Submit your post

Follow Us

जडेजा की पत्नी के BJP में शामिल होने के महीने भर बाद ही पिता और बहन कांग्रेस में चले गए

4.46 K
शेयर्स

क्रिकेटर रवींद्र जडेजा की पत्नी के बीजेपी में शामिल होने के लगभग एक महीने बाद पिता और बहन ने कांग्रेस का दामन थाम लिया है. पाटीदार कोटे के नेता हार्दिक पटेल की मौजूदगी में पिता अनिरुद्ध सिंह और बहन नयनाबा ने 14 अप्रैल को कांग्रेस का हाथ थाम लिया. कांग्रेस जॉइंन करने के बाद नयनाबा जडेजा ने कहा कि बीजेपी ने किसानों, महिलाओं और युवाओं से जो वादा किया था उसे नहीं निभा पाई.

एक महीने पहले बीजेपी में शामिल हुई थी पत्नी
इससे पहले क्रिकेटर रवींद्र जडेजा की पत्नी 3 मार्च को बीजेपी में शामिल हुईं थीं. रिवाबा गुजरात में राजपूत करणी सेना की महिला मोर्चा से  जुड़ी रही हैं. यहां के क्षत्रिय समुदायों की मदद से उन्होंने बीजेपी ज्वॉइन की थी. करणी सेना महिला विंग का अध्यक्ष बनने के लगभग 5 महीने बाद रिवाबा ने बीजेपी जॉइन की थी. करणी सेना राइटविंग ऑर्गनाइजेशन है. इसने हिन्दी फिल्म पद्मावत का विरोध किया था.

2016 में हुई थी शादी
रिवाबा ने 2016 में रवींद्र जडेजा से शादी की थी. दोनों की एक बच्ची है. बीजेपी में शामिल होते वक्त उन्होंने कहा था कि पीएम मोदी के व्यक्तित्व से प्रभावित होकर वह पार्टी में आई हैं. उन्होंने कहा था कि पीएम ने देश की सुरक्षा से कभी समझौता नहीं किया. चाहे बात सर्जिकल स्ट्राइक की हो या विंग कमांडर कैप्टर अभिनंदन को पाकिस्तान से वापस लाने की बात हो. पीएम मोदी ने पूरी दुनिया में देश का नाम रोशन किया है.

रवींद्र जडेजा के क्रिकेटर बनने के सफर में पिता और बहन का अहम रोल रहा है. मां की मौत के बाद नयनाबा जडेजा ने पूरे परिवार की जिम्मेदारी उठाई. मीडिया के सामने जडेजा खुद इस बात को मान चुके हैं. नयनाबा एक रेस्टोरेंट चलाती हैं. 2016 में इसमें चोरी हुई थी.

ये जडेजा की शादी की तस्वीर है. जिसमें पूरा परिवार दिख रहा है.
ये जडेजा की शादी की तस्वीर है. जिसमें पूरा परिवार दिख रहा है.

रविंद्र जडेजा की पत्नी बीजेपी के लिए वोट मांगती दिख सकती हैं. वहीं जडेजा के पिता और बहन कांग्रेस के लिए प्रचार करते नजर आ सकते हैं. 2019 के लोकसभा चुनाव में ऐसे कई मामले देखने को मिल रहे हैं. जहां एक ही परिवार के लोग अलग-अलग पार्टी से चुनाव लड़ रहे हैं या अलग-अलग पार्टी जॉइन की है. उत्तर प्रदेश में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल यादव अलग पार्टी बनाकर चुनावी मैदान में हैं. यूपी में ही केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल ने बीजेपी से गठबंधन किया है वहीं उनकी मां की कांग्रेस की ओर से चुनाव लड़ रही हैं. महाराष्ट्र में कांग्रेस के सीनियर नेता राधाकृष्ण लिखे पाटिल के बेटे सुजय पाटिल बीजेपी के टिकट पर अहमदनगर सीट से चुनाव लड़ रहे हैं.


मथुरा में हेमा मालिनी और नरेंद्र मोदी के नाम पर क्यों भिड़े चाय और पान वाला

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गुजरात चुनाव 2017

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

एक-एक वोट कितना कीमती होता है, कोई इन प्रत्याशियों से पूछे.

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

बहुमत हासिल करने के बावजूद चुनाव के नतीजों से बीजेपी अंदर ही अंदर सकते में है.

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

अरविंद केजरीवाल का गुजरात में जादू चला या नहीं?

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

चुनाव के नतीजे आने के बाद भी लिचड़ई नहीं छोड़ रहे.

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इन लोगों ने थोड़ी मेहनत और की होती, तो ये गुजरात की विधानसभा में बैठने की तैयारी कर रहे होते.

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की क्रेडिबिलिटी पर ही सवाल खड़े कर दिए.

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

इनके बारे में कांग्रेस पार्टी ने बड़े-बड़े प्लान बनाए होंगे.

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

इनको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभाएं और तमाम टोटके नहीं जिता सके.

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

दोनों प्रदेशों में भगवा लहराया मगर गुजरात की जीत पर भावुक दिखे पीएम.

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

वाघेला ने इस सीट पर एक निर्दलीय प्रतायशी को वॉकओवर दिया था.