The Lallantop
Logo
लल्लनटॉप का चैनलJOINकरें

गोगामेड़ी और गैंगस्टर गोदारा की हुई थी फोन पर बात, फिर अचानक क्या हुआ जो शूटर्स ने गोलियां मार दीं?

Sukhdev Singh Gogamedi Murder Case में नवीन शेखावत के मोबाइल फोन की कॉल डिटेल सामने आई है. इससे बड़ी जानकारी मिली है.

post-main-image
सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की उनके घर में हत्या की गई थी | फाइल फोटो: आजतक

श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के मर्डर केस में एक और खुलासा हुआ है. नवीन शेखावत के मोबाइल की कॉल डिटेल से पुलिस को अहम जानकारी मिली है. इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट के मुताबिक पता लगा है कि हत्या से पहले नवीन ने अपने मोबाइल से विदेश में बैठे गैंगस्टर रोहित गोदारा से गोगामेड़ी की बात करवाई थी. इस बातचीत के बीच दोनों में तनाव हो गया. और इस दौरान ही नवीन के साथ गए शूटर्स नितिन फौजी और रोहित राठौड़ ने गोगामेड़ी को गोलियां गोली मार दीं. सीसीटीवी कैमरे में भी सुखदेव सिंह गोगामेड़ी फोन पर बात करते दिख रहे हैं.

राजस्थान की राजधानी जयपुर में बीते 5 दिसंबर को ये मर्डर हुआ था. नितिन फौजी और रोहित राठौड़ ने सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की उनके घर में घुसकर हत्या कर दी थी. इस दौरान ही उन्होंने अपने साथ आए नवीन शेखावत को मार दिया था. वहीं, घर में मौजूद एक अन्य व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गया. हमले की जिम्मेदारी गैंगस्टर रोहित गोदारा के गैंग ने ली है. माना जा रहा है कि नवीन शेखावत भी रोहित गोदारा और लॉरेंस बिश्नोई गैंग से जुड़ा हुआ था और वही शूटर नितिन फौजी और रोहित राठौड़ को अपने साथ गोगामेड़ के घर ले गया था. हालांकि, शूटर्स ने गोगामेड़ी को मारने के दौरान ही नवीन का भी मर्डर कर दिया.

कहां बनाई मर्डर की साजिश?

कपड़ा कारोबारी नवीन शेखावत जयपुर में ही रहता था और वह सुखदेव सिंह गोगामेड़ी से पहले से जुड़ा हुआ था. उसका गोगामेड़ी के पास आना जाना लगा रहता था. हत्याकांड के दिन वह अपनी बुआ के बेटे की शादी का कार्ड देने के लिए गोगामेड़ी के पास पहुंचा था. श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी को मारने की साजिश जयपुर में ही बनाने के सबूत मिले हैं.

Sukhdev Singh Gogamedi Murder, Rohit Godara, Goldie Brar: Who Is Rohit  Godara, Man Claiming Responsibility For Rajput Leader's Murder
रोहित गोदारा | फाइल फोटो 

शूटआउट में मरने वाले नवीन सिंह शेखावत ने 30 नवंबर को वैशाली नगर से स्कॉर्पियो गाड़ी किराए पर ली थी. दो-तीन दिनों में हत्या कर बदमाश किराए की गाड़ी से भागने की फिराक में थे. मगर वक्त नहीं मिला तो 5 दिसंबर को सुबह-सुबह कंपनी में वापस जाकर 2 हजार रुपए जमा करवाकर एक दिन के लिए गाड़ी को और किराए पर ले लिया. जयपुर के झोटवाड़ा में आरोपी नवीन शेखावत, शूटर रोहित राठौड़ और नितिन फौजी ने सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के सम्मान के लिए 2 शॉल और साफे खरीदे. वैशाली नगर के चौराहे पर लगे एक सीसीटीवी कैमरे में तीनों स्कॉर्पियो से जाते हुए दिखाई दे रहे हैं.

नितिन फौजी और रोहित राठौड़ कौन हैं?

सुखदेव सिंह गोगामेड़ी को सबसे पहली गोली 22 साल के नितिन फौजी ने मारी थी. जब पास में बैठे नवीन ने उसे रोकने का प्रयास किया तो फौजी ने उसे भी गोली मार दी. हरियाणा के महेंद्रगढ़ जिला स्थित दौंगड़ा जाट गांव का रहने वाला नितिन फौजी सेना में कार्यरत है और उसकी पोस्टिंग फिलहाल अलवर में बताई जा रही है. नितिन फौजी के पिता अशोक कुमार भी आर्मी से रिटायर्ड हैं.

ये भी पढ़ें:- सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के मर्डर का असली प्लान

गोगामेड़ी की हत्या करने वाला दूसरा शूटर रोहित राठौड़ राजस्थान के नागौर जिले का रहने वाला है. उसके पड़ोसियों का कहना है कि रोहित राठौड़ को एक बार पहले भी POCSO एक्ट में गिरफ्तार किया गया था और तब जेल जाने के बाद वो कई गैंगस्टर्स के संपर्क में आ गया था.

वीडियो: दी लल्लनटॉप शो: सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हत्याकांड की पूरी कहानी