Submit your post

Follow Us

जब श्रेयस अय्यर ने लास्ट ओवर में छक्का मारा और राहुल द्रविड़ को गुस्सा आ गया

‘राहुल द्रविड़ क्रिकेट अकेडमी’ से ना जाने कितने युवा स्टार्स निकलकर टीम इंडिया तक पहुंचे हैं. ऐसा ही एक नाम है श्रेयस अय्यर का. श्रेयस ने टीम इंडिया में अपनी जगह पक्की करने के बाद पहली बार बताया है कि किस तरह से द्रविड़ ने एक बार उनकी गलती पर उन्हें टोका था. जिसके बाद अय्यर ने उस चीज़ को बेहतर किया.

मुंबई के इस बल्लेबाज़ ने बताया कि एक बार एक चार दिवसीय मैच में अय्यर ने आखिरी ओवर में क्रीज़ से आगे निकलकर छक्का मार दिया. जिसके बाद द्रविड़ ने उनसे कहा, ‘वॉट इज़ धिस बॉस?'(ये क्या है)

कभी वीरेंद्र सहवाग के साथ अय्यर की तुलना होती थी. लेकिन अब अय्यर ने बताया कि इसके लिए कई बार उनकी आलोचना भी होती थी. अय्यर ने क्रिकबज़ के एक शो में बताया,

”वो एक चार दिवसीय मैच था और राहुल द्रविड़ मुझे पहली बार खेलते देख रहे थे. पहले दिन का आखिरी ओवर था. मैं 30 रन के आसपास खेल रहा था, तब तक सभी ये सोच रहे थे कि ये दिन का आखिरी ओवर है और मैं पूरा ओवर ध्यान से बल्लेबाज़ी कर उसे फिनिश करूंगा.

राहुल द्रविड़ अंदर बैठकर देख रहे थे. गेंदबाज़ ने एक फ्लाइटेड गेंद फेंकी, मैं उस गेंद को देखकर आगे निकला और शॉट को हवा में खेल दिया. गेंद ऊंची हवा में गई और ये छक्का था. ड्रेसिंग रूम से सभी लोग बाहर निकलकर आए और सोचने लगे कि आखिरी ओवर में कौन इस तरह से खेलता है.”

उस दिन राहुल द्रविड़ ने मुझे जज कर लिया कि मैं कैसा हूं. वो मेरे पास आए और कहा, ‘बॉस ये क्या था? दिन का आखिरी ओवर था और तुम ये क्या कर रहे थे.’ धीरे-धीरे मुझे समझ आया कि आखिर वो क्या कहना चाह रहे थे.”

राहुल द्रविड़ नेशनल क्रिकेट अकेडमी के प्रमुख बनने से पहले अंडर-19 और इंडिया ए टीम के हेड कोच थे. इतना ही नहीं उन्होंने राजस्थान रॉयल्स और दिल्ली डेयरडेविल्स जैसी टीमों में भी कोचिंग की ज़िम्मेदारी निभाई है. राहुल द्रविड़ ने जिनको कोचिंग दी, उनमें से ऋषभ पंत, श्रेयस अय्यर, कुलदीप यादव, युजवेन्द्र चहल, संजू सैमसन जैसे खिलाड़ी टीम इंडिया का हिस्सा बन चुके हैं.


सचिन तेंडुलकर और विरेंदर सहवाग ने सुनाया 2011 वर्ल्ड कप फाइनल का मजेदार किस्सा 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पॉलिटिकल किस्से

कांग्रेस-बीजेपी में धुकधुकी बंधी हुई थी,  RSS मुख्यालय में प्रणब का भाषण सुनकर आया चैन

कांग्रेस-बीजेपी में धुकधुकी बंधी हुई थी, RSS मुख्यालय में प्रणब का भाषण सुनकर आया चैन

पार्टी नेताओं ने ही नहीं, बेटी ने भी रोका था दादा को

जब वित्त मंत्रालय के अंदर मिली 'जासूसी चूइंगम' से प्रणब और चिदंबरम में अनबन की खबरें चिपकने लगी थीं

जब वित्त मंत्रालय के अंदर मिली 'जासूसी चूइंगम' से प्रणब और चिदंबरम में अनबन की खबरें चिपकने लगी थीं

बीजेपी ने इस मामले को 2 टॉप मंत्रियों में मतभेद करार दिया था

प्रणब मुखर्जी ने जब बैंकों के राष्ट्रीयकरण पर भाषण देकर इन्दिरा गांधी का ध्यान खींचा

प्रणब मुखर्जी ने जब बैंकों के राष्ट्रीयकरण पर भाषण देकर इन्दिरा गांधी का ध्यान खींचा

प्रणब दा कांग्रेस के उन नेताओें में शामिल रहे, जिन्हें गांधी परिवार से इतर प्रधानमंत्री का दावेदार समझा जाता था.

जब प्रणब मुखर्जी ने इन्दिरा गांधी की सलाह नहीं मानी और लड़ गए लोकसभा चुनाव

जब प्रणब मुखर्जी ने इन्दिरा गांधी की सलाह नहीं मानी और लड़ गए लोकसभा चुनाव

तब इंदिरा गांधी को प्रणब दा की जिद के आगे झुकना पड़ा था.

जब सात साल के प्रणब ने घर पर छापा मारने आए पुलिसवालों की तलाशी ली

जब सात साल के प्रणब ने घर पर छापा मारने आए पुलिसवालों की तलाशी ली

ब्रिटिश पुलिस अधिकारी ने क्यों कहा- Only a tiger could be born to a tiger.

जब चाय पी रहे प्रणब के कानों में गूंजा, 'दादा, आपको पार्टी से निकाल दिया गया है'

जब चाय पी रहे प्रणब के कानों में गूंजा, 'दादा, आपको पार्टी से निकाल दिया गया है'

अलग पार्टी बना ली थी प्रणब मुखर्जी ने, बंगाल का चुनाव भी लड़ा था.

महमूद ने कहा- अमिताभ नहीं राजीव को फिल्म में लो, वो ज्यादा स्मार्ट दिखता है

महमूद ने कहा- अमिताभ नहीं राजीव को फिल्म में लो, वो ज्यादा स्मार्ट दिखता है

अमिताभ का रोल करने वाले थे राजीव.

बिहार पॉलिटिक्स : बड़े भाई को बम लगा, तो छोटा भाई बम-बम हो गया

बिहार पॉलिटिक्स : बड़े भाई को बम लगा, तो छोटा भाई बम-बम हो गया

कैसे एक हत्याकांड ने बिहार मुख्यमंत्री का करियर ख़त्म कर दिया?

जब बम धमाके में बाल-बाल बचीं थीं शीला दीक्षित!

जब बम धमाके में बाल-बाल बचीं थीं शीला दीक्षित!

धमाका इताना जोरदार था कि कार के परखच्चे उड़ गए.

RSS के पहले सरसंघचालक हेडगेवार ने गोलवलकर को ही क्यों चुना अपना उत्तराधिकारी?

RSS के पहले सरसंघचालक हेडगेवार ने गोलवलकर को ही क्यों चुना अपना उत्तराधिकारी?

हेडगेवार की डेथ एनिवर्सरी पर जानिए ये पुराना किस्सा.