The Lallantop
Advertisement

इस तारीख से मोबाइल पर कॉल फॉरवर्डिंग बंद, मोबाइल यूजर्स के लिए खुश खबरी कैसे?

खबर ये है कि आने वाली 15 अप्रैल से मोबाइल पर कॉल फॉरवर्डिंग बंद होने वाली है. The Department of Telecom (DoT) ने सारे टेलिकॉम ऑपरेटर्स को कॉल फॉरवर्डिंग बंद करने को कहा है. लेकिन घबराने की जरूरत नहीं क्योंकि ये आपके फायदे के लिए है. क्योंकि सिर्फ USSD सर्विस बंद होगी.

Advertisement
The Department of Telecom has asked telecom operators to deactivate USSD-based call forwarding with effect from April 15 and move to alternative methods to re-activate it, an official order said. Mobile subscribers use USSD service just by dialling any active code on their phone screens. The service is often used for checking IMEI numbers and mobile phone balances, among others.
कॉल फॉरवर्डिंग बंद होगी
1 अप्रैल 2024
Updated: 1 अप्रैल 2024 24:00 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

ये खबर लिखते समय मैं अंदर ही अंदर मुस्कुरा रहा हूं और साथ में मुझे शोले फिल्लम का एक मशहूर डायलॉग भी याद आ रहा है. पहले डायलॉग बताता- तेरा क्या होगा रे कालिया. अब ये वाला डायलॉग इसलिए याद आ रहा है क्योंकि इस फीचर के नाम पर कई लोगों ने खूब नंबर बटोरे हैं. इस फीचर के नाम पर खूब भ्रम फैलाया गया है. एक कोड से फोन हैकिंग पता करने की बात कही गई है. मगर अब टेलिकॉम डिपार्टमेंट इसको बंद करने वाला है.

खबर ये है कि आने वाली 15 अप्रैल 2024 से मोबाइल पर कॉल फॉरवर्डिंग बंद होने वाली है. The Department of Telecom (DoT) ने सारे टेलिकॉम ऑपरेटर्स को कॉल फॉरवर्डिंग बंद करने को कहा है. लेकिन घबराने की जरूरत नहीं क्योंकि ये आपके फायदे के लिए है. क्योंकि सिर्फ USSD सर्विस बंद होगी. समझते हैं.

क्या है USSD सर्विस?

फोन के डायल पैड से चलने वाली कई सारी सर्विसेस को USSD बेस्ड सर्विस में शामिल किया जाता है. इसमें सबसे लोकप्रिय है *#06# जिससे किसी भी मोबाइल की कुंडली बांची जाती है. बोले तो मोबाइल का IMEI नंबर पता किया जाता है. बैलेंस चेक करने तक कई काम USSD के माध्यम से होते हैं. कमाल की सर्विस, मगर इसी का फायदा ठग उठा रहे थे.

याद कीजिए कुछ दिनों पहले ई-कॉमर्स कंपनियों के नाम पर ठगी के मामले सामने आए थे. स्कैम का नाम 401 या कस्टमर केयर स्कैम. आपके पास एक फोन आएगा. मुमकिन है 1800 या ऐसे नंबर से जो कस्टमर केयर जैसे लगते हैं. सामने से आपको किसी भी बहाने से बातों में लगाकर फोन पर कुछ नंबर डायल करने के लिए कहा जाएगा. उदाहरण के लिए ई-कॉमर्स कंपनी के ऑर्डर के नाम पर. कहा जाएगा कि आपका एक ऑर्डर है. आप कहोगे नहीं है. दूसरी तरफ से बिल्कुल कस्टमर केयर के अंदाज में बात की जाएगी. मसलन एकदम परिष्कृत इंग्लिश में और बेहद सौम्य तरीके से.

आप कितना भी गुस्सा करो. दूसरी तरफ से शांति से बात होगी. आपको इस बात का भरोसा दिलाया जाएगा कि कंपनी का सर्वर इशू है. गलत ऑर्डर हो गया. वगैरा-वगैरा. वैसे सिर्फ ई-कॉमर्स कंपनी के नाम पर नहीं, टेलिकॉम कंपनियों के नाम पर भी ऐसे कांड को अंजाम दिया जा रहा. मकसद एक ही, कैसे भी करके आपको बातों में उलझाना. एक बार आपको अपने जाल में उलझा लिया तो फिर उस ऑर्डर को रद्द करने के लिए कहा जाएगा. यहां होगा असल खेला.

आपसे एक नंबर पर कॉल करने कहा जाएगा और नंबर से पहले 401 या कोई दूसरा नंबर और फिर दस अंकों वाला नंबर डायल करने को कहा जाएगा. 401 सुनकर अगर आपने पूछा ये क्या है तो बहुत सटीक जवाब मिलेगा,

सर ये कस्टमर केयर नंबर है.

इसके आगे बताने की जरूरत नहीं. इकोनॉमिक टाइम्स के मुताबिक टेलिकॉम विभाग ने इसी को बंद करने का आदेश दिया है. सरकार ने टेलीकॉम कंपनियों से कहा है कि वे ग्राहकों को कॉल फॉरवर्डिंग की सुविधा फिर से एक्टिवेट करने के लिए ऑप्शन दें. मतलब आपसे पूछकर. जिन ग्राहकों ने अभी USSD से कॉल फॉरवर्डिंग की सुविधा अपने फोन में एक्टिव कराया हुआ है, उनसे कंपनियां 15 अप्रैल के बाद सर्विस को रीएक्टिवेट करने के लिए कहेंगी. हालांकि फोन ऐप वाली कॉल फॉरवर्डिंग चलती रहेगी. मतलब आप अपने फोन ऐप में जाकर दूसरे नंबर पर कॉल फॉरवर्ड पहले की तरह कर पाएंगे.

अच्छा है कम से एक फर्जीवाड़े का तरीका तो बंद हुआ.

वीडियो: गेमिंग के दीवाने हैं लेकिन पैसा नहीं है, कम बजट में तगड़े गेमिंग स्मार्टफोन की लिस्ट यहां है

thumbnail

Advertisement

election-iconचुनाव यात्रा
और देखे

Advertisement

Advertisement