The Lallantop
Advertisement

विजय शेखर शर्मा ने Paytm पेमेंट बैंक के चेयरमैन पद से इस्तीफा दिया

One 97 Communications Ltd ने इस बारे में सूचना दी है कि Paytm Payment Bank के बोर्ड का भी पुनर्गठन होगा.

Advertisement
Paytm
Paytm के फाउंडर है विजय शेखर शर्मा. (फाइल फोटो- PTI)
font-size
Small
Medium
Large
26 फ़रवरी 2024 (Updated: 26 फ़रवरी 2024, 23:02 IST)
Updated: 26 फ़रवरी 2024 23:02 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

संकट से जूझ रहे Paytm के फाउंडर विजय शेखर शर्मा (Vijay Shekhar Sharma) ने पेटीएम पेमेंट बैंक के चेयरमैन पद से इस्तीफा दे दिया है. कंपनी की तरफ से बताया गया है कि नेतृत्व में बदलाव सरल तरीके से हो सके, इसलिए शर्मा ने पेटीएम बैंक प्राइवेट लिमिटेड (PPBL) के बोर्ड से भी इस्तीफा दे दिया है. अब बोर्ड का गठन दोबारा किया जाएगा. पेटीएम की पैरेंट कंपनी  One 97 Communications Ltd ने इस बारे में सूचना जारी की है. उन्होंने लिखा-  

हम सूचित करना चाहते हैं कि हमारी सहयोगी कंपनी पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड (पीपीबीएल) ने हमें अपने बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स के पुनर्गठन की जानकारी दी है.

One 97 Communications Ltd की तरफ से भेजा गया पत्र. 

बिज़नेस टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के पूर्व अध्यक्ष श्रीनिवासन श्रीधर, रिटार्यड IAS अधिकारी देबेंद्रनाथ सारंगी, बैंक ऑफ बड़ौदा के पूर्व कार्यकारी निदेशक अशोक कुमार गर्ग और रिटार्यड IAS रजनी सेखरी सिब्बल स्वतंत्र निदेशक के रूप में बोर्ड में शामिल होंगे.

Paytm में उथल पुथल क्यों मची?

31 जनवरी को केंद्रीय रिजर्व बैंक (RBI) ने एक आदेश जारी किया था. आदेश के मुताबिक, पेटीएम पेमेंट बैंक लिमिटेड के ग्राहक खातों, वॉलेट और फास्टैग पर रोक लगा दी थी. RBI ने आदेश दिया था कि 29 फरवरी से सभी निर्देश अमल में लिए जाएंगे. हालांकि, दो दिन पहले RBI ने नया स्टेटमेंट जारी करते हुए कहा कि डेडलाइन को 29 फरवरी से बढ़ाकर 15 मार्च कर दिया गया है.

PPBL  के खिलाफ कार्रवाई क्यों की गई? इस सवाल पर हाल ही में RBI का बयान आया था. इंडिया टुडे से जुड़े कौस्तव दास की रिपोर्ट के मुताबिक RBI ने बताया था कि बार-बार चेतावनी के बाद भी नियम-कानून का पालन करने में पेटीएम पेमेंट्स बैंक विफल रही. इसलिए ऐसा फैसला लिया गया है. RBI ने कहा कि पेटीएम पेमेंट्स बैंक को सुधार के लिए भरपूर समय दिया गया लेकिन कोई सुधार नहीं देखने को मिला.

यह भी पढ़ें: Paytm UPI हैंडल आगे कैसे जारी रहेगा? कस्टमर और दुकानदारों को RBI ने चिंता मुक्त कर दिया!

हालांकि, पेटीएम बैंक की डेडलाइन बढ़ाने के साथ RBI ने ये भी साफ कर दिया था कि कंपनी की अन्य सेवाएं जारी रहेंगी. Paytm वाले QR कोड, साउंडबॉक्स और कार्ड मशीन से जुड़ी सेवाएं जारी रहेंगी. बिजनेस टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, RBI ने कहा है कि पेटीएम पहले की तरह ही अपनी मर्चेंट सर्विसेज जारी रख सकता है. ये कदम पेटीएम से जुड़े व्यापारियों के लिए मुश्किल न पैदा करने के लिए उठाया गया है. क्योंकि देश में इन व्यापारियों की संख्या काफी ज्यादा है. यानी अब बिना किसी दिक्कत के QR कोड, साउंडबॉक्स और कार्ड मशीन के जरिए दुकानदारों को पैसे चुकाए जा सकेंगे.

वीडियो: Paytm के शेयर बदहाल, क्या आपका पैसा भी पेटीएम में फंसा है?

thumbnail

Advertisement

election-iconचुनाव यात्रा
और देखे

Advertisement

Advertisement