The Lallantop
Logo
लल्लनटॉप का चैनलJOINकरें

भूपेश बघेल से विवाद के कारण हारी कांग्रेस? टीएस सिंह देव ने जवाब दे दिया

छत्तीसगढ़ चुनाव में कांग्रेस की बड़ी हार हुई. खुद T S Deo Singh अंबिकापुर सीट से 94 वोटों से चुनाव हार गए. इसके बाद उन्होंने पार्टी की हार का कारण बताया है.

post-main-image
T S Deo Singh 94 वोटों से चुनाव हार गए. (तस्वीर साभार: PTI)

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव (Chhattisgarh Assembly Election) में कांग्रेस की हार के बाद पार्टी के बड़े नेता टीएस सिंह देव (T S Deo Singh) ने बड़ा बयान दिया है. एक स्थानीय न्यूज चैनल को दिए वीडियो इंटरव्यू में उन्होंने राज्य में कांग्रेस की हार के कारण गिनाए हैं. टीएस सिंह देव ने कहा कि कांग्रेस के आंतरिक मसलों के साथ-साथ भाजपा की ओर से उठाया गया भ्रष्टाचार का मुद्दा पार्टी की हार का कारण हो सकता है.

चुनाव से पहले टीएस सिंह देव छत्तीसगढ़ के उपमुख्यमंत्री थे. नतीजों में कांग्रेस सरकार के कई मंत्रियों को हार का सामना करना पड़ा है. इनमें खुद टीएस सिंह देव शामिल हैं.

इंटरव्यू में उनसे पूछा गया कि क्या ‘भूपेश बघेल के साथ उनका विवाद’ भी पार्टी की हार का कारण रहा. इस पर उनका जवाब था कि ऐसा हो सकता है. फिर आगे कहा कि हार के लिए कई और कारण भी हो सकते हैं. जब उनसे हार के मुख्य पांच कारणों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा,

"कांग्रेस को और अधिक एकजुटता दिखानी चाहिए थी. अगर पूरी पार्टी एक साथ नहीं बैठेगी तो इसका असर कहीं-न-कहीं हम पर पड़ता है… पिछले दो से तीन सालों से कांग्रेस सरकार पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों ने लोगों के मन में पार्टी के लिए संदेह पैदा कर दिया है. खास कर शहरी इलाकों में."

वहीं NDTV से बात करते हुए सिंह देव ने कहा कि चुनाव के ठीक पहले महादेव बेटिंग ऐप का मामला सामने आया था. उन्होंने कहा कि ED ने इस मामले में भूपेश बघेल की ओर इशारा करते हुए एक प्रेस नोट भी जारी किया था.

ये भी पढ़ें:  क्या है महादेव बेटिंग ऐप? CM बघेल पर क्या आरोप लगे हैं?

3 दिसंबर को हुई वोटों की गिनती में छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर सीट से टीएस सिंह देव मात्र 94 वोटों से चुनाव हार गए. इस सीट पर भाजपा के राजेश अग्रवाल को जीत मिली. हार के बाद 4 दिसंबर को न्यूज एजेंसी ANI से बात करते हुए सिंह देव ने कहा था, “मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं हार जाउंगा या राज्य में कांग्रेस पार्टी हार जाएगी. उन्होंने आगे कहा कि कोई भी अंदाजा नहीं लगा पाया कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार नहीं बन पाएगी.” 

इससे पहले, 2018 में छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में सिंह देव ने भाजपा के अनुराग सिंह देव को 39,624 वोटों से हराया था.

ये भी पढ़ें: 'इतना भी गुमान ना कर अपनी जीत पर...' हार के बाद क्या करने वाले हैं नरोत्तम मिश्रा?

वीडियो: खर्चा-पानी: राजस्थान, MP और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की हार के बाद शेयर मार्केट का ये हाल