Submit your post

Follow Us

सनी देओल की 'ज़िद्दी' के किस्से, जो शाहरुख़ ख़ान की फिल्म पर भारी पड़ गई

सनी देओल और रवीना टंडन फिल्म ‘ज़िद्दी’ की शूटिंग कर रहे थे. उन दिनों रवीना बड़ी परेशान सी रहती थीं. एक दिन शूटिंग के दौरान सनी, उनसे परेशानी की वजह पूछने गए. रवीना अक्षय कुमार से अपने अलगाव के बारे में बताते रोने लगीं. सनी ने कहा कि वो इस मामले में अक्षय से बात करेंगे. सनी देओल, रवीना टंडन मसले पर अक्षय से बात करने गए. वहां क्या बातचीत हुई किसी को नहीं पता. मगर उसके बाद अक्षय और सनी के बीच दूरियां आ गईं. फाइनली ट्विंकल खन्ना ने अपनी शादी में सनी देओल को इनवाइट किया. वो सनी को अपनी मां डिंपल कपाड़िया के माध्यम से जानती थीं.

फिल्म के सेट पर बातचीत करते रवीना और सनी.
फिल्म के सेट पर बातचीत करते रवीना और सनी.

अक्षय और सनी के बीच दूरियों की एक वजह डिंपल कपाड़िया भी मानी जाती हैं. अटकलें लगाई जाती हैं कि सनी देओल और डिंपल कपाड़िया रोमैंटिकली इनवॉल्व्ड रहे हैं. इस बारे में न कभी सनी ने कुछ कहा, न डिंपल ने. इसलिए इन खबरों की पुष्टि नहीं हो पाई. हालांकि कुछ समय पहले ही सनी और डिंपल की एक फोटो वायरल हुई थी, जिसके बाद से अफवाहों का बाज़ार फिर से गर्म हो गया था. डिंपल, रिश्ते में अक्षय कुमार की सास लगती हैं. ऐसे में अक्षय और सनी के बीच डिस-कंफर्ट की एक वजह ये भी मानी जाती है.

सनी देओल और डिंपल कपाडिया की ये फोटो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई थी. बताया जाता रहा है कि ये तस्वीर किसी राह चलते शख्स ने लंदन में खींची थी. इसके बाद इसे रेडिट पर अपलोड कर दिया गया, जिसे खूब सारे अपवोट्स मिले.
सनी देओल और डिंपल कपाडिया की ये फोटो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई थी. बताया जाता रहा है कि ये तस्वीर किसी राह चलते शख्स ने लंदन में खींची थी. इसके बाद इसे रेडिट पर अपलोड कर दिया गया, जहां से ये अन्य सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स पर भी पहुंच गया.

खैर, हम इस गॉसिप मैग्ज़ीननुमा खबर की मदद से आपको ये बताना चाहते हैं कि इस सारे कांड की शुरुआत फिल्म ‘ज़िद्दी’ के सेट से शुरू हुई थी. ‘ज़िद्दी’, जिसे डायरेक्ट किया था गुड्डू धनोआ ने. वो गुड्डू धनोआ, जिन्होंने ‘दीवाना’ से शाहरुख खान को लॉन्च किया था. वो शाहरुख, जिनके साथ सनी के मनमुटाव की खबरें जगजाहिर हैं.

शाहरुख खान की पहली फिल्म 'दीवाना' के मुहूर्त शॉट पर शाहरुख, दिव्या भारती, अमरीश पुरी और राहुल रवैल और गुड्डू धनोआ (सबसे दाएं).
शाहरुख खान की पहली फिल्म ‘दीवाना’ के मुहूर्त शॉट पर शाहरुख, दिव्या भारती, अमरीश पुरी और राहुल रवैल और गुड्डू धनोआ (सबसे दाएं राहुल के कंधे पर हाथ रखे हुए).

जब ‘घायल’ और ‘घातक’ जैसी फिल्में देने वाले राजकुमार संतोषी के साथ सनी के संबध खराब हो गए, तब गुड्डू धनोआ उनके बड़े काम आए थे. ये सारा लफड़ा इसलिए हुआ क्योंकि राजकुमार संतोषी अजय देवगन को लेकर ‘द लेजेंड ऑफ भगत सिंह’ बना रहे थे. जबकि वो जानते थे कि सनी के प्रोडक्शन के लिए गुड्डू धनोआ भी उसी विषय पर फिल्म बना रहे हैं. इस बात से सनी देओल नाराज़ हो गए. उन्होंने बॉबी देओल स्टारर ’23 मार्च 1931: शहीद’ ठीक उसी दिन रिलीज़ की, जिस दिन संतोषी की अजय देवगन स्टारर ‘द लेजेंड ऑफ भगत सिंह’ थिएटर्स में लगी. एक ही सब्जेक्ट पर बनी ये दो फिल्में 7 जून, 2002 को रिलीज़ हुई थीं.

फिल्म 'घायल' की शूटिंग के दौरान राजकुमार संतोषी और सनी देओल.
फिल्म ‘घायल’ की शूटिंग के दौरान राजकुमार संतोषी और सनी देओल.

खैर, हम ‘ज़िद्दी’ पर वापस लौटते हैं. प्रोड्यूसर एन.आर. पचीसिया सनी देओल को लेकर एक फिल्म बनाना चाहते थे. डायरेक्शन की ज़िम्मेदारी दी गई गुड्डू धनोआ को. फिल्म के लिए लीडिंग लेडी की तलाश शुरू हुई. मेकर्स ममता कुलकर्णी को साइन करना चाहते थे. मगर ममता ने फिल्म करने से मना कर दिया. उसके बाद रवीना टंडन को फिल्म में कास्ट कर लिया गया. फिल्म में नेगेटिव रोल के लिए एक्टर ढूंढा जा रहा था.

# इंटरवल में मरने वाले विलन की उम्र बढ़ गई

प्रोड्यूसर बबलू पचीसिया से आशीष विद्यार्थी की बात ‘द्रोहकाल’ के टाइम हुई थी. अब वो ‘ज़िद्दी’ प्रोड्यूस करने जा रहे थे. किसी तरह से उन्होंने ‘ज़िद्दी’ में इंदर के रोल के लिए आशीष को फाइनल कर लिया. पहले सीन ये था कि आशीष का कैरेक्टर इंटरवल से पहले मरना था. फिल्म का थोड़ा काम हुआ था कि शूटिंग रुक गई. क्योंकि शहर में कोई स्ट्राइक चल रही थी. जब ये सब खत्म हुआ, तो आशीष अपने हिस्से का काम निपटाने पहुंचे. फिल्मालय स्टूडियो में आशीष का डेथ सीन फिल्माया जाना था. मगर उससे पहले वहां ढेर सारे एक्शन सीन्स शूट हो रहे थे. इस दौरान आशीष बार-बार जाकर सबसे पूछ रहे थे कि वो कैसे मरने वाले हैं.

फाइनली शाम को उनके हिस्से की शूटिंग शुरू हुई. आशीष को लग रहा था कि लंबा-चौड़ा डेथ सीन होगा. उन्हें बताया गया कि सनी उन्हें खिड़की के पास एक पंच मारेंगे. आशीष को लगा कि सनी के पंच से खिड़की का शीशा टूटकर उनके बदन में घुसेगा और वो मर जाएंगे. आशीष इस सीन के लिए रिहर्सल करने लग गए. सीन शूट होने से पहले उन्हें बताया गया कि सनी उन्हें मुक्का मारेंगे और आशीष खिड़की से बाहर नीचे गिर जाएंगे. आशीष ने सवाल दागने शुरू कर दिए. तब जाकर एक्शन डायरेक्टर टिनू वर्मा ने उन्हें बताया कि ये उनका डेथ सीन नहीं है. उनका कैरेक्टर इंटरवल में नहीं फिल्म के क्लाइमैक्स में मरेगा. संभवत: मेकर्स ने ये फैसला फिल्म में आशीष की परफॉर्मेंस को देखने के बाद लिया था. आशीष बताते हैं कि एक्शन डायरेक्टर टिनू वर्मा से उन्हें बहुत कुछ सीखने को मिला. उन्होंने ही आशीष को ‘मरने’ की कला सिखाई. आशीष अपने करियर में 180 से ज़्यादा बार ऑन स्क्रीन मर चुके हैं.

फिल्म के एक सीन में आशीष विद्यार्थी और राज बब्बर.
फिल्म के एक सीन में आशीष विद्यार्थी और राज बब्बर. बैकग्राउंड में शरत सक्सेना और शाहबाज़ खान. फिल्म में आशीष ने सनी देओल के जीजा इंदर का किरदार निभाया था.

# शाहरुख-सनी के बाद उनकी फिल्में भी टकराईं 

शाहरुख खान और सनी देओल के संबंध ‘डर’ फिल्म के बाद से खराब हो चुके थे. दोनों ने कभी सुलह करने की कोशिश भी नहीं की. 7 अप्रैल, 1997 को शाहरुख खान और माधुरी दीक्षित की ‘कोयला’ रिलीज़ हुई. इसी 11 अप्रैल, 1997 को सनी ने अपनी फिल्म ‘ज़िद्दी’ रिलीज़ कर दी. पहले के समय में फिल्मों के रिलीज़ डेट अडवांस में तय नहीं होते थे. फिल्म बनकर तैयार होती, फिर रिलीज़ डेट घोषित की जाती. खैर, इस बॉक्स ऑफिस क्लैश में सनी देओल जीत गए. दोनों फिल्मों की कमाई में ज़्यादा फर्क नहीं था. मगर ‘ज़िद्दी’ का वर्ड ऑफ माउथ ज़्यादा पॉज़िटिव था.

फिल्म 'डर' के एक सीन में सनी देओल और शाहरुख खान.
फिल्म ‘डर’ के एक सीन में सनी देओल और शाहरुख खान. इसी फिल्म की मेकिंग के दौरान दोनों एक्टर्स के बीच मनमुटाव हो गया. 

2001 में एक बार फिर शाहरुख और सनी की फिल्में टकराईं. 26 अक्टूबर को देशभर के सिनेमाघरों में दो फिल्में लगीं. ‘अशोका’ और ‘इंडियन’. ‘अशोका’ अपने समय की सबसे चर्चित बिग बजट पीरियड फिल्म थी, जिसे शाहरुख खान ने खुद प्रोड्यूस किया था. सनी देओल की ‘इंडियन’ ने टिकट खिड़की पर खूब पैसे पीटे. वहीं शाहरुख की ‘अशोका’ पिट गई. ये पहली और इकलौती हिंदी फिल्म है, जिसमें सुपरस्टार अजीत कुमार ने काम किया है.

शाहरुख खान की मैग्नम ओपस 'अशोका' और सनी देओल स्टारर 'इंडियन' एक ही दिन सिनेमाघरों में रिलीज़ हुई थी. हालांकि तब बॉक्स ऑफिस क्लैश को इतना सीरियसली नहीं लिया जाता था.
शाहरुख खान की मैग्नम ओपस ‘अशोका’ और सनी देओल स्टारर ‘इंडियन’ एक ही दिन सिनेमाघरों में रिलीज़ हुई थी. हालांकि तब बॉक्स ऑफिस क्लैश को इतना सीरियसली नहीं लिया जाता था.

# ‘ज़िद्दी’ में काम करने वाली एक्ट्रेस हो गई पैसे को मोहताज

1943 में बॉम्बे टॉकीज़ की फिल्म ‘हमारी बात’ से दुलारी नाम की एक्ट्रेस ने करियर शुरू किया. मगर वो फिल्मों में काम नहीं करना चाहती थीं. ठीक तभी उनके पिता बीमार पड़ गए. मजबूरन उन्हें फिल्मों में काम करना जारी रखना पड़ा. कुछ साल तक काम करने के बाद दुलारी ने जगताप नाम के साउंड रिकॉर्डिस्ट से शादी कर ली. अगले 9 साल वो फिल्मों से दूर रहीं. फिर वापसी हुई. दुलारी ने अपने करियर में 130 से ज़्यादा फिल्मों में छोटे-बड़े रोल्स किए. उनके करियर की आखिरी फिल्म थी ‘ज़िद्दी’.

एक फिल्म के सीन में दुलारी. ये तस्वीर फिल्म 'ज़िद्दी' की नहीं है.
एक फिल्म के सीन में दुलारी. ये तस्वीर फिल्म ‘ज़िद्दी’ की नहीं है.

‘ज़िद्दी’ में काम करने के बाद वो फिल्मों से हमेशा के लिए दूर हो गईं. इस दौरान वो पुणे के ओल्ड एज होम में रहीं. क्योंकि उन्हें अलज़ाइमर हो गया था और उनकी बेटी ऑस्ट्रेलिया में रहती थीं. उनके बच्चे वहीं सेटल हो चुके थे. ऐसे में दुलारी का ख्याल रखने वाला कोई नहीं था. काम न करने की वजह से उनकी आर्थिक स्थिति भी खराब हो गई थी. ये बात वहीदा रहमान को पता चली. उन्होंने तुरंत सिने एंड टीवी आर्टिस्ट्स असोसिएशन यानी CINTAA को संपर्क किया. उन्होंने CINTAA से दुलारी को पैसे दिलवाने शुरू किए.

जनवरी, 2013 को 84 साल की उम्र में दुलारी की डेथ हो गई. तारीख इसलिए नहीं लिखी गई, क्योंकि किसी को पता नहीं कि वो कब गुज़रीं. जब उनके बैंक अकाउंट से ट्रांज़ैक्शन होने बंद हो गए, तब लोगों को पता चला की दुलारी की डेथ हो गई है.


वीडियो देखें: सनी देओल की वो फिल्म जिसके प्रीमियर पर जाने से सनी खुद डर रहे थे

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्रिकेट के किस्से

जब 21 साल के सनी ने खत्म किया 23 साल और दर्जनों टेस्ट मैचों का इंतजार

जब 21 साल के सनी ने खत्म किया 23 साल और दर्जनों टेस्ट मैचों का इंतजार

क़िस्सा सुनील गावस्कर के डेब्यू टेस्ट का.

प्रैक्टिस मैच में आठ छक्के खाकर 'बॉल ऑफ द सेंचुरी' फेंकने वाला जादूगर!

प्रैक्टिस मैच में आठ छक्के खाकर 'बॉल ऑफ द सेंचुरी' फेंकने वाला जादूगर!

शेन वॉर्न...जिनकी पहली एशेज गेंद ही अमर हो गई.

'आपकी पाकिस्तान के ख़िलाफ़ खेली इनिंग ने विश्वकप को सफ़ल बना दिया है'

'आपकी पाकिस्तान के ख़िलाफ़ खेली इनिंग ने विश्वकप को सफ़ल बना दिया है'

विश्वकप के आयोजक सदस्य ने जब भारतीय बल्लेबाज़ को फैक्स कर ये कहा था.

ऐसा क्या हुआ कि इंज़माम ने वजन घटाने की बात सोचने से भी तौबा कर ली?

ऐसा क्या हुआ कि इंज़माम ने वजन घटाने की बात सोचने से भी तौबा कर ली?

एक बार में 17 किलो तक घटा गए थे इंज़ी.

दर्शकों पर ईंट फेंकने वाला पेसर, जिससे विवियन रिचर्ड्स भी डरते थे!

दर्शकों पर ईंट फेंकने वाला पेसर, जिससे विवियन रिचर्ड्स भी डरते थे!

कहानी हेलमेट फाड़ने वाले सिल्वेस्टर क्लार्क की.

कहानी डेब्यू पर ही सेंचुरी मारने वाले उस दिग्गज की, जिसे पहले सेलेक्टर और फिर फ़ैन्स भूल गए

कहानी डेब्यू पर ही सेंचुरी मारने वाले उस दिग्गज की, जिसे पहले सेलेक्टर और फिर फ़ैन्स भूल गए

वो गुस्ताख़ लबड़हत्था, जो अपने ही भाई से हार गया!

ग्लव्स की जगह ईंट लेकर विकेटकीपिंग करने वाला बच्चा कैसे बना दुनिया का बेस्ट विकेटकीपर?

ग्लव्स की जगह ईंट लेकर विकेटकीपिंग करने वाला बच्चा कैसे बना दुनिया का बेस्ट विकेटकीपर?

कहानी सैयद किरमानी की.

कहानी उस महाराजा की जिसने पैसे के दम पर ले ली इंडियन क्रिकेट टीम की कप्तानी

कहानी उस महाराजा की जिसने पैसे के दम पर ले ली इंडियन क्रिकेट टीम की कप्तानी

और ये उसकी सबसे बड़ी ग़लती साबित हुई.

वो भारतीय क्रिकेटर, जिसने टूटे पांव पर बिजली के झटके सहकर ऑस्ट्रेलिया को मेलबर्न में हराया

वो भारतीय क्रिकेटर, जिसने टूटे पांव पर बिजली के झटके सहकर ऑस्ट्रेलिया को मेलबर्न में हराया

दिलीप दोषी, जो गावस्कर को 'कपटी' मानते थे.

जब लिटिल मास्टर की बैटिंग देखते-देखते एक फैन ने तुड़वा ली अपनी टांग

जब लिटिल मास्टर की बैटिंग देखते-देखते एक फैन ने तुड़वा ली अपनी टांग

क़िस्सा टेस्ट की सबसे स्लो पारी का.