Submit your post

Follow Us

कोई अपराधी इनामी कैसे बनता है, अभी किसके सिर पर सबसे मोटा इनाम है?

‘अरे ओ सांभा, कितना इनाम रखे हैं सरकार हम पर?’ हाथ में तंबाकू मसलता हुआ गब्बर सिंह पूछता है.

सांभा का जवाब आता है, ‘पूरे 50 हजार.’

गब्बर कहता है, ‘सुना, पूरे 50 हजार. और यह इनाम इसलिए है, के यहां से 50-50 कोस दूर गांव में जब बच्चा रात को रोता है, तो मां कहती है बेटे सो जा, सो जा, नहीं तो गब्बर सिंह आ जाएगा.’

यह सीन है 1975 में आई फिल्म ‘शोले’ का. इस सीन में एक डाकू अपने ऊपर रखे इनाम को गैंग के सामने कुछ इस अंदाज में बयां करता है. वह दर्शाता है कि उस पर सरकार का इनाम रखा जाना उसके लिए इज्जत की बात है. वैसे यह तो हुई फिल्म की बात. असल जिंदगी में भी पुलिस अपराधियों पर इनाम रखती है. ताजा मामला उत्तर प्रदेश का है. यहां पर फायरिंग में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के आरोपी विकास दुबे पर पुलिस ने इनामी राशि ढाई लाख रुपये कर दी है. पहले यह रकम 50 हजार रुपये थी. फिर इसे एक लाख रुपये किया गया था.

इसके चलते सवाल उठता है कि अपराधियों पर इनाम घोषित करने की प्रक्रिया क्या होती है? पुलिस कैसे इनाम घोषित करती है? भारत का सबसे बड़ा इनामी अपराधी कौन रहा है? साथ ही दुनिया में किस पर सबसे ज्यादा इनाम घोषित किया गया है?

कैसे घोषित होता है इनाम

पहले तो यह जान लीजिए कि किसी अपराधी पर इनाम घोषित करना कानून का हिस्सा नहीं है. यह एक तरह की प्रशासनिक प्रक्रिया होती है. इस बारे में राजस्थान पुलिस सेवा के रिटायर्ड अधिकारी उम्मेद सिंह ने बताया कि कानून में अपराधी को पकड़ने के लिए इनाम घोषित करने का जिक्र नहीं है. यह प्रशासनिक व्यवस्था है. पुलिस महकमे को वित्त विभाग से जो पैसा मिलता है, उसी में से इनामी राशि का ऐलान किया जाता है. उन्होंने कहा,

मान लीजिए किसी थाने में कोई अपराधी है. वह पुलिस की पकड़ में नहीं आ रहा है. अगर वह कोर्ट की ओर से जारी वॉरंट का पालन भी नहीं करता है, तो उसे प्रोक्लेमड ऑफेंडर यानी उद्घोषित अपराधी घोषित कर दिया जाता है. इसके बाद वह पुलिस की मोस्ट वांटेड लिस्ट में शामिल हो जाता है. अब उसे पकड़ने के लिए पुलिस जनता से भी मदद लेती है. इसके लिए इनाम का ऐलान किया जाता है, ताकि जनता इनाम मिलने की लालसा में मदद करे. अपराधी पर इनाम का ऐलान पुलिस और सरकारें करती हैं.

कौन घोषित करता है इनाम

कानून-व्यवस्था राज्यों का मसला है. इसलिए राज्य ही किसी बदमाश या गुंडे पर इनाम का ऐलान कर सकते हैं. वैसे तो थानाधिकारी भी इनाम घोषित कर सकता है, क्योंकि उनके पास भी कुछ वित्तीय ताकतें होती हैं. लेकिन यह रकम बहुत कम होती है. ऐसे में बदमाश पर इनाम में मोटी रकम का ऐलान सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस यानी एसपी लेवल से होता है.

असम और उत्तर प्रदेश के डीजीपी रहे प्रकाश सिंह इस बारे में डिटेल से बताते हैं. उनका कहना है,

पुलिस के हर अधिकारी के पास पैसे खर्च करने की लिमिट होती है. उसी लिमिट के हिसाब से वह बदमाश पर इनाम का ऐलान कर सकता है. मान लीजिए कि एसपी 20 हजार रुपये तक का ही इनाम घोषित कर सकता है. इसके आगे की रकम पर आईजी फैसला लेगा. लेकिन डीजीपी के पास मोटे इनाम का ऐलान करने की शक्ति होती है. किसी अपराधी के अपराध के हिसाब से सरकार भी इनामी रकम बढ़ाने की मंजूरी दे सकती है. इनाम घोषित करने की लिमिट साल दर साल बदल सकती है. साथ ही राज्यवार इनाम घोषित करने की प्रक्रिया और शक्ति भी अलग-अलग होती है.

जैसे अभी कानपुर आईजी के कहने पर यूपी के डीजीपी ने विकास दुबे पर रखे इनाम को ढाई लाख किया है. प्रकाश सिंह का कहना है कि उनके समय में छविराम नाम के डाकू पर सबसे बड़ा इनाम था.

पुलिस के अलावा सीबीआई और नेशनल इंवेस्टीगेशन एजेंसी (एनआईए) भी इनाम का ऐलान करती है.

विकास दुबे पर रहले 50 हजार का इनाम था. जो अब बढ़कर ढाई लाख रुपये कर दिया गया है.
विकास दुबे पर रहले 50 हजार का इनाम था, जो अब बढ़कर ढाई लाख रुपये कर दिया गया है.

क्या इनाम घोषित करने का फायदा है? 

दिल्ली पुलिस के एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि अपराधी पर इनाम घोषित करना पंछियों को चुग्गे डालने जैसा होता है. इससे पुलिस के जो मुखबिर होते हैं, वे भी डबल मेहनत से काम करते हैं. साथ ही कई बार ऐसा भी होता है कि अपराधी के साथी ही इनाम के लालच में पुलिस को चुगली कर देते हैं. कई बार मोटा इनाम घोषित करने पर अपराधी का साथी लालच में आ जाता है. इससे वह पुलिस को जरूरी जानकारी दे देता है. पुलिस खबर देने वाले की जानकारी गुप्त रखती है, तो उसे पकड़े जाने का भी ज्यादा डर नहीं होता है. साथ ही पैसा तो मिलता ही है.

लेकिन उम्मेद सिंह इससे अलग बात कहते हैं. उनका कहना है कि किसी अपराधी पर इनाम घोषित करना एक तरह का न्यूज एलिमेंट है. जैसे कि मान लीजिए किसी इनामी अपराधी को पुलिस ने पकड़ लिया या एनकाउंटर में मार दिया, तो कहा जाता है कि पुलिस ने तीन लाख के फलाने इनामी अपराधी को मारा. या दो लाख के इनामी डकैत को पकड़ा. इससे लोगों में एक अचंभा-सा होता है कि कितना खूंखार या दुर्दांत अपराधी था. साथ ही पुलिसवाले भी इसको लेकर शेखी बघारते हैं.

इनाम में कितना पैसा मिलता है?

किसी अपराधी पर इनाम की रकम कुछ सौ रुपये से लेकर लाखों या करोड़ों में भी हो सकती है. जितना ज्यादा इनाम होता है, उसे उतना ही गंभीर और वांटेड अपराधी मानी जाती है. अपराधी को पकड़ाने पर इनाम की रकम गुप्त रूप से दी जाती है. ताकि बताने वाले के बारे में पता न चलें.

कौन है भारत में सबसे बड़ा इनामी अपराधी

आपके हिसाब से सबसे ज्यादा इनाम किस पर होगा? क्या कहा, दाउद इब्राहिम? नहीं, यह जवाब गलत है. सही जवाब है, मुपाला लक्ष्मण राव ऊर्फ गणपति. यह माओवादी नेता हैं. इन पर कुल 2.52 करोड़ रुपये का इनाम है. इसके तहत महाराष्ट्र-छत्तीसगढ़ ने एक-एक करोड़, आंध्र प्रदेश ने 25 लाख, झारखंड ने 12 लाख और एनआईए ने 15 लाख रुपये का इनाम रखा है.

मुपाला लक्ष्मण राव की कई राज्यों को तलाश है.
मुपाला लक्ष्मण राव की कई राज्यों को तलाश है.

# दाऊद इब्राहिम पर सीबीआई और महाराष्ट्र ने मिलाकर करीब 25 लाख रुपये का इनाम घोषित कर रखा है.

# 2008 मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद पर अमेरिका ने 7 करोड़ का इनाम रखा है. भारत ने कोई इनाम नहीं रखा.

# कुख्यात तस्कर पर वीरप्पन पर करीब 20 लाख रुपये का इनाम था.

इनके अलावा एनआईए ने 2008 के समझौता ब्लास्ट में आरोपी रामचंद्र पाटीदार, 2015 में मणिपुर के चंदेल में सेना पर हमला करने के आरोपी निक्की सुमी और मालेगांव, अजमेर शरीफ धमाकों के आरोपी संदीप दांगे पर 10 लाख रुपये का इनाम घोषित कर रखा है. बाकी कई राज्यों में अलग-अलग अपराधियों पर दो से पांच लाख तक का इनाम है.

और दुनिया में किसके सिर पर सबसे मोटा इनाम

# अलकायदा नेता अयमान अल जवाहिरी पर अभी सबसे ज्यादा इनाम है. जवाहिरी पर 25 मिलियन डॉलर यानी आज के हिसाब से करीब 170 करोड़ रुपये का इनाम है.

वैसे रूस ने साल 2015 में उसकी फ्लाइट को बम से उड़ाने वालों की जानकारी देने पर 50 मिलियन डॉलर यानी 350 करोड़ रुपये का ऐलान कर रखा है. जिसे सबसे बड़ी इनाम कहा जाता है.

ड्रग लॉर्ड कहे जाने वाले पाब्लो एस्कोबार पर 6.2 मिलियन डॉलर यानी 42 करोड़ रुपये का इनाम था. एस्कोबार की 1993 में मौत हो गई. नेटफ्लिक्स की वेब सीरीज ‘नारकोस’ उसके जीवन पर ही बनी थी.

वहीं एक और ड्रग तस्कर वाकिन गज़मैन ऊर्फ अल चापो पर 35 करोड़ रुपये का इनाम था. अभी वह जेल में है.

आतंकी ओसामा बिन लादेन पर भी 170 करोड़ रुपये का इनाम था. यह इनाम अमेरिका ने घोषित किया था.


Video: केंद्र ने नागालैंड को फिर से ‘डिस्टर्ब्ड एरिया’ क्यों घोषित किया है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

कभी सोचा नहीं होगा कि लल्लन साड़ियों पर भी क्विज बना सकता है. खेलो औऱ स्कोर करो.

सौरव गांगुली पर क्विज़!

सौरव गांगुली पर क्विज़. अपना ज्ञान यहां चेक कल्लो!

कॉन्ट्रोवर्सियल पेंटर एमएफ हुसैन के बारे में कितना जानते हैं आप, ये क्विज खेलकर बताइये

एमएफ हुसैन की पेंटिंग और विवाद के बारे में तो गूगल करके आपने खूब जान लिया. अब ज़रा यहां कलाकारी दिखाइए.

'हिटमैन' रोहित शर्मा को आप कितना जानते हैं, ये क्विज़ खेलकर बताइए

आज 33 साल के हो गए हैं रोहित शर्मा.

क्विज़: खून में दौड़ती है देशभक्ति? तो जलियांवाला बाग के 10 सवालों के जवाब दो

जलियांवाला बाग कांड के बारे में अपनी जानकारी आप भी चेक कर लीजिए.

बजट का कितना ज्ञान है, ये क्विज़ खेलकर चेक कर लो!

कितना नंबर पाया, बताते हुए जाना. #Budget2020

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

QUIZ: देश के सबसे महान स्पोर्टसमैन को कितना जानते हैं आप?

आज इस जादूगर की बरसी है.