Submit your post

Follow Us

जब पोखरण में परमाणु बम फट रहे थे, तब अटल बिहारी वाजपेयी क्या कर रहे थे

11 मई, 1998 को राजस्थान के पोखरण में तीन बमों के सफल परीक्षण के साथ भारत न्यूक्लियर स्टेट बन गया. अटल की पुण्यतिथि पर पेश है एक किस्सा, जो बताता है कि परीक्षण के समय PMO का क्या हाल था.

तारीख 11 मई, 1998. दिन सोमवार. उस तपती दोपहर को रेसकोर्स रोड पर प्रधानमंत्री के सरकारी घर के ड्रॉइंग रूम में छ: लोग बैठे हुए थे. इन लोगों के लिए ये पल तनावभरे थे. 3 बजकर 45 मिनट पर जब राजस्थान के पोखरण की रेत तीन-तीन परमाणु विस्फोटों से थर्रा रही थी, तब इन छ: लोगों को सिर्फ एसी की घरघराहट सुनाई दे रही थी.

ठीक 10 मिनट बाद साथ वाले एक कमरे में टेलीफोन की घंटी बजी. प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव बृजेश मिश्र ने हिचकते हुए टेलीफोन का रिसीवर उठाया. दूसरी तरफ से उन्हें उत्तेजना भरी आवाज़ सुनाई दी,‘काम फतह’.

वाजपेयी के साथ बृजेश मिश्रा
वाजपेयी के साथ बृजेश मिश्रा

बृजेश ने फोन करने वाले शख्स को इंतज़ार करने के लिए कहा और वो वापस मेहमानों वाले कमरे में दाखिल हुए. कमरे में मौजूद बाकी पांच लोगों- प्रधानमंत्री अटल बिहारी, गृहमंत्री लालकृष्ण आडवाणी, रक्षामंत्री जॉर्ज फर्नांडिस, वित्तमंत्री यशवंत सिन्हा और योजना आयोग के उपाध्यक्ष जसवंत सिंह ने बृजेश के चेहरे के भाव पढ़ लिए और फिर उनके लिए अपनी भावनाएं काबू में रखना मुश्किल हो गया.

आडवाणी गीली हो आईं आंखों को पोंछते नज़र आए. वाजपेयी ने फोन का रिसीवर उठाकर भावुक आवाज़ में उन दो वैज्ञानिकों को बधाई दी, जिनके बूते ये काम मुमकिन हो पाया था. पहले तो परमाणु ऊर्जा विभाग के अध्यक्ष आर. चिदंबरम और दूसरे रक्षा अनुसंधान और विकास संस्थान के प्रमुख एपीजे अब्दुल कलाम.

भारत को परमाणु राष्ट्र बनाने में इन तीन लोगों का बड़ा योगदान है. डॉ. अब्दुल कलाम, आर. चिदंबरम और के. संथानम (दाएं से बाएं)
भारत को परमाणु राष्ट्र बनाने में इन तीन लोगों का बड़ा योगदान है. डॉ. अब्दुल कलाम, आर. चिदंबरम और के. संथानम (दाएं से बाएं)

इसके बाद देश अपनी सरकार के ‘दुस्साहस’ का जश्न मनाने में मशगूल हो गया. उधर दो दिन बाद अमेरिका के हैरान-परेशान राष्ट्रपति बिल क्लिंटन ने भारत पर कई सारे प्रतिबंध थोप दिए. लेकिन भारत नहीं माना. 13 मई को पोखरण की रेत एक बार फिर थर्राई और ये भूकंप की वजह से नहीं था. भारत ने दो और परीक्षण किए थे. एक बार फिर सरकारी बयान जारी किया गया, जिसमें कहा गया, ‘इससे भूमिगत परीक्षणों का ये तयशुदा दौरा पूरा हो गया.’

सफल परमाणु परीक्षण की घोषणा करते अटल बिहारी वाजपेयी
सफल परमाणु परीक्षण की घोषणा करते अटल बिहारी वाजपेयी

इसके एक दिन बाद यानी 11 मई वाले परीक्षण के तीसरे दिन विदेशी टीवी नेटवर्कों की कैमरा टीमें पूरी दिल्ली में घूम रही थीं. वो पोखरण परीक्षण के खिलाफ प्रदर्शन करने वाले लोगों को ढूंढ रहे थे, ताकि उन्हें भारत सरकार की आलोचना करने का कोई सिरा मिले. मगर अफसोस, उन्हें एक भी फोटो खींचने का मौका नहीं मिला.


विडियो- अटल बिहारी बाजपेयी और नरसिंह राव के बीच ये बात न हुई होती, तो इंडिया न्यूक्लियर स्टेट न बन पाता

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

जिन मीम्स को सोशल मीडिया पर शेयर कर चौड़े होते हैं, उनका इतिहास तो जान लीजिए

जिन मीम्स को सोशल मीडिया पर शेयर कर चौड़े होते हैं, उनका इतिहास तो जान लीजिए

कौन सा था वो पहला मीम जो इत्तेफाक से दुनिया में आया?

पार्टियों को चुनाव निशान के आधार पर पहचानते हैं आप?

पार्टियों को चुनाव निशान के आधार पर पहचानते हैं आप?

चुनावी माहौल में क्विज़ खेलिए और बताइए कितना स्कोर हुआ.

लगातार दो फिफ्टी मारने वाले कोहली ने अब कहां झंडे गाड़ दिए?

लगातार दो फिफ्टी मारने वाले कोहली ने अब कहां झंडे गाड़ दिए?

राहुल के साथ यहां भी गड़बड़ हो गई.

रोहित शेट्टी के ऊपर ऐसी कड़क Quiz और कहां पाओगे?

रोहित शेट्टी के ऊपर ऐसी कड़क Quiz और कहां पाओगे?

14 मार्च को बड्डे होता है. ये तो सब जानते हैं, और क्या जानते हो आके बताओ. अरे आओ तो.

आमिर पर अगर ये क्विज़ नहीं खेला तो दोगुना लगान देना पड़ेगा

आमिर पर अगर ये क्विज़ नहीं खेला तो दोगुना लगान देना पड़ेगा

म्हारा आमिर, सारुक-सलमान से कम है के?

परफेक्शनिस्ट आमिर पर क्विज़ खेलो और साबित करो कितने जाबड़ फैन हो

परफेक्शनिस्ट आमिर पर क्विज़ खेलो और साबित करो कितने जाबड़ फैन हो

आज आमिर खान का हैप्पी बड्डे है. कित्ता मालूम है उनके बारे में?

अनुपम खेर को ट्विटर और वॉट्सऐप वीडियो के अलावा भी ध्यान से देखा है तो ये क्विज खेलो

अनुपम खेर को ट्विटर और वॉट्सऐप वीडियो के अलावा भी ध्यान से देखा है तो ये क्विज खेलो

चेक करो अनुपम खेर पर अपना ज्ञान.

कहानी राहुल वैद्य की, जो हमेशा जीत से एक बिलांग पीछे रह जाते हैं

कहानी राहुल वैद्य की, जो हमेशा जीत से एक बिलांग पीछे रह जाते हैं

'इंडियन आइडल' से लेकर 'बिग बॉस' तक सोलह साल हो गए लेकिन किस्मत नहीं बदली.

गायों के बारे में कितना जानते हैं आप? ज़रा देखें तो...

गायों के बारे में कितना जानते हैं आप? ज़रा देखें तो...

कितने नंबर आए बताते जाइएगा.

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.