Submit your post

Follow Us

ऐमब्रेन वेव नेक-बैंड इयरफ़ोन रिव्यू

ऐमब्रेन ने सितंबर में 1,999 रुपए की क़ीमत में नेक-बैंड स्टाइल वाला ऐमब्रेन वेव इयरफ़ोन लॉन्च किया. इस क़ीमत पर इसका सीधा-सीधा मुकाबला वनप्लस बुलेट्स वायरलेस Z से हो गया मगर फ़िर ऐमब्रेन ने वेव पर पैसे गिरा दिए. और कुछ इस तरह ये बोल्ट, रेडमी और नॉइस की टक्कर में आ गया.

इस वक़्त ऐमब्रेन वेव कंपनी की वेबसाइट पर 1,299 रुपए का मिल रहा है और फ्लिपकार्ट पर आप इसे 1,399 रुपए में ले सकते हैं. इसका हमने इसे एक महीना इस्तेमाल किया है और पेशे खिदमत है इसका रिव्यू.

Ambrane Wave Neckband Earphone Review

साउन्ड कैसा है?

सब बात बाद में, सबसे पहले साउन्ड की बात कर लेते हैं. आखिर में एक इयरफ़ोन में सबसे ज़्यादा मैटर तो यही चीज़ करती है. एक शब्द में ऐमब्रेन वेव की साउन्ड क्वॉलिटी को बोलें तो इसे बैलेन्स्ड (balanced) कह सकते हैं. न धमाकेदार और न ही बेकार. बस बैलेन्स्ड है ये. वैसे तो ज़्यादातर जगह पर बैलेन्स्ड साउन्ड ही पसंद किया जाता है मगर अपने देश में लोगों को भारी बेस वाले इयरफ़ोन पसंद हैं. अब ऐमब्रेन वेव के साउन्ड के बारे में थोड़ा डीटेल में बताते हैं.

Ambrane 2
ऐमब्रेन वेव नेक-बैंड वायरलेस इयरफ़ोन

वोकल्स जो होते हैं, यानी कि किसी जीते जागते इंसान के बोल, फ़िर चाहे वो गाने में गायक की आवाज़ हो या पॉडकास्ट, रेडियो वग़ैरह पर होस्ट की बकैती, सब बड़ा साफ़-साफ़ सुनाई पड़ता है.

ऐमब्रेन वेव की कमज़ोरी लो (low) फ्रीक्वेन्सी यानी कि झय्यम-झक्कड़ वाला बेस है. ऐसा नहीं है कि बेस सुनाई ही नहीं पड़ेगा. बेस है, गाने में सुनाई भी पड़ेगा और गाना सुनने में मज़ा भी आएगा. मगर इतना मजबूत नहीं है जितना अपने यहां लोगों को इयरफ़ोन में पसंद है. कार्डी B और ब्रूनो मार्स का “प्लीज़ मी” गाना सुनिए, अद्भुत. मगर कार्डी B के ही “वाप” वाला गाना इस इयरफ़ोन पर फ्लैट पड़ जाता है. इतना भारी बेस है इस गाने का कि ऐमब्रेन वेव हाथ खड़े कर देता है. इतनी चीज़ अच्छी है कि इस सब के बाद भी साउन्ड नहीं फटता, बस बेस बैकग्राउंड में खो जाता है.

अब बारी आती है मिड और हाई फ्रीक्वन्सी की. इनको तो ऐमब्रेन वेव बड़े तगड़े से पकड़ता है. ऋत्विज का “बरसो” सुनिए, मजा ही आ जाएगा. और रही बात वॉल्यूम की, ये एक दम ही कान-फाड़ है. मतलब कि इधर तो कोई शिकायत ही नहीं है. आवाज़ इतनी तेज़ हो सकती है कि रोड पर नाचती बारात के पास से भी निकल जाएंगे तो आपको अपने ही गाने सुनाई पड़ेंगे.

अच्छा क्या है?

Lt Ambrane 4
ऐमब्रेन वेव नेक-बैंड वायरलेस इयरफ़ोन

ऐमब्रेन वेव की नेक बैंड वाली डिजाइन काफ़ी सही है. वज़न समझिए कि है ही नहीं. न पूरी बॉडी में और न कान में घुसने वाली इयरटिप्स में. चाहे एक साथ दो-दो मूवी देख डालो बैक टू बैक या फ़िर पूरा दिन गले में लटकाए घूमते रहो, वज़न पता ही नहीं चलता. गर्दन के पीछे जाना वाला हिस्सा काफ़ी लचीला है तो इयरफ़ोन पहने-पहने लेट भी जाने पर टूटने का कोई डर नहीं है. अगर गलती से पहने-पहने सो भी जाएंगे तो सुबह तक सही सलामत मिलने की उम्मीद की जा सकती है.

इयरटिप्स का शेप कान के हिसाब से बना है जिससे ये अंदर ही फंसा रहता है; बार-बार फुदक कर बाहर नहीं निकलता. दोनों इयरटिप्स के पिछवाड़ों में मैगनेट लगा हुआ है, जिससे ये कान में निकालने पर आपस में चिपक जाते हैं और इधर-उधर गिरते नहीं. लेकिन ये चीज़ तो लगभग हर नेकबैंड स्टाइल के इयरफ़ोन में देखने को मिल जाती है. फ़िर ऐमब्रेन वेव में ऐसा क्या खास है?

असल में ये मैगनेट सिस्टम एक और काम करता है. अगर मूवी देखते टाइम या गाना सुनते वक़्त आप इयरटिप्स को कान से निकालकर आपस में मैगनेट चिपका देंगे तो मूवी या गाना पॉज़ हो जाएगा. और इयरटिप्स को अलग करने पर रोकी हुई चीज़ फ़िर से चल पड़ेगी.

Lt Ambrane 7
ऐमब्रेन वेव नेक-बैंड वायरलेस इयरफ़ोन

सेम यही चीज़ कॉलिंग पर भी लागू होती है. मान लीजिए कि आप ने इयरटिप्स को मैगनेट से चिपकाकर गले में लटका रखा है. ऐसे में अगर आपको कोई कॉल आती है तो बस इयरटिप्स को अलग करके कान में लगा लीजिए. कॉल अपने आप रिसीव हो जाएगी. कॉल कट करने के लिए इयरटिप्स के मैगनेट आपस में जोड़ दीजिए, बस.

वैसे कॉल उठाने/काटने या गाना प्ले/पॉज़ करने का काम इयरफ़ोन में दिए हुए बटन की मदद से भी किया जा सकता है. और खाली फोकट में इस बटन को दबाए रखने पर गूगल असिस्टेन्ट और सीरी जग पड़ते हैं. इयरफ़ोन के वॉल्यूम कंट्रोल वाले बटन तो खूब उभरे हुए बने हैं जिसकी वजह से टटोल कर वॉल्यूम कम-ज़्यादा करना और अगला गाना बजाना काफ़ी आसान पड़ता है.

कॉल करते टाइम इयरफ़ोन के माइक वाले हिस्से को मुंह में तो कतई नहीं घुसाना पड़ता. आराम से बात हो जाती है. बिना किसी दिक्कत के. और हां ये IPX4 रेटेड भी है, यानी कि पसीने-वसीने से खराब नहीं होगा.

Lt Ambrane 5
ऐमब्रेन वेव नेक-बैंड वायरलेस इयरफ़ोन

ऐमब्रेन वाले कहते हैं कि वेव इयरफ़ोन की बैटरी 10 घंटे चल सकती है. हमारी टेस्टिंग में 8 घंटे तो आराम से चल गई, जो एक बढ़िया बैकअप है. मतलब कि यमुना-एक्स्प्रेसवे से दिल्ली से लखनऊ चले जाओ मगर इयरफ़ोन दम नहीं तोड़ेगा. रही बात चार्जिंग की, कंपनी का कहना है कि ऐमब्रेन वेव 2 घंटे में चार्ज हो जाता है. हम मिनट-मिनट तक तो नहीं नाप पाए, मगर चार्ज पर लगाने के 3 घंटे के अंदर ही हमें ये पूरा चार्ज मिला.

निराश करने वाली चीज़ें

ऐमब्रेन वेव की डिजाइन तो बढ़िया है, मगर नेक बैंड के दोनों सिरों पर जो प्लास्टिक वाला हिस्सा लगा है, न वो थोड़ी सस्ती-क्वॉलिटी वाला मालूम पड़ता है. ऐमब्रेन थोड़ा अच्छा मटीरियल इस्तेमाल कर सकता था या फ़िर इस पर ही बढ़िया पॉलिश वग़ैरह लगा सकता था.

अगर आप वनप्लस बुलेट Z इयरफ़ोन देखेंगे, तो आपको इन दोनों की फिनिशिंग में बहुत बड़ा फ़र्क देखने को मिलेगा. इसके साथ ही ऐमब्रेन वेव के इयरटिप्स वाला तार है तो ठीक-ठाक, लेकिन ब्रेडेड नहीं है. ब्रेडेड वायर ज़्यादा मज़बूत होता है.

Lt Ambrane 6
ऐमब्रेन वेव नेक-बैंड वायरलेस इयरफ़ोन

ऐमब्रेन वेव के दाएं और बाएं सिरे एक जैसे लगते हैं इसलिए कई बार ऐसा होता है कि आप गलती से इसे उलटी तरफ़ से पहन लेते हैं. याद रखना पड़ता है कि बटन वाला हिस्सा दाईं तरफ़ करना है और जिस हिस्से पर ऐमब्रेन लिखा है उसे बाईं तरफ़. अगर नेकबैंड के दोनों सिरों पर L और R की बड़ी सी मार्किंग होती तो अच्छा रहता.

ऐमब्रेन वेव में चार्जिंग के लिए एक माइक्रो-USB पोर्ट दिया गया है. इयरफ़ोन के डब्बे में केबल तो मिलती है मगर चार्ज करने के टाइम पर ढूंढनी पड़ जाती है. अब टाइम आ गया है कि सभी कंपनियां अपने सस्ते और महंगे वायरलेस इयरफ़ोन में चार्जिंग के लिए टाइप-C पोर्ट दिया करें.

ऐमब्रेन वेव रिव्यू: नतीजा क्या निकलता है?

Lt Ambrane 3
ऐमब्रेन वेव नेक-बैंड वायरलेस इयरफ़ोन

ऐमब्रेन वेव एक अच्छा इयरफ़ोन है. लेकिन अगर कोई हमसे पूछे कि 2,000 रुपए में बढ़िया नेकबैंड स्टाइल वाला इयरफ़ोन बताओ तो हमारी पसंद वनप्लस बुलेट्स वायरलेस Z पर ही आकर रुकेगी. वो इसलिए क्योंकि ऐमब्रेन वेव में जो भी दो-तीन कमियां हैं वो वनप्लस के इयरफ़ोन में मौजूद नहीं हैं.

लेकिन अगर आप 1,500 रुपए के अंदर बढ़िया इयरफ़ोन चाहते हैं तो ऐमब्रेन वेव बढ़िया ऑप्शन है. 1,299 और 1,399 रुपए की क़ीमत पर ऐमब्रेन वेव को बिना ज़्यादा सोचे लिया जा सकता है. मगर ध्यान रहे कि इसका साउन्ड सिग्नेचर भारी बेस वाला नहीं, बैलेन्स्ड है.


वीडियो: आईफ़ोन 12 प्रो मैक्स के कैमरे ने कम कीमत वाले एंड्राइड फोन के सामने घुटने टेक दिए!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

बड़ी बैटरी वाला फ़ोन चाहिए? ये हैं 7 बेहतरीन ऑप्शन

बड़ी बैटरी वाला फ़ोन चाहिए? ये हैं 7 बेहतरीन ऑप्शन

हर बजट के फ़ोन हैं.

सोनिया गांधी के बारे में जानना है तो ये पांच किताबें आपकी आंखें खोल देंगी

सोनिया गांधी के बारे में जानना है तो ये पांच किताबें आपकी आंखें खोल देंगी

इनमें से कुछ किताबों पर जमकर बवाल भी मचा था.

ये हैं साल 2020 के सबसे धुआंधार आईफोन, आईपैड ऐप्स और गेम्स!

ये हैं साल 2020 के सबसे धुआंधार आईफोन, आईपैड ऐप्स और गेम्स!

सारी ऐप्स पर कोरोना का रंग चढ़ा है!

इंडियन नेवी की ये बातें जान लेंगे, तो फख्र से सीना चौड़ा हो जाएगा

इंडियन नेवी की ये बातें जान लेंगे, तो फख्र से सीना चौड़ा हो जाएगा

भारतीय नौसेना के आदर्श वाक्य 'शं नो वरुणः' का मतलब पता है आपको?

दिलजीत दोसांझ के बारे में इनमें से कितनी बातें आप पहले से जानते हैं, चेक कर लो

दिलजीत दोसांझ के बारे में इनमें से कितनी बातें आप पहले से जानते हैं, चेक कर लो

हमने उनके करीबियों से पता की हैं.

नवंबर में कौन-कौन से फ़ोन लॉन्च हुए और इनमें सबसे बढ़िया कौन-सा है, जान लीजिए

नवंबर में कौन-कौन से फ़ोन लॉन्च हुए और इनमें सबसे बढ़िया कौन-सा है, जान लीजिए

पिछले महीने देश में कुल 10 स्मार्टफ़ोन लॉन्च हुए हैं.

जिमी शेरगिल: वो लड़का जो चॉकलेट बॉय से कब दबंग बन गया, पता ही नहीं चला

जिमी शेरगिल: वो लड़का जो चॉकलेट बॉय से कब दबंग बन गया, पता ही नहीं चला

इन 5 फिल्मों से जानिए कैसे दबंगई आती गई.

चार्जर खराब हो गया? ये हैं सस्ते और टिकाऊ एंड्रॉयड + आईफोन चार्जर और केबल

चार्जर खराब हो गया? ये हैं सस्ते और टिकाऊ एंड्रॉयड + आईफोन चार्जर और केबल

ऐपल की केबल 1900 रुपए की, दूसरे ब्रांड की 349 रुपए की.

अस्थाना देखा, वायरस देखा, खुराना देखा पर बोमन की खींची इन 60 फोटो को न देखा तो क्या देखा!

अस्थाना देखा, वायरस देखा, खुराना देखा पर बोमन की खींची इन 60 फोटो को न देखा तो क्या देखा!

हैप्पी बड्‌डे बोमन ईरानी.

पुनीत इस्सर और अमिताभ के बीच हुए हादसे के बारे में इस एक्ट्रेस को पहले पता चल गया था!

पुनीत इस्सर और अमिताभ के बीच हुए हादसे के बारे में इस एक्ट्रेस को पहले पता चल गया था!

राजीव गांधी ने उस समय अमिताभ के साथ होने के लिए अपना यूएस ट्रिप बीच में ही छोड़ दिया था.