Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

लक्ष्मण ट्रबलशूटर नाम तिहारो!

4.31 K
शेयर्स

1983 वर्ल्ड कप जीत तब हुई जब लोगों के पास टीवी नहीं था और नाइंटीज की नस्ल पैदा भी नहीं हुई थी. क्रिकेट की दीवानी पीढ़ी के लिए शारजाह में सचिन की बैटिंग के बाद कुछ खास न था. और रही सही कसर तब मैच फिक्सिंग ने पूरी कर दी. कुछ लोगों ने इस दौर को भारतीय क्रिकेट की मौत तक कह दिया था. फिर आती है लक्ष्मण की वो पारी. वीवीएस लक्ष्मण 281 और नए ज़माने में भारत का क्रिकेट एक सही मोड़ लेता है. इसे पिछले 50 साल की सबसे अच्छी पारी माना जाता है. लक्ष्मण ने वैसी भगीरथी पारी फिर न खेली. लेकिन इसके बाद भी ऐसी स्थिति से मैच और ऐसी टीमों के खिलाफ मैच जीताएं हैं जहां से कोई सोच भी नहीं सकता था और वो पारियां भी 281 से कम नहीं हैं.

हो सकता है लक्ष्मण के 48, 42, 76 जैसे मैच जीताऊ और मैच बचाऊ स्कोर उन्हें महानतम बल्लेबाज़ों की पहली लिस्ट में न ला पाएं. लेकिन एकदम विपरित हालात में, 4थी पारी में मैच फिनिश करने की काबिलियत की अगर कोई लिस्ट है तो वो पहले नंबर पर होंगे. वो न केवल खुद खेल जाते थे बल्कि गेंदबाज़ों से भी  बैटिंग करवा लेते थे. पेश हैं लक्ष्मण की 5 ऐसी पारियां जब जीत की उम्मीद मर जाती थी, लक्ष्मण संकटमोचक बनकर आते थे और गेंदबाज़ों के साथ बैटिंग कर जीतवा देते थे.

1. लक्ष्मण 73* बनाम ऑस्ट्रलिया, मोहाली 2010

लक्ष्मण की ये पारी कोलकाता जितनी भगीरथी नहीं थी. कोलकाता की 281 वाली पारी धीर-धीरे आई थी, उसका खुमार धीरे-धीरे चढ़ा था और उस मैच के दिन लक्ष्मण फिट थे, साथ में द्रविड थे. लेकिन मोहाली में लक्ष्मण ने खाक से लाख का निर्माण किया था. 216 रनों का पीछा करते हुए भारत का स्कोर था 124-8. जीत की कोई उम्मीद नहीं. पहली पारी में पीठ दर्द के कारण लक्ष्मण नंबर 10 पर बैटिंग करने आए थे. दूसरी पारी में भी यही परेशानी, रैना को रनर लिया गया और ईशांत शर्मा के साथ लिख दी जीत. ईशांत एक छोर पर जमे रहे और दूसरे छोर पर लक्ष्मण अपनी कलाईयों से टनाटन खेला कर रहे थे. जब लगा कि जीत तो हो ही गई ईशांत शर्मा 31 रन पर आउट हो गए भारत 205-9.  भारत को जब 6 रन की ज़रूरत थी तब रनर रैना और ओझा के तालमेल में घालमेल हो गया, स्ट्राइकर एंड पर खड़े लक्ष्मण को लगा सारी मेहनत बर्बाद, सांस अटक गई. खैर जैसे-तैसे रन आउट होते-होते बच गए पर सदा शांत रहने वाले लक्ष्मण भी ओझा पर चिल्ला कर बोले ‘भागना चाहिए था.’ दर्द में भी ऐसा जज़्बा दिखाने वाले लक्ष्मण की मेहनत रंग लाई और आखिरी खिलाड़ी ओझा के साथ भारत के ये रन भी बन गए.

India's Vangipurappu Laxman (C), Ishant Sharma (L) and Harbhajan Singh embrace as they celebrate India's victory over Australia on the fifth day of their first test cricket match in Mohali October 5, 2010. REUTERS/Andrew Caballero-Reynolds (INDIA - Tags: SPORT CRICKET) - RTXT25W
पीठ दर्द के बावजूद खींच दिया !

2. लक्ष्मण 96 बनाम दक्षिण अफ्रीका, डरबन 2010

लक्ष्मण को ज़िम्बाव्बे और बांग्लादेश की बजाय ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ्रीका के गेंदबाज़ ज़्यादा पसंद थे. डरबन का तेज़ और पहेली पूछता विकेट. पहली पारी में भारत 205 पर ऑल आउट, लक्ष्मण 38 रन के साथ टॉप स्कोरर रहे. भारत ने भी अफ्रीका को 131 पर ऑल आउट कर दिया. लक्ष्मण जब दूसरी पारी में आए स्कोर था 56-4. एक छोर पर लक्ष्मण खड़े रहे और छोटी-छोटी पार्टनरशिप्स से स्कोर पहुंच गया 148-8. अब लगा कि पारी सिमटी ही जाएगी. लेकिन लक्ष्मण के इरादे कुछ और थे. लक्ष्मण ने आखिरी तीन बल्लेबाज़ों के साथ 80 रन जोड़ दिए और भारत का स्कोर हो गया 228. दक्षिण अफ्रीका को जीत के लिए 303 रन बनाने थे और यही 80 रन भारी पड़ गए. भारत 87 रन भारत मैच जीच गया.

3. लक्ष्मण 79 बनाम ऑस्ट्रेलिया, पर्थ 2008

सिडनी के कुख्यात टेस्ट मैच के बाद, अनिल कुंबले की कप्तानी में अगला पड़ाव था पर्थ. ऑस्ट्रेलियन मीडिया भारत के बारे में अंट-शंट छाप रहा था. उन सबको जवाब देने का एक ही तरीका था जीत. पर्थ की अग्नि-पिच पर जीत. दूसरी पारी में भारत के पास 118 रन की बढ़त थी और भारत का स्कोर था 125-5. अपनी प्रिय विरोधी टीम ऑस्ट्रलिया के खिलाफ नंबर 6 पर आकर लक्ष्मण ने पहले सचिन और फिर धोनी के साथ पार्टनरशिप्स लगाई, लेकिन स्कोर अभी भी जीत के लिए नाकाफी 235-8 था. लक्ष्मण ने आखिरी 2 बल्लेबाज़ों रूद्र प्रताप सिंह और ईशांत शर्मा के साथ 59 रन जोड़ दिए. भारत ये मैच सिर्फ 72 रन से जीता था.

4. लक्ष्मण 73 बनाम साउथ अफ्रीका, जोहांसबर्ग 2006

सीरीज़ में पहला टेस्ट खेलने उतरी भारतीय टीम के लिए इतिहास और हालात दोनों खिलाफ थे. पहली पारी में भारत ने शानदार गेंदबाज़ी के दम पर दक्षिण अफ्रीका को 84 पर ऑल आउट कर 165 रन की बढ़त बना ली. लेकिन दूसरी पारी में जब लक्ष्मण आए स्कोर था 41-3. दूसरे छोर पर विकेट गिरते रहे और लक्ष्मण को फिर से पुछल्ले बैटिंग ऑर्डर के साथ छोड़ दिया गया. इसी मुकाम पर लक्ष्मण ने ज़हीर खान के साथ 70 रन जोड़ दिए. जिस समय लक्ष्मण आउट हुए, भारत का स्कोर था 218-8. भारत ने कुल 236 रन बनाए और आसानी से 123 रन से दक्षिण अफ्रीका की सरज़मीं पर पहला टेस्ट जीत लिया.

India's Kumble and Laxman celebrate the dismissal of Pakistan's Sami during their second test cricket match in Kolkata

5. लक्ष्मण 51 बनाम साउथ अफ्रीका, अहमदाबाद 1996

अपने पहले ही मैच में लक्ष्मण ने दिखा दिया था कि वो क्या चीज़ हैं. दोनों टीमों की पहली पारी खत्म होने के बाद प्रस्तावना में दक्षिण अफ्रीका के पास 21 रन की बढ़त थी. दूसरी पारी में भारत का स्कोर था 38-3. फिर आए वीवीएस लक्ष्मण. 125 गेंदों तक एलन डॉनल्ड, पैट सिमकॉक्स का सामना कर लक्ष्मण ने 51 रन बनाए. कुंबले की गेंद पर लक्ष्मण का स्लिप में कैच आम बात थी. लक्ष्मण ने कुल कैचों में 20% कुंबले की गेंदों पर लिए हैं. लेकिन इस मैच मेें दोनों ने बैटिंग में जौहर दिखाने का फैसला किया और भारत का स्कोर 124-7 से 180-8 तक खींच ले गए. भारत की पारी खत्म हुई 190 पर और जीत के लिए 170 रन का पीछा करते हुए अंतर बनी लक्ष्मण की लॉअर ऑर्डर के साथ पार्टनरशिप और दक्षिण अफ्रीका 64 रन से हार गया.


ये भी पढ़ें:

आशीष नेहरा रिटायर भले ही हो रहे हैं मगर उनकी कहानी इंस्पायर करती रहेगी

सानिया मिर्ज़ा के ताने पर शोएब मलिक का ये जवाब दिल लूट लेता है

वीडियो देखें:

 

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
VVS Laxman beyond 281 best of VVS Laxman innings agnst South Africa and Australia Cricket in Hindi

गंदी बात

#MeToo मूवमेंट इतिहास की सबसे बढ़िया चीज है, मगर इसके कानूनी मायने क्या हैं?

अपने साथ हुए यौन शोषण के बारे में समाज की आंखों में आंखें डालकर कहा जा रहा है, ये देखना सुखद है.

तनुश्री-नाना मसले पर अमिताभ बच्चन ने ये बात कहकर अपना दोहरापन साबित कर दिया

'पिंक'? वो तो बस फिल्म थी दोस्तों.

इंटरनेट ऐड्स में 'प्लस साइज़' मॉडल्स को देखने से फूहड़ नजारा कोई नहीं होता

ये नजारा इसलिए भद्दा नहीं है क्योंकि मॉडल्स मोटी होती हैं...

लेस्बियन पॉर्न देख जो आनंद लेते हैं, उन्हें 377 पर कोर्ट के फैसले से ऐतराज है

म्याऊं: संस्कृति के रखवालों के नाम संदेश.

कोर्ट के फैसले को हमें ऑपरा सुनते एंड्र्यू के कमरे तक ले जाना है

साढ़े 4 मिनट का ये सीक्वेंस आपके अंदर बसे होमोफ़ोबिया को मार सकता है.

राधिका आप्टे से प्रोड्यसूर ने पूछा 'हीरो के साथ सो लेंगी' और उन्होंने घुमाके दिया ये जवाब!

'बर्थडे गर्ल' राधिका अपनी पीढ़ी की सबसे ब्रेव एक्ट्रेसेज़ में से हैं.

'स्त्री': एक आकर्षक वेश्या जो पुरुषों को नग्न तो करती थी मगर उनका रेप नहीं करती

म्याऊं: क्यों 'स्त्री' एक ज़रूरी फिल्म है.

भारत के LGBTQ समुदाय को धारा 377 से नहीं, इसके सिर्फ़ एक शब्द से दिक्कत होनी चाहिए

सबकी फिंगर क्रॉस्ड हैं, सुप्रीमकोर्ट का एक फैसला शायद सब-कुछ बदल दे!

'पीरियड का खून बहाती' देवी से नहीं, मुझे उसे पूजने वालों से एक दिक्कत है

चार दिन का ये फेस्टिवल असम में आज से शुरू हो गया है.

सौरभ से सवाल

बॉलीवुड में सबसे बड़ा खान कौन है?

सबसे बड़े खान का नाम सुनकर आपका फिल्मी ज्ञान जमीन पर लोटने लगेगा. और जो झटका लगेगा तो हमेशा के लिए बुद्धि खुल जाएगी आपकी.

'कसौटी ज़िंदगी की' वाली प्रेरणा, जो अनुराग और मिस्टर बजाज से बार-बार शादी करती रही

कहां है टेलीविज़न का वो आइकॉनिक किरदार निभाने वाली ऐक्ट्रेस श्वेता तिवारी?

एक्ट्रेस मंदाकिनी आज की डेट में कहां हैं?

मंदाकिनी जिन्हें 99 फीसदी भारतीय सिर्फ दो वजहों से याद करते हैं

दिव्या भारती की मौत कैसे हुई?

खिड़की पर बैठी दिव्या ने लिविंग रूम की तरफ मुड़कर देखा. और अपना एक हाथ खिड़की की चौखट को मजबूती से पकड़ने के लिए बढ़ाया.

सर, मेरा सवाल है कि एक्ट्रेस मीनाक्षी शेषाद्री आजकल कहां हैं. काफी सालों से उनका कोई पता नहीं.

‘दामिनी’ के जरिए नई ऊंचाई तक पहुंचा मीनाक्षी का करियर . फिर घातक के बाद 1996 में उन्होंने मुंबई फिल्म इंडस्ट्री को बाय बोल दिया.

ये KRK कौन है. हमेशा सुर्खियों में क्यों रहता है?

केआरके इंटरनेट एज का ऐसा प्रॉडक्ट हैं, जो हर दिन कुछ ऐसा नया गंधाता करना रचना चाहता है.

एक्ट्रेस किमी काटकर अब कहां हैं?

एडवेंचर ऑफ टॉर्जन की हिरोइन किमी काटकर अब ऑस्ट्रेलिया में हैं. सीधी सादी लाइफ बिना किसी एडवेंचर के

चाय बनाने को 'जैसे पापात्माओं को नर्क में उबाला जा रहा हो' कौन सी कहानी में कहा है?

बहुत समय पहले से बहुत समय बाद की बात है. इलाहाबाद में थे. जेब में थे रुपये 20. खरीदी हंस...

सर आजकल मुझे अजीब सा फील होता है क्या करूं?

खुड्डी पर बैठा था. ऊपर से हेलिकॉप्टर निकला. मुझे लगा. बाबा ने बांस गहरे बोए होते तो ऊंचे उगते.

ऑफिस के ड्युअल फेस लोगों के साथ कैसे मैनेज करें?

पर ध्यान रहे. आप इस केस को कैसे हैंडल कर रहे हैं, ये दफ्तर में किसी को पता न चले.