Submit your post

Follow Us

चित्रकेतु को मिली शिव-पार्वती पर कमेंट की बुरी सजा

बहुत समय पहले की बात है. राजा चित्रकेतु की रानियां थीं एक करोड़, पर बच्चा एकौ नहीं. राजा बहुत उदास रहता था. एक दिन अंगिरा नाम के ऋषि उनके महल में आए और चेहरा देखकर सारी प्रॉब्लम समझ गए. उन्होंने उनकी पहली पत्नी कृतद्युति को प्रसाद दिया और जल्द ही महल में सुंदर से लल्ले की किलकारियां गूंजने लगीं.

इससे हुआ यह कि राजा का कृतद्युति के लिए खोया हुआ प्यार वापस आ गया जिससे दूसरी रानियों को जलन होने लगी. जलन की मारी रानियों ने छोटे से से बच्चे को ज़हर दे दिया. सबको पहले लगा कि मुन्ना सोया हुआ है, पर सच सामने आते ही राजा और रानी को बहुत शॉक लगा.

रानी का रो-रोकर बुरा हाल हो गया और राजा का दिमाग सटकने लगा. तब ऋषि अंगिरा और नारद जी प्रकट हुए. पहले तो उन्होंने चित्रकेतु को प्रेम से समझाया. फिर उन्होंने बच्चे की आत्मा को बुलाकर उससे रिक्वेस्ट की कि वह शरीर में वापस आ जाए. आत्मा ने कहा,हम इंसान थोड़े ही हैं कि लोगों से अटैचमेंट हो जाए. हम भला क्यों वापस आएं? और हो गई आत्मा छू.

यह देख चित्रकेतु का मोह टूटा और वो तपस्या करने लगे. भगवान ने खुश होकर उनको थमाया वीजा-पासपोर्ट और बोले कि मृत्युलोक के अलावा भी तुम जहां चाहो, घूम सकते हो. घूमते हुए चित्रकेतु पहुंचे शंकर जी के पास. वहां उन्होंने देखा कि शंकर जी बड़े प्यार से पार्वती को गले लगाए बैठे हैं.

यह देख चित्रकेतु ने कुछ ऐसे रिमार्क्स किए कि पार्वती जी आहत हो गईं. उन्होंने चित्रकेतु को शाप दिया कि वो अपने अगले जन्म में नीच और अधर्मी बनकर पैदा होगा. इसीलिए चित्रकेतु अगले जन्म में वृत्रासुर बनकर पैदा हुआ. इसी वृत्रासुर का बाद में इंद्र से युद्ध हुआ और उसने उन्हें ऐसी टफ फाइट दी कि सब चकित रह गए.

(श्रीमद्भगवत महापुराण)

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

QUIZ: देश के सबसे महान स्पोर्टसमैन को कितना जानते हैं आप?

आज इस जादूगर की बरसी है.

चाचा शरद पवार ने ये बातें समझी होती तो शायद भतीजे अजित पवार धोखा नहीं देते

शुरुआत 2004 से हुई थी, 2019 आते-आते बात यहां तक पहुंच गई.

रिव्यू पिटीशन क्या होता है? कौन, क्यों, कब दाखिल कर सकता है?

अयोध्या पर फैसले के खिलाफ ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड रिव्यू पिटीशन दायर करने जा रहा है.

इन नौ सवालों का जवाब दे दिया, तब मानेंगे आप ऐश्वर्या के सच्चे फैन हैं

कुछ ऐसी बातें, जो शायद आप नहीं जानते होंगे.

अमिताभ बच्चन तो ठीक हैं, दादा साहेब फाल्के के बारे में कितना जानते हो?

खुद पर है विश्वास तो आ जाओ मैदान में.

‘ताई तो कहती है, ऐसी लंबी-लंबी अंगुलियां चुडै़ल की होती हैं’

एक कहानी रोज़ में आज पढ़िए शिवानी की चन्नी.

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो कितना जानते हो उनको

मितरों! अच्छे नंबर चइये कि नइ चइये?