Submit your post

Follow Us

हिमाचल के 3 पॉलिटिकल किस्से, जो आपको किसी किताब-मैगजीन में नहीं मिलेंगे

हमें ये किस्से सुनाए हिमाचल दस्तक के मुख्य संपादक हेमंत कुमार ने, जो 1998 से सूबे की पॉलिटिक्स कवर कर रहे हैं. उन्हें शुक्रिया.

#1. माने गए हरिदास

यशवंत सिंह परमार हिमाचल प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री थे. उनकी सरकार में मंत्री थे हरिदास. डिग्री के लिहाज से ज्यादा पढ़े-लिखे नहीं थे, मगर लोगों और हालात की गजब समझ. फाइल पर सिर्फ दस्तखत नहीं करते थे. पूरी बात लिखते थे. अगर राजी होते थे, तो लिखते थे, ‘मान गया हरिदास’. अगर असहमत हैं, तो लिखते थे, ‘नहीं मानता हरिदास’.

हरिदास को पता चला कि बिलासपुर और उसके आसपास के इलाकों की मिट्टी कुछ खास है. वो उसका एक ढेला लेकर विधानसभा पहुंचे. बोले, ‘इसकी जांच हो, इसका बेहतर व्यावसायिक इस्तेमाल हो सकता है’. कई लोगों ने खिल्ली उड़ाई. बाद में मिट्टी की इसी खासियत के चलते यहां कई बड़े सीमेंट प्लांट लगे.

इंदिरा गांधी के साथ परमार (बाएं)
इंदिरा गांधी के साथ परमार (बाएं)

#2. जब आनंद शर्मा का कुर्ता फटा

कांग्रेस में वीरभद्र का दौर जोरों पर था. मगर पंडित सुखराम और पूर्व मुख्यमंत्री ठाकुर रामलाल वापसी के लिए लाख कोशिशें कर रहे थे. साल था 1997. इस बरस तक आते-आते पंडित सुखराम अपनी पार्टी हिमाचल विकास कांग्रेस बना चुके थे. रामलाल कभी रूठते, कभी मान जाते. फिर उन्होंने ऐलान किया कि वो अप्रत्यक्ष ढंग से बगावत करेंगे. बोले कि ‘हिमाचल प्रदेश के प्रवेश द्वार परवाणू में किसान सभा करूंगा’. मगर परवाणू में किसान कहां से आते.

वीरभद्र सिंह (बाएं) और सुखराम (दाएं)
वीरभद्र सिंह (बाएं) और सुखराम (दाएं)

रामलाल ने अपने इलाके जुब्बल कोटखाई और सोलन से किसानों को न्योता भेजा. खुद भी पहुंचे. उनसे पहले आनंद शर्मा टैंपो हाई कर रहे थे. मगर यहां पर उनका इंतजार पत्रकारों के अलावा वीरभद्र खेमे के लोग भी कर रहे थे. सत्याग्रह सभा तो बाद में होती, आपस में ही जूतमपैजार शुरू हो गई. रामलाल को कुछ नहीं हुआ, मगर आनंद शर्मा बुरी तरह घिर गए. कपड़े फटे और घायल होकर चंडीगढ़ के PGI पहुंच गए. पत्रकार भी चोटिल हो गए और उन्होंने मौके पर ही धरना दे दिया.

आनंद शर्मा
आनंद शर्मा

#3. हिमाचल की राजनीतिक रिश्तेदारियों का सिलसिला

हिमाचल में सेब का पौधा लेकर आए सैमुअल स्टोक्स. यहीं बस गए. नाम हो गया सत्यानंद स्टोक्स. उनकी बेटी थीं सत्यवती. पंजाब में ब्याहीं. मगर कुछ ही बरसों में पति की मौत हो गई. कांग्रेस की सियासत में सक्रिय हो गईं. फिर पंजाब का वो हिस्सा हिमाचल में जुड़ गया. शिमला से सियासत करने लगीं. राज्यसभा भी पहुंचीं. यहीं से उनकी हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री यशवंत सिंह परमार के साथ अंतरंगता हुई. कई बरस बाद दोनों ने शादी कर ली. यशवंत सिंह के आखिरी दिन सत्यवती डांग के साथ ही बीते.

सत्यानंद स्टोक्स
सत्यानंद स्टोक्स

उधर सत्यवती डांग की भाभी विद्या स्टोक्स भी कांग्रेस में खूब सक्रिय रहीं. सोनिया गांधी की बेहद खास. 2003 में तो ऐसा माहौल बन गया था कि वीरभद्र नहीं, विद्या ही सीएम होंगी. तब वो कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष थीं. सत्यानंद स्टोक्स के विधायक बेटे की मौत के बाद 1974 में विद्या पॉलिटिक्स में आईं. 2017 तक विधायक रहीं.

सात बार विधायकी जीतने वाली विद्या स्टोक्स, जिन्हें कांग्रेस में मैडम स्टोक्स कहा जाता है
सात बार विधायकी जीतने वाली विद्या स्टोक्स, जिन्हें कांग्रेस में मैडम स्टोक्स कहा जाता है

यशवंत सिंह परमार की रिश्तेदारी ठाकुर रामलाल से भी थी. वही रामलाल, जो उनके खिलाफ तिकड़में करते थे और उन्हें हटा सीएम बने थे. दोनों समधी थे. रामलाल की बेटी सत्या यशवंत सिंह परमार के बेटे कुश नाहर से ब्याही थीं.

राजनीतिक रिश्तेदारी भाजपा में भी है. दो बार मुख्यमंत्री रहे प्रेम कुमार धूमल के समधी हैं गुलाब सिंह ठाकुर. वो मंडी की जोगिंदर नगर सीट से चुनाव लड़ते हैं. धूमल के मुख्यमंत्री रहते लाल बत्ती भी मिली उन्हें. अनुराग ठाकुर के ससुर इससे पहले कांग्रेस की सियासत किया करते थे.

एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में गुलाब सिंह ठाकुर के साथ प्रेम कुमार धूमल
एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में गुलाब सिंह ठाकुर के साथ प्रेम कुमार धूमल

पढ़िए हिमाचल प्रदेश की ग्राउंड रिपोर्ट्स:

ऊना रिपोर्ट: जहां भाजपा के CM कैंडिडेट ही भाजपा अध्यक्ष का कद छांट रहे हैं

हमीरपुर: बंदर मारो, पूंछ दिखाओ, 5 रुपये ले जाओ!

सुजानपुर: क्या बीजेपी आलाकमान ने प्रेम कुमार धूमल को सेट कर दिया है?

सिरमौर: जिस जिले से हिमाचल का निर्माता निकला, वही विकास में पीछे क्यों रह गया?

 

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

'हिटमैन' रोहित शर्मा को आप कितना जानते हैं, ये क्विज़ खेलकर बताइए

आज 33 साल के हो गए हैं रोहित शर्मा.

क्विज़: खून में दौड़ती है देशभक्ति? तो जलियांवाला बाग के 10 सवालों के जवाब दो

जलियांवाला बाग कांड के बारे में अपनी जानकारी आप भी चेक कर लीजिए.

मधुबाला को खटका लगा हुआ था इस हीरोइन को दिलीप कुमार के साथ देखकर

एक्ट्रेस निम्मी के गुज़र जाने पर उनको याद करते हुए उनकी ज़िंदगी के कुछ किस्से

90000 डॉलर का कर्ज़ा उतारकर प्राइवेट जेट खरीद लिया था इस 'गैंबलर' ने

उस अमेरिकी सिंगर की अजीब दास्तां, जो बात करने के बजाए गाने में ज़्यादा कंफर्टेबल महसूस करता था

YES Bank शुरू करने वाले राणा कपूर कौन हैं, जिन्होंने नोटबंदी को 'मास्टरस्ट्रोक' बताया था

यस बैंक डूब रहा है.

सात साल पहले केजरीवाल ने वो बात कही थी जो आज वो ख़ुद नहीं सुनना चाहते

बरसों पुरानी इस बात की वजह से सोशल मीडिया पर घेर लिए गए हैं.

क्या भारत सरकार से पूछे बिना पाकिस्तान चली गई इंडियन कबड्डी टीम?

अब ढेरों खेल-तमाशा हो रहा है.

बजट का कितना ज्ञान है, ये क्विज़ खेलकर चेक कर लो!

कितना नंबर पाया, बताते हुए जाना. #Budget2020

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.