Submit your post

Follow Us

जब अक्षय कुमार ने अपना अवॉर्ड आमिर खान को दे दिया

1.93 K
शेयर्स

पहले कुड़ियों का था जमाना, अब सोशल मीडिया का है. घूमते-फिरते एक वीडियो मिल गया. अक्षय कुमार का बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड लेते हुए. स्टार स्क्रीन बेस्ट एक्टर अवॉर्ड. इस वीडियो में वो इसे लेने से मना कर रहे हैं. क्यों कब कैसे. ये सब आप नीचे जानेंगे.

बात है साल 2009 की. 2008 में अक्षय कुमार की फिल्म ‘सिंह इस किंग’ रिलीज़ हुई थी. फिल्म में अक्षय कुमार कटरीना कैफ ने लीड रोल्स किए थे और डायरेक्ट किया था अनील बज़्मी ने. फिल्म रिलीज़ हुई और हिट रही. इसमें अक्षय कुमार के काम की तारीफ हुई थी. इसमें उनके परफॉर्मेंस के लिए उन्हें स्टार स्क्रीन अवॉर्ड्स का बेस्ट एक्टर (पॉपुलर चॉइस) अवॉर्ड मिला. लेकिन स्टेज पर जाते ही अक्षय ने वो अवॉर्ड लेने से मना कर दिया. अवॉर्ड लेने से मना करने के दौरान अक्षय कुमार ने कहा कि वो 18 साल से इस अवॉर्ड का इंतज़ार कर रहे थे. लेकिन उन्होंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि चांदनी चौक से आए एक लड़के को ये सब मिल सकता है.

उन्होंने अवॉर्ड हाथ में पकड़े कहा-

मैंने अपने एक हाथ में अपना सपना और दूसरे में अपने पापा का प्यार पकड़ा हुआ है. लेकिन मैं आप सब से कुछ कहना चाहता हूं. कुछ दिन पहले मैंने एक फिल्म देखी ‘गजनी’. और यकीन मानिए मैं ये फिल्म देखकर हैरान हो गया था. कुछ दिन बाद जब मैं लंदन से लौट रहा था, तो मैंने अपनी फिल्म ‘सिंह इज़ किंग’ देखी. फिर मैंने दोनों फिल्मों में एक्टर्स के काम की तुलना की. और तब मुझे पता चला कि इस साल के बेस्ट एक्टर वो नहीं हैं बल्कि आमिर खान हैं. आमिर ने इस फिल्म वो काम किया है, जिसे ऐतिहासिक कहा जा सकता है. मैं उस आदमी से उसका ये अधिकार और सम्मान नहीं छीन सकता. मुझे पता है कि हो सकता है ये मौका मेरी ज़िंदगी में दोबारा न आए. लेकिन मैं उस अवॉर्ड को लेकर नहीं जा सकता, जो मेरा नहीं है और जो मुझसे ज़्यादा कोई और डिजर्व करता है. मेरे लिए वोट करने वालों से मैं तहे दिल से माफी मांगता हूं. मेरा मकसद आपका दिल दुखाना नहीं था. भगवान और जनता ने चाहा तो मैं ये अवॉर्ड फिर जीत सकता हूं. लेकिन आमिर, दोस्त ये तुम्हारे लिए है.

हालांकि सबको पता है कि आमिर अवॉर्ड फंक्शन में नहीं जाते. जब ये सब हुआ, तब वो वहां मौजूद नहीं थे. जहां तक बात रही फिल्म ‘गजनी’ की, तो एक ट्रैजिक लव स्टोरी थी. इस फिल्म के लिए आमिर ने बहुत तरह के शारीरिक बदलाव किए थे. उनका किरदार एक ऐसे आदमी का था, जो पहले बहुत बड़ा बिज़नेसमैन था लेकिन दिमागी चोट के चलते वो हर 15 मिनट में बातें भूल जाता है. इसलिए वो अपनी चीज़ें याद करने के लिए बॉडी पर कई टैटू बनवा लेता है. उसका ज़िंदगी में एक्कै मकसद है बदला. इस फिल्म में आमिर के साथ असिन ने काम किया था और इस फिल्म को डायरेक्ट किया था ए.आर मुरुगाडोस ने. ‘गजनी’ भारतीय सिनेमा इतिहास की पहली फिल्म थी, जिसने 100 करोड़ रुपए से ज़्यादा की कमाई कर 100 करोड़ क्लब खोला था. अक्षय कुमार का वो वीडियो आप यहां देख सकते हैं:


वीडियो देखें: दिव्या भारती, आमिर खान और सलमान खान का वो किस्सा जो आप नहीं जानते होंगे

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
When Akshay Kumar gave his Best Actor award to Aamir Khan

क्रिकेट के किस्से

जब शराब के नशे में हर्शेल गिब्स ने ऑस्ट्रेलिया को धूल चटा दी

उस मैच में 8 घंटे के भीतर दुनिया के दो सबसे बड़े स्कोर बने. किस्सा 13 साल पुराना.

वो इंडियन क्रिकेटर जो इंग्लैंड में जीतने के बाद कप्तान की सारी शराब पी गया

देश के लिए खेलने वाला आख़िरी पारसी क्रिकेटर.

जब तेज बुखार के बावजूद गावस्कर ने पहला वनडे शतक जड़ा और वो आखिरी साबित हुआ

मानों 107 वनडे मैचों से सुनील गावस्कर इसी एक दिन का इंतजार कर रहे थे.

जब श्रीनाथ-कुंबले के बल्लों ने दशहरे की रात को ही दीपावली मनवा दी थी

इंडिया 164/8 थी, 52 रन जीत के लिए चाहिए थे और फिर दोनों ने कमाल कर दिया.

श्रीसंत ने बताया वो किस्सा जब पूरी दुनिया के साथ छोड़ देने के बाद सचिन ने उनकी मदद की थी

सचिन और वर्ल्ड कप से जुड़ा ये किस्सा सुनाने के बाद फूट-फूटकर रोए श्रीसंत.

कैलिस का ज़िक्र आते ही हम इंडियंस को श्रीसंत याद आ जाते हैं, वजह है वो अद्भुत गेंद

आप अगर सच्चे क्रिकेट प्रेमी हैं तो इस वीडियो को बार-बार देखेंगे.

चेहरे पर गेंद लगी, छह टांके लगे, लौटकर उसी बॉलर को पहली बॉल पर छक्का मार दिया

इन्होंने 1983 वर्ल्ड कप फाइनल और सेमी-फाइनल दोनों ही मैचों में मैन ऑफ द मैच का अवॉर्ड जीता था.

टीम इंडिया 245 नहीं बना पाई चौथी पारी में, 1979 में गावस्कर ने अकेले 221 बना दिए थे

आज के दिन ही ये कारनामा हुआ था इंग्लैंड में. 438 का टार्गेट था और गजब का मैच हुआ.

जब 1 गेंद पर 286 रन बन गए, 6 किलोमीटर दौड़ते रहे बल्लेबाज

खुद सोचिए, ऐसा कैसे हुआ होगा.