Submit your post

Follow Us

जेब में चिल्लर लेकर घूमने से दुनिया के दूसरे सबसे महंगे सुपरस्टार बनने की कहानी

बहुत कम लोग ऐसे होंगे, जो आज की तारीख में ड्वेन जॉनसन को नहीं जानते होंगे. कुछ लोग उन्हें बतौर रेस्लर जानते हैं, तो कुछ एज़ एन एक्टर. अमेरिका के कैलिफॉर्निया (के हेवर्ड शहर) में पैदा हुए ड्वेन शुरुआती दिनों से ही नटखट रहे हैं. 17 की उम्र से लड़ाई-झगड़ों में एक्टिव हो गए थे. इन चक्करों में कई बार जेल भी जा चुके हैं. डब्ल्यू डब्ल्यू ई (WWE- World Wrestling Entertainment) में आने से पहले ड्वेन फुटबॉल और रग्बी जैसे गेम खेलते थे. इसके बाद रेस्लिंग की दुनिया में पहुंचे और ‘द रॉक’ नाम से फेमस हुए. फिर आई एक्टिंग की बारी. वो अब तक ‘द मम्मी रिटर्न्स’, ‘द स्कॉर्पियन किंग’, ‘द रनडाउन’ और ‘फ़ास्ट एंड फ्यूरियस’ समेत दर्जनों फिल्म का हिस्सा रह चुके हैं. अभी हाल ही में वो प्रियंका चोपड़ा की हॉलीवुड डेब्यू फिल्म ‘बेवॉच’ में उनके साथ नज़र आए थे.

इस साल यानी 2019 में वो दुनिया में सबसे ज़्यादा कमाई करने वाले एक्टर्स की लिस्ट में दूसरे नंबर पर हैं. उनसे आगे सिर्फ जॉर्ज क्लूनी हैं. अगर उनके फ्यूचर प्लान की बात करें, तो एक दिन अमेरिका का राष्ट्रपति बनना चाहते हैं. ये सब बातें हम आज आपको इसलिए बता रहे है क्योंकि ड्वेन जॉन्सन उर्फ ‘द रॉक’ का बड्डे है. आज 46 के हो रहे हैं वो. इस मौके पर हम ड्वेन की छोटी-मोटी मवालीगिरी के बाद डिप्रेशन के दौर को पार करते हुए हॉलीवुड सुपरस्टार बनने तक की जर्नी को जानेंगे.

1. बॉडी वगैरह बनाने का शौक कहां से आया?

ड्वेन ने अपने एक इंटरव्यू में बताया था कि जब वो बच्चे थे, तब उन्हें अपने पापा रॉकी जॉन्सन की बॉडी बहुत पसंद थी. उन्होंने अपने पापा की देखा-देखी बॉडी बनानी शुरू की. और उसे मेंटेन करने के लिए कड़ी मेहनत करते हैं. वो अपने अक्षय कुमार की तरह सुबह चार बजे उठते हैं. फिर जिम जाकर वर्जिश करते हैं. फिर काम पर जाते हैं और फिर लौटकर जिम में घुस जाते हैं. वो कितना भी व्यस्त हों, वे एक्सरसाइज़ करना नहीं छोड़ते या भूलते.

पहली तस्वीर में रॉक के पिता रॉकी जॉन्सन और दूसरी तस्वीर में उनके बेटे ड्वेन.
पहली तस्वीर में रॉक के पिता रॉकी जॉन्सन और दूसरी तस्वीर में उनके बेटे ड्वेन.

2. ये रोलेक्स का क्या झोल है उनकी लाइफ में?

सबसे पहले तो ये जान लें कि रोलेक्स स्विट्ज़रलैंड की एक कंपनी है, जो लग्ज़री घड़ियां बनाती है. रॉक बचपन से ही इस ब्रांड के लिए पागल थे. लेकिन घर में कड़की रहती थी, इसलिए फर्जी रोलेक्स पहनकर ही रौला झाड़ आते थे. उन्हें रोलेक्स से इतना प्यार है कि एक बार फाइट के दौरान रिंग में भी घड़ी पहनकर चले गए. बाद में वो टूटकर चकनाचूर हो गई, वो बात अलग है. फिल्म ‘द स्कॉर्पियन किंग’ की शूटिंग के दौरान उनके एक को-एक्टर को उनका मुक्का ज़ोर से लग गया. ऐसे में उन्होंने अपनी पसंदीदा रोलेक्स की घड़ी उन्हें गिफ्ट कर सॉरी कहा.

अपना रॉलेक्स प्रेम जगजाहिर करते ड्वेन जॉन्सन.
अपना रोलेक्स प्रेम जगजाहिर करते ड्वेन जॉन्सन.

3. प्रॉडक्शन कंपनी के नाम के पीछे का क्या खेल है?

रॉक एक्टिंग के साथ फिल्में प्रोड्यूस भी करते हैं. इसके लिए बाकायदा उन्होंने अपना प्रोडक्शन हाउस खोल रखा है. उनकी इस कंपनी का नाम है ‘सेवेन बक्स प्रोडक्शन’. अमेरिका में डॉलर को बोलचाल की भाषा में बक्स कहते हैं. रॉक को जब कैनडा की फुटबॉल लीग से निकाला गया, तो इनकी माली हालत खराब हो गई. उस दौरान जब ड्वेन ने अपनी जेब टटोली, तब उन्हें सात डॉलर मिले. ढ़ेर सारा पैसा कमा लेने के बावजूद ड्वेन अपने वो दिन नहीं भूले. जब प्रोडक्शन कंपनी खोलने की बारी आई, तब उन्होंने उसका नाम रखा ‘सेवेन बक्स प्रोडक्शन’.

द रॉक की प्रोडक्शन कंपनी सेवेन बक्स प्रोडक्शन का लोगो.
द रॉक की प्रोडक्शन कंपनी सेवेन बक्स प्रोडक्शन का लोगो.

4. रॉक का सबसे फेवरेट डायलॉग कहां से आया?

जितने भी लोगों ने रॉक को रिंग में देखा है, उनका फेवरेट डायलॉग, जिसे रेस्लिंग वाली भाषा में कैच फ्रेज़ (Catch Phrase), सबको पता होगा. वो फाइट के दौरान या ऐसे भी एक अंग्रेजी वाक्य बोलते हैं. आम तौर पर वो रिंग के एक कोने में लगी रस्सियों पर चढ़कर जोर से चिल्लाकर अपनी जीत की घोषणा करते हैं. इस दौरान वो कहते हैं- ‘इफ यू कैन स्मेल व्हाट द रॉक इज़ कुकिंग’ (If you can smell what The Rock is cooking). इसका मतलब होता है ‘क्या तुम सूंघ पा रहे हो कि रॉक क्या पका रहा है’. उन्हें द ग्राहम नॉर्टन शो में इसे दोहराते और इस बारे में बात करते आप नीचे वीडियो में देख सकते हैं:

रॉक ने अपनी बायोग्रफी ‘द रॉक सेज़’ में बताया था कि उन्होंने ये लाइन मायामी में अपने फुटबॉल के दिनों में सुना था. ये उन्हें बहुत पसंद आया. WWE में आने के बाद वो मैच शुरू होने से पहले स्टेज के पीछे किसी से बात कर रहे थे, इतने में उनके मुंह से लाइन निकल गई. इसके बाद उन्होंने इसे अपने हर रेस्लिंग परफॉर्मेंस में बोलना शुरू कर दिया. अब वो उनका तकिया कलाम है.

5. ‘द रॉक’ का इंडिया कनेक्शन पता है?

दुनियाभर में रॉक के यूं तो कई फैन हैं लेकिन इंडिया का एक स्टार उनका बड़ा वाला फैन. ये स्टार हैं वरुण धवन. वरुण ड्वेन को अपना फेवरेट और आइडल बताते हैं. अपने कमरे में भी उनका एक बड़ा सा पोस्टर लगा रखा है. दोनों सोशल मीडिया पर एक-दूसरे के लिए मैसेज और वीडियो पोस्ट करते रहते हैं. एक इंट्रेस्टिंग ट्रिविया ये भी है कि वरुण ड्वेन की आवाज़ भी निकाल लेते हैं. इसका एक नमूना उन्होंने द कपिल शर्मा शो पर भी दिखाया था, जो आप नीचे क्लिक कर देख सकते हैं :


ये स्टोरी दी लल्लनटॉप के साथ इंटर्नशिप कर रहे शुभम ने लिखी है.


 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

मूवी रिव्यू: जलसा

मूवी रिव्यू: जलसा

विज़िबल और इनविज़िबल रूप से कन्फ्लिक्ट या कहें तो डिवाइड पूरी फिल्म में दिखता है.

वेब सीरीज़ रिव्यू: ब्लडी ब्रदर्स

वेब सीरीज़ रिव्यू: ब्लडी ब्रदर्स

शो की कास्ट में काबिल एक्टर्स के नाम होने के बावजूद ये शो राइटिंग के टर्म्स में पिछड़ जाता है.

वेब सीरीज़ रिव्यू: अपहरण 2

वेब सीरीज़ रिव्यू: अपहरण 2

इस बार भी मेकर्स ने वही गलती की है.

मूवी रिव्यू: द कश्मीर फाइल्स

मूवी रिव्यू: द कश्मीर फाइल्स

ये फ़िल्म ग्रे में जाकर चीजों को टटोलने की कोशिश नहीं करती. यहां सबकुछ या तो ब्लैक है या वाइट.

मूवी रिव्यू: द एडम प्रोजेक्ट

मूवी रिव्यू: द एडम प्रोजेक्ट

ऊपर से साइंस फिक्शन फिल्म लगने वाली ‘द एडम प्रोजेक्ट’ का असली सेलिंग पॉइंट उसका इमोशनल साइड है.

मूवी रिव्यू: राधे श्याम

मूवी रिव्यू: राधे श्याम

'राधे श्याम' बड़े लेवल पर बनी एक बिलो ऐवरेज फिल्म है.

मूवी रिव्यू: दी बैटमैन

मूवी रिव्यू: दी बैटमैन

कई जगह पर्फ़ेक्शन और डिटेलिंग को लेकर ‘दी बैटमैन’ का आग्रह प्रभावित करता है.

वेब सीरीज़ रिव्यू: अनदेखी सीज़न 2

वेब सीरीज़ रिव्यू: अनदेखी सीज़न 2

इस सीज़न के किरदारों से भले ही आप जुड़ नहीं पाते, लेकिन उनकी कहानी में इन्वॉल्व ज़रूर होते हैं.

मूवी रिव्यू: झुंड

मूवी रिव्यू: झुंड

'झुंड' में एक्टिंग अच्छी है, कास्टिंग बढ़िया है.

आलिया भट्ट की 'गंगूबाई काठियावाड़ी' ने 5 दिन में कितने करोड़ कमा लिए?

आलिया भट्ट की 'गंगूबाई काठियावाड़ी' ने 5 दिन में कितने करोड़ कमा लिए?

इंडिया से बाहर भी फिल्म अच्छा बिज़नेस कर रही है.