Submit your post

Follow Us

मुनव्वर राना ने 2 से ज्यादा बच्चे पैदा करने का जो लॉजिक दिया है वो सुन कर दिमाग सुन्न हो जाएगा

मनुव्वर राना – देश के मशहूर शायर. उर्दू साहित्य में योगदान के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से भी सम्मानित हैं. लेकिन आजकल अपनी शेरो-शायरी से ज्यादा बयानबाजी की वजह से चर्चा में रहते हैं. इस बार उन्होंने जनसंख्या नियंत्रण कानून पर अपनी राय रखी है. उन्होंने 2 से ज्यादा बच्चे पैदा करने को सही ठहरा दिया है. इसके पीछे कई बेतुके से कारण भी बता दिए हैं. यह बयान ऐसे समय आया है, जब यूपी की योगी सरकार जनसंख्या नियंत्रण नीति पर काम कर रही है. देखिए वीडियो.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

इलेक्शन कवरेज

UP चुनाव: आगरा में कमियां गिनाते युवा क्यों बोले- नेता कोई हो, यहां लोग वोट BJP को ही देंगे

स्मार्ट सिटी परियोजना को लेकर क्या जमीनी हकीकत बताई?

UP चुनाव: मेडिकल कॉलेज के ये सीक्रेट्स आपने कभी नहीं सुने होंगे?

भविष्य के डॉक्टरों ने हेल्थ सिस्टम, योगी सरकार और राजनीति पर खुलकर बात की.

UP चुनाव: मथुरा में योगी सरकार और विधायक श्रीकांत शर्मा के लिए लोगों ने ये बात कही

बीजेपी के कामों से कितने खुश हैं लोग?

UP चुनाव: मथुरा के इस दलित गांव में मायावती और योगी सरकार पर क्या बोले लोग?

2022 विधानसभा इलेक्शन में किसका पलड़ा है भारी?

UP चुनाव: मथुरा के BSA कॉलेज के छात्रों ने सरकारी नौकरी को लेकर क्या 'क्रोनोलॉजी' समझा दी?

योगी और अखिलेश के नेतृत्व वाली सरकारों पर भी खुलकर बात की.

UP चुनाव: हाथरस के सिकंदराराऊ विधानसभा के इस गांव में पहुंचने वाली सड़क ग्रामीणों ने क्यों काटी?

गांव के स्कूल से लेकर खेतों तक में बारिश का पानी भरने से लोग परेशान हैं.

UP चुनाव: अलीगढ़ के बिरौली गांव में किसानों ने बताया इस बार दलबदलुओं का क्या हाल होगा?

किसान नेता ने बताया 3 अक्टूबर को फिरोजाबाद कुछ बड़ा करने का प्लान है.

UP चुनाव: अफगानिस्तान में तालिबान राज आने से हाथरस में बनने वाली हींग कैसे महंगी हो गई?

कच्ची हींग का आयात उज्बेकिस्तान, अफगानिस्तान औऱ ईरान जैसे देशों से होता है.

दी लल्लनटॉप शो

दी लल्लनटॉप शो: तालिबान से लेकर चीन तक भारत की विदेश नीति उलझ गई है?

मोदी सरकार में भारत का झुकाव रूस के बजाय अमेरिका की तरफ बढ़ा है.

दी लल्लनटॉप शो: हिमाचल में सेब की कीमत को लेकर अडानी के खिलाफ प्रदर्शन क्यों हो रहा है?

किसानों ने मांगें नहीं मानने पर बड़े प्रदर्शन की चेतावनी सरकार को दी है.

दी लल्लनटॉप शो: चुनाव से पहले योगी सरकार को महेंद्र प्रताप की विरासत सहेजने की याद क्यों आई?

राजा महेंद्र प्रताप जाट समुदाय से थे.

दी लल्लनटॉप शो: BJP को गुजरात में चुनाव से एक साल पहले CM को क्यों बदलना पड़ा?

विजय रुपाणी के इस्तीफे के बाद भूपेंद्र पटेल नए मुख्यमंत्री बने.

दी लल्लनटॉप शो: भारत के ऑटोमोबाइल मैनुफैक्चरिंग से विदेशी कंपनियां वापस क्यों लौट रही हैं?

फोर्ड मोटर्स ने भारत से बोरिया बिस्तर समेटने का एलान कर दिया है.

दी लल्लनटॉप शो: UP में रहस्यमयी फीवर से लगातार मौतें, लेकिन योगी के मंत्री तो कुछ और ही बोल गए

UP के अलावा बिहार, दिल्ली और मध्य प्रदेश में भी डेंगू और वायरल बुखार के मामले बढ़े हैं.

दी लल्लनटॉप शो: मुकेश अंबानी को धमकाने के पीछे सचिन वाजे की क्या साजिश थी?

एंटीलिया केस में दर्ज NIA की चार्जशीट में बड़े खुलासे हुए हैं.

दी लल्लनटॉप शो: गिलानी की मौत के बाद कश्मीर में माहौल बिगाड़ने की साजिश कौन कर रहा है?

गिलानी के अंतिम संस्कार में पाकिस्तान के समर्थन में नारे लगे थे.

पॉलिटिकल किस्से

एंटी CAA-NRC प्रोटेस्ट में गोली चलाने वाले गोपाल की महापंचायत में बोली बातें क्यों वायरल हुईं?

हरियाणा के पटौदी में हुई जनसभा में उसके भाषण का एक वीडियो वायरल हो रहा है.

उत्तर प्रदेश के नेता जितिन प्रसाद, जो दो दशक से कांग्रेसी रहे और अब BJP में शामिल हो गए

2019 के बाद से ही जितिन प्रसाद की भाजपा से नजदीकियां बढ़ रही थीं.

असम का वो नेता, जिसके साथ हुई ग़लती को ख़ुद अमित शाह ने सुधारा था

अब वो राज्य का मुख्यमंत्री बन गया है.

कैसे मुलायम सिंह ने अजित सिंह से यूपी के मुख्यमंत्री की कुर्सी छीन ली?

अजित सिंह के लोकदल अध्यक्ष बनने की प्रक्रिया काफी विवादित रही थी.

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री बनने जा रहे एमके स्टालिन की कहानी फिल्म से कम नहीं

मद्रास शहर की थाउजेंड लाइट्स विधानसभा सीट से स्टालिन पहली बार चुनाव में उतरे.

केरल चुनाव में जीत के साथ पी विजयन ने 64 बरस पुराना कौन सा मिथक तोड़ दिया?

विजयन महज़ 26 साल की उम्र में पहली बार विधायक बने थे.

अखिल गोगोई की कहानी, जिन्हें हाईकोर्ट ने जमानत देते वक्त कहा- सिविल नाफरमानी अपराध नहीं

नेतागिरी से दूर भागने वाले अखिल गोगोई जेल से ही चुनाव लड़ने पर मजबूर हुए.

गुलाम नबी आज़ाद के जाबड़ किस्से, जिनके दोस्त हर पार्टी में हैं!

जब वाजपेयी पर हमले कर रहे संजय गांधी का कुर्ता खींच दिया था.