Submit your post

Follow Us

'लोग मुझसे पूछते हैं, मोदी जी इतना काम क्यों करते हो?'

2.37 K
शेयर्स

यूपी चुनावों के रुझान सामने आने के बाद से सबको इंतज़ार था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाजपा की जीत पर कुछ बोलें. कल उन्होंने ट्वीट कर के कार्यकर्ताओं को बधाई दी और मतदाताओं का आभार माना. लेकिन बोलने का वक्त उन्होंने आज शाम को निकाला. पैदल चलकर 11, अशोक रोड पर भाजपा के दफ्तर पहुंचे. अरुण जेटली के बारे में सुबह खबर आई थी कि उन्हें चोट लगी है. लेकिन वे भी आए थे. मंच पर वैंकैया नायडू, अमित शाह और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ बैठे. चुनावों की कमान संभालने वाले अमित शाह पहले बोले. कुछ-कुछ वही, जो कल बोले थे. पूरे आत्मविश्वास के साथ बोले कि गोवा में भी सरकार बनाएंगे. इसके बाद प्रधानमंत्री बोले.

उनके भाषण में सामान्य मानवी, सवा-सौ करोड़, भारत माता जैसे कीवर्ड्स के अलावा जो कुछ खासम-खास था, हम यहां दे रहे हैंः

# भाषण की शुरुआत में ही बोले कि चुनावों में ‘इमोशनल इशू’ का प्रभाव दिखा. क्योंकि विकास चुनाव लड़ने के हिसाब से ‘कठिन’ मुद्दा होता है. पार्टियों ने हमेशा विकास का उपयोग एक पासिंग रिमार्क की तरह करती हैं. लेकिन इन चुनावों में लोगों का विकास (भाजपा की तरफ इशारा) के लिए आगे आकर मतदान करना ‘न्यू इंडिया’ के उदय की तरफ इशारा करता है.

# जीते हुए प्रत्याशियों के बारे में बाेले कि टीवी पर न दिखने वाले चेहरे चुन कर लाए हैं.

# जीत के मौके पर प्रधानमंत्री ने भाजपा के ‘मार्गदर्शक’ अटल बिहारी वाजपेयी और लालकृष्ण आडवाणी को याद किया. दीनदयाल उपाध्याय, कुशाभाऊ ठाकरे का नाम भी लिया. कहा कि यहां तक पहुंचने में चार पीढ़ियां खप गईं.

मंच पर भाषण देते प्रधानमंत्री मोदी (फोटोःट्विटर)
मंच पर भाषण देते प्रधानमंत्री मोदी (फोटोःट्विटर)

# कहा कि सरकार बाएंगे तो सबका ध्यान रखेंगे. सरकारें बनती हैं बहुमत से, चलती हैं सर्वमत से. तो हमारी सरकार जिन्होंने वोट दिया उनकी भी है, जिन्होंने वोट नहीं दिया उनकी भी है. जो साथ चले उनकी भी है, जो सामने रहे उनकी भी है.

# बाकी पार्टियों पर तंज़ कसते हुए बोले कि हमें सौगात में कुछ नहीं मिला लेकिन इसका हमें कोई अफसोस नहीं. हम देश के लिए कुछ करना चाहते हैं. हम नए हैं. तो गलती हो सकती है. लेकिन गलत इरादे से काम नहीं करेंगे.

# मोदी पूरी तैयारी के साथ बोले. अपने वोटर बेस के हर वर्ग का नाम लिया. भाषण में हर थोड़ी देर में ‘गरीब’ शब्द आता रहा. जीत के लिए विशेष धन्यवाद औरतों को दिया. कम से कम दस बार गरीब शब्द का इस्तेमाल करने के बाद ‘मध्यमवर्ग’ पर आए. कहा कि मध्यमवर्ग देश के लिए बहुत कुछ करता है. उसपर खूब बोझ पड़ता है. ‘खुदमुख्तार’ गरीब की ताकत अगर मध्यमवर्ग की ताकत से मिल जाए तो इस देश को कोई नहीं मिल सकता.

# भाषण के आखिर में प्रधानमंत्री ने वो कहा जो पूरे भाषण का हाई पॉइंट कहा जा सकता है . बोले कि लोग उनसे पूछते हैं कि मोदी जी आप इतना काम क्यों करते हो?


चुनाव नतीजों की पूरी कवरेज ये रहीः

UP रिजल्ट: सपा से चार गुना सीटों पर BJP आगे, बहुमत की ओर

पंजाब रिज़ल्ट: इस सूबे की राजनीति में आज भूकंप आने वाला है

Uttarakhand Results 2017 Live: उस राज्य का फैसला, जहां भाजपा दो साल से कांग्रेस के धुर्रे बिखेर रही है

Manipur Results 2017 Live: मणिपुर से सामने आया पहला रुझान, इबोबी आगे

Goa Results 2017 Live: बीजेपी को चुनेगा गोवा या ‘आप’ को, फैसला आज

यूपी चुनाव परिणाम, यूपी चुनाव नतीजे 2017, चुनाव नतीजे ऑनलाइन, 2017 इलेक्शन नतीजे, UP election results, UP election results live, UP election results 2017, election results UP, election results 2017 UP, live election result 2017, UP assembly election results, election results live, 2017 election results, UP result, election live results, UP election results live update, lucknow election result, varanasi election result, vidhan sabha election results, india today, aaj tak, live results, live tv

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

ग्राउंड रिपोर्ट

इस नेता ने राजा भैया का रिकॉर्ड ऐसा तोड़ा कि सब चौंक गए!

उस नेता का नाम बहुत कम लोग जानते हैं.

Live UP Election Result 2017: चौचक नतीजे, चौकस कमेंट्री वाला लल्लनटॉप टीवी देखें

दी लल्लनटॉप की टीम न सिर्फ अपडेट दे रही है, बल्कि नतीजों के पीछे की पूरी कहानी भी बतला रही है.

पिंडरा से ग्राउंड रिपोर्ट : 'मोदी पसंद हैं, वो विधायक तो बनेंगे नहीं, फिर क्यों जिता दें'

इस सीट पर वो नेता मैदान में है जो 2014 में नरेंद्र मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ा.

ग्राउंड रिपोर्ट वाराणसी साउथ : बनारस के चुनाव में वो मुद्दा ही नहीं है, जिसे बड़ा मुद्दा बताया जा रहा है

इतने सारे रोड शो का असर सीधा पड़ेगा या उल्टा

रामनगर ग्राउंड रिपोर्ट: एक-एक बनारसी की पॉलिटिक्स मोदी-अखिलेश की पॉलिटिक्स से कहीं आगे है

पोलिंग से एक दिन पहले यहां का वोटर एकदम साइलेंट हो गया है.

ग्राउंड रिपोर्ट सोनभद्र: KBC में इस शहर पर बने एक सवाल की कीमत 50 लाख रुपए थी

यहां के लोग गर्व से कहते हैं, 'मुंबई वाले हमारी एक बोरी बालू में 6 बोरी पतला बालू और एक बोरी सीमेंट मिलाकर यूज करते हैं.'

ग्राउंड रिपोर्ट : ये बागी बलिया है, जहां सांड को नाथ कर बैल का काम लिया जाता है

यूपी के इस आखिरी छोर पर सियासत बहुत पीछे छूट जाती है.

पथरदेवा ग्राउंड रिपोर्ट: जब-जब ये नेता चुनाव जीतता है, यूपी में बीजेपी सरकार बनाती है

यहां बीजेपी के सूर्य प्रताप शाही के लिए एक वोटर रियासत अली कहते हैं, 'अबकी इनका वनवास खत्म कराना है'.

नौतनवा ग्राउंड रिपोर्ट: मां-पापा और भाई जेल में, तो बहन लंदन से आई चुनाव प्रचार के लिए

पेश है बाहुबलियों की सीट का हाल.

ग्राउंड रिपोर्ट पडरौना: जहां के लोगों को याद है कि पीएम ने ढाई साल पुराना वादा पूरा नहीं किया

यहां बीजेपी नेता के लिए नारा था, 'राम नगीना बड़ा कमीना, फिर भी वोट उसी को देना'.