Submit your post

Follow Us

हैदराबाद: एकसाथ 50 कोरोना मरीज़ों के शव जलाए गए, सरकार अजीब तर्क दे रही है

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है. इसमें दिख रहा है कि एकसाथ कई सारे शवों को जलाया जा रहा है. इस वीडियो को तेलंगाना के मुलुग से कांग्रेस विधायक दानसरी अनुसूया, जिन्हें सितक्का भी कहते हैं, उन्होंने शेयर किया था.

कब शेयर किया और क्या कहा?

22 जुलाई की रात करीब 10 बजे सितक्का ने इसे पोस्ट किया. लिखा,

“हैरान करने वाला!! सरकार ने कहा था कि 21 जुलाई को कोरोना से सात लोगों की मौत हुई है, लेकिन ESI के श्मशान में 30 से ज्यादा शव जलाए गए. शुरुआत से ही सरकार कोरोना को कंट्रोल करने में अपनी क्षमता को छिपाने के लिए गलत आंकड़े जारी कर रही है. KCR (तेलंगाना के सीएम के. चंद्रशेखर राव) तेलंगाना में विफल रहे.”

इस ट्वीट के साथ सितक्का ने कई सारे पत्रकारों और मीडिया हाउस को टैग किया. वीडियो सामने आने के बाद तेलंगाना स्वास्थ्य विभाग पर सवाल उठने लगे. KCR की तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS) की सरकार पर कोरोना के सही आंकड़े छिपाने के आरोप लगने लगे.

क्या जवाब मिला?

इन सभी आरोपों पर तेलंगाना स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने जवाब दिया. हेल्थ डिपार्टमेंट ने इस वीडियो को सच माना, लेकिन आंकड़े छिपाने के आरोपों से इनकार किया. ‘इंडिया टुडे’ के आशीष पांडे की रिपोर्ट के मुताबिक, डॉ. के. रमेश रेड्डी, जो तेलंगाना डायरेक्टर ऑफ मेडिकल एजुकेशन हैं, उन्होंने इस वीडियो पर सफाई दी. उन्होंने कहा कि 50 से ज्यादा शव जलाए गए हैं, लेकिन ये सभी शव केवल एक दिन मरने वाले लोगों के नहीं हैं, बल्कि दो-तीन दिन पुराने हैं. उन्होंने कहा,

“एक साथ 50 शवों का अंतिम संस्कार किया गया है, क्योंकि कोरोना मरीज़ों के शव को ट्रांसपोर्ट करने में GHMC (ग्रेटर हैदराबाद म्युनिसिपल कॉरपोरेशन) को मुश्किलें हो रही हैं. जिन्हें जलाया गया, वो दो से तीन दिन पुराने शव थे.”

आरोप और जवाब जान लिए, अब फैक्ट पर बात

सरकारी अधिकारी ने औपचारिक-सा जवाब देकर पल्ला झाड़ लिया. लेकिन सवाल हैं, जिनका पूछा जाना ज़रूरी है.

पहले आंकड़ों पर बात करते हैं. तेलंगाना के हेल्थ मिनिस्टर हैं एतेला राजेंद्र. ट्विटर पर हर रात राज्य में कोरोना के हालात पर अपडेट डालते हैं. हम इन आंकड़ों पर गए. 21 जुलाई और उसके तीन दिन पहले तक तेलंगाना में कोरोना से कितनी मौतें हुई हैं, उन्हें जोड़ा. 21 जुलाई इसलिए, क्योंकि वीडियो 21 जुलाई की रात का बताया जा रहा है. और डॉ. रमेश रेड्डी के मुताबिक, जिन शवों का अंतिम संस्कार किया गया है, वो दो से तीन दिन पुराने हैं.

खैर, तेलंगाना के आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक-

– 17 जुलाई के दिन सात,
– 18 जुलाई को छह,
– 19 जुलाई को छह,
– 20 जुलाई को सात,
– 21 जुलाई को भी सात लोगों की कोरोना से मौत हुई थी.

इन सबको जोड़ा जाए, तो संख्या 33 होती है, जो कि 50 के आंकड़े से दूर ही है. यहां तो हमने एक दिन और बढ़ा दिया, आधिकारिक बयान पर जाते तो 17 जुलाई को शामिल नहीं करते, लेकिन कर लिया. खैर, इन आंकड़ों से सवाल आता है कि ये 17 शव कहां से आए?

17 And 18
17 और 18 जुलाई के आंकड़े.
19 And 20
19 और 20 जुलाई के आंकड़े.
21 July
21 जुलाई के आंकड़े.

और भी कई सवाल आते हैं मन में-

– क्या पूरे हैदराबाद में केवल एक ही श्मशान घाट है, जहां कोरोना मरीज़ों के शव जलाए जा रहे हैं?
– क्या जिन 50 शवों को जलाया गया, उनका परिवार नहीं था?
– ट्रांसपोर्ट की क्या दिक्कत है ऐसी? उसे हल करने के लिए कुछ क्यों नहीं किया गया?
– क्या कोरोना का इलाज पूरे तेलंगाना में केवल हैदराबाद में ही हो रहा है? और वो भी एक ही अस्पताल में?

इनके जवाब पाने के लिए हेल्थ मिनिस्टर एतेला राजेंद्र को हमने कॉल किया, कई दफा किया. लेकिन अफसोस, ट्वविटर पर एक्टिव रहने वाले मंत्रीजी लगता है अपने फोन से दूर रहते हैं. मुख्यमंत्री KCR से भी संपर्क करने की कोशिश की गई, बात नहीं हो सकी.


वीडियो देखें: कोरोना संदिग्ध ने मां के सामने तड़पते हुए दम तोड़ दिया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

'इक कुड़ी जिदा नां मुहब्बत' वाले शिव बटालवी ने बताया कि हम सब 'स्लो सुसाइड' के प्रोसेस में हैं

इन्होंने अपनी प्रेमिका के लिए जो 'इश्तेहार' लिखा, वो आज दुनिया गाती है

इस महीने कौन-कौन से फोन लॉन्च हुए, क्या-क्या नया आने वाला है

जुलाई में फ़ोन तो बरसाती मेढक की तरह फुदक रहे हैं!

वो इंडियन फिल्म स्टार्स, जो एक्टर से पहले डॉक्टर हैं

पीएचडी वाले डॉक्टर नहीं, प्रॉपर इलाज करने वाले डॉक्टर.

नेल्सन मंडेला के वो 10 कोट्स, जो समझ आ जाएं तो ज़िंदगी बन जाएगी

'अफ्रीका के गांधी' कहे जाते हैं नेल्सन मंडेला (18 जुलाई, 1918 – 5 दिसंबर, 2013)!

कोरोना की जिन वैक्सीनों ने उम्मीद जगाई है, वो अभी किस स्टेज में हैं?

कोरोना के थानोस को मारने के लिए वैक्सीन के एवेंजर्स का आना ज़रूरी है.

एमेज़ॉन और हॉटस्टार को धकेल नेटफ्लिक्स ने 17 ताबड़तोड़ फिल्म-वेब सीरीज़ की लाइन लगा दी

यहां आपको कॉमेडी, रोमैंस, ड्रामा, एक्शन, थ्रिलर सबकुछ मिलेगा.

ऑनलाइन रिलीज़ होने वाली इन 10 फिल्मों को कितने करोड़ रुपए मिले हैं, जानकर हैरान रह जाएंगे

रिलीज़ होने से पहले ही तमाम फ़िल्में फायदे में हैं मितरों... तमाम गुणा-गणित हमसे समझिए.

'सूरमा भोपाली' के अलावा जगदीप के वो 7 किरदार, जिन्होंने हंगामा मचा दिया था

शोले ने कल्ट आइकन बना दिया, लेकिन किरदार इनके सारे गजब थे.

सौरव गांगुली के वो पांच फैसले, जिन्होंने इंडियन क्रिकेट को हमेशा के लिए बदल दिया

जाने कितने प्लेयर्स और टीम इंडिया का एटिट्यूड बदलने वाले दादा.

वो 7 बॉलीवुड सुपरस्टार्स, जिनकी आखिरी फिल्में उनकी मौत के बाद रिलीज़ हुईं

सुशांत सिंह राजपूत की 'दिल बेचारा' से पहले इन दिग्गजों के साथ भी ऐसा हो चुका है.