Submit your post

Follow Us

इन नंगी लड़कियों की तस्वीरों, वीडियो से आप क्यों डरते हैं?

3.04 K
शेयर्स

क़ंदील बलोच के भाई ने अरेस्ट होने के बाद पुलिस से कहा,

‘मुझे अपनी बहन को मारने पर गर्व है.’

लोग जब गुनाहों में दोषी पाए जाते हैं, वो पब्लिक और कैमरे से बचने के लिए मुंह ढंक लेते हैं. लेकिन ये कैसा गुनाह है, कैसा मर्डर है कि गुनहगार छाती चौड़ी कर उस पर गर्व कर रहा है. उसे लगता है घर की ‘मर्यादा’ से खिलवाड़ करने वाली औरत को मारकर उसने एक अच्छा काम किया है. ठीक वैसे ही जैसे हमारे सुपरहीरो कानून को अपने हाथ में ले लेते हैं, शहरों को क्राइम और आतंक से बचाने के लिए. जैसे क़ंदील जैसी औरतें समाज को किसी तरह का नुकसान पहुंचाती हों. जैसे वो एक खतरा हों.

‘औरतें घर में रहने के लिए बनी हैं.’

इसीलिए वो बाहर जाकर खतरा बन जाती हैं. समाज का स्ट्रक्चर जैसे कोई दीवार हो. जिसमें चुनी हुईं ईंटों का स्थान और भूमिकाएं फिक्स हैं. अगर वो उससे बाहर आने की कोशिश करें, तो दीवार बिखर जाएगी. वो दीवार तो नैतिकता के सीमेंट से जोड़ी गई है.

‘क़ंदील पूरे समाज में हमारी बेइज्जती करा रही थी.’

क्योंकि औरत होने के नाते वो घर की ‘इज्जत’ थी. वो सोशल मीडिया पर जैसे-जैसे अपने कपड़े उतारती, घर की ‘इज्जत’ नंगी होती जाती. बेटी का शरीर जैसे-जैसे बाहरी आंखों को दिखता, वैसे-वैसे घर के परदे खुलते जाते.

क़ंदील के भाई का ये बयान, महज एक बयान नहीं है. एक समाज के तौर पर हमारी सोच को दिखाता है. पिछड़ी, जाहिल सोच. और अगर आप सोच रहे हैं कि बात पाकिस्तान की जाहिली की हो रही है, तो जरा खुद को चिकोटी काटिए. हम इसमें ज़रा भी पीछे नहीं हैं. क़ंदील का क़त्ल केवल पकिस्तान को नहीं, पूरी मानवता को कई साल पीछे धकेल देता है.

 

***

क़ंदील का क्राइम क्या था? नंगापन.

क्रिमिनल, क्रिमिनल क्यों होता है? क्योंकि समाज को उससे खतरा होता है.

और खतरों से आप डरते हैं. नंगेपन से आप डरते हैं.

औरत के शरीर को पुरुषवादी समाज नंगा होते देख घबराता है, लेकिन औरत के हित में नहीं. अपने लिए. क़ंदील के भाई को लगता था कि क़ंदील के गैर-शादीशुदा होने की वजह से वो क़ंदील के शरीर का मालिक था. औरतों के जीवन के हर फेज में उनके शरीर का कोई न कोई मालिक होता है. वो छोटी होती है तो उसका बाप, थोड़ी बड़ी होने लगती है तो उसका भाई. और शादी के बाद उसका पति. और जब यही शरीर पब्लिक में नंगा होता है, पुरुष को लगता है उसकी पर्सनल प्रॉपर्टी को पब्लिक में शेयर किया जा रहा है. जो केक पूरा का पूरा उसे ही खाना था, उसमें अब सब अपने दांत गड़ा रहे हैं.

पॉर्न-MD नाम की वेबसाइट का एक सर्वे ये बताता है कि पाकिस्तान दुनिया में सबसे ज्यादा पॉर्न देखने वाला देश है. इसी फेहरिस्त में इंडिया छठे नंबर पर है. गूगल के मुताबिक़ पिछले साल इंडिया में सबसे ज्यादा सनी लियोनी को सर्च किया गया है. हम वो समाज हैं जो औरतों की नंगई देखने को मरे जा रहे हैं. पब्लिक प्लेस, बसों, मेट्रों में औरतों को ऊपर से नीचे तक यूं घूरते हैं, जैसे उनका शरीर स्कैन कर अंदर देखना चाह रहे हैं. छोटी गलियों से लेकर बड़े डिस्कोज तक लड़कियों को छू भर लेने का मौका ढूंढते हैं. गोवा जाते हैं तो बिकिनी तो छोड़ो, शॉर्ट्स में घूम रही लड़कियों को ग्रुप बनाकर देखते रहते हैं. खिखियाते रहते हैं. लार चुआते रहते हैं. लेकिन उन लड़कियों की नंगई को देखने में हम मज़े ले सकते हैं, क्योंकि तब हमें किसी और के केक में अपना शेयर मिल रहा होता है. वो लड़कियां ‘हमारी’ इज्जत नहीं होतीं, किसी और की होती हैं.

और सनी लियोनी जैसी लड़कियां. वो तो अपने जिस्म के साथ अपने घर की ‘इज्जत’ ‘बेच’ चुकी हैं. इसलिए उन्हें देखने से हमारा कुछ नहीं घटता.

और यही लोग नंगेपन को बैन करना चाहते हैं. सी-बीचेस से, फिल्मों से, सड़कों से, सोशल मीडिया से. पुरुषवादी समाज में पुरुषों की सत्ता को बनाए रखने के लिए जरूरी है कि औरतों को पालतू बनाकर रखा जाए. लेकिन जब औरतें घर से बाहर निकलती हैं, पालतू नहीं रहतीं. और जब कपड़े उतारती हैं तो पूरी जंगली हो जाती हैं. पुरुषवादी सोच उन्हें पकड़कर, बांधकर फिर से पालतू बनाना चाहती है. क्योंकि अगर वो पिंजरे में कैद नहीं रहीं, तो उन्हें नोच खाएगी जो उसे कैद रखना चाहते हैं.

स्लाट वॉक. सोर्स: AP
स्लाट वॉक. सोर्स: AP

लोग सवाल करते हैं कि औरतों को अपने हक, अपने अधिकार जीतने के लिए सड़कों पर नंगा क्यों उतरना पड़ता है. आए दिन आर्मी के जवानों से रेप होने के खिलाफ मणिपुर की औरतें क्यों नंगी होकर प्रोटेस्ट करती हैं. ब्रा और कपड़े क्यों जलाती हैं. ‘स्लट वॉक’ जैसे इवेंट में हिस्सा ले, कम कपड़े पहनकर क्यों निकलती हैं सड़कों पर. वो आपको आपकी दिमागी नंगई दिखाने की लिए ऐसा करती हैं. आपको अपनी तरफ आकर्षित करने के लिए नहीं, डराने के लिए ऐसा करती हैं. वो आपको बताना चाहती हैं कि जिस दिन सारी लड़कियां नंगी हो गईं, उस दिन पुरुषवादी समाज के लिए बड़ा खतरा पैदा हो जाएगा.

MANIPUR WOMEN PROTEST
मणिपुर में प्रोटेस्ट करती औरतें
लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

आरामकुर्सी

क्या चीज है G7, जिसमें न रूस है, न चीन, जबकि भारत को इस बार बुलाया गया

रूस इस ग्रुप में था, लेकिन बाकी देशों ने उसे नाराज होकर निकाल दिया था.

इन 2 चमत्कारों की वजह से संत बनीं मदर टेरेसा

यहां जान लीजिए, वेटिकन सिटी में दी गई थी मदर टेरेसा को संत की उपाधि.

गायतोंडे को लड़कियां सप्लाई करने वाली जोजो, जो अपनी जांघ पर कंटीली बेल्ट बांधा करती थी

जिसकी मौत ही शुरुआत थी और अंत भी.

ABVP ने NSUI को धप्पा न दिया होता तो शायद कांग्रेस के होते अरुण जेटली

करीब चार दशक की राजनीति में बस दो चुनाव लड़े जेटली. एक हारे. एक जीते.

कैसे डिज्नी-मार्वल और सोनी के लालच के कारण आपसे स्पाइडर-मैन छिनने वाला है

सालों से राइट्स की क्या खींचतान चल रही है, और अब क्या हुआ जो स्पाइडर-मैन को MCU से दूर कर देगा.

इस्मत लिखना शुरू करेगी तो उसका दिमाग़ आगे निकल जाएगा और अल्फ़ाज़ पीछे हांफते रह जाएंगे

पढ़िए मंटो क्या कहते थे इस्मत के बारे में, उन्हीं की कलम से निकल आया है.

वो रेल हादसा, जिसमें नीलगाय की वजह से ट्रेन से ट्रेन भिड़ी और 300 से ज्यादा लोग मारे गए

उस दिन जैसे हर कोई एक्सिडेंट करवाने पर तुला था. एक ने अपनी ड्यूटी ढंग से निभाई होती, तो ये हादसा नहीं होता.

'मेरी तबीयत ठीक नहीं रहती, मुझे नहीं बनना पीएम-वीएम'

शंकर दयाल शर्मा जीके का एक सवाल थे. आज बड्डे है.

गुलज़ार पर लिखना डायरी लिखने जैसा है, दुनिया का सबसे ईमानदार काम

गुलज़ार पर एक ललित निबंध.

जब गुलजार ने चड्डी में शर्माना बंद किया

गुलज़ार दद्दा, इसी बहाने हम आपको अपने हिस्से की वो धूप दिखाना चाहते हैं, जो बीते बरसों में आपकी नज़्मों, नग़मों और फिल्मों से चुराई हैं.

सौरभ से सवाल

दिव्या भारती की मौत कैसे हुई?

खिड़की पर बैठी दिव्या ने लिविंग रूम की तरफ मुड़कर देखा. और अपना एक हाथ खिड़की की चौखट को मजबूती से पकड़ने के लिए बढ़ाया.

कहां है 'सिर्फ तुम' की हीरोइन प्रिया गिल, जिसने स्वेटर पर दीपक बनाकर संजय कपूर को भेजा था?

'सिर्फ तुम' के बाद क्या-क्या किया उन्होंने?

बॉलीवुड में सबसे बड़ा खान कौन है?

सबसे बड़े खान का नाम सुनकर आपका फिल्मी ज्ञान जमीन पर लोटने लगेगा. और जो झटका लगेगा तो हमेशा के लिए बुद्धि खुल जाएगी आपकी.

'कसौटी ज़िंदगी की' वाली प्रेरणा, जो अनुराग और मिस्टर बजाज से बार-बार शादी करती रही

कहां है टेलीविज़न का वो आइकॉनिक किरदार निभाने वाली ऐक्ट्रेस श्वेता तिवारी?

एक्ट्रेस मंदाकिनी आज की डेट में कहां हैं?

मंदाकिनी जिन्हें 99 फीसदी भारतीय सिर्फ दो वजहों से याद करते हैं

सर, मेरा सवाल है कि एक्ट्रेस मीनाक्षी शेषाद्री आजकल कहां हैं. काफी सालों से उनका कोई पता नहीं.

‘दामिनी’ के जरिए नई ऊंचाई तक पहुंचा मीनाक्षी का करियर . फिर घातक के बाद 1996 में उन्होंने मुंबई फिल्म इंडस्ट्री को बाय बोल दिया.

ये KRK कौन है. हमेशा सुर्खियों में क्यों रहता है?

केआरके इंटरनेट एज का ऐसा प्रॉडक्ट हैं, जो हर दिन कुछ ऐसा नया गंधाता करना रचना चाहता है.

एक्ट्रेस किमी काटकर अब कहां हैं?

एडवेंचर ऑफ टॉर्जन की हिरोइन किमी काटकर अब ऑस्ट्रेलिया में हैं. सीधी सादी लाइफ बिना किसी एडवेंचर के

चाय बनाने को 'जैसे पापात्माओं को नर्क में उबाला जा रहा हो' कौन सी कहानी में कहा है?

बहुत समय पहले से बहुत समय बाद की बात है. इलाहाबाद में थे. जेब में थे रुपये 20. खरीदी हंस...

सर आजकल मुझे अजीब सा फील होता है क्या करूं?

खुड्डी पर बैठा था. ऊपर से हेलिकॉप्टर निकला. मुझे लगा. बाबा ने बांस गहरे बोए होते तो ऊंचे उगते.