Submit your post

Follow Us

भैरंट

कैशबैक, फ्री गिफ़्ट जैसे झांसे देकर चूना लगाने वालों से बचने का ये है सबसे आसान तरीका

कैशबैक, फ्री गिफ़्ट जैसे झांसे देकर चूना लगाने वालों से बचने का ये है सबसे आसान तरीका

“मेरा नाम चंटल हसन है. मैं आपके साथ पार्टनरशिप करने के लिए आपके खाते में 7.9 मिलियन डॉलर (करीब 58 करोड़ रुपये) डालना चाहता हूं. ऐसा इसलिए क्योंकि मुझे एक विदेशी पार्टनर की जरूरत है. अगर आप मेरा सहयोग करना चाहते हैं तो ट्रांसफर से रिलेटेड डीटेल आपको जल्द ही भेज दी जाएंगी. आप मुझे … और पढ़ें कैशबैक, फ्री गिफ़्ट जैसे झांसे देकर चूना लगाने वालों से बचने का ये है सबसे आसान तरीका

भैरंट

अरे स्मार्टफोन कंपनियों! चार कैमरे के नाम पर कस्टमर को बेवकूफ़ बनाना बंद करो

अरे स्मार्टफोन कंपनियों! चार कैमरे के नाम पर कस्टमर को बेवकूफ़ बनाना बंद करो

आज के टाइम पर सस्ते स्मार्टफ़ोन भी गज़ब के फीचर के साथ आ रहे हैं. बड़ी बैटरी है, बढ़िया स्क्रीन है, और प्रोसेसर भी धांसू लगाए जा रहे हैं. मगर साथ ही एक चलन भी चलन रहा है जिसको कहते हैं मल्टिपल कैमरा सेटअप (multiple camera setup). यानी कि फ़ोन की बैक पर एक से … और पढ़ें अरे स्मार्टफोन कंपनियों! चार कैमरे के नाम पर कस्टमर को बेवकूफ़ बनाना बंद करो

वीडियो

ये ग्राफिक कार्ड क्या है, जो लैपटॉप गेमिंग का एक्सपीरियंस ही बदल देता है

आपने कभी कंप्यूटर गेमिंग में हाथ आजमाया है तो मुमकिन है कि ग्राफिक कार्ड (graphic card) का नाम आपके सामने आया ही होगा. सरल शब्दों में कहें तो ये जादू का वो पिटारा है, जिसकी वजह से गेम गजब दिखता भी है और मक्खन की तरह चलता भी है. टेक्निकल भाषा में कहें तो ये वो एक्स्ट्रा GPU है, जो आपके गेमिंग डिवाइस के लिए ग्राफिक को बढ़िया बनाता है. आगे देखिए वीडियो में.

 

ये ग्राफिक कार्ड क्या है, जो लैपटॉप गेमिंग का एक्सपीरियंस ही बदल देता है

आपने कभी कंप्यूटर गेमिंग में हाथ आजमाया है तो मुमकिन है कि ग्राफिक कार्ड (graphic card) का नाम आपके सामने आया ही होगा. सरल शब्दों में कहें तो ये जादू का वो पिटारा है, जिसकी वजह से गेम गजब दिखता भी है और मक्खन की तरह चलता भी है. टेक्निकल भाषा में कहें तो ये वो एक्स्ट्रा GPU है, जो आपके गेमिंग डिवाइस के लिए ग्राफिक को बढ़िया बनाता है. आगे देखिए वीडियो में.

 
झमाझम

ट्विटर का ये फीचर स्किन का कलर देख कर रहा भेदभाव; लोगों ने धुर्रे उड़ा दिए

ट्विटर का ये फीचर स्किन का कलर देख कर रहा भेदभाव; लोगों ने धुर्रे उड़ा दिए

ट्विटर को ट्विटर पर ही धर के लपेटा जा रहा है. वजह है इसका फ़ोटो प्रिव्यू अलगोरिथम. यानी वो सिस्टम जो तय करता है कि ट्वीट में लगी हुई पिक्चर का कौन-सा हिस्सा प्रिव्यू में दिखना है. हुआ ये ट्विटर की जनता ने एक टेस्टिंग कर डाली, जिसमें इन्होंने पाया कि ये अलगोरिथम प्रिव्यू में … और पढ़ें ट्विटर का ये फीचर स्किन का कलर देख कर रहा भेदभाव; लोगों ने धुर्रे उड़ा दिए

न्यूज़

गूगल ड्राइव की कचरा पेटी अब अपने आप साफ़ होगी, मगर इसमें एक नुकसान है

गूगल ड्राइव की कचरा पेटी अब अपने आप साफ़ होगी, मगर इसमें एक नुकसान है

गूगल ड्राइव. वो जगह जहां आप अपनी फाइल या फ़ोटो सेव करते हैं. वो जगह जहां Gmail से भेजी हुई बड़ी-बड़ी फाइल अपने आप अपलोड हो जाती हैं. गूगल ने इसी ड्राइव सर्विस को लेकर अपनी पॉलिसी में कुछ बदलाव किये हैं. 13 अक्टूबर से ड्राइव के ट्रैश में पड़े हुए आइटम डिलीट हो जाएंगे. … और पढ़ें गूगल ड्राइव की कचरा पेटी अब अपने आप साफ़ होगी, मगर इसमें एक नुकसान है

न्यूज़

प्ले स्टोर पर Paytm की वापसी हो गई, पर गूगल ने इसे हटाया क्यों था?

प्ले स्टोर पर Paytm की वापसी हो गई, पर गूगल ने इसे हटाया क्यों था?

कुछ दिन पहले गूगल प्ले स्टोर और नामी पेमेंट ऐप Paytm सोशल मीडिया पर काफ़ी ट्रेंड किये. क्यों? क्योंकि गूगल ने पेटीएम और Paytm First Games ऐप्स की अपने एंड्रॉयड प्ले स्टोर से छुट्टी कर दी. पेटीएम के मेन ऐप की तो वापसी हो गई है, मगर First Games अभी भी गायब है. अपने वापस आने की जानकारी पेटीएम … और पढ़ें प्ले स्टोर पर Paytm की वापसी हो गई, पर गूगल ने इसे हटाया क्यों था?

भैरंट

ये कौन सा कार्ड है, जिसे लगाने पर लैपटॉप में गेम मक्खन की तरह चलते हैं

ये कौन सा कार्ड है, जिसे लगाने पर लैपटॉप में गेम मक्खन की तरह चलते हैं

आपने कभी कंप्यूटर गेमिंग में हाथ आजमाया है तो मुमकिन है कि ग्राफिक कार्ड (graphic card) का नाम आपके सामने आया ही होगा. सरल शब्दों में कहें तो ये जादू का वो पिटारा है, जिसकी वजह से गेम गजब दिखता भी है और मक्खन की तरह चलता भी है. टेक्निकल भाषा में कहें तो ये … और पढ़ें ये कौन सा कार्ड है, जिसे लगाने पर लैपटॉप में गेम मक्खन की तरह चलते हैं

भैरंट

प्ले स्टेशन लूं या फिर एक्सबॉक्स, ये दुविधा खतम काहे नहीं होती

प्ले स्टेशन लूं या फिर एक्सबॉक्स, ये दुविधा खतम काहे नहीं होती

दुनिया क्या है? सवालों का एक टोकरा. कुछ सवालों के जवाब आसान होते हैं, कुछ के मुश्किल. और कुछ के बहुत ही पेचीदा. ऐसे ही पेचीदा जवाब वाला एक सवाल है- प्ले स्टेशन लूं या फिर एक्सबॉक्स? गेमिंग के शौकीन हैं, तो इस सवाल से आपका पुराना नाता रहा होगा. जब-जब सोनी और माइक्रोसॉफ़्ट अपने … और पढ़ें प्ले स्टेशन लूं या फिर एक्सबॉक्स, ये दुविधा खतम काहे नहीं होती

न्यूज़

ऐपल की यह सर्विस लेने के लिए किडनी बेचने का ख्याल नहीं आएगा, सिर्फ 195 रुपये में मिलेगी

ऐपल की यह सर्विस लेने के लिए किडनी बेचने का ख्याल नहीं आएगा, सिर्फ 195 रुपये में मिलेगी

जब भी ऐपल के किसी प्रॉडक्ट का जिक्र आता है तो कीमत सुनने से पहले ही घर गिरवी रखने का ख्याल आने लगता है. जस्ट जोकिंग! मगर ऐपल कुछ ऐसा भी बनाता है, जिसे बस 195 रुपये में लिया जा सकता है. महीने भर के लिए ही सही, पर लिया जा सकता है. आप पूछेंगे, क्या? … और पढ़ें ऐपल की यह सर्विस लेने के लिए किडनी बेचने का ख्याल नहीं आएगा, सिर्फ 195 रुपये में मिलेगी

वीडियो

सैमसंग के गैलक्सी Z फोल्ड 2 में ऐसा क्या है कि हर कोई तारीफ़ कर रहा?

एक बड़ा-सा टैबलेट, जो तह होकर फ़ोन जितना बन जाता है. एक फ़ोन है, जो तह होकर उसका भी आधा रह जाता है. 2020 में कोई अच्छी चीज़ हुई हो या ना हुई हो, फ़ोल्ड होने वाली डिवाइस के लिए तो ये बढ़िया साल है. पिछले साल फ़ोल्डेबल फ़ोन कॉन्सेप्ट डिवाइस की तरह आए थे. कॉन्सेप्ट था, इसलिए कमियां भी बहुत थीं. मगर इस साल लगता है कि गाड़ी पटरी पर है. सैमसंग ने हाल में अपना नया गैलक्सी Z फोल्ड 2 (Galaxy Z Fold 2) डिवाइस लॉन्च किया.  देखिए वीडियो.

 

सैमसंग के गैलक्सी Z फोल्ड 2 में ऐसा क्या है कि हर कोई तारीफ़ कर रहा?

एक बड़ा-सा टैबलेट, जो तह होकर फ़ोन जितना बन जाता है. एक फ़ोन है, जो तह होकर उसका भी आधा रह जाता है. 2020 में कोई अच्छी चीज़ हुई हो या ना हुई हो, फ़ोल्ड होने वाली डिवाइस के लिए तो ये बढ़िया साल है. पिछले साल फ़ोल्डेबल फ़ोन कॉन्सेप्ट डिवाइस की तरह आए थे. कॉन्सेप्ट था, इसलिए कमियां भी बहुत थीं. मगर इस साल लगता है कि गाड़ी पटरी पर है. सैमसंग ने हाल में अपना नया गैलक्सी Z फोल्ड 2 (Galaxy Z Fold 2) डिवाइस लॉन्च किया.  देखिए वीडियो.