Submit your post

Follow Us

मिलिए वीरभद्र के बेटे विक्रमादित्य से, जिन्होंने पांच साल में 82 करोड़ रुपए कमाए

529
शेयर्स

विक्रमादित्य सिंह. हिमाचल में सात बार मुख्यमंत्री बने वीरभद्र सिंह के बेटे. 17 अक्टूबर 1989 को पैदा हुए, 28 साल के हैं. शिमला के बिशप कॉटन स्कूल से पढ़ाई हुई. 2007 में दिल्ली यूनिवर्सिटी के हंसराज कॉलेज से हिस्ट्री ऑनर्स में बीए किया. हिमाचल प्रदेश स्पोर्ट्स, कल्चर ऐंड एन्वायरमेंट असोसिएशन (HPSCEA) के नाम से एक NGO चलाते हैं. क्रिकेट और वॉलीबॉल टूर्नामेंट कराने के अलावा HPSCEA पर्यावरण जागरूकता का काम करता है. शूटिंग में हिमाचल का नेशनल लेवल पर प्रतिनिधित्व कर चुके हैं. 2007 के ट्रैप शूटिंग कॉम्पिटीशन में ब्रॉन्ज़ मेडल जीता था.

हिमाचल विधानसभा चुनाव के सबसे यंग कैंडिडेट हैं. पहली बार चुनाव लड़ने जा रहे हैं. शिमला रूरल विधानसभा सीट से लड़ रहे हैं, जहां 2012 में उनके पिता 28,892 वोट हासिल करके 19,833 वोटों से जीते थे. वीरभद्र ने भी अपना पहला चुनाव 28 साल की उम्र में जीता था. वो 1962 में सांसद बने थे. विक्रमादित्य यूथ कांग्रेस के रास्ते आए हैं.

यूथ कांग्रेस के दिनों में विक्रमादित्य
यूथ कांग्रेस के दिनों में विक्रमादित्य

नॉमिनेशन से एक दिन पहले मिला टिकट

विक्रमादित्य राजनीति में आक्रामक रूप से एक्टिव नहीं दिखे. इनका टिकट मुश्किल था, क्योंकि कांग्रेस ‘एक परिवार में एक ही टिकट’ देने की पॉलिसी पर चल रही थी. वीरभद्र बेटे के टिकट पर अड़े थे. आखिर में पार्टी को झुकना पड़ा और नामांकन से एक दिन पहले विक्रमादित्य को शिमला रूरल से कैंडिडेट घोषित कर दिया गया. इनके साथ ही कौल सिंह ठाकुर की बेटी चंपा ठाकुर का भी टिकट क्लियर हुआ, जिन्हें मंडी से उतारा गया. वीरभद्र ने अपनी एक चुनावी सभा में पहले ही ऐलान कर दिया था कि उनका बेटा चुनाव लड़ेगा. पार्टी ने भी तर्क दिया कि यूथ कांग्रेस से आने वाले किसी नेता का सिर्फ इसलिए नुकसान नहीं होना चाहिए, क्योंकि उसके पिता सीएम हैं.

बेटे के टिकट के लिए वीरभद्र को पूरा ज़ोर लगाना पड़ा, दाईं तरफ चंपा ठाकुर
बेटे के टिकट के लिए वीरभद्र को पूरा ज़ोर लगाना पड़ा, दाईं तरफ चंपा ठाकुर

वीरभद्र इससे पहले प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू को लेकर रायता फैला चुके हैं. वीरभद्र सोनिया खेमे से हैं, जबकि सुक्खू राहुल खेमे से हैं. राहुल सुक्खू को बढ़ा रहे थे. इससे नाराज़ वीरभद्र ने चुनाव की कमान संभालने से मना कर दिया था. 36 में से 26 विधायक उनके साथ थे, तो कांग्रेस को झुकना पड़ा. वीरभद्र ने सुक्खू के चुनाव लड़ने पर भी टॉन्ट किया था. कहा था, ‘कांग्रेस अध्यक्ष को चुनाव लड़ने के बजाय चुनाव मैनेज करना चाहिए. आसान चुनाव कराने के लिए उनकी जगह किसी और को अध्यक्ष बना देना चाहिए.’

दी लल्लनटॉप के साथ बातचीत के दौरान कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू
दी लल्लनटॉप के साथ बातचीत के दौरान कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू

विक्रमादित्य ने युवा कांग्रेस की अध्यक्षी से इस्तीफा दिया था

नवंबर 2011 में विक्रमादित्य ने हिमाचल यूथ कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव जीता था. सियासी पंडित बताते हैं कि ये चुनाव इसलिए हुआ था, क्योंकि सुखविंदर सिंह सुक्खू विक्रमादित्य की दावेदारी में अड़ंगा डाल रहे थे. उन्होंने कहा कि ये महत्वपूर्ण पद है, जिस पर किसी को नॉमिनेट करने के बजाय चुनाव कराना चाहिए. चुनाव हुआ. जीएस बाली के बेटे रघुबीर सिंह को हराकर विक्रमादित्य यूथ कांग्रेस के सबसे युवा अध्यक्ष बने, लेकिन बाद में चुनाव अमान्य घोषित कर दिया गया. विक्रमादित्य पर नियमों की अवहेलना के आरोप लगे. बताते हैं कि वीरभद्र के करीबी कांग्रेसी विधायकों ने विक्रमादित्य के पक्ष में प्रचार किया था, जो अवैध था. विक्रमादित्य को इस्तीफा देना पड़ा.

एक रैली में विक्रमादित्य
एक रैली में विक्रमादित्य

कांग्रेस के बागी के खिलाफ लड़ेंगे चुनाव

शिमला रूरल सीट पर विक्रमादित्य के सामने बीजेपी से प्रमोद शर्मा लड़ रहे हैं. ये एक वक्त में वीरभद्र के ही करीबी थे. दिल्ली में युवा कांग्रेस के प्रवक्ता भी रह चुके हैं. 2003 में कुमारसेन विधानसभा से निर्दलीय लड़े थे और दूसरे नंबर पर रहे थे. 2003 में इस सीट पर कांग्रेस से विद्या स्टोक्स जीती थीं. 2007 में प्रमोद कुमारसेन से फिर निर्दलीय लड़े और फिर कांग्रेस की विद्या स्टोक्स जीत गईं.

विद्या स्टोक्स. सात बार विधायक रहीं. 89 की उम्र में करियर का दुर्भाग्यपूर्ण अंत हुआ. इस चुनाव में इनका नामांकन ही खारिज हो गया.
विद्या स्टोक्स. सात बार विधायक रहीं. 89 की उम्र में करियर का दुर्भाग्यपूर्ण अंत हुआ. इस चुनाव में इनका नामांकन ही खारिज हो गया.

2012 में प्रमोद ठियोग सीट से ऑल इंडिया तृणमूल कांग्रेस के टिकट पर उतरे, लेकिन चौथे नंबर पर रहे. चुनाव फिर कांग्रेस की विद्या स्टोक्स ने जीता. 2012 में प्रमोद हिमाचल प्रदेश में ऑल इंडिया तृणमूल कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रहे. ये हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी के मैनेजमेंट डिपार्टमेंट में प्रोफेसर हैं और जाने-माने शिक्षाविद् हैं. शिक्षा क्षेत्र में आने से पहले प्रशासनिक सेवा में अधिकारी थे.

प्रमोद शर्मा, जो संभवत: हिमाचल के सबसे पढ़े-लिखे प्रत्याशी हैं
प्रमोद शर्मा, जो संभवत: हिमाचल के सबसे पढ़े-लिखे प्रत्याशी हैं

2012 में पिता पर आश्रित थे, 2017 में 84 करोड़ के मालिक बन गए

2012 विधानसभा चुनाव में वीरभद्र ने जो एफिडेविट दिया था, उसके मुताबिक विक्रमादित्य के पास 1.19 करोड़ की चल संपत्ति और 33 लाख की अचल संपत्ति थी. एफिडेविट के मुताबिक विक्रमादित्य पिता पर आश्रित थे. लेकिन 2017 विधानसभा चुनाव में विक्रमादित्य ने जो एफिडेविट दिया है, उसके मुताबिक उनके पास 84 करोड़ की संपत्ति है. हिमाचल में अलग-अलग जगह ज़मीनें हैं और शिमला में बिल्डिंग्स हैं, जिनकी कीमत 79.82 करोड़ है. विक्रमादित्य पर 1.34 करोड़ रुपए का कर्ज है. तीन गाड़ियां हैं, जिनमें से दो फोर्ड एंडीवर और महिंद्रा XUV हैं.

चुनाव प्रचार के दौरान विक्रमादित्य
चुनाव प्रचार के दौरान विक्रमादित्य

विक्रमादित्य इस विधानसभा चुनाव के सबसे अमीर कैंडिडेट हैं. दूसरे नंबर पर कांग्रेस के ही नेता जीएस बाली हैं, जिन्होंने अपनी संपत्ति 47.50 करोड़ बताई है. खुद विक्रमादित्य के पिता वीरभद्र संपत्ति के मामले में चौथे नंबर पर हैं. उन्होंने 30 करोड़ की संपत्ति घोषित की है.

मनी लॉन्ड्रिंग केस में विक्रमादित्य का भी नाम है

वीरभद्र पर आय से अधिक संपत्ति का केस है. ED जिन मामलों की जांच कर रही है, उनमें मनी लॉन्ड्रिंग मामले में विक्रमादित्य का भी नाम है. 30 सितंबर 2016 को ED ने 8 घंटे तक विक्रमादित्य से पूछताछ की थी. हालांकि, इसके एक दिन पहले ही 29 सितंबर 2016 को दिल्ली हाईकोर्ट ने ED को विक्रमादित्य को अरेस्ट न करने के निर्देश दिए थे. दिल्ली में बने एक फार्म हाउस की वैधता पर संदेह है और उसमें भी इनका नाम है.

नामांकन के समय विक्रमादित्य

विक्रमादित्य के खिलाफ अनुपम खेर का नाम था

कुछ दिनों पहले अनुपम खेर ने शिमला रूरल के जुटोग इलाके में कथित तौर पर एक घर खरीदा था. इसे उनके पॉलिटिकल इंट्रेस्ट के तौर पर देखा गया. बीजेपी के कुछ नेताओं ने अनुपम को ‘शिमला बॉय’ बताते हुए उन्हें सीएम के तौर पर प्रॉजेक्ट करने की बात कही. सियासी हलकों में ये बात उठी कि अनुपम को मैदान में लाया जाए. ऐसा कुछ हुआ तो नहीं, लेकिन अनुपम का नाम शिमला रूरल सीट से ही चल रहा था.

शिमला में अपने घर के बाहर अनुपम खेर
शिमला में अपने घर के बाहर अनुपम खेर

कांग्रेस खेमे से एक दावा ये भी है कि सुक्खू, बाली और कौल सिंह विक्रमादित्य को पसंद नहीं करते. वीरभद्र के विरोधी खेमे के कांग्रेसी नेताओं ने ही बीजेपी में अनुपम का नाम उछलवाया था, क्योंकि अनुपम के आने से विक्रमादित्य के हारने की संभावना बढ़ जाती.

विक्रमादित्य ये चुनाव हारे, तो आगे की राह बहुत मुश्किल

एक थ्योरी कहती है कि अगर विक्रमादित्य ये चुनाव हारे, तो उनका करियर संभालना बहुत मुश्किल होगा. वीरभद्र पहले ही कह चुके हैं कि ये उनका आखिरी चुनाव है. वो बस विक्रमादित्य को स्थापित करना चाहते हैं. वीरभद्र के बाद सुखविंदर सिंह सुक्खू, जीएस बाली या कौल सिंह में से ही कोई नेतृत्व हथियाने की कोशिश करेगा. ये तीनों ही वीरभद्र और विक्रमादित्य को पसंद नहीं करते. ऐसे में विक्रमादित्य विधायक बने, तो सियासत में प्रासंगिक रहेंगे, लेकिन हारने पर उनकी कौन ही सुनेगा.

कौल सिंह ठाकुर (बाएं) और जीएस बाली (दाएं)
कौल सिंह ठाकुर (बाएं) और जीएस बाली (दाएं)

दूसरी थ्योरी कहती है कि सुखविंदर सिंह सुक्खू निचले हिमाचल में कांग्रेस के बड़े नेता हैं, लेकिन वीरभद्र के रिटायर होने के बाद अपर हिमाचल में कांग्रेस के पास कोई बड़ा नेता नहीं बचेगा. विक्रमादित्य इस जगह को भर सकते हैं.

विक्रमादित्य की बहन और मां भी प्रचार कर रहे हैं

विक्रमादित्य के पक्ष में उनकी मां प्रतिभा सिंह और बहन अपराजिता सिंह भी प्रचार कर रहे हैं. प्रतिभा 2004 लोकसभा चुनाव में महेश्वर सिंह को हराकर जीती थीं और 2013 के उपचुनाव में भी उन्हें जीत मिली थी. 2014 के लोकसभा चुनाव में वो मंडी सीट पर बीजेपी कैंडिडेट से हार गई थीं. इससे उत्साहित बीजेपी इस बार कह रहे हैं, ‘2014 में रानी को हरा दिया था, इस बार राजा का जो होगा, वो भी देख लेना.’

नामांकन के समय पिता वीरभद्र और मां प्रतिभा के साथ विक्रमादित्य. (बाएं) वीरभद्र के साथ अपराजिता (दाएं)
नामांकन के समय पिता वीरभद्र और मां प्रतिभा के साथ विक्रमादित्य. (बाएं) वीरभद्र के साथ अपराजिता (दाएं)

अपराजिता की 2013 में पटियाला राजघराने में शादी हुई. उनकी शादी पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह के नाती अंगद सिंह से हुई, जिनसे उनकी स्कूल के दिनों से जान-पहचान है. अपराजिता ने दिल्ली के सेंट स्टीफन कॉलेज से ग्रेजुएशन किया और अमेरिका में टेक्सटाइल डिजाइनिंग की पढ़ाई की.

अपराजिता की शादी की एक तस्वीर
अपराजिता की शादी की एक तस्वीर

अनुराग ठाकुर ने कहा था छुटभैया नेता

विक्रमादित्य की तुलना हमीरपुर से सांसद अनुराग ठाकुर से की जाती है. विक्रमादित्य खुद सीएम के बेटे हैं और अनुराग के पिता प्रेम कुमार धूमल बीजेपी की तरफ से दो बार सूबे के सीएम रह चुके हैं. विक्रमादित्य की उम्र 28 साल और अनुराग की 43 साल है. 2016 में BCCI से जुड़े एक मामले में विक्रमादित्य ने अनुराग पर निशाना साधते हुए कहा था कि ऐसे पदों पर प्रफेशनल लोगों को होना चाहिए. इसके जवाब में अनुराग ने कहा था, ‘जिनकी पार्टी के बुजुर्ग नेताओं को ही समझ नहीं है, तो छुटभैये नेताओं से क्या उम्मीद की जा सकती है.’

अनुराग ठाकुर
अनुराग ठाकुर

पढ़िए हिमाचल की ग्राउंड रिपोर्ट्स:

ऊना: जहां भाजपा के CM कैंडिडेट ही भाजपा अध्यक्ष का कद छांट रहे हैं

हमीरपुर: बंदर मारो, पूंछ दिखाओ, 5 रुपये ले जाओ!

सुजानपुर: क्या बीजेपी आलाकमान ने प्रेम कुमार धूमल को सेट कर दिया है?

सिरमौर: जिस जिले से हिमाचल का निर्माता निकला, वही विकास में पीछे क्यों रह गया?

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गंदी बात

'इस्मत आपा वाला हफ्ता' शुरू हो गया, पहली कहानी पढ़िए लिहाफ

उस अंधेरे में बेगम जान का लिहाफ ऐसे हिलता था, जैसे उसमें हाथी बंद हो.

PubG वाले हैं क्या?

जबसे वीडियो गेम्स आए हैं, तबसे ही वे पॉपुलर कल्चर का हिस्सा रहे हैं. ये सोचते हुए डर लगता है कि जो पीढ़ी आज बड़ी हो रही है, उसके नास्टैल्जिया का हिस्सा पबजी होगा.

बायां हाथ 'उल्टा' ही क्यों हैं, 'सीधा' क्यों नहीं?

मां-बाप और टीचर बच्चों को पीट-पीट दाहिने हाथ से काम लेने के लिए मजबूर करते हैं. क्यों?

फेसबुक पर हनीमून की तस्वीरें लगाने वाली लड़की और घर के नाम से पुकारने वाली आंटियां

और बिना बैकग्राउंड देखे सेल्फी खींचकर लगाने वाली अन्य औरतें.

'अगर लड़की शराब पी सकती है, तो किसी भी लड़के के साथ सो सकती है'

पढ़िए फिल्म 'पिंक' से दर्जन भर धांसू डायलॉग.

मुनासिर ने प्रीति को छह बार चाकू भोंककर क्यों मारा?

ऐसा क्या हुआ, कि सरे राह दौड़ा-दौड़ाकर उसकी हत्या की?

हिमा दास, आदि

खचाखच भरे स्टेडियम में भागने वाली लड़कियां जो जीवित हैं और जो मर गईं.

अलग हाव-भाव के चलते हिजड़ा कहते थे लोग, समलैंगिक लड़के ने फेसबुक पोस्ट लिखकर सुसाइड कर लिया

'मैं लड़का हूं. सब जानते हैं ये. बस मेरा चलना और सोचना, भावनाएं, मेरा बोलना, सब लड़कियों जैसा है.'

ब्लॉग: शराब पीकर 'टाइट' लड़कियां

यानी आउट ऑफ़ कंट्रोल, यौन शोषण के लिए आमंत्रित करते शरीर.

औरतों को बिना इजाज़त नग्न करती टेक्नोलॉजी

महिला पत्रकारों से मशहूर एक्ट्रेसेज तक, कोई इससे नहीं बचा.

सौरभ से सवाल

दिव्या भारती की मौत कैसे हुई?

खिड़की पर बैठी दिव्या ने लिविंग रूम की तरफ मुड़कर देखा. और अपना एक हाथ खिड़की की चौखट को मजबूती से पकड़ने के लिए बढ़ाया.

कहां है 'सिर्फ तुम' की हीरोइन प्रिया गिल, जिसने स्वेटर पर दीपक बनाकर संजय कपूर को भेजा था?

'सिर्फ तुम' के बाद क्या-क्या किया उन्होंने?

बॉलीवुड में सबसे बड़ा खान कौन है?

सबसे बड़े खान का नाम सुनकर आपका फिल्मी ज्ञान जमीन पर लोटने लगेगा. और जो झटका लगेगा तो हमेशा के लिए बुद्धि खुल जाएगी आपकी.

'कसौटी ज़िंदगी की' वाली प्रेरणा, जो अनुराग और मिस्टर बजाज से बार-बार शादी करती रही

कहां है टेलीविज़न का वो आइकॉनिक किरदार निभाने वाली ऐक्ट्रेस श्वेता तिवारी?

एक्ट्रेस मंदाकिनी आज की डेट में कहां हैं?

मंदाकिनी जिन्हें 99 फीसदी भारतीय सिर्फ दो वजहों से याद करते हैं

सर, मेरा सवाल है कि एक्ट्रेस मीनाक्षी शेषाद्री आजकल कहां हैं. काफी सालों से उनका कोई पता नहीं.

‘दामिनी’ के जरिए नई ऊंचाई तक पहुंचा मीनाक्षी का करियर . फिर घातक के बाद 1996 में उन्होंने मुंबई फिल्म इंडस्ट्री को बाय बोल दिया.

ये KRK कौन है. हमेशा सुर्खियों में क्यों रहता है?

केआरके इंटरनेट एज का ऐसा प्रॉडक्ट हैं, जो हर दिन कुछ ऐसा नया गंधाता करना रचना चाहता है.

एक्ट्रेस किमी काटकर अब कहां हैं?

एडवेंचर ऑफ टॉर्जन की हिरोइन किमी काटकर अब ऑस्ट्रेलिया में हैं. सीधी सादी लाइफ बिना किसी एडवेंचर के

चाय बनाने को 'जैसे पापात्माओं को नर्क में उबाला जा रहा हो' कौन सी कहानी में कहा है?

बहुत समय पहले से बहुत समय बाद की बात है. इलाहाबाद में थे. जेब में थे रुपये 20. खरीदी हंस...

सर आजकल मुझे अजीब सा फील होता है क्या करूं?

खुड्डी पर बैठा था. ऊपर से हेलिकॉप्टर निकला. मुझे लगा. बाबा ने बांस गहरे बोए होते तो ऊंचे उगते.