Submit your post

Follow Us

बिहार चुनाव 2020 : नेता की पत्नियों का इस चुनाव में क्या हाल रहा

बिहार विधानसभा चुनाव में NDA ने पूर्ण बहुमत पाया है. 243 सीटों में 122 के आंकड़े को पार करते हुए 125 सीटें कब्जाई हैं. इस बार के चुनाव में कई ऐसी नेता भी मौजूद थीं, जो खुद तो राजनीति में हैं ही, इनके पति भी राजनीति में काफी नाम कमा चुके हैं. कुछ ऐसी कैंडिडेट भी देखने को मिलीं, जिन्होंने अपने पति की सीट पर चुनाव लड़ा या उनके नाम पर चुनाव लड़ा. इन कैंडिडेट्स का क्या हाल रहा इस चुनाव में, आप यहां देख सकते हैं:

उम्मीदवार का नाम- लवली आनंद

सीट का नाम- सहरसा

Lovely Anand
‘बाहुबली’ सांसद रहे आनंद मोहन की पत्नी हैं लवली आनंद.

‘बाहुबली’ सांसद रहे आनंद मोहन की पत्नी लवली आनंद. आरजेडी के टिकट पर सहरसा से चुनाव लड़ीं, जबकि उनके बेटे चेतन आनंद शिवहर से आरजेडी के ही टिकट पर मैदान में थे. पिछले महीने ही दोनों ने पार्टी की सदस्यता ली थी. इस चुनाव में लवली आनंद हार गईं, लेकिन उनके बेटे चेतन आनंद ने जीत का परचम लहराया है. बता दें कि आनंद मोहन, IAS कृष्‍णैया हत्‍याकांड में उम्रकैद की सजा काट रहे हैं. 1993 में उन्होंने खुद की पार्टी बना ली थी. 1994 में लवली आनंद ने वैशाली से लोकसभा चुनाव जीता. 1995 में तो ‘बिहार पीपुल्स पार्टी’ ने नीतीश कुमार की पार्टी से भी बेहतर प्रदर्शन किया था. 1996 में आनंद ने जेल में रहते हुए चुनाव जीता. 1998 में भी जीते. 1999 में बीजेपी का साथ पकड़ लिया. लवली आनंद 2010 में कांग्रेस, और 2014 में समाजवादी पार्टी के टिकट पर लड़ीं.

उम्मीदवार का नाम- बीना सिंह

सीट- महनार

Bina Singh
वैशाली से सांसद रह चुके रमा किशोर सिंह की पत्नी हैं बीना सिंह.

बीना सिंह वैशाली से सांसद रह चुके रमा किशोर सिंह की पत्नी हैं. रमा किशोर सिंह इसी सीट से कई बार विधायक रह चुके हैं. उन पर मर्डर और किडनैपिंग के कई मामले दर्ज हैं. जमशेदपुर ट्रिपल मर्डर केस में उन्हें दोषी भी करार दिया गया था. रमा किशोर सिंह 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में LJP के टिकट से जीते थे. उन्हें RJD में शामिल करने की बात चल रही थी. ख़बरों की मानें, तो इस बात पर RJD के सीनियर नेता रघुवंश प्रसाद, जो कि लालू यादव के बेहद करीबी माने जाते थे, उन्होंने आपत्ति की. इसके बाद उन्हें RJD में नहीं लिया गया. लकिन उनकी पत्नी बीना सिंह उर्फ़ वीणा देवी ने RJD के टिकट पर चुनाव लड़ा और जीत गईं.

उम्मीदवार का नाम- पूनम यादव

सीट- खगड़िया

Poonam Yadav Khagaria
खगड़िया सीट से जेडीयू की विधायक थीं. इस बार चुनाव में हार गई हैं.

खगड़िया सीट से जेडीयू की विधायक थीं. ADR (एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स) की रिपोर्ट के मुताबिक़, बिहार विधानसभा की सबसे अमीर विधायक हैं. उनके पास 41 करोड़ रुपये की कुल संपत्ति है, ऐसा बताया गया है. 2005 में पहली बार विधायक चुनी गई थीं. इसी सीट से. इस बार चुनाव में हार गई हैं. इन्हें कांग्रेस प्रत्याशी छत्रपति यादव ने हराया. इनके पति रणवीर यादव भी 1990 में निर्दलीय चुनाव लड़कर विधायक बने थे. उन पर कई मामले दर्ज हैं. दोषी करार दिए जाने की वजह से वो चुनाव नहीं लड़ सकते हैं.

उम्मीदवार का नाम- मंजू वर्मा

सीट- चेरिया बरियारपुर

Manju Verma Fb
मुजफ्फरपुर शेल्टर होम कांड में मंजू का नाम सामने आया था.

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम कांड में इनका नाम सामने आया था. उस समय ये नीतीश सरकार में समाज कल्याण मंत्री थीं. इनके पति चंदेश्वर वर्मा MLC रह चुके हैं. चंदेश्वर वर्मा पर आरोप लगे थे कि वो भी लड़कियों के लिए बने उस शेल्टर होम में अकेले जाया करते थे. लगातार आरोपों के बाद मंजू वर्मा ने अगस्त, 2018 में इस्तीफ़ा दे दिया था. इस बार चेरिया बरियारपुर सीट पर RJD के राजवंशी महतो ने उन्हें 40,000 से भी ज्यादा वोटों से हराया.

ये भी पढ़ें: मुजफ्फरपुर रेप केस : कहानी उस महिला की, जिसकी मदद से ब्रजेश ने खड़ा किया NGO का साम्राज्य

उम्मीदवार का नाम- किरण देवी

सीट- सन्देश

Kiran Devi Yadav Rjd Sandesh Aaj Tak
किरण देवी के पति अरुण यादव पर रेप और देह व्यापार के आरोप लगे हैं.

किरण देवी के पति अरुण यादव पर रेप और देह व्यापार के आरोप लगे हैं. इनके पति RJD के टिकट पर सन्देश से ही विधायक थे. आरोप लगने के बाद से ही फरार बताए जा रहे हैं. मामला पिछले साल जुलाई में सामने आया था. इस साल मई में पुलिस ने घर पर छापेमारी भी की थी, लेकिन अरुण यादव हाथ नहीं आए थे. इस बार RJD ने किरण देवी को टिकट देकर मैदान में उतारा था. उन्हें 78,576 वोट मिले. JDU, LJP के उम्मीदवारों को हराकर किरण अब यहां से विधायक बन गई हैं.

उम्मीदवार का नाम- विभा देवी

सीट- नवादा

Vibha Devi Anwada Fb
विभा देवी के पति राजबल्लभ यादव नवादा से ही विधायक रह चुके हैं.

विभा देवी के पति राजबल्लभ यादव नवादा से ही विधायक रह चुके हैं. RJD के टिकट पर. फिलहाल जेल में हैं. उन पर एक नाबालिग लड़की से रेप करने का केस है. मामले में उन्हें दोषी करार देते हुए POCSO एक्ट 2012 के तहत कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनाई. ये मामला 2018 के अंत का है. इस बार के विधानसभा चुनाव में RJD ने विभा देवी को टिकट दिया. 71,618 वोट के साथ विभा जीत गई हैं.

ये भी पढ़ें: राजबल्लभ यादव, लालू की पार्टी का विधायक जिसे कोर्ट ने रेप केस में उम्रकैद की सजा दी है


वीडियो: बिहार चुनाव में खड़ी हुई नामी महिला प्रत्याशियों का क्या हुआ?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गुजरात चुनाव 2017

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

एक-एक वोट कितना कीमती होता है, कोई इन प्रत्याशियों से पूछे.

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

बहुमत हासिल करने के बावजूद चुनाव के नतीजों से बीजेपी अंदर ही अंदर सकते में है.

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

अरविंद केजरीवाल का गुजरात में जादू चला या नहीं?

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

चुनाव के नतीजे आने के बाद भी लिचड़ई नहीं छोड़ रहे.

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इन लोगों ने थोड़ी मेहनत और की होती, तो ये गुजरात की विधानसभा में बैठने की तैयारी कर रहे होते.

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की क्रेडिबिलिटी पर ही सवाल खड़े कर दिए.

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

इनके बारे में कांग्रेस पार्टी ने बड़े-बड़े प्लान बनाए होंगे.

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

इनको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभाएं और तमाम टोटके नहीं जिता सके.

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

दोनों प्रदेशों में भगवा लहराया मगर गुजरात की जीत पर भावुक दिखे पीएम.

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

वाघेला ने इस सीट पर एक निर्दलीय प्रतायशी को वॉकओवर दिया था.