Submit your post

Follow Us

बुलंदशहर के मुख्य आरोपी योगेश राज ने वीडियो जारी करके अपनी सफाई दी

2.77 K
शेयर्स

बुलंदशहर में 3 दिसंबर को हुई SHO सुबोध कुमार सिंह की मॉब लिंचिंग के मुख्य आरोपी योगेश राज ने एक वीडियो मेसेज जारी किया है. उसने खुद को बेकसूर बताया है. उसका दावा है कि जब मॉब लिंचिंग हुई, उस समय वो घटना वाली जगह पर मौजूद नहीं था. योगेश फरार है. उत्तर प्रदेश पुलिस उसे पिछले दो दिनों से तलाश रही है.

योगेश ने अपने मेसेज में क्या कुछ कहा है? 
योगेश ने ये वीडियो मेसेज किसी खेत जैसी जगह पर खड़े होकर शूट किया है. उसने कहा है-

जय श्रीराम. मैं योगेश राज, जिला संयोजक बुलंदशहर. जैसा कि आप बुलंदशहर में हुई स्याना में हुई गोकशी प्रकरण को देख रहे होंगे. पुलिस मुझे ऐसे प्रस्तुत कर रही है जैसे कि मेरा बहुत बड़ा कोई आपराधिक इतिहास हो. मैं आप सब को ये बताना चाहता हूं कि उस दिन दो घटनाएं घटित हुई थीं. पहली घटना स्याना के नजदीक गांव महाव में गोकशी की हुई. जिसकी सूचना पाकर मैं अपने साथियों सहित मौके पर पहुंचा था. प्रशासनिक लोग भी वहां पर पहुंचे थे. और मामले को शांत करके हम सब लोग अपने साथियों सहित स्याना थाने में अपना मुकदमा लिखाने आ गया था. थाने में बैठे-बैठे जानकारी प्राप्त हुई कि उक्त स्थल पर ग्रामीणों ने पथराव कर लिया है. और वहां पर फायरिंग हुई है, जिसमें एक युवक को गोली लगी है. और एक पुलिसवाले को भी गोली लगी है. जब हमारी मांग पूरी करके मुकदमा स्याना थाने में लिखा जा रहा था, तो बजरंग दल कोई आंदोलन प्रसंग क्यों करता. मैं दूसरी घटना में उक्त स्थल पर मौजूद नहीं था. मेरा दूसरी घटना से कोई लेना-देना नहीं है. मुझे इसमें न्याय दिलाएंगे, मुझे ऐसा भगवान पर पूर्ण भरोसा है. धन्यवाद. 

योगेश वीडियो में न्याय मिलने की बात पर भरोसा जताता है. मगर ये कहते समय योगेश एक बार भी इस बात का जिक्र नहीं करता कि वो भागा हुआ है. फरार है. न ही वो सरेंडर करने की बात कहता है.

ये गोकशी वाली उस FIR की कॉपी है, जो योगेश ने लिखवाई थी. ये वाली FIR दर्ज हुई दोपहर 12.43 बजे. इसके करीब 45 मिनट बाद, दिन के डेढ़ बजे SHO सुबोध कुमार सिंह की लिंचिंग हुई.
ये गोकशी वाली उस FIR की कॉपी है, जो योगेश ने लिखवाई थी. ये वाली FIR दर्ज हुई दोपहर 12.43 बजे. इसके करीब 45 मिनट बाद, दिन के डेढ़ बजे SHO सुबोध कुमार सिंह की लिंचिंग हुई.

योगेश अपनी बात से पलट रहा है
3 दिसंबर को मॉब लिंचिंग से कुछ मिनटों पहले योगेश ने स्याना थाना में एक FIR लिखवाई थी. ये उसी गोकशी से जुड़ी शिकायत थी, जिसपर ये सारा फसाद शुरू हुआ. वीडियो मेसेज में वो कहता है कि गोकशी की सूचना मिलने पर वो घटना वाली जगह पहुंचा था. जबकि उस FIR में उसने लिखवाया था-

आज दिनांक 03-12-2018 को समय करीब प्रात: नौ बजे सुबह हम लोग योगेश राज, शिखर कुमार, सौरभ आदि लोग घुमने के लिए ग्राम महाव के जंगलों में आए थे. तभी हमने देखा सुदेफ चौधरी, इल्यास, शराफत, अनस, शाजिद, परवेज, सरफुद्दीन (निवासी नया बांस) आदि लोग थाना स्याना निवासी गायों को काट रहे थे. हमें देखकर, हमारे शोर मचाने पर उपरोक्त लोग मौके से भाग गए. सूचना पर थाना स्याना की पुलिस व उपजिलाधिकारी स्याना आ गए हैं. उपरोक्त लोगों ने गायों को बुरी तरह से काटा है. जिससे हमारी हिंदू धर्म की भावनाएं आहत हुई हैं. 

दोनों बातों में बहुत फर्क है. क्या सही है, ये जांच बताएगी.

चश्मदीदों ने कुछ और ही बात बताई है
योगेश का कहना है कि पुलिस ने जब FIR दर्ज करने की मांग मान ली, तो वो लोग (बजरंग दल) हंगामा क्यों करेगा. ये बात मौके पर मौजूद चश्मदीदों की बात से अलग है. कई लोगों ने ये कहा है कि गांव के लोग पुलिस की कार्रवाई से संतुष्ट थे. मगर योगेश और उसके साथी पुलिस द्वारा बार-बार आश्वासन दिए जाने के बाद भी शांत नहीं हुए. वो वहां से हट ही नहीं रहे थे. योगेश ने गोकशी की अपनी FIR में जिन सात लोगों का नाम लिखवाया है, उन्हें लेकर भी शुबहा है. इंडियन एक्सप्रेस ने स्याना के नए थाना प्रभारी से बात की. नए SHO किरन पाल सिंह ने उन्हें बताया-

4 दिसंबर को हमारी एक टीम नया बांस गांव पहुंची. हमने पाया कि गोकशी वाली FIR में जिन सात लोगों का नाम लिखवाया गया है, उनमें एक 10 साल का बच्चा भी है. हमें ये भी मालूम चला कि FIR में कुछ ऐसे लोगों का भी नाम है, जो दिल्ली में नौकरी करते हैं.

इन्हीं सब चीजों की वजह से पुलिस अब ये जांच कर रही है कि क्या योगेश ने जिन लोगों का नाम FIR में लिखवाया, उनके साथ उसकी कोई निजी दुश्मनी थी. घटना से जुड़े कुछ वायरल वीडियोज़ में भी योगेश भीड़ के साथ खड़े होकर SHO सुबोध कुमार सिंह से बहस करता नज़र आता है.


बुलंदशहर में SHO सुबोध कुमार सिंह के मारे जाने की पूरी कहानी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Bulandshahr Violence: Yogesh Raj, Prime acccused of SHO Subodh Kumar Singh’s mob lynching releases video message

टॉप खबर

ड्यूटी पर लौटे विंग कमांडर अभिनंदन के साथियों का जोश देख आप भी खुश हो जाएंगे

अभिनंदन ने एक मैसेज भी दिया है.

सनी देओल ने 'ढाई किलो का हाथ' वाला डायलॉग मारा, कर्नल राठौड़ ने 'निशाना' कांग्रेस की ओर मोड़ दिया

राजस्थान के रोड शो में सनी को देखने के लिए 'बेताब' लोगों ने 'गदर' मचा रक्खा था, लेकिन सनी पाजी 'बॉर्डर' क्रॉस करके यूपी चले गए.

राहुल गांधी के पूर्व बिजनेस पार्टनर को कांग्रेस के वक्त मिला था डिफेंस ऑफसेट कॉन्ट्रेक्ट!

रफाल पर मोदी सरकार को घेर रहे थे, खुद वैसे ही आरोपों में घिर गए हैं.

499 नंबर पाकर हंसिका और करिश्मा ने CBSE टॉप किया

मेरिट लिस्ट में पहली पांच टॉपर लड़कियां हैं!

मसूद अज़हर के अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित होने से भारत को क्या फर्क पड़ेगा?

हर बार चीन रोक लगा देता था, इस बार चीन ने भी समर्थन कर दिया.

भारतीय आर्मी ने जिस 'हिम मानव' के पैर की तस्वीरें जारी की थी, उसके अब और कई फोटो आए हैं

नई तस्वीरों में हिम मानव के पैरों के निशान की लंबाई नापी जा रही है.

दिल्ली में कॉन्स्टेबल ने ट्रेन के नीचे कुचलने से महिलाओं-बच्चों को बचाया, लेकिन खुद नहीं बच पाया

ट्रैक पर एक नहीं बल्कि दोनों तरफ से ट्रेन आ रही थी.

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने यौन उत्पीड़न के आरोपों के जवाब में ये 9 बातें बोलीं

एक महिला के गंभीर आरोपों को लेकर हुई सुनवाई में तीन जजों की बेंच ने एक बहुत बड़ा दावा किया.

BJP प्रवक्ता पर जूता फेंकने वाला क्यों नाराज था, 2 दिन पहले की 4 FB पोस्ट से पता चला

खुद आयकर के चंगुल में फंसा है जूता फेंकने वाला शक्ति भार्गव.

BJP प्रवक्ता पर जूते से हमला करने वाला कानपुर का बहुत नामी आदमी है

450 करोड़ की प्रॉपटी 11.5 करोड़ में खरीद चुका है!