Submit your post

Follow Us

अक्षय कुमार बनेंगे वो राजपूत राजा जिसे दुश्मन कैद करके ले गया आंखें फोड़ दी, फिर भी मारा गया

इन 12 बातों में इस पीरियड फिल्म के बारे में सब जानिए.

18.30 K
शेयर्स

1. अक्षय कुमार इसमें राजपूत राजा पृथ्वीराज चौहान का रोल निभाने जा रहे हैं. उन्हें दिल्ली का अंतिम हिंदू राजा कहा जाता है. पिछले कई दिनों से न्यूज़ रिपोर्ट्स के हवाले से ये खबर चल रही थी कि अक्षय ने इस फिल्म में काम करने के लिए हां कर दी है. अब बात एक कदम आगे बढ़ चुकी है. अपने 52वें जन्मदिन यानी 9 सितंबर, 2019 को अक्षय कुमार ने ऑफिशियली अनाउंस कर दिया है कि वो ‘पृथ्वीराज’ नाम की फिल्म में काम करने जा रहे हैं. और इस बात का ऐलान हुआ फिल्म के पहले टीज़र के साथ. वो टीज़र आप यहां देख सकते हैं:

2. बड़े स्केल वाले इस पीरियड ड्रामा में सन् 1149 से 1192 तक के काल को फिर से रीक्रिएट किया जा सकता है जो पृथ्वीराज चौहान के जन्म से मृत्यु तक के वर्ष हैं.

3. फिल्म को डायरेक्ट करेंगे डॉ. चंद्रप्रकाश द्विवेदी. दूरदर्शन पर 1991 में शुरू हुई टीवी सीरीज ‘चाणक्य’ उन्होंने ही लिखी, डायरेक्ट की और उसमें चाणक्य का लीड रोल किया था. उन्होंने भारत-पाकिस्तान के बंटवारे पर ‘पिंजर’ (2003) जैसी फिल्म बनाई थी. काशीनाथ सिंह के उपन्यास ‘काशी का अस्सी’ पर वे ‘मोहल्ला अस्सी’ नाम की फिल्म बना चुके हैं जिसमें सनी देओल लीड रोल में थे. लेकिन कई बरस से ये फिल्म तैयार होने के बावजूद रिलीज नहीं हो पाई थी. और फाइनली हुआ कि ये कि फिल्म रिलीज़ से पहले ही लीक हो गई.

डॉ. चंद्रप्रकाश द्विवेदी जब बीते साल नवंबर में दी लल्लनटॉप अड्डे पर पहुंचे थे.
डॉ. चंद्रप्रकाश द्विवेदी जब बीते साल नवंबर में दी लल्लनटॉप अड्डे पर पहुंचे थे.

4. डॉ. द्विवेदी इतिहास के अच्छे जानकार है. उन्होंने उपनिषदों पर टीवी सीरीज बनाई है, महाभारत पर शो बनाया है. महाभारत में कर्ण के पात्र पर मृत्युंजय नाम से टीवी शो बनाया है. पृथ्वीराज चौहान की कहानी भी उन्होंने काफी टाइम से सोच रखी थी. कहा जाता है कि 4-5 साल से वे इस फिल्म को बनाने पर काम कर रहे थे.

5. इस कहानी को प्रोड्यूस करेंगे यशराज फिल्म्स के आदित्य चोपड़ा जिन्होंने ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’ (1995) जैसी फिल्म डायरेक्ट की थी. उन्होंने बहुत सारी सफल फिल्में प्रोड्यूस की हैं जैसे ‘बैंड बाजा बारात’, ‘एक था टाइगर’, ‘धूम सीरीज’, ‘चक दे इंडिया’, ‘सुल्तान’, ‘फैन’ और ‘टाइगर जिंदा है’. 2018 में आमिर खान और अमिताभ बच्चन को लेकर बिग बजट फिल्म ‘ठग्स ऑफ हिंदुस्तान’ बनाई थी, जो पिट गई. आने वाले दिनों में YRF की ऋतिक रौशन और टाइगर श्रॉफ की ‘वॉर’ रिलीज़ होने वाली है.

6. पृथ्वीराज चौहान पर फिल्म की शूटिंग 2020 में शुरू हो सकती है. हालांकि ये शुरुआती जानकारी है. बहुत संभव है कि फिल्म 2019 के आखिर तक भी फ्लोर पर चली जाए. फिलहाल आदित्य चोपड़ा अपने बैनर की एक और बड़ी पीरियड फिल्म ‘शमशेरा’ पर काम कर रहे हैं. इसमें रणबीर कपूर डाकू बने हैं.

Read: रणबीर कपूर की नई फिल्म ‘शमशेरा’ का टीज़रः रौंगटे खड़े हो जाते हैं!

7. अक्षय कुमार ही पृथ्वीराज चौहान का रोल निभाने के लिए डायरेक्टर द्विवेदी की एकमात्र पसंद रहे हैं, ऐसा एक न्यूज़ में दावा किया गया है. एक अन्य रिपोर्ट के मुताबिक रणवीर सिंह ने नाम पर भी चर्चा की गई थी क्योंकि हाल ही में उन्होंने अपनी पीरियड फिल्मों में बाजीराव पेशवा और अलाउद्दीन खिलजी के रोल बहुत अच्छे से निभाए हैं.

पृथ्वीराज चौहान और संयोगिता का एक चित्र.
पृथ्वीराज चौहान और संयोगिता का एक चित्र.

8. चौहान वंश के राजा पृथ्वीराज की वीरता की कहानियां बरसों-बरस से सुनाई जा रही हैं. वे अजमेर के महाराज के बेटे थे. उनके नाना दिल्ली के शासक थे और उनको अपना उत्तराधिकारी बनाया. नाना गुजरे तो 11 बरस के पृथ्वीराज को दिल्ली का राजा बनाया गया. पृथ्वीराज की कहानी फिल्म का रूप लेगी तो उसमें कुछ लोग ज़रूर आएंगे. जैसे राजकुमारी संयोगिता. वो कन्नौज के राजा जयचंद राठौड़ की बेटी थीं. उन्होंने पृथ्वीराज का चित्र देखा था और पृथ्वीराज ने उनका. और दोनों ने मन ही मन एक दूसरे को जीवनसाथी मान लिया. लेकिन जयचंद की पृथ्वीराज से कोई नाराजगी थी. उन्होंने बेटी का स्वयंवर आयोजित किया तो दूर-दूर से राजकुमारों को बुलाया लेकिन पृथ्वीराज को नहीं. और ऊपर से उनकी मूर्ति बनवाकर द्वारपाल के स्थान पर लगवा दी. संयोगिता ने भी किसी को नहीं चुना और मूर्ति को ही माला पहनाने लगीं, लेकिन तभी पृथ्वीराज वहां आ गए और माला उन्हें पहना दी. इससे पहले कि जयचंद कुछ करते पृथ्वीराज संयोगिता को लेकर चले गए.

9. जयचंद को इस बात का इतना गुस्सा था कि उन्होंने बाहरी आक्रांता मोहम्मद गोरी का साथ दिया. जब गोरी ने पृथ्वीराज चौहान पर आक्रमण किया तो वो उसके साथ जा मिला. देश पर आक्रमण होने के बावजूद राजपूत राजाओं ने पृथ्वीराज की मदद नहीं की. ऐसे में वे अकेले अपनी सेना लेकर लड़ने गए. दिल्ली से कुछ दूर तराइन (अब के हरियाणा में) में गोरी और पृथ्वीराज में युद्ध हुआ. यहां दो युद्ध हुए. पहले में पृथ्वीराज ने गोरी को हरा दिया लेकिन रहम दिखाते हुए उसे जिंदा छोड़ दिया. लेकिन दूसरे युद्ध में गोरी जीत गया और पृथ्वीराज को बंदी बना लिया. उन्हें अपने साथ अफगानिस्तान ले गया. वहां लोहे के गर्म सरियों से उनकी आंखें फोड़ दीं. लेकिन आंखें न होने के बावजूद पृथ्वीराज ने गोरी को कैद में रहते हुए भी मार दिया. कहानी में एक और महत्वपूर्ण किरदार है उनका दोस्त चंदबरदाई. जो पृथ्वीराज के बचपन के दोस्त थे और 1192 में अफगानिस्तान में मृत्यु तक उनके साथ थे. उन्होंने हमेशा पृथ्वीराज का साथ दिया. अंत में चंदबरदाई के शब्दों से ही पृथ्वीराज को पता चला कि गोरी कहां बैठा है और उन्होंने वहां पर तीर चलाकर उसे मार दिया. बाद में दोनों ने एक दूसरे का वध कर दिया ताकि दुश्मन के हाथों में न रहें.

मोहम्मद गोरी और पृथ्वीराज के चित्र. बीच में वो दृश्य नजर आ रहा है जहां गोरी के दरबार में पृथ्वीराज चौहान आंखें गोद देने के बावजूद निशाना लगा रहे हैं.
मोहम्मद गोरी और पृथ्वीराज के चित्र. बीच में वो दृश्य नजर आ रहा है जहां गोरी के दरबार में पृथ्वीराज चौहान आंखें गोद देने के बावजूद निशाना लगा रहे हैं.

10. वैसे तो फिल्म में यही चार-पांच किरदार होने हैं. लेकिन ऐसा भी जानने में आया है कि डायरेक्टर चंद्रप्रकाश द्विवेदी पृथ्वीराज की कहानी में ऐसे पांच-छह पात्रों को भी इंट्रोड्यूस करेंगे जिनका ज़िक्र उतना नहीं होता जितना होना चाहिए. अक्षय के अलावा बाकी कलाकारों की कास्टिंग अब की जाएगी.

11. अक्षय कुमार ने इससे पहले 2008 में यशराज बैनर की कोई फिल्म की थी. वो फिल्म थी ‘टशन’ जिसमें उनके साथ करीना कपूर, सैफ अली खान और अनिल कपूर थे और वो फिल्म असफल रही थी. इसके अलावा वो शाहरुख, माधुरी और करिश्मा कपूर के साथ फिल्म ‘दिल तो पागल है’ (1997) में भी काम कर चुके हैं. अब 10-11 साल बाद वे फिर आदित्य चोपड़ा के बैनर के साथ लौटे हैं.

12. पृथ्वीराज चौहान से पहले अक्षय कुमार ‘केसरी’ में एक रियल किरदार निभाते देखे गए थे. डायरेक्टर अनुराग सिंह की इस फिल्म में अक्षय ने हवलदार ईसर सिंह का रोल निभाया था. जो उन 21 सिख सिपाहियों में से एक थे जिन्होंने कथित रूप से 1897 में सारागढ़ी के युद्ध में 10 हज़ार अफगान लड़ाकों का सामना किया था.  ‘पृथ्वीराज’ अगले साल यानी 2020 दीवाली के मौके पर रिलीज़ होगी.

Also Read:
रणवीर शौरी की ज़ोरदार फिल्म ‘हल्का’ की 12 बातें जो काफी अवॉर्ड जीत रही है
क्यों अमिताभ बच्चन की इस फिल्म को लेकर आपको बहुत एक्साइटेड होना चाहिए?
अमिताभ बच्चन की ये अगली रिवेंज थ्रिलर इतनी अच्छी लगी कि शाहरुख खान पैसे लगा रहे हैं
सलमान के 22 बयानः जो आपके दिमाग़ के परखच्चे उड़ा देंगे!
हीरानी की फिल्म ‘संजू’ का ट्रेलर बार-बार देखने वाले भी ये बातें नहीं पकड़ पाए
अमिताभ बच्चन के रहस्यमय लुक वाली फिल्म ‘शूबाइट’ की पूरी कहानी
इस फिल्म को बनाने के दौरान मौत शाहरुख ख़ान को छूकर निकली थी!
अजय देवगन के 38 मनोरंजक किस्सेः कैसे वो पैदा होने से पहले ही हीरो बन चुके थे!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

फिल्म रिव्यू: छिछोरे

उम्मीद से ज़्यादा उम्मीद पर खरी उतरने वाली फिल्म.

ट्रेलर रिव्यू झलकीः बाल मजदूरी पर बनी ये फिल्म समय निकालकर देखनी ही चाहिए

शहर लाकर मजदूरी में धकेले गए भाई को ढूंढ़ती बच्ची की कहानी.

जब अपना स्कूल बचाने के लिए बच्चों को पूरे गांव से लड़ना पड़ा

क्या उनका स्कूल बच सका?

फिल्म रिव्यू: साहो

सह सको तो सहो.

संजय दत्त की अगली फिल्म, जो उन्हें सुपरस्टार वाला खोया रुतबा वापस दिला सकती है

'प्रस्थानम' ट्रेलर फिल्म के सफल होने वाली बात पर जोरदार मुहर लगा रही है.

सेक्रेड गेम्स 2: रिव्यू

त्रिवेदी के बाद अब 'साल का सवाल', क्या अगला सीज़न भी आएगा?

फिल्म रिव्यू: बाटला हाउस

असल घटना से प्रेरित होते हुए भी असलियत के बहुत करीब नहीं है. लेकिन बहुत फर्जी होने की शिकायत भी इस फिल्म से नहीं की जा सकती.

फिल्म रिव्यू: मिशन मंगल

फील गुड कराने वाली फिल्म.

दीपक डोबरियाल की एक शब्दशः स्पीचलेस कर देने वाली फिल्म: 'बाबा'

दीपक ने इस फिल्म में अपनी एक्टिंग का एवरेस्ट छू लिया है.

फिल्म रिव्यू: जबरिया जोड़ी

ये फिल्म कंफ्यूज़ावस्था में रहती है कि इसे सोशल मैसेज देना है कि लव स्टोरी दिखानी है.