जगह पर है, उसे पुलिस टॉर्चर वाले सीन्स विचलित कर सकते हैं.

अगर आप पूरी फिल्म देखेंगे तो पाएंगे कि इसकी सिनेमैटोग्राफी नैरेटिव के साथ चलती है. जैसे चंद्रु और आई जी पेरूमालसामी के कैरेक्टर्स. जिन्हें निभाया सूर्या और प्रकाशराज ने. फिल्म के शुरुआत में दोनों कैरेक्टर्स की सोच एक दूसरे से नॉर्थ-साउथ चलती है. इसलिए एक सीन में दोनों एक गाड़ी के बगल में एक दूसरे को फेस करते हुए खड़े हैं. ऐसे में कैमरा को गाड़ी के दूसरी ओर प्लेस किया गया. ताकि फ्रेम में चंद्रु और पेरूमालसामी एक दूसरे के आमने-सामने दिखें. और उनके बीच गाड़ी के विंडो फ्रेम को रुकावट की तरह दिखाया जा सके. कि जैसे दोनों का सोचना सही है. बस इनकी विचारधारा में भेद है. आगे दोनों की विचारधारा का ये फर्क मिटने लगता है. ऐसे में एक सीन में दोनों को उसी गाड़ी के अंदर बैठा दिखाया गया है. वो भी एक दूसरे के अगल-बगल में.

सूर्या भले ही फिल्म में सबसे बड़ा नाम थे. लेकिन यहां वो फिल्म के सबसे बड़े स्टार नहीं. फिल्म की स्टार है सेंगनी. यानी राजकानू की पत्नी. लिज़ो मॉल होज़े ने ये कैरेक्टर पोर्ट्रे किया. राजाकानू के जेल में जाने के बाद कहानी का भार सेंगनी के ज़िम्मे आ जाता है. जिसे उन्होंने बखूबी निभाया. उनके सामने सूर्या और प्रकाशराज जैसे एक्टर्स थे. लेकिन फिर भी वो स्टैंड आउट करती हैं.

राजकानू की पत्नी
लिज़ो मॉल होज़े इस फिल्म की सबसे बड़ी स्टार हैं.

‘जय भीम’ एक असली घटना पर आधारित है. फिल्म को मास अपील देने के लिए कुछ हिस्सों को ड्रामाटाइज़ किया गया है. जिनकी ज़रूरत महसूस नहीं होती. यही वजह है कि कुछ हिस्सों में फिल्म स्लो लग सकती है. मगर इसका ये मतलब नहीं कि फिल्म को सिरे से नकार दिया जाए. ये फिल्म अपनी मैसेजिंग के साथ इंसाफ कर पाने में कामयाब हो जाती है. बाकी ऐसे टॉपिक्स पर पहले बनी फिल्मों से तुलना करना समझदारी नहीं होगी. फिल्म देख सकते हैं. अमेज़न प्राइम वीडियो पर स्ट्रीम हो रही है.


वीडियो: इमरान हाशमी की यहूदी मायथोलॉजी पर आधारित फिल्म ‘डिब्बुक’ कितना डरा पाई?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

किस बात पर टीवी स्टार तेजस्वी प्रकाश पर भड़क पड़े सलमान खान?

किस बात पर टीवी स्टार तेजस्वी प्रकाश पर भड़क पड़े सलमान खान?

'मैडम मेरे साथ ये सब मत करिए!'

वर्ल्ड कप के बाकी बचे मैचेज़ की जगह नवंबर में आने वाली ये 14 फिल्में/सीरीज़ देख सकते हैं

वर्ल्ड कप के बाकी बचे मैचेज़ की जगह नवंबर में आने वाली ये 14 फिल्में/सीरीज़ देख सकते हैं

इनमें से कई फिल्में-सीरीज़ तो आपकी वॉचलिस्ट पर होनी चाहिए.

पुनीत राजकुमार की डेथ पर इन 12 सेलेब्रिटीज़ ने क्या कहा?

पुनीत राजकुमार की डेथ पर इन 12 सेलेब्रिटीज़ ने क्या कहा?

पुनीत को हार्ट अटैक के बाद जिस हॉस्पिटल ले जाया गया था, उन्होंने अपने स्टेटमेंट जारी कर बताई ये बातें.

आर्यन को बेल मिलते ही शेखर सुमन ने शाहरुख खान को क्या हिदायत दे डाली?

आर्यन को बेल मिलते ही शेखर सुमन ने शाहरुख खान को क्या हिदायत दे डाली?

शेखर सुमन की ये वॉर्निंग पूरी फिल्म इंडस्ट्री को नाराज कर सकती है.

जब लोगों ने एक्ट्रेस नेहा शर्मा की सेल्फी को अश्लील बनाकर इंटरनेट पर वायरल कर दिया!

जब लोगों ने एक्ट्रेस नेहा शर्मा की सेल्फी को अश्लील बनाकर इंटरनेट पर वायरल कर दिया!

नेहा शर्मा को इसके बारे में वेब सीरीज़ के सेट पर जाकर पता चला.

आर्यन खान मामले में इंडस्ट्री की चुप्पी पर मीका सिंह ने कसके डपटा दिया

आर्यन खान मामले में इंडस्ट्री की चुप्पी पर मीका सिंह ने कसके डपटा दिया

''इंडस्ट्री में सबके बच्चे एक बार अंदर जाएंगे, तब जाकर ये यूनिटी दिखाएंगे.''

'सेक्रेड गेम्स' में नवाजुद्दीन के साथ इंटीमेट सीन करने के बाद क्यों रोईं कुब्रा सैत?

'सेक्रेड गेम्स' में नवाजुद्दीन के साथ इंटीमेट सीन करने के बाद क्यों रोईं कुब्रा सैत?

गणेश गायतोंडे और कुकू के बीच जो इक्वेशन था, वो इस सीरीज़ की सबसे प्यारी चीज़ थी.

बड़े एक्टर ने शूटिंग के वक्त प्रॉप गन चलाई, महिला की मौत हो गई

बड़े एक्टर ने शूटिंग के वक्त प्रॉप गन चलाई, महिला की मौत हो गई

हादसे में फिल्म डायरेक्टर जोएल सूज़ा भी घायल हो गए.

जेल पहुंचे शाहरुख खान, लोग बोले, 'विनम्रता हो तो ऐसी'

जेल पहुंचे शाहरुख खान, लोग बोले, 'विनम्रता हो तो ऐसी'

आर्यन से मिलकर जेल से बाहर आते शाहरुख का वीडियो वायरल हो रहा है.

गेल, कोहली ABD नहीं तो फिर किसके नाम हैं T20 वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा रन?

गेल, कोहली ABD नहीं तो फिर किसके नाम हैं T20 वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा रन?

कमाल की है ये लिस्ट.