Submit your post

Follow Us

...जब अटल बिहारी वाजपेयी ने ABVP से कहा- अपनी गलती मानो और कांग्रेस से माफी मांगो

ये साल 1976 के आखिरी दिन की बात है. 31 दिसंबर. अटल बिहारी वाजपेयी विपक्ष में थे. RSS का छात्र संगठन है अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP). इसके जनरल सेक्रटरी थे राम बहादुर राय. उन्हें मालूम चला था कि इंदिरा गांधी के गृह राज्यमंत्री ओम मेहता की वाजपेयी संग मुलाकात हुई है. राम बहादुर को बस इतना पता था कि मुलाकात हुई. क्यों हुई, क्या बात हुई, ये सब नहीं पता था उनको. अब ये अजीब बात थी. इंदिरा के मंत्री से वाजपेयी का क्या लेना-देना. ऊपर से इमरजेंसी की कड़वाहट. राम बहादुर को उत्सुकता के कीड़े ने बड़ी जोर काटा. वाजपेयी का घर था 1 फिरोज शाह रोड पर. वो भागे-भागे वाजपेयी से मिलने पहुंचे. बाहर ठंड थी, अंदर कमरा मस्त गरम था. राम बहादुर को गर्मागर्म चाय पिलाई गई.

चाय पीते-पीते राय ने पूछा- वाजपेयी जी, क्या ये सच है कि ओम मेहता आपसे मिलने आए थे? वाजपेयी ने तपाक से जवाब दिया. बोले- नहीं, वो बड़े आदमी हैं. वो नहीं आए थे मुझसे मिलने. मैं उनसे मिलने गया था.

राय भौंचक. उनका नेता ये क्या कह रहा है? कि वो खुद कांग्रेस नेता से मिलने गया था! ओम मेहता मामूली आदमी नहीं थे. गृह मंत्रालय में भले राज्यमंत्री हों, लेकिन गृहमंत्री ब्रह्मानंद रेड्डी से कहीं ज्यादा ताकतवर थे. वो इसलिए कि ओम मेहता इंदिरा के करीबी थे. सत्ता की कुर्सी से जितनी नजदीकी होगी, आदमी भी उतना ही ताकतवर हो जाएगा.

इमरजेंसी के वक्त वाजपेयी को भी जेल में बंद किया गया था. फिर तबीयत खराब होने पर वो एम्स भेज दिए गए. इसके बाद उन्हें दिल्ली स्थित उनके घर में नजरबंद कर दिया गया था.
इमरजेंसी के वक्त वाजपेयी को भी जेल में बंद किया गया था. फिर तबीयत खराब होने पर वो एम्स भेज दिए गए. इसके बाद उन्हें दिल्ली स्थित उनके घर में नजरबंद कर दिया गया था.

वाजपेयी की बात सुनकर राय साहब कुछ देर चुपचाप बैठे रहे. फिर पूछा कि ओम मेहता से हुई मुलाकात से क्या बात निकली. वाजपेयी थोड़ी देर चुप रहे. फिर उन्होंने बोलना शुरू किया. असल में ABVP नेताओं और कार्यकर्ताओं ने देश के कई हिस्सों में खूब बवाल काटा था. सरकारी संपत्ति की तोड़-फोड़. आगजनी. हिंसा. खूब गुंडागर्दी की गई थी ABVP की तरफ से. वाजपेयी ने राम बहादुर राय को ये सब याद दिलाया. फिर बोले-

ABVP को अपनी गलती मान लेनी चाहिए. आपको सरकार से माफी मांग लेनी चाहिए.

वाजपेयी की ये बात सुनकर राम बहादुर राय को गुस्सा तो बहुत आया. मगर वो गुस्सा पी गए. कहा, ABVP कार्यकर्ताओं ने हिंसा नहीं की है. बोले-

हम पर लगाए गए इल्जाम गलत हैं. सरकार भले हमको जेल में डाल दे, लेकिन हम किसी भी कीमत पर माफी नहीं मांगेंगे.

इस पर वाजपेयी ने दिया राम बहादुर को ज्ञान. कहा-

तुम जवान-जहान लोगों के लिए ऐसी बातें करना आसान है. मेरे जैसे बड़े-बूढ़े नेता तो लोकतांत्रिक तरीका पसंद करते हैं. अरे भाई, हम चुनाव चाहते हैं कि नहीं? हमको लोकतंत्र तो चाहिए ही न.

राम बहादुर चुप तो हो गए, मगर माफी नहीं मांगी. आगे चलकर वो ‘जनसत्ता’ अखबार के संपादक बने. उस दिन उन्होंने जो देखा, वो असल में वाजपेयी की राजनीति का स्टाइल था. जब जैसा, तब तैसा टाइप.

ये किस्सा हमें मिला उल्लेख एन पी की किताब ‘द अनटोल्ड वाजपेयी: पॉलिटिशयन ऐंड पैराडॉक्स’ में. पेंगुइन पब्लिकेशन्स की किताब है. कीमत है 599 रुपये.


ये भी पढ़ें: 

जब केमिकल बम लिए हाईजैकर से 48 लोगों को बचाने प्लेन में घुस गए थे वाजपेयी

क्या इंदिरा गांधी को ‘दुर्गा’ कहकर पलट गए थे अटल बिहारी?

उमा भारती-गोविंदाचार्य प्रसंग और वाजपेयी की नाराजगी की पूरी कहानी

कुंभकरण के जागते ही वाजपेयी के गले लग गए आडवाणी

अटल बिहारी ने सुनाया मौलवी साब का अजीब किस्सा

नरसिम्हा राव और अटल के बीच ये बात न हुई होती, तो भारत परमाणु राष्ट्र न बन पाता

जब पोखरण में परमाणु बम फट रहे थे, तब अटल बिहारी वाजपेयी क्या कर रहे थे

क्यों एम्स में भर्ती किए गए अटल बिहारी वाजपेयी?

वीडियो में देखिए वो कहानी, जब अटल ने आडवाणी को प्रधानमंत्री नहीं बनने दिया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्रिकेट के किस्से

कहानी उस कमाल के शख्स की, जिसने सचिन तेंडुलकर को अरबपति बनाया

कहानी उस कमाल के शख्स की, जिसने सचिन तेंडुलकर को अरबपति बनाया

सचिन को 'ब्रांड सचिन' बनाने वाले दिग्गज के किस्से, जिसने कहा था- जब यूरोप के दिग्गज सो रहे थे, हमने राजाओं का गेम ही खरीद लिया.

सहवाग के उतरे कंधे की वजह से सालों साल खेल गया टीम इंडिया का ये बल्लेबाज़!

सहवाग के उतरे कंधे की वजह से सालों साल खेल गया टीम इंडिया का ये बल्लेबाज़!

जब मांजरेकर ने जॉन राइट से कहा, इसकी रेप्युटेशन 50 वाली नहीं 200-300 रन वाली है.

कहानी चेतन सकारिया की जिनके पास खेलने के लिए जूते भी नहीं थे!

कहानी चेतन सकारिया की जिनके पास खेलने के लिए जूते भी नहीं थे!

भाई ने खुदकुशी कर ली और घरवालों ने बताया भी नहीं.

क्यों पाकिस्तान को ताज होटल में नहीं रुकने देना चाहती थी टीम इंडिया?

क्यों पाकिस्तान को ताज होटल में नहीं रुकने देना चाहती थी टीम इंडिया?

पैडी अपटन ने बताया, उस मैच में क्या सोचकर खेल रहा था एक-एक खिलाड़ी.

वसीम अकरम की वो फोटो जिसे देखते ही उनकी बीवी बोलीं- क्या ये नॉर्मल है?

वसीम अकरम की वो फोटो जिसे देखते ही उनकी बीवी बोलीं- क्या ये नॉर्मल है?

BCCI को भारी पड़ी थी इस फोटो के पीछे की वजह.

ब्रायन लारा ने सिर्फ 153 रन मारे, फिर भी उनकी ये पारी टेस्ट इतिहास की दूसरी बेस्ट पारी क्यों है?

ब्रायन लारा ने सिर्फ 153 रन मारे, फिर भी उनकी ये पारी टेस्ट इतिहास की दूसरी बेस्ट पारी क्यों है?

किस्सा उस मैच का, जब पुराने यार ने खुद 'जामवंत' बनकर लारा को एहसास दिलाया कि वो 'हनुमान' हैं.

बॉल टैम्परिंग: 1965 में खेले एक पाकिस्तानी लड़के का किया ऑस्ट्रेलिया ने 2018 में भरा!

बॉल टैम्परिंग: 1965 में खेले एक पाकिस्तानी लड़के का किया ऑस्ट्रेलिया ने 2018 में भरा!

बॉल टैम्परिंग का वो इतिहास जो 2018 में ऑस्ट्रेलिया के गले की फांस बना.

जब टीचर ने हार्दिक-कृणाल की कंप्लेंट की तो पापा ने एक जवाब से सबको चुप कर दिया

जब टीचर ने हार्दिक-कृणाल की कंप्लेंट की तो पापा ने एक जवाब से सबको चुप कर दिया

पांड्या ब्रदर्स के संघर्ष और उनके पिता के विश्वास के अनोखे किस्से.

जब 17 साल के लड़के ने ज़हीर खान को बोलिंग से हटवा दिया था

जब 17 साल के लड़के ने ज़हीर खान को बोलिंग से हटवा दिया था

एक हाथ में फ्रैक्चर और एक हाथ में बल्ला लेकर खेलने उतर गया था ये खिलाड़ी.

जब 21 साल के सनी ने खत्म किया 23 साल और दर्जनों टेस्ट मैचों का इंतजार

जब 21 साल के सनी ने खत्म किया 23 साल और दर्जनों टेस्ट मैचों का इंतजार

क़िस्सा सुनील गावस्कर के डेब्यू टेस्ट का.