Submit your post

Follow Us

दिल्ली के इतिहास की सबसे खास तस्वीरें, जब कनॉट प्लेस माधौगंज हुआ करता था

दिल्ली, दिल वालों का शहर, इस शहर से इश्क करने वालों की कमी नहीं. 7 बार वीरान हुई और 8 बार बसी. दिल्ली शहर के हर बार बसने के साथ किसी रेशमी थान में ज़री के काम की तरह इसकी बुनावट में एक और परत बनती गई.

इन परतों में दिल्ली कितनी बदली है, इसको बड़ी आसानी से समझा जा सकता है. शाहजहां ने अपनी बेटी के कमरे से चांदनी का नज़ारा दिखाने के लिए तालाब बनवाया और नाम रखा चांदनी चौक. अंग्रेज़ों के आते आते वो ट्राम के चलने वाला मशहूर बाज़ार चांदनी चौक बन गया. 1857 के गदर में मेरठ से आई फौजें ‘शहर से दूर’ महरौली में डेरा डाल कर बैठी थी. बादशाह ज़फर अंग्रेज़ों से बचने के लिए दूर जमुनापार कूच कर गए थे. आज दिल्ली की मेट्रो में बैठ हम इन तीनों को कुछ मिनटों में पार कर लेते हैं.

यही अंग्रेज़ हिंदुस्तान की राजधानी को कलकत्ता ले गए. और बोले कि जो बंगाल आज सोचता है वो हिंदुस्तान 20 साल बाद सोचेगा. 1912 में दिल्ली दरबार हुआ, जॉर्ज पंचम आए.इसके लगभग 20 साल बाद 13 फरवरी 1931 को उस दिल्ली का उद्घाटन हुआ, जिसे हम आज देखते हैं. एडविन लुटियन की बनाई दिल्ली जिसे अंग्रेज़ों ने हुकूमत करने की सहूलियत के लिए बसाया था. इसी लुटियन्स में इसके लगभग 20 साल बाद 1950 में फिर हम भारत के लोग दुनिया के सबसे बड़े गणतंत्र का जश्न मना रहे थे.

वैसे जिस 13 फरवरी को दिल्ली में इसके उद्धघाटन का जश्न मनाया जा रहा था. उसी 13 फरवरी को साल 1739 में नादिरशाह की फौजों ने दिल्ली के इतिहास का सबसे भयावह कत्ल-ए-आम किया था.

आज 13 फरवरी है. आइये देखते हैं दिल्ली की कुछ दुर्लभ और खास तस्वीरें जिनमें दिल्ली ही नहीं हिंदुस्तान का इतिहास है-

1. गदर के दौरान दिल्ली

#16 जनवरी 1858 को दिल्ली शहर का नक्शा देखिए. आज की दिल्ली से कुछ मिलता जुलता ढूंढ़ पाएंगे क्या?

फोटो- हाउसिंग.कॉम
फोटो- हाउसिंग.कॉम

#  1958 के लाहौरी गेट का नज़ारा.

फोटो- रॉबर्ट और हैरिएट टाइटलर, ब्रिटिश लाइब्रेरी
फोटो- रॉबर्ट और हैरिएट टाइटलर, ब्रिटिश लाइब्रेरी

# सल्तनत के आखिरी दिनों में पुरानी दिल्ली में नाच-गाने की महफिल.

फोटो- आईबीएन लाइव
फोटो- आईबीएन लाइव

# 1857 की जंग की मार खाया कश्मीरी गेट.

फोटो- आईबीएन लाइव
फोटो- आईबीएन लाइव

#  1857 के विद्रोहियों को फांसी देते अंग्रेज़.

फोटो- आईबीएन लाइव
फोटो- आईबीएन लाइव

2- मुगलों की जागीर में अंग्रेज़ आ गए

# 1902 में लाल किले के दीवान ए आम में एडवर्ड तृतीय की ताजपोशी का जश्न मनाते अंग्रेज़.

फोटो- आईबीएन लाइव
फोटो- आईबीएन लाइव

# 1911 के दिल्ली दरबार में जाते किंग जॉर्ज पंचम.

फोटो- आईबीएन लाइव
फोटो- आईबीएन लाइव

# दिल्ली दरबार को जाता जॉर्ज पंचम का काफिला.

फोटो- आईबीएन लाइव
फोटो- आईबीएन लाइव

# दिल्ली दरबार.

फोटो- विकीपीडिया
फोटो- विकीपीडिया

# जहां आज तिरंगा लहराता है वहां 1911के दिल्ली दरबार में  यूनियन जैक को सलामी दी जा रही है.

फोटो- ब्रिटिश लाइब्रेरी
फोटो- ब्रिटिश लाइब्रेरी

# दिल्ली दरबार में अंग्रेज़ किंग के सामने सर झुकाए हैदराबाद के निज़ाम.

फोटो- हैनरी विलियम्स
फोटो- हैनरी विलियम्स

# ब्रिटेन की महारानी से मिलने जातीं भोपाल की बेगम.

फोटो- अलकज़ाई कलेक्शन ऑफ फोटोग्राफी
फोटो- अलकज़ाई कलेक्शन ऑफ फोटोग्राफी

# दिल्ली दरबार के लिए खास बनाई गई रॉल्स रॉयस फ्लीट. तब इनमें से हर एक की कीमत लगभग 1 लाख रुपए थी. अभी 5 करोड़ से ऊपर कीमत है इसकी.

फोटो- रॉल्स रॉयस
फोटो- टाइम्स ऑफ इंडिया

#  टाइम्स ऑफ इंडिया में रॉल्स रॉयस का विज्ञापन.

फोटो- टाइम्स ऑफ इंडिया
फोटो- टाइम्स ऑफ इंडिया

# 1908 में दिल्ली में चलती ट्राम.

फोटो- इंडियन एक्सप्रेस
फोटो- इंडियन एक्सप्रेस

# चांदनी चौक की गलियों से गुज़रती ट्राम.

फोटो- आईबीएन लाइव
फोटो- आईबीएन लाइव

# वैसे चांदनी चौक की गलियां हमेशा से इतनी तंग नहीं थीं.

फोटो- टाइम्स ऑफ इंडिया
फोटो- टाइम्स ऑफ इंडिया

3. जब लुटियन्स ने दिल्ली को नया रंग दिया

# 1931 में बनता इंडिया गेट.

फोटो- टंबलर
फोटो- टंबलर

#  लुटियंस की दिल्ली बनने का हवाई शॉट, 1930.

फोटो आईबीएन लाइव
फोटो आईबीएन लाइव

4. दिल्ली के दिल कनॉट प्लेस की कहानी

# 20-कनॉट प्लेस बनने से पहले ये जगह माधोगंज के नाम से जानी जाती थी.

फोटो- जैक कार्डिफ
फोटो- जैक कार्डिफ

# आज कार बैन करने की बात हो रही है1938 में बैलगाड़ी पर रोक थी. वैसै हिंदी कहां हैं?

फोटो- जैक कार्डिफ
फोटो- जैक कार्डिफ

# कार चलाती औरतें दिल्ली के लिए कोई नई चीज़ नहीं.

फोटो- जैक कार्डिफ
फोटो- जैक कार्डिफ

# स्कर्ट और बुरके में औरतें 1938 की दिल्ली में भी एक साथ दिख जाती थीं.

फोटो- जैक कार्डिफ
फोटो- जैक कार्डिफ

# साड़ी 1938 में भी इतनी ही फैशनेबल थी.

फोटो- जैक कार्डिफ
फोटो- जैक कार्डिफ

# महरौली के स्तम्भ को छूने पर तब रोक नहीं थी.

फोटो- जैक कार्डिफ
फोटो- जैक कार्डिफ

5. जब हम आज़ाद हुए

# आज़ादी से ठीक पहले पत्रकारों से बात करते जवाहर लाल नेहरू.

फोटो- आईबीएन लाइव
फोटो- आईबीएन लाइव

# गांधी और जिन्ना के बीच एक तल्ख बातचीत.

फोटो- आईबीएन लाइव
फोटो- आईबीएन लाइव

# 21 अगस्त 1947, आज़ादी का जश्न मनाते लोग.

फोटो- आईबीएन लाइव
फोटो- आईबीएन लाइव

# बंटवारे की आग में दिल्ली छोड़कर पाकिस्तान जाते मुसलमान

फोटो- आईबीएन लाइव
फोटो- आईबीएन लाइव

# 1947 के दंगों को रोकने के लिए दिल्ली की सड़कों पर टैंक लेकर घूमती सेना.

फोटो- आईबीएन लाइव
फोटो- आईबीएन लाइव

# अाज़ाद भारत के पहले राष्ट्रपति बग्घी से दिल्ली घूमते हुए.

फोटो- आईबीएन लाइव
फोटो- आईबीएन लाइव

# महात्मा गांधी का अंतिम संस्कार.

फोटो- आईबीएन लाइव
फोटो- आईबीएन लाइव

# मगर सिनेमा का जादू 1950 में भी ऐसा ही था.

फोटो- आईबीएन लाइव
फोटो- आईबीएन लाइव

# पहले गणतंत्र दिवस के बाद की अस्त व्यस्त तस्वीर.

फोटो- टाइम्स ऑफ इंडिया
फोटो- टाइम्स ऑफ इंडिया

# मगर कुछ चीज़ें वक्त से परे हैं.

MAHRAULI PILLER


ये भी पढ़ें :

जब मीना कुमारी की याद में डूबे कमाल अमरोही ने धर्मेंद्र का मुंह काला किया था

500 साल के इतिहास में हुआ है कोई इस हीरो के जैसा?

सच जान लो : हल्दीघाटी की लड़ाई हल्दीघाटी में हुई ही नहीं थी

राजपूत आज़ाद भारत में भी एक औरत की इज्जत के लिए लड़े थे, उसे ज़िंदा जलाने के लिए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गंदी बात

अपने गांव की बोली बोलने में शर्म क्यों आती है आपको?

अपने गांव की बोली बोलने में शर्म क्यों आती है आपको?

ये पोस्ट दूर-दराज गांव से आए स्टूडेंट्स जो डीयू या दूसरी यूनिवर्सिटी में पढ़ रहे हैं, उनके लिए है.

बहू-ससुर, भाभी-देवर, पड़ोसन: सिंगल स्क्रीन से फोन की स्क्रीन तक कैसे पहुंचीं एडल्ट फ़िल्में

बहू-ससुर, भाभी-देवर, पड़ोसन: सिंगल स्क्रीन से फोन की स्क्रीन तक कैसे पहुंचीं एडल्ट फ़िल्में

जिन फिल्मों को परिवार के साथ नहीं देख सकते, वो हमारे बारे में क्या बताती हैं?

चरमसुख, चरमोत्कर्ष, ऑर्गैज़म: तेजस्वी सूर्या की बात पर हंगामा है क्यों बरपा?

चरमसुख, चरमोत्कर्ष, ऑर्गैज़म: तेजस्वी सूर्या की बात पर हंगामा है क्यों बरपा?

या इलाही ये माजरा क्या है?

राष्ट्रपति का चुनाव लड़ रहे शख्स से बच्चे ने पूछा- मैं सबको कैसे बताऊं कि मैं गे हूं?

राष्ट्रपति का चुनाव लड़ रहे शख्स से बच्चे ने पूछा- मैं सबको कैसे बताऊं कि मैं गे हूं?

जवाब दिल जीत लेगा.

'इस्मत आपा वाला हफ्ता' शुरू हो गया, पहली कहानी पढ़िए लिहाफ

'इस्मत आपा वाला हफ्ता' शुरू हो गया, पहली कहानी पढ़िए लिहाफ

उस अंधेरे में बेगम जान का लिहाफ ऐसे हिलता था, जैसे उसमें हाथी बंद हो.

PubG वाले हैं क्या?

PubG वाले हैं क्या?

जबसे वीडियो गेम्स आए हैं, तबसे ही वे पॉपुलर कल्चर का हिस्सा रहे हैं. ये सोचते हुए डर लगता है कि जो पीढ़ी आज बड़ी हो रही है, उसके नास्टैल्जिया का हिस्सा पबजी होगा.

Lefthanders Day: बायां हाथ 'उल्टा' ही क्यों हैं, 'सीधा' क्यों नहीं?

Lefthanders Day: बायां हाथ 'उल्टा' ही क्यों हैं, 'सीधा' क्यों नहीं?

मेरा बाएं-हत्था होना लोगों को चौंकाता है. और उनका सवाल मुझे चौंकाता है.

फेसबुक पर हनीमून की तस्वीरें लगाने वाली लड़की और घर के नाम से पुकारने वाली आंटियां

फेसबुक पर हनीमून की तस्वीरें लगाने वाली लड़की और घर के नाम से पुकारने वाली आंटियां

और बिना बैकग्राउंड देखे सेल्फी खींचकर लगाने वाली अन्य औरतें.

'अगर लड़की शराब पी सकती है, तो किसी भी लड़के के साथ सो सकती है'

'अगर लड़की शराब पी सकती है, तो किसी भी लड़के के साथ सो सकती है'

पढ़िए फिल्म 'पिंक' से दर्जन भर धांसू डायलॉग.

मुनासिर ने प्रीति को छह बार चाकू भोंककर क्यों मारा?

मुनासिर ने प्रीति को छह बार चाकू भोंककर क्यों मारा?

ऐसा क्या हुआ, कि सरे राह दौड़ा-दौड़ाकर उसकी हत्या की?

सौरभ से सवाल

दिव्या भारती की मौत कैसे हुई?

दिव्या भारती की मौत कैसे हुई?

खिड़की पर बैठी दिव्या ने लिविंग रूम की तरफ मुड़कर देखा. और अपना एक हाथ खिड़की की चौखट को मजबूती से पकड़ने के लिए बढ़ाया.

कहां है 'सिर्फ तुम' की हीरोइन प्रिया गिल, जिसने स्वेटर पर दीपक बनाकर संजय कपूर को भेजा था?

कहां है 'सिर्फ तुम' की हीरोइन प्रिया गिल, जिसने स्वेटर पर दीपक बनाकर संजय कपूर को भेजा था?

'सिर्फ तुम' के बाद क्या-क्या किया उन्होंने?

बॉलीवुड में सबसे बड़ा खान कौन है?

बॉलीवुड में सबसे बड़ा खान कौन है?

सबसे बड़े खान का नाम सुनकर आपका फिल्मी ज्ञान जमीन पर लोटने लगेगा. और जो झटका लगेगा तो हमेशा के लिए बुद्धि खुल जाएगी आपकी.

'कसौटी ज़िंदगी की' वाली प्रेरणा, जो अनुराग और मिस्टर बजाज से बार-बार शादी करती रही

'कसौटी ज़िंदगी की' वाली प्रेरणा, जो अनुराग और मिस्टर बजाज से बार-बार शादी करती रही

कहां है टेलीविज़न का वो आइकॉनिक किरदार निभाने वाली ऐक्ट्रेस श्वेता तिवारी?

एक्ट्रेस मंदाकिनी आज की डेट में कहां हैं?

एक्ट्रेस मंदाकिनी आज की डेट में कहां हैं?

मंदाकिनी जिन्हें 99 फीसदी भारतीय सिर्फ दो वजहों से याद करते हैं

सर, मेरा सवाल है कि एक्ट्रेस मीनाक्षी शेषाद्री आजकल कहां हैं. काफी सालों से उनका कोई पता नहीं.

सर, मेरा सवाल है कि एक्ट्रेस मीनाक्षी शेषाद्री आजकल कहां हैं. काफी सालों से उनका कोई पता नहीं.

‘दामिनी’ के जरिए नई ऊंचाई तक पहुंचा मीनाक्षी का करियर . फिर घातक के बाद 1996 में उन्होंने मुंबई फिल्म इंडस्ट्री को बाय बोल दिया.

ये KRK कौन है. हमेशा सुर्खियों में क्यों रहता है?

ये KRK कौन है. हमेशा सुर्खियों में क्यों रहता है?

केआरके इंटरनेट एज का ऐसा प्रॉडक्ट हैं, जो हर दिन कुछ ऐसा नया गंधाता करना रचना चाहता है.

एक्ट्रेस किमी काटकर अब कहां हैं?

एक्ट्रेस किमी काटकर अब कहां हैं?

एडवेंचर ऑफ टॉर्जन की हिरोइन किमी काटकर अब ऑस्ट्रेलिया में हैं. सीधी सादी लाइफ बिना किसी एडवेंचर के

चाय बनाने को 'जैसे पापात्माओं को नर्क में उबाला जा रहा हो' कौन सी कहानी में कहा है?

चाय बनाने को 'जैसे पापात्माओं को नर्क में उबाला जा रहा हो' कौन सी कहानी में कहा है?

बहुत समय पहले से बहुत समय बाद की बात है. इलाहाबाद में थे. जेब में थे रुपये 20. खरीदी हंस...

सर आजकल मुझे अजीब सा फील होता है क्या करूं?

सर आजकल मुझे अजीब सा फील होता है क्या करूं?

खुड्डी पर बैठा था. ऊपर से हेलिकॉप्टर निकला. मुझे लगा. बाबा ने बांस गहरे बोए होते तो ऊंचे उगते.