The Lallantop
Logo
लल्लनटॉप का चैनलJOINकरें

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट में तगड़ा कलेश, जॉनसन ने वॉर्नर का कौन सा घाव कुरेद दिया?

जॉनसन ने पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट सीरीज में डेविड वॉर्नर का नाम होने पर सवाल उठाए थे. अब खुद जॉनसन ने वॉर्नर पर अटैक की वजह का खुलासा किया है.

post-main-image
जॉनसन ने साधा वॉर्नर पर निशाना (Twitter)

पूर्व ऑस्ट्रेलियन पेसर मिचेल जॉनसन (Mitchell Johnson) ने हाल ही में अपने साथी खिलाड़ी डेविड वॉर्नर (David warner) पर निशाना साधा था. जॉनसन ने पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट सीरीज में डेविड वॉर्नर का नाम होने पर सवाल उठाए थे. जॉनसन ने ऑस्ट्रेलियाई अखबार 'द वेस्ट ऑस्ट्रेलियन' में कॉलम लिखकर 'सैंडपेपर गेट स्कैंडल' की याद दिलाई थी. जिसके बाद मिचेल जॉनसन की खूब आलोचना होने लगी थी. उस्मान ख्वाजा से लेकर ऑस्ट्रेलियाई टीम के सेलेक्टर जॉर्ज बेली ने मिचेल जॉनसन को खूब सुनाया था. जिसके बाद अब खुद जॉनसन ने वॉर्नर पर अटैक की वजह का खुलासा किया है.

जॉनसन के मुताबिक वॉर्नर ने उन्हें कुछ समय पहले कुछ ऐसे मैसेज किए थे, जिस वजह से वो ये आर्टिकल लिखने के लिए प्रेरित हुए. उन्होंने SEN radio के प्रोग्राम में कहा,

''कुछ समय पहले डेव (डेविड वॉर्नर) ने मुझे एक मैसेज किया था, जो कि बेहद निजी था. मैंने वॉर्नर को कॉल करने और इस बारे में बात करने की कोशिश की थी. वॉर्नर ने जो मैसेज मुझे किया था, वो काफी निजी था. उस मैसेज में कुछ बातें जो कही गई थीं, मैं कभी उन्हें या किसी और को नहीं कहूं. इससे पहले तक हमारे रिश्ते इतने बुरे नहीं थे, जितने उस मैसेज के बाद हुए थे. यही वो मोमेंट था, जिसने मुझे यह आर्टिकल लिखने के लिए प्रेरित किया.''

ये भी पढ़ें: ''वो रेयर टैलेंट हैं, जो कभी-कभी...'' दिग्गज क्रिकेटर की ये बात हार्दिक पंड्या बिल्कुल नहीं सुनना चाहेंगे!

जॉनसन ने आर्टिकल में क्या लिखा था?

दरअसल क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने 3 दिसंबर को पाकिस्तान के खिलाफ तीन मैचों की टेस्ट सीरीज के लिए स्क्वॉड का ऐलान किया. जिसमें वॉर्नर का भी नाम था.  वॉर्नर पहले ही ऐलान कर चुके हैं कि ये उनके करियर की आखिरी टेस्ट सीरीज होगी. ऐसे में वॉर्नर का नाम स्क्वॉड में देखकर जॉनसन ने लिखा,

''हम डेविड वॉर्नर के फेयरवेल सीरीज की तैयारी कर रहे हैं, तो क्या कोई मुझे बता सकता है कि ये क्यों कर रहे हैं? स्ट्रगल कर रहे खिलाड़ी को संन्यास की तारीख खुद तय करने का मौका क्यों मिला है? और ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट इतिहास के सबसे बड़े स्कैंडल में से एक रहे खिलाड़ी को हीरो जैसी विदाई क्यों मिल रही है? चीफ सेलेक्टर जॉर्ज बेली ऑस्ट्रेलियाई टीम के मौजूदा खिलाड़ियों के इतने करीब हैं कि वे टीम के हित में और कड़े फैसले करने से डरते हैं.''

ख्वाजा ने किया था वॉर्नर का बचाव

जॉनसन के इस आर्टिकल के बाद ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर उस्मान ख्वाजा ने वॉर्नर का बचाव किया था. उन्होंने कहा था,

''वॉर्नर और स्मिथ मेरी नजर में हीरो हैं. उन्होंने खराब समय में एक साल क्रिकेट नहीं खेली. कोई भी आदमी परफेक्ट नहीं होता. मिचेल जॉनसन भी नहीं हैं. अगर कोई कहता है कि डेविड वॉर्नर या सैंडपेपर कांड में शामिल कोई और भी हीरो नहीं है, तो मैं उससे इत्तेफाक नहीं रखता. क्योंकि वो अपने हिस्से की सजा भुगत चुके हैं.''

वहीं टीम के सेलेक्टर जॉर्ज बेली ने भी जॉनसन के आर्टिकल को लेकर कड़ी आपत्ति जाहिर की थी. उन्होंने मीडिया से कहा था,

''मुझे उनके आर्टिकल के छोटे-छोटे टुकड़े भेजे गए हैं. मुझे उम्मीद है कि वो ठीक हैं. मुझे इस बात का कोई अंदाजा नहीं है. क्या कोई मुझे बता सकता है कि खिलाड़ी (जॉनसन) किस दौर से गुजर रहे हैं?''

जॉर्ज बेली के इस बयान को लेकर भी जॉनसन का जवाब आया था. उन्होंने SEN radio के प्रोग्राम में कहा,

''यह पूछना कि क्या मैं ठीक हूं, क्योंकि मुझे मानसिक स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हैं. उन्होंने मेरे आर्टिकल को बहुत कम महत्व दिया है और मेरे मानसिक स्वास्थ्य का मजाक उड़ाने की कोशिश की है, जो कि गलत बात है. यह मूल रूप से किसी के मानसिक स्वास्थ्य पर कटाक्ष करना और यह कहना है कि मानसिक स्वास्थ्य ठीक नहीं होने की वजह से मैंने यह सब लिखा है. लेकिन सच्चाई इससे अलग है.''

जॉनसन की बात करें तो उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के लिए 73 टेस्ट मैच खेले. जिसमें उनके नाम 28.41 की औसत से कुल 313 विकेट रहे. उनका बेस्ट 61 रन देकर 8 विकेट रहा. वहीं 153 वनडे में जॉनसन ने 239, जबकि 30 T20I में उन्होंने 38 विकेट लिए.

वीडियो: अर्शदीप सिंह का आखिरी ओवर देख PBKS ने शाहीन को ट्रोल कर दिया!