The Lallantop
Logo
लल्लनटॉप का चैनलJOINकरें

MLA बनते ही मीट की दुकानें बंद कराने निकले BJP के बालमुकुंद आचार्य, अधिकारी को भी नहीं बख्शा

जयपुर की हवामहल विधानसभा सीट जीतने के बाद दूसरे दिन ही Balmukund Acharya का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. जिसमें वो फोन पर एक अधिकारी को कानून का पाठ पढ़ा रहे हैं.

post-main-image
वीडियो में बालमुकुंद किसी अधिकारी को धमकी दे रहे हैं लेकिन उसका नाम स्पष्ट नहीं है. (फ़ोटो/वायरल वीडियो से स्क्रीनशॉट)

राजस्थान विधानसभा चुनाव के नतीजे सामने आने के बाद हर तरफ बीजेपी और पीएम नरेंद्र मोदी की चर्चा है. लेकिन पार्टी के एक विधायक बालमुकुंद आचार्य ने अपनी गतिविधियों से इस चर्चा में अपना भी नाम दर्ज करा दिया है. जयपुर की हवामहल सीट से विधायक बने बालमुकुंद आचार्य चुनाव जीतने के बाद दूसरे दिन ही अपने इलाके में निकल पड़े और नॉनवेज फूड आइटमों की दुकानें बंद कराने लगे. उनका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. इसमें वो फोन पर एक अधिकारी को कानून का पाठ पढ़ा रहे हैं और चांदी की टकसाल रोड पर खुले में बिकने वाले नॉनवेज फूड आइटमों और मीट की दुकानों को तुरंत प्रभाव से हटाने की बात कह रहे हैं (Balmukund Acharya Viral Video).

Balmukund Acharya के Viral Video में क्या?

वायरल वीडियो सोशल मीडिया पर 4 दिसंबर को वायरल हुआ. इसमें कई लोग दिख रहे हैं जो धार्मिक नारे लगा रहे हैं. वहीं बीजेपी विधायक बालमुकुंद फोन पर एक अधिकारी को सख्ती से निर्देश देते हुए कह रहे हैं,

“मैं आपसे शाम को रिपोर्ट लूंगा. आप देंगे या मुझे आना पड़ेगा आपके ऑफिस लेने. लेकिन नॉनवेज बेच सकते हैं क्या खुले में रोड पर? नहीं. रोड पर नॉनवेज बेच सकते हैं क्या खुले में? हां या ना बोलो. लाइव हो आप. तो आप समर्थन कर रहे हो इनका? तुरंत प्रभाव से नॉनवेज के जितने भी ठेले हैं रोड पर लगे हैं, रोड पर लगाए हुए हैं. ये नहीं दिखने चाहिए. मैं शाम को रिपोर्ट लूंगा आपसे. मुझे नहीं मतलब है, -- कौन अधिकारी है.”

वीडियो में बालमुकुंद जिस अधिकारी से धमकी भरे लहजे में बात कर रहे हैं, उनका नाम स्पष्ट नहीं है. और विधायक की बातों का वो अधिकारी क्या जवाब दे रहे हैं, वो भी सही से सुनाई नहीं दे रहा है. 

ये भी पढ़ें: Rajasthan Election 2023: राजस्थान BJP ने चार 'बाबाओं' को चुनाव लड़ाया, नतीजा क्या रहा?

वीडियो के बाद विधायक क्या बोले? 

वीडियो वायरल होने के बाद इंडिया टुडे से बात करते हुए बालमुकुंद ने बताया कि जयपुर के इस क्षेत्र को 'अपरा काशी' कहा जाता है. जिसका मतलब है घर से ज़्यादा मंदिर. पूरी दुनिया से यहां पर्यटक घूमने आते हैं. आगे उन्होंने कहा,

“जब मैं यहां चुनाव प्रचार कर रहा था, उस दौरान कई माताओं ने मुझे बताया कि यहां कई अवैध बूचड़खाने हैं. कई दुकानों में मांस बेचा जाता है. जिसकी वजह से यहां कुत्ते रहते हैं और हमें काट लेते हैं. मैं इसे रोकने के लिए वहां गया था. मैंने प्रशासन से बिक्री रोकने का अनुरोध किया है. उस वक्त हमारे ऊपर पत्थर से हमला किया गया. लेकिन सब हमारे हैं, हमारा परिवार है. इस एरिया में लोग मांस के नाम पर गौमांस भी बेचते हैं.”

बालमुकुंद ने आगे ये आरोप भी लगाया कि इस एरिया में सबसे ज्यादा अवैध बूचड़खाने चलाने वाले पप्पू कसाई के सिर पर कांग्रेस प्रत्याशी आरआर तिवारी का हाथ है और खुले में मांस बेचने का कोई नियम नहीं है.

बालमुकुंद के इस आरोप पर AIMIM के अध्यक्ष असदुद्दीन की प्रतिक्रिया आई है. उन्होंने बीजेपी विधायकों की बातों और मांग को गलत बताया और कहा कि किसी को भी नॉनवेज स्टॉल लगाने से रोकने का अधिकार नहीं है.

वीडियो: बाबा बालकनाथ समेत इन संन्यासियों का राजस्थान चुनाव में क्या हुआ? जीत मिली या हार गए