Submit your post

Follow Us

'दी एम्पायर' के वो सीन्स, जो हिंदी-अंग्रेज़ी की मशहूर फिल्मों से सीधे-सीधे कॉपी किए गए!

मुग़ल बादशाह बाबर की कहानी पर आधारित शो ‘द एम्पायर’ 27 अगस्त को डिज्नी+हॉटस्टार पर रिलीज़ हुआ. शो के ट्रेलर में दिखे ग्रैंड स्केल के सेट्स और सिनेमेटोग्राफी देख शो से दर्शकों की काफ़ी उम्मीदें बंधी हुई थीं. लगा था ये कुछ विश्वस्तरीय प्रोडक्ट है. लेकिन खोदा पहाड़ निकला चूहा. ‘द एम्पायर’ में एक्टर्स दूसरे एक्टर्स की नकल करते दिखे. तो कई सीन्स डायरेक्टर साब ने इंग्लिश फिल्मों और शोज़ के अंदाज़ में कैमरे पर उतारे. नयापन तो पूरे शो के दौरान नदारद रहा. ‘द एम्पायर’ देखते वक़्त कौन-कौन सी फ़िल्में और शोज़ हमें याद आए, साथ ही शो के किरदारों को देख कौन सी पुरानी फिल्मों के करैक्टर दिमाग में चमके, इस पर आगे बात करेंगे.

#शयबानी खान -खिलजी- खाल ड्रोगो

खाल ड्रोगो.
खाल ड्रोगो.

‘द एम्पायर’ में शयबानी खान का किरदार डीनो मोरिया ने प्ले किया है. एक सनकी-क्रूर ऑलमोस्ट इम्मोर्टल बादशाह. अब चूंकि ऐतिहासिक किरदार है, तो कुछ पेंटिंग्स के अलावा और कोई सोर्स ऑफ रेफरेंस नहीं है. ऐसे में एक्टर्स और डायरेक्टर अपनी ओर से करैक्टर में कई एलिमेंट जोड़ देते हैं. इस किरदार को जिस तरीके से लिखा गया है, जिस तरीके से इसकी वेश-भूषा है, वो एकदम ‘पद्मावत’ के अलाउद्दीन खिलजी की कॉपी लगती है. यहां तक कि जिस तरीके से डीनो मुख्य मुद्राएं बनाते हैं, उसमें भी खिलजी बने रणवीर की झलक दिखाई देती है. शयबानी खान की पोशाक, उसके लंबे बाल, बड़ी दाढ़ी सब कुछ खिलजी की फर्स्ट कॉपी जैसा नज़र आता है. लेकिन अब इनको क्या ही बोलें! ख़िलजी का लुक खुद ‘गेम ऑफ थ्रोन्स’ के खाल ड्रोगो से इंस्पायर्ड था.

डीनो मोरेया. रणवीर सिंह.
डीनो मोरेया. रणवीर सिंह.

# कॉपीड फेस ऑफ

'द एम्पायर' में बाबर और शयबानी आमने-सामने.
‘द एम्पायर’ में बाबर और शयबानी आमने-सामने.

शो में कुणाल कपूर बाबर के किरदार में हैं. बहुत हद तक अभिनय के मामले में असल रहे हैं. लेकिन कुछ सीन्स में वो भी दूसरों को इमीटेट करते नज़र आए. जैसे एक सीन है शयबानी खान और बाबर के बीच. वो सीन तो हूबहू पद्मावत के खिलजी-रावल एनकाउंटर से चिपकाया हुआ लगता है. आपको ‘पद्मावत’ का वो सीन तो याद ही होगा, जब अलाउद्दीन खिलजी राजा रावल रतन सिंह से मिलने उनके महल में जाता है. ये खिलजी और रावल का एनकाउंटर ‘पद्मावत’ के सबसे फ़ेमस सीन्स में एक है. जहां दोनों आमने-सामने बैठकर पैसिव वे में अपनी ताकत की नुमाइश करते हैं. खिलजी रावल को झपट्टा मार कर गले से लगाता है. ये सेम सीन ‘द एम्पायर’ में बाबर और शयबानी खान के बीच दोहराया गया है. जहां शयबानी खान बाबर के महल में आकर बाबर के साथ फेस ऑफ़ करता है. खिलजी के तरीके से ही शयबानी बाबर से ज़बरदस्ती गले भी मिलता है. इस सीन में बाबर का रोल कर रहे कुणाल जैसे ठहरकर, स्मर्क पास करते हुए डायलाग बोलते हैं, वो हूबहू ‘पद्मावत’ के शाहिद कपूर की नकल लगती है.

'पद्मावत' में रावल रत्न सिंह और अलाउद्दीन खिलजी आमने-सामने.
‘पद्मावत’ में रावल रतन सिंह और अलाउद्दीन खिलजी आमने-सामने.

#जोधा अकबर के ऋतिक

कुछ पार्ट्स में कुणाल कपूर ‘जोधा अकबर’ के हृतिक की भी याद दिलाते हैं. ख़ासतौर से उस सीन में, जब वो बादशाह के तख़्त पर बैठे दरबारियों से मुखातिब होते हैं. ये सीन ‘जोधा अकबर’ के उस सीन की याद दिलाता है, जब अकबर बने हृतिक अपने दरबार में जनता की फ़रियाद सुन रहे होते हैं. ‘द एम्पायर’ में एक सीन है जब बाबर आम पोशाक में बाज़ार में निकलता है. ये सीन भी ‘जोधा अकबर’ के उस सीन से प्रेरित लगता है, जिसमें अकबर बने हृतिक आम नागरिक बनकर बाज़ार में अपनी प्रजा का हाल लेने निकलते हैं.

#बाबर जॉन स्नो

अभिनय में कुणाल पर ‘जोधा अकबर’ के ह्रितिक और ‘पद्मावत’ के शाहिद का इन्फ्लुएंस लगता है. तो कॉस्टयूम और हेयरस्टाइल से कुणाल द्वारा निभाया बाबर बहुत हद तक ‘गेम ऑफ थ्रोन्स’ के जॉन स्नो जैसा दिखता है. बाबर के जॉन की तरह वैसे ही घुंघराले बाल हैं. यहां तक कि कुणाल का लिबास भी कई जगह सेम टू सेम जॉन स्नो की पोशाक से मिलता दिखता है.

युद्ध के कई सीन एकदम ‘गेम ऑफ़ थ्रोंस’ के बैटल सीन्स से इंस्पायर्ड लगे हैं. खासतौर से वो सीन जब बाबर की सेना लोधी सेना से युद्ध करती है. इसके कई दृश्य ‘गेम ऑफ़ थ्रोंस’ के वाइट वॉकर और विंटरफ़ैल के बीच फिल्माए युद्ध जैसे नज़र आते हैं. इसी युद्ध में एक सीन है जिसमें बाबर अकेले तलवार लिए खड़ा है और सामने से फ़ौज आ रही है. ये सीन तो एकदम ‘गेम ऑफ़ थ्रोंस’ के सीज़न 6 में हुए रामसे बोल्टन और जॉन स्नो के युद्ध ‘बैटल ऑफ़ बास्टर्ड्स’ का कॉपी पेस्ट लगता है.

बाबर- जॉन स्नो
बाबर- जॉन स्नो

#कासिम -मलिक काफूर

इमाद शाह एज़ कासिम.
इमाद शाह एज़ कासिम.

‘पद्मावत’ में आप सब ने देखा ही होगा अलाउद्दीन खिलजी के साथ मलिक काफूर होता है. इस रोल को जिम सर्भ ने फ़िल्म में पोट्रे किया था. जिसके लिए उनकी खूब तारीफ़ हुई थी. ‘द एम्पायर’ में एक किरदार है कासिम. जो बाबर के आगे बचपन में चोर की तरह पेश किया जाता है. आगे जाकर कासिम बाबर की बहुत मदद करता है. जिसके चलते बाबर कासिम को अपना सबसे अज़ीज़ दोस्त बना लेते हैं. शो में दिखाया गया है, जब हिंदुस्तान में लोधी सल्तनत से लड़ते-लड़ते बाबर को अपनी हार दिखने लगती है और वो वापस काबुल रवाना होने के बारे में सोच रहा होता है, उस वक़्त कासिम ही होता है जो बाबर से कहता है ‘हिंदुस्तान को फ़तेह किया जा सकता है’. कासिम बाबर को बारूद से परिचित कराता है और इसकी ताकत दिखाता है. बारूद के आगे लोधियों के तलवार-भाले किसी काम नहीं आते और बाबर हिंदुस्तान फ़तेह कर लेता है.

कासिम का किरदार प्ले किया है इमाद शाह ने. बता दूं इमाद नसीरुद्दीन शाह के बेटे हैं. इमाद ने एक्टिंग तो अच्छी की है लेकिन कासिम का किरदार बहुत हद तक ‘पद्मावत’ के मलिक काफूर जैसा लिखा और रचा गया है. बस मलिक काफूर को ‘पद्मावत’ में एक लोमड़ी जैसे दिमाग वाले क्रूर गुलाम के रूप में दिखाया गया था. वहीं कासिम का किरदार ग्रे लेयर में है. ‘द एम्पायर’ में कई जगह इमाद मलिक काफूर यानी जिम सर्भ की स्टाइल कॉपी करते हुए भी दिखते हैं. जैसे पीछे मुड़ते हुए चिढ़ाने वाली तीखी मुस्कान दिखाना. बाबर के सबसे करीबी और ख़ास होने का घमंड दिखाना.

जिम सर्भ एज़ मलिक काफूर
जिम सर्भ एज़ मलिक काफूर

#मैडमैक्स: फ्यूरी रोड

'मैडमैक्स: फ्यूरी रोड' का सीन.
‘मैडमैक्स: फ्यूरी रोड’ का सीन.

द एम्पायर’ में शयबानी खान के गाल पर एक निशान दगा हुआ है. ये निशान बचपन में उसका उत्पीड़न करने वाले क्रूर संगठनों ने उस पर बनाया था. एक तरीके से अपनी मोहर उन्होंने शयबानी के गालों पर छाप दी थी. मोहर दागने वाले सीन में दिखाया जाता है कि एक लंबी सी लोहे की मोहर को सुर्ख लाल होने तक गर्म किया जाता है और फ़िर शयबानी के गालों पर निशान छाप दिया जाता है. ये सीन हमें 2015 में रिलीज़ हुई हॉलीवुड फ़िल्म ‘मैडमैक्स: फ्यूरी रोड’ का वो सीन याद स्मरण कराता है, जब मैक्सरॉक बने टॉम हार्डी को इम्मोर्टन जो के लोग कैद कर लेते हैं और उसके चेहरे पर तप रही मोहर से निशान लगाने की कोशिश करते हैं.

'द एम्पायर' का सीन.
‘द एम्पायर’ का सीन.

#वाइकिंग्स

‘द एम्पायर’ के एक एपिसोड में सीन है, जिसमें बाबर हिंदुस्तान में जंग हारने की कगार पर होता है. अपने सेनापति को वापस काबुल चलने का हुक्म देने ही वाला होता है कि ‘द प्रोडिगल सन रिटर्न’ टाइप का सीन होता है. हुमायूं लाखों की सेना लेकर बाबर के पास पहुँचता है. और युद्ध जारी रखने के लिए कहता है. उसके बाद युद्ध में बाबर एक बार फ़िर दुश्मन सेना पर टूट पड़ता है. इस युद्ध के दौरान तलवारबाज़ी से लेकर कई सीन ऐसे थे, जो ‘वाइकिंग्स’ के सीज़न 4 के द ग्रेट हीथन आर्मी किंग के युद्ध से प्रेरित नज़र आ रहे थे. एक और सीन है, जब युद्ध में टूटते बाबर को उसका सेनापति हाथ से खींचकर घोड़े पर बैठाकर दुश्मनों के बीच से ले जाता है. ये सीन भी वाइकिंग के इसी युद्ध के एक सीन से प्रेरित दिखता है.

‘द एम्पायर’ की डायरेक्टर हैं मिताक्षरा कुमार. मिताक्षरा ‘पद्मावत’ और ‘बाजीराव मस्तानी’ में असिस्टेंट डायरेक्टर थीं. लिहाज़ा मालूम होता है इन सेट्स पर उन्होंने जिस तरीके से किरदारों को बनते हुए देखा, वैसा ही उन्होंने ‘द एम्पायर’ में उतार दिया है.


वीडियो : यो यो हनी सिंह की पत्नी शालिनी तलवार कोर्ट में ही क्यों रोने लगीं?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

गज़ब! 'मनी हाइस्ट' देखने के लिए पूरे ऑफिस को छुट्टी दे दी!

इस छुट्टी को नेटफ्लिक्स एंड चिल हॉलीडे नाम दिया है.

सिनेमाहॉल के बाहर क्यों लगे 'अक्षय कुमार की फिल्म देखने वालों शर्म करो' के नारे?

पटियाला से एक वीडियो सामने आया है.

कंगना रनौत ने करण जौहर की फिल्म 'शेरशाह' की तारीफ में क्या कहा?

कंगना के तेवर कुछ बदले-बदले से नज़र आ रहे हैं.

सितंबर में आने वाली 11 हंगामाखेज़ फिल्में और वेब सीरीज़

'मनी हाइस्ट' और 'लुसिफ़र' के आखिरी पार्ट्स आने वाले हैं.

'शेरशाह' में काम करने से पहले सिद्धार्थ मल्होत्रा ने 5 बड़ी फ़िल्में छोड़ दीं, एक तो सलमान की थी

सिद्धार्थ अपने करियर में बड़े परेशान चल रहे थे, मगर 'शेरशाह' ने उनकी मुश्किलें काफी हद तक कम कर दी हैं.

टोनी कक्कड़ ने 'तुम तो ठहरे परदेसी' गाने के लिए जो सफाई दी उसे हज़म करना ज़रा मुश्किल है!

टोनी का कहना है अल्ताफ राजा को उनका ये गाना बहुत पसंद आया है.

रणवीर सिंह की 'अपरिचित' की रीमेक बनने से पहले ही लीगल पचड़े में फंस गई!

‘अन्नियन’ के रीमेक राइट्स को लेकर शुरू हुई कॉन्ट्रोवर्सी अभी भी जारी है.

एक्ट्रेस अर्शी ख़ान की अफ़ग़ानी क्रिकेटर से होने वाली सगाई ख़तरे में!

वो जल्द ही अफगानिस्तान के क्रिकेटर से शादी करने वाली थी.

ज़ाकिर खान के 'सख्त लौंडा' के अलावा भी मस्त वन-लाइनर्स हैं बॉस, इधर देखिए तो सही

कुछ वन-लाइनर्स और कुछ कविताएं, पूरा जीवन दर्शन है यहां पर.

आने वाली 9 पीरियड फिल्में और वेब सीरीज़, जो भव्य पैमाने पर बन रही हैं

कुछ नामों का तो इंतज़ार सालों से हो रहा है.