Submit your post

Follow Us

बच्चों ने चिट्ठी में लिखा, "मोदी जी, दांत नहीं आ रहे हैं, कुछ एक्शन लीजिए"

देश के प्रधानमंत्री और राज्यों के मुख्यमंत्रियों को कोई ना कोई चिट्ठी लिखता रहता है. कभी उनका कोई कैबिनेट मंत्री चिट्ठी लिखता है तो कभी राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी उन्हें चिट्ठी भेजते हैं. और कभी आम लोग उन्हें पत्र भेजते हैं. ऐसी कुछ चिट्ठियां अलग-अलग वजहों से वायरल भी हो जाती हैं. ये खबर भी दो वायरल चिट्ठियों से जुड़ी है. लेकिन इन्हें ना तो किसी खास ने लिखा है और ना किसी आम शख्स ने. ये चिट्ठियां तो आम और खास से अलग हैं. क्योंकि इन्हें असम के दो मासूम बच्चों ने लिखा है. वो भी देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा के नाम. देखें वीडियो.

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

इलेक्शन कवरेज

UP चुनाव: इस कारखाने में भैंस के सींग से ऐसे सामान बनते हैं, जिनकी बिक्री विदेशों तक में होती है

मायावती और ओवैसी के बारे में भी कारीगरों ने खुलकर बात की.

UP चुनाव: मिट्टी को छोड़कर पानी में खेती क्यों करने लगे संभल के ये नौजवान?

14500 प्लांट का सेटअप तैयार किया और अब इसे बढ़ा रहे हैं.

UP चुनाव: पीतल का गढ़ माने जाने वाले मुरादाबाद में दूसरी धातुओं का दबदबा कैसे कायम हुआ?

चीन के विरोध का मुरादाबाद के कारोबारियों को लाभ हुआ.

UP चुनाव: मुरादाबाद की मेटल फैक्ट्री में बिना सुरक्षा गियर काम करते इन चेहरों को नहीं भूल पाएंगे!

यहां बनने वाला धातु का ज्यादातर माल एक्सपोर्ट किया जाता है.

UP चुनाव: फिरोज़ाबाद में सभी चूड़ियों के नाम हर 15 दिन में क्यों बदल जाते हैं?

बड़ी दिलचस्प कहानी है.

UP चुनाव: शिक्षकों से सवाल करते वक्त BJP से जुड़े किसानों ने ऐसा क्या कहा कि सपा वाले उखड़ गए

लोगों ने बताया कि सरकारी स्कूलों में पढ़ाई नहीं होती है.

UP चुनाव: बदायूं के इस गांव में ऐसे-ऐसे घोटाले हुए, जिनके बारे में जानकर आप हैरान हो जाएंगे!

लोगों का कहना है कि कार्रवाई तक नहीं हुई.

UP चुनाव: रंगशाला में डांस करने वाली लड़कियों की सुरक्षा की जिम्मेदारी कौन लेता है?

बदायूं के बिल्सी विधानसभा के लोगों ने स्थानीय विधायक के बारे में भी खुलकर बात की.

दी लल्लनटॉप शो

दी लल्लनटॉप शो: उत्तराखंड में बड़ी चीनी घुसपैठ की खबर पर मोदी सरकार कुछ बोल क्यों नहीं रही?

चमोली जिले के बड़ाहोती में घुसपैठ की खबर 30 अगस्त की बताई जा रही है.

दी लल्लनटॉप शो: सिद्धू-कैप्टन का खेल जारी, कन्हैया और जिग्नेश के आने से कांग्रेस के हाथ क्या लगेगा?

सिद्धू को लेकर कैप्टन अमरिंदर सिंह की कही बातें सच हो गईं?

दी लल्लनटॉप शो: टीवी-फोन के आदी बच्चों के लिए सही कॉन्टेंट चुनने के साथ ये काम जरूर करें

बच्चों के पैरेंट्स को भी तकनीक के इस्तेमाल में थोड़ा स्मार्ट होना होगा.

दी लल्लनटॉप शो: असम पुलिस के बचाव में मुख्यमंत्री हेमंत बिस्वा सरमा क्या तर्क देने लगे?

ट्वीटर पर आज 'आई स्टैंड विद असम पुलिस' वाले ट्रेंड चलाए गए.

दी लल्लनटॉप शो: दिल्ली हाईकोर्ट के इस आदेश के बाद सरकारी नौकरी वाले सचेत हो जाएं!

'सरकारी कर्मचारी रिटायरमेंट प्रूफ नहीं हो सकता'.

दी लल्लनटॉप शो: अवैध धार्मिक स्थलों को लेकर सुप्रीम कोर्ट के आदेश के खिलाफ कर्नाटक में बिल क्यों?

मंदिर और मस्जिद ढहाने में कर्नाटक सरकार पक्षपात कर रही है?

दी लल्लनटॉप शो: महंत नरेंद्र गिरि और शिष्य आनंद गिरी के बीच किस बात पर विवाद था?

नरेंद्र गिरी 20 सितंबर की शाम को प्रयागराज के बाघंबरी मठ में मृत मिले थे.

दी लल्लनटॉप शो: चरणजीत सिंह चन्नी के दलित चेहरे के सहारे कांग्रेस विधानसभा चुनाव जीत पाएगी?

कैप्टन के इस्तीफे के बाद कांग्रेस के कई बड़े नेता CM पद की दौड़ में थे.

पॉलिटिकल किस्से

एंटी CAA-NRC प्रोटेस्ट में गोली चलाने वाले गोपाल की महापंचायत में बोली बातें क्यों वायरल हुईं?

हरियाणा के पटौदी में हुई जनसभा में उसके भाषण का एक वीडियो वायरल हो रहा है.

उत्तर प्रदेश के नेता जितिन प्रसाद, जो दो दशक से कांग्रेसी रहे और अब BJP में शामिल हो गए

2019 के बाद से ही जितिन प्रसाद की भाजपा से नजदीकियां बढ़ रही थीं.

असम का वो नेता, जिसके साथ हुई ग़लती को ख़ुद अमित शाह ने सुधारा था

अब वो राज्य का मुख्यमंत्री बन गया है.

कैसे मुलायम सिंह ने अजित सिंह से यूपी के मुख्यमंत्री की कुर्सी छीन ली?

अजित सिंह के लोकदल अध्यक्ष बनने की प्रक्रिया काफी विवादित रही थी.

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री बनने जा रहे एमके स्टालिन की कहानी फिल्म से कम नहीं

मद्रास शहर की थाउजेंड लाइट्स विधानसभा सीट से स्टालिन पहली बार चुनाव में उतरे.

केरल चुनाव में जीत के साथ पी विजयन ने 64 बरस पुराना कौन सा मिथक तोड़ दिया?

विजयन महज़ 26 साल की उम्र में पहली बार विधायक बने थे.

अखिल गोगोई की कहानी, जिन्हें हाईकोर्ट ने जमानत देते वक्त कहा- सिविल नाफरमानी अपराध नहीं

नेतागिरी से दूर भागने वाले अखिल गोगोई जेल से ही चुनाव लड़ने पर मजबूर हुए.

गुलाम नबी आज़ाद के जाबड़ किस्से, जिनके दोस्त हर पार्टी में हैं!

जब वाजपेयी पर हमले कर रहे संजय गांधी का कुर्ता खींच दिया था.