Submit your post

Follow Us

2000 के नोट से निकलकर गांधी जी लाठी लेने चले गए हैं

2000 के नोट चिप निकालने वालों को बधाई. नोट से गांधी जी भी निकल चुके हैं. वहां कोई गोडसे नहीं आया था. ये कोई छपाई की गलती नहीं है, जो RBI से हुई है. इसमें गांधी जी का संदेश छुपा है. संदेश ये कि भगवान के लिए मेरी तस्वीर से खेलना बंद कर दो. इसमें समय का संदेश भी छुपा है, संदेश ये कि गांधी अब तुम्हारे आदर्श नहीं रह गए हैं, उनकी तस्वीर लगाकर ढोंग करना बंद करो.

Note 2000

नोट से गांधी जी गायब हुए. लोग कहते ही रह जाते हैं कि फकीर हैं, झोला उठाकर चल देंगे, गांधी बाबा चले गए. इसकी वजह है. नोट में गांधी जी तो छपते हैं, लेकिन पूरे कहां सिर्फ चेहरा छपता है. लाठी नहीं छपती. गांधी जी नोट से निकलकर लाठी लेने गए हैं. किसी को मारेंगे नहीं रास्ता दिखाएंगे. गांधी जी की लाठी किन लोगों के लिए है?

साल कहने को 2017 चल रहा है. टेक्नोलॉजी कभी इतनी विकसित नहीं थी. जितनी अब है. तकनीक ने ऑडियो-वीडियो के फील्ड में भी प्रगति की. वीडियो की सबसे फेमस वेबसाइट यू ट्यूब है. नए साल में जो वीडियो यू ट्यूब पर टॉप ट्रेंड कर रहा था वो नोट से चिप निकालने वाला. मतलब समझ आता है? हमें तकनीक दे दो, काम आसान करने को, चीजें पता करने को, बेहतर बनने को. हम उसमें भी मूर्ख बनने के रास्ते खोज लेते हैं. इंसान इकलौते ऐसे होते हैं, जो बेवकूफ बनने के लिए भी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करते हैं.

Note 2000

2000 के नोट में गांधी जी नज़र नहीं आ रहे, आप क्या कर सकते हैं? भगवान के लिए अब आसाराम को बापू बुलाना बंद कर दीजिए. अब भी लोग आसाराम को बापू कह रहे हैं. और तो और कुछ निर्दोष ‘घोषित’ कर बैठे हैं.  उन्हें लगता है आसाराम वाली जेल का जेलर फेसबुक और ट्विटर पर बैठा है. सुबह जब वो ट्विटर पर #बापूजी_निर्दोष_हैं #बापू_जी_को_रिहा_करो ट्रेंड करेंगे. जेलर कोठरी में पहुंचेगा और चाभी पकड़ाकर हाथ जोड़ेगा, माफी मांगेगा. मजे की बात ये कि इन्हें आसाराम निर्दोष इसलिए नहीं लगते कि उसकी बेगुनाही का इनके पास कोई सबूत है, बल्कि इसलिए लगते हैं क्योंकि ये कह रहे हैं.

asaram

मध्यप्रदेश की ये तस्वीर देखिए. लिखा है, खुले में शौच किया तो जल्द ही मौत दे दी जाएगी. तस्वीर लगी है महात्मा गांधी की. हर जगह गांधी का इस्तेमाल कर लिया जाता है. गांधी चले गए क्योंकि उनसे शायद इतनी हिंसा बर्दाश्त न हो रही होगी. जो उनके नाम पर की जा रही है. लौटेंगे तो स्वच्छता के गुंडों को रास्ता दिखाने के लिए लाठी ले आएंगे. उनके निशाने पर वो लोग भी होंगे जिन्होंने हाल ही में एक बुजुर्ग की धोती से मल साफ कराया था.

-ब्रेकिंग-देंगे-कि-की-बोर्ड-ब्रेक-हो-जाएगा.-1_050117-123913

बैंगलोर में नए साल पर बीच सड़क लड़कियों का मास मोलेस्टेशन हुआ. बैंगलोर क्या कहें दिल्ली, हैदराबाद हर जगह से वैसी ही खबरें आ रही हैं. नेताओं ने कहा होता रहता है, पेट्रोल होता है तो आग लगती है, शक्कर गिरती है तो चीटियां आती हैं. दोष लड़कियों के कपड़ों को भी दिया गया. उन तस्वीरों को देखिए. उनसे कम कपड़े ये बूढ़ा आदमी पहनता था. गांधी लाठी लेकर लौटेंगे तो बताएंगे नेता क्या होता है. नेता क्या कहता है. नेता कैसे बनते है जिसके पीछे लोग चलते हैं. और उन लोगों के लिए उसकी क्या जिम्मेदारी होती है.

Women-banglore


ये भी पढ़ें.

‘उस रात लड़के 10-11 के झुंड में लड़कियों की ओर बढ़ रहे थे’

गांधी जी की तस्वीर के साथ जान से मारने की धमकी

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गंदी बात

बहू-ससुर, भाभी-देवर, पड़ोसन: सिंगल स्क्रीन से फोन की स्क्रीन तक कैसे पहुंचीं एडल्ट फ़िल्में

बहू-ससुर, भाभी-देवर, पड़ोसन: सिंगल स्क्रीन से फोन की स्क्रीन तक कैसे पहुंचीं एडल्ट फ़िल्में

जिन फिल्मों को परिवार के साथ नहीं देख सकते, वो हमारे बारे में क्या बताती हैं?

चरमसुख, चरमोत्कर्ष, ऑर्गैज़म: तेजस्वी सूर्या की बात पर हंगामा है क्यों बरपा?

चरमसुख, चरमोत्कर्ष, ऑर्गैज़म: तेजस्वी सूर्या की बात पर हंगामा है क्यों बरपा?

या इलाही ये माजरा क्या है?

राष्ट्रपति का चुनाव लड़ रहे शख्स से बच्चे ने पूछा- मैं सबको कैसे बताऊं कि मैं गे हूं?

राष्ट्रपति का चुनाव लड़ रहे शख्स से बच्चे ने पूछा- मैं सबको कैसे बताऊं कि मैं गे हूं?

जवाब दिल जीत लेगा.

'इस्मत आपा वाला हफ्ता' शुरू हो गया, पहली कहानी पढ़िए लिहाफ

'इस्मत आपा वाला हफ्ता' शुरू हो गया, पहली कहानी पढ़िए लिहाफ

उस अंधेरे में बेगम जान का लिहाफ ऐसे हिलता था, जैसे उसमें हाथी बंद हो.

PubG वाले हैं क्या?

PubG वाले हैं क्या?

जबसे वीडियो गेम्स आए हैं, तबसे ही वे पॉपुलर कल्चर का हिस्सा रहे हैं. ये सोचते हुए डर लगता है कि जो पीढ़ी आज बड़ी हो रही है, उसके नास्टैल्जिया का हिस्सा पबजी होगा.

बायां हाथ 'उल्टा' ही क्यों हैं, 'सीधा' क्यों नहीं?

बायां हाथ 'उल्टा' ही क्यों हैं, 'सीधा' क्यों नहीं?

मां-बाप और टीचर बच्चों को पीट-पीट दाहिने हाथ से काम लेने के लिए मजबूर करते हैं. क्यों?

फेसबुक पर हनीमून की तस्वीरें लगाने वाली लड़की और घर के नाम से पुकारने वाली आंटियां

फेसबुक पर हनीमून की तस्वीरें लगाने वाली लड़की और घर के नाम से पुकारने वाली आंटियां

और बिना बैकग्राउंड देखे सेल्फी खींचकर लगाने वाली अन्य औरतें.

'अगर लड़की शराब पी सकती है, तो किसी भी लड़के के साथ सो सकती है'

'अगर लड़की शराब पी सकती है, तो किसी भी लड़के के साथ सो सकती है'

पढ़िए फिल्म 'पिंक' से दर्जन भर धांसू डायलॉग.

मुनासिर ने प्रीति को छह बार चाकू भोंककर क्यों मारा?

मुनासिर ने प्रीति को छह बार चाकू भोंककर क्यों मारा?

ऐसा क्या हुआ, कि सरे राह दौड़ा-दौड़ाकर उसकी हत्या की?

हिमा दास, आदि

हिमा दास, आदि

खचाखच भरे स्टेडियम में भागने वाली लड़कियां जो जीवित हैं और जो मर गईं.

सौरभ से सवाल

दिव्या भारती की मौत कैसे हुई?

दिव्या भारती की मौत कैसे हुई?

खिड़की पर बैठी दिव्या ने लिविंग रूम की तरफ मुड़कर देखा. और अपना एक हाथ खिड़की की चौखट को मजबूती से पकड़ने के लिए बढ़ाया.

कहां है 'सिर्फ तुम' की हीरोइन प्रिया गिल, जिसने स्वेटर पर दीपक बनाकर संजय कपूर को भेजा था?

कहां है 'सिर्फ तुम' की हीरोइन प्रिया गिल, जिसने स्वेटर पर दीपक बनाकर संजय कपूर को भेजा था?

'सिर्फ तुम' के बाद क्या-क्या किया उन्होंने?

बॉलीवुड में सबसे बड़ा खान कौन है?

बॉलीवुड में सबसे बड़ा खान कौन है?

सबसे बड़े खान का नाम सुनकर आपका फिल्मी ज्ञान जमीन पर लोटने लगेगा. और जो झटका लगेगा तो हमेशा के लिए बुद्धि खुल जाएगी आपकी.

'कसौटी ज़िंदगी की' वाली प्रेरणा, जो अनुराग और मिस्टर बजाज से बार-बार शादी करती रही

'कसौटी ज़िंदगी की' वाली प्रेरणा, जो अनुराग और मिस्टर बजाज से बार-बार शादी करती रही

कहां है टेलीविज़न का वो आइकॉनिक किरदार निभाने वाली ऐक्ट्रेस श्वेता तिवारी?

एक्ट्रेस मंदाकिनी आज की डेट में कहां हैं?

एक्ट्रेस मंदाकिनी आज की डेट में कहां हैं?

मंदाकिनी जिन्हें 99 फीसदी भारतीय सिर्फ दो वजहों से याद करते हैं

सर, मेरा सवाल है कि एक्ट्रेस मीनाक्षी शेषाद्री आजकल कहां हैं. काफी सालों से उनका कोई पता नहीं.

सर, मेरा सवाल है कि एक्ट्रेस मीनाक्षी शेषाद्री आजकल कहां हैं. काफी सालों से उनका कोई पता नहीं.

‘दामिनी’ के जरिए नई ऊंचाई तक पहुंचा मीनाक्षी का करियर . फिर घातक के बाद 1996 में उन्होंने मुंबई फिल्म इंडस्ट्री को बाय बोल दिया.

ये KRK कौन है. हमेशा सुर्खियों में क्यों रहता है?

ये KRK कौन है. हमेशा सुर्खियों में क्यों रहता है?

केआरके इंटरनेट एज का ऐसा प्रॉडक्ट हैं, जो हर दिन कुछ ऐसा नया गंधाता करना रचना चाहता है.

एक्ट्रेस किमी काटकर अब कहां हैं?

एक्ट्रेस किमी काटकर अब कहां हैं?

एडवेंचर ऑफ टॉर्जन की हिरोइन किमी काटकर अब ऑस्ट्रेलिया में हैं. सीधी सादी लाइफ बिना किसी एडवेंचर के

चाय बनाने को 'जैसे पापात्माओं को नर्क में उबाला जा रहा हो' कौन सी कहानी में कहा है?

चाय बनाने को 'जैसे पापात्माओं को नर्क में उबाला जा रहा हो' कौन सी कहानी में कहा है?

बहुत समय पहले से बहुत समय बाद की बात है. इलाहाबाद में थे. जेब में थे रुपये 20. खरीदी हंस...

सर आजकल मुझे अजीब सा फील होता है क्या करूं?

सर आजकल मुझे अजीब सा फील होता है क्या करूं?

खुड्डी पर बैठा था. ऊपर से हेलिकॉप्टर निकला. मुझे लगा. बाबा ने बांस गहरे बोए होते तो ऊंचे उगते.