Submit your post

Follow Us

एक्टर विनीत कुमार की शादी का रोचक किस्सा, जब बिना कुछ बोले शादी हो गई

कुछ दिनों पहले लल्लनटॉप के खास शो ‘बरगद’ में एडिटर सौरभ द्विवेदी के साथ ‘अक्स’, ‘शूल’ और ‘लापतागंज’ जैसी फिल्मों और टीवी शोज़ से फेम हासिल कर चुके एक्टर विनीत कुमार ने बैठक जमाई. जहां विनीत कुमार ने अपने बचपन से लेकर जवानी, राजनीति से लेकर अभिनय और हिंदी सिनेमा से लेकर तमिल सिनेमा तक सब पर खूब तफसील से बात की. बातों के दौरान उन्होंने कई रोचक किस्से साझा किए. उन्हीं किस्सों में एक आपके साथ साझा कर रहे हैं. 


जितने दिलचस्प किस्से विनीत के बचपन और एक्टिंग के हैं. उससे कहीं ज़्यादा दिलचस्प शादी का किस्सा है. विनीत के लिए जीवन का मतलब थिएटर था. उन्हें इसके अलावा कुछ नहीं सूझता था. घर पे मां जब भी शादी को कहतीं, तो ये कह के मना कर देते कि उनकी रोज़ी-रोटी का ठिकाना नहीं है. आज काम है, कल नहीं है. कैसे ज़िम्मेदारी उठाएंगे. उस वक़्त विनीत की सबसे करीबी दोस्त थीं एक्ट्रेस नवनीत निशान. नवनीत की मां भी अक्सर विनीत को शादी करने के लिए टोकती रहती थीं. लेकिन विनीत हर बार टालमटोल कर जाते थे.

विनीत संग मनोरंजन
विनीत संग मनोरंजन

अपनी पत्नी मनोरंजन धालीवाल से पहली मुलाकात कैसे हुई, इसका मज़ेदार किस्सा विनीत सुनाते हैं.

“वो नवनीत निशान के साथ पढ़ी हुई थीं. नवनीत स्कूल के वक़्त से मेरे बहुत क्लोज़ रही है. उस वक़्त उसके यहां जाना-आना बना रहता ही था. बंबई में सारे दोस्त वहीं जाते थे, उसी के यहां. क्यूंकि उसी के पास अपना एक फ्लैट था. तो सब लोग वहीं बैठते थे. 93 या 94 में उनकी मां ने इशारे में हमसे कहा शादी करने को. तो हमने कहा हमें शादी नहीं करना है, वाकई में नहीं करना था. हम अपने आप को पाते ही नहीं कि हम इस योग्य हैं कि सहज़-सरल तरीके से जीवन जी सकें.

खैर वो आईं नवनीत से मिलने के लिए. दरअसल ये दो माताओं का आयोजित आयोजन जैसा कुछ था. के भाई मिला देना. तो वो कुछ चार-पांच दिन रहीं बंबई में. तो नवनीत ने कहा जा घुमा ला. तो हम बोले हम कहां घुमाएंगे, हम तो खुद नहीं घूमते. सब बहुत बोले तो हम एडिटिंग रूम में ले गए. तो अफ़ाक भाई आए ढेर सारी वीएचएस लेके, बोले ये भी दिखा दे. वो बोले अबे ले जाकर कहीं घुमा. हम बोले अब आप भी भगा रहे हो. खैर मनोरंजन के वापस जाने से एक दिन पहले बैठाल के पूछा गया बताओ भई क्या विचार हैं तुम लोगों के.

अब मेरा कैसे विचार हो सकता है. आज पैसा कमा रहे हैं .कल नहीं कमाएंगे. तो भई कैसे रहेंगे. मुझे तो दोनों के बारे में सोचना पड़ेगा. ऐसे आदमी के साथ ये रह पाएंगी या नहीं रह पाएंगी भगवान जाने. उन्होंने भी कहा भई मैं कैसे बता सकती हूं. ये कौन हैं, क्या हैं. ये बात हो ही रही थी उधर नवनीत की मदर ने कह दिया ‘अरे ये दोनों तो शादी के लिए तैयार हैं’. इधर नवनीत अंदर से उछलती हुई बल्ले-बल्ले करती हुई आ गई. ना हम कुछ बोले, ना वो कुछ बोलीं. शादी हो गई.”


ये स्टोरी दी लल्लनटॉप में इंटर्नशिप कर रहे शुभम ने लिखी है.


विडियो: विनीत कुमार की लव स्टोरी, बिन हां बोले हो गई शादी

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्रिकेट के किस्से

टाइगर पटौदी के कहने पर, इस लड़के ने डेब्यू में शतक ठोक दिया था!

टाइगर पटौदी के कहने पर, इस लड़के ने डेब्यू में शतक ठोक दिया था!

पाकिस्तानियों ने भी इसके कद का खूब मज़ाक बनाया.

पाकिस्तान के खिलाफ कुंबले के 'परफेक्ट 10' रिकॉर्ड की असल वजह क्या जवागल श्रीनाथ थे?

पाकिस्तान के खिलाफ कुंबले के 'परफेक्ट 10' रिकॉर्ड की असल वजह क्या जवागल श्रीनाथ थे?

22 साल पहले आज ही के दिन दिल्ली में ये करिश्मा शुरू हुआ था.

50 साल पहले बारिश न होती तो शायद वनडे क्रिकेट का नामोनिशान न होता!

50 साल पहले बारिश न होती तो शायद वनडे क्रिकेट का नामोनिशान न होता!

वनडे क्रिकेट की कैसे शुरुआत हुई थी, जान लीजिए

गावस्कर ने क्या वाकई कोलकाता में कभी न खेलने की कसम खा ली थी?

गावस्कर ने क्या वाकई कोलकाता में कभी न खेलने की कसम खा ली थी?

क्या गावस्कर की वजह से कपिल देव रिकॉर्ड बनाने से चूक गए थे, सच जान लीजिए

तुम्हारा स्कोर अब भी ज़ीरो है, रिचर्ड्स के इस कमेंट पर गावस्कर ने बल्ले से सबकी बोलती बंद कर दी थी

तुम्हारा स्कोर अब भी ज़ीरो है, रिचर्ड्स के इस कमेंट पर गावस्कर ने बल्ले से सबकी बोलती बंद कर दी थी

ठीक 37 साल पहले गावस्कर ने तोड़ा था ब्रेडमैन का सबसे बड़ा रिकॉर्ड.

वो भारतीय क्रिकेटर, जिसने टूटे पांव पर बिजली के झटके सहकर ऑस्ट्रेलिया को मेलबर्न में हराया

वो भारतीय क्रिकेटर, जिसने टूटे पांव पर बिजली के झटके सहकर ऑस्ट्रेलिया को मेलबर्न में हराया

दिलीप दोषी, जो गावस्कर को 'कपटी' मानते थे.

जब हाथ में चोट लेकर अमरनाथ ने ऑस्ट्रेलिया को पहला ज़ख्म दिया!

जब हाथ में चोट लेकर अमरनाथ ने ऑस्ट्रेलिया को पहला ज़ख्म दिया!

अगर वो 47 रन बनते, तो भारत 40 साल लेट ना होता.

'क्रिकेट के भगवान' सचिन तेंदुलकर के साथ पहले वनडे में जो हुआ, उस पर आपको विश्वास नहीं होगा

'क्रिकेट के भगवान' सचिन तेंदुलकर के साथ पहले वनडे में जो हुआ, उस पर आपको विश्वास नहीं होगा

31 साल पहले आज ही के दिन सचिन पहला वनडे इंटरनैशनल खेलने उतरे थे

जब कंगारुओं को एडिलेड में दिखा ईडन का भूत और पूरी हो गई द्रविड़ की यात्रा

जब कंगारुओं को एडिलेड में दिखा ईडन का भूत और पूरी हो गई द्रविड़ की यात्रा

साल 2003 के एडिलेड टेस्ट का क़िस्सा.

कौन सा गाना लगातार पांच दिन सुनकर सचिन ने सिडनी में 241 कूट दिए थे?

कौन सा गाना लगातार पांच दिन सुनकर सचिन ने सिडनी में 241 कूट दिए थे?

सचिन की महानतम पारी का कमाल क़िस्सा.